Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> आपकी शिकायत
   >> पर्यटन गाइडेंस सेल
   >> स्टुडेन्ट गाइडेंस सेल
   >> सोशल मीडिया न्यूज़
   >> आज खास
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> निगम मण्डल मिरर
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> लॉं एण्ड ऑर्डर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> हास्य - व्यंग
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> येलो पेजेस
   >> रेल डाइजेस्ट
  
मध्यप्रदेश डाइजेस्ट
mpinfo.org   

ELECTION 2018 / LOKSABHA 2019

: फीचर

बदलता मध्यप्रदेश : डॉ.एच.एल. चौधरी


aa aa aa aa aa aa aa aa aa aa aa


....



उद्यमी बनने की दिशा में प्रयास करें सभी युवा : राज्यपाल
22 February 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने युवाओं से आह्वान किया है कि वे डिग्री लेने के बाद सरकारी नौकरी की जगह उद्यमी बनने की दिशा में प्रयास करें। उन्होंने सभी विश्वविद्यालयों के शिक्षकों से कहा कि वे अपने शोध को समाज के लिए उपयोगी बनाएं जिससे देश में पैदा हो रही चुनौतियों का समाधान करने के लिए नीति निर्धारकों को आवश्यक दिशा और आंकड़े मिल सके। श्रीमती पटेल इंदिरा गांधी राष्ट्रीय जनजातीय विश्वविद्यालय के पत्रकारिता एवं जनसंचार भवन का लोकार्पण कर रही थी। राज्यपाल ने बच्चों के कुपोषण को चुनौती बताते हुए शोधकर्ताओं से कहा कि वे इस प्रकार की चुनौतियों का समाधान खोजे। वे इस प्रकार की दवाइयां बनाएं जिसे बच्चे होम्योपैथी की दवाई की तरह रूचिपूर्वक सेवन कर सके। उन्होंने आदिवासियों द्वारा जंगल से प्राप्त किए जाने वाले उत्पादों का बेहतर प्रयोग कर बाजार तक पहुंचाने में भी शिक्षकों की महत्वपूर्ण भूमिका बताई। विश्वविद्यालय के शिक्षक अपने आसपास के क्षेत्रों में सर्वे करके इसका डेटा सरकार को प्रदान करे जिससे बजट में उचित प्रावधान किए जा सके। राज्यपाल ने उन्होंने प्रदेश के विश्वविद्यालयों में पारदर्शिता की दिशा में उठाए गए कई कदमों की भी जानकारी दी। उन्होंने सभी शिक्षकों और कर्मचारियों से कहा कि वे अपनी जिम्मेदारियों को सही प्रकार से निभाएं जिससे विश्वविद्यालय की विशिष्ट पहचान बन सके। कुलपति प्रो. टी.वी. कटटीमनी ने स्वागत भाषण दिया। उन्होंने बताया कि विश्वविद्यालय के 30 विभाग उत्कृष्ट लैबों से सुसज्जित हैं जिनमें विज्ञान की अंतर्राष्ट्रीय स्तर की 52 लैब भी शामिल हैं। बताया गया कि विश्वविद्यालय 74 विलुप्त प्रायः हर्बल मेडिसिन को फिर से उगाया जा रहा है। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने पत्रकारिता और जनसंचार विभाग का लोकार्पण किया। आभार कुलसचिव पी. सिलुवैनाथन ने माना।

कृषि विकास के साथ नौजवानों को रोजगार देने के सुनिश्चित प्रयास होंगे
22 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि प्रदेश के बेहतर भविष्य के लिये हम विकास का एक नया नक्शा तैयार करेंगे। इसमें कृषि के विकास के साथ नौजवानों को रोजगार देने के सुनिश्चित प्रयास होंगे। उन्होंने कहा कि 57 दिन में नई सरकार एक ओर जहाँ कृषि क्षेत्र को ताकत देने के लिये किसानों का कर्जा माफ किया है, वहीं दूसरी ओर बेरोजगार नौजवानों के लिये हम मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना की शुरूआत कर रहे हैं। श्री नाथ आज मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में देश की पहली मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना में युवा हितग्राहियों को 100 दिन रोजगार के प्रमाण-पत्र वितरित कर रहे थे। इस मौके पर भोपाल जिले के प्रभारी एवं सहकारिता तथा सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह और महापौर श्री आलोक शर्मा उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती कृषि क्षेत्र में व्यापक सुधार करने की है। हमारी अर्थ-व्यवस्था की बुनियाद खेती-किसानी है। अगर हम किसानों द्वारा उत्पादित उपज का वाजिब दाम नहीं दिला सके, तो हम अपनी अर्थ-व्यवस्था में सुधार नहीं ला सकते। अगर किसानों की क्रय शक्ति नहीं होगी, तो हमारी अन्य व्यावसायिक गतिविधियों पर भी प्रतिकूल असर पड़ेगा और प्रदेश का विकास बाधित होगा। हम किसानों को ताकत देने के लिये आज से कर्ज माफी की शुरूआत से करने जा रहे हैं। मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारे सामने दूसरी सबसे बड़ी चुनौती नौजवानों को रोजगार देने की है। आज का नौजवान संचार संसाधनों से लैस है। उसे कोई ठेका नहीं चाहिए। कमीशन नहीं चाहिए। उसे रोजगार चाहिए। अगर हमारा नौजवान निराश रहा, उसके जीवन में भटकाव रहा, तो हम अपने प्रदेश के बेहतर भविष्य का निर्माण नहीं कर पायेंगे। इसके लिये हम प्रदेश में निवेश की व्यापक संभावनाओं को तलाश रहे हैं। अधिक से अधिक उद्योगों की स्थापना से हम अपने नौजवान को काम दे पायेंगे। युवा स्वाभिमान योजना इस दिशा में हमारा प्रयास है। हम नौजवानों को 100 दिन में चार हजार रूपये प्रतिमाह उपलब्ध करायेंगे। साथ ही उन्हें प्रशिक्षण भी देंगे, जिससे वे आत्म-निर्भर बन सकें। श्री कमल नाथ ने कहा कि नई सरकार ने अपने वचन-पत्र को पूरा करने के लिये सुनियोजित प्रयास शुरू कर दिये हैं। कर्ज माफी के बाद बेरोजगार नौजवानों को काम देने के लिये हम आज से "युवा स्वाभिमान योजना" प्रारंभ कर रहे हैं। सरकार ने पेंशन 300 से बढ़ाकर 600 रूपये कर दी है। हम प्रदेश के नागरिकों को विश्वास दिलाते हैं कि जो वचन-पत्र हमारी सरकार का है, उसे अगले पाँच साल में पूरा करेंगे। उन्हें निराश नहीं होने देंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम नारे लगाकर, पोस्टर, होर्डिंग की राजनीति पर विश्वास नहीं करते। हम कोई मेक इन इंडिया, स्टेण्ड अप इंडिया, डिजीटल इंडिया का दावा नहीं करते। इस दिशा में हम वास्तविक काम करके दिखायेंगे। जनसम्‍पर्क एवं विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पद सम्हालते ही 52 दिन में 26 वचन पूरे कर दिये हैं। युवा स्वाभिमान योजना पूरे देश में पहली ऐसी योजना है, जो बेरोजगारों को रोजगार देने के लिये बनायी गयी है। सरकार का एक ही संकल्प है कि प्रदेश का कोई भी युवा-युवती बेरोजगार न रहे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में निवेश बढ़े, इसके लिये हाल ही में मुख्यमंत्री ने उद्योगपतियों के साथ गोलमेज कान्फ्रेंस की, हवाई सेवा की शुरूआत की। उनके ये कदम प्रदेश को तेजी से विकास की ओर ले जायेंगे। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि बेरोजगारों को सक्षम बनाने के साथ ही उन्हें 100 दिन में आर्थिक सहयोग करने की देश की पहली मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना मील का पत्थर बनेगी। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री कमल नाथ की यह सोच है कि प्रदेश के युवा आत्म-निर्भर बनें। योजना में 21 से 30 वर्ष आयु वर्ग के युवक-युवतियों को लाभान्वित किया जायेगा। उन्हें प्रशिक्षित किया जायेगा। यही नहीं, हम प्रशिक्षित बेरोजगारों को रोजगार उपलब्ध कराने के लिये औद्योगिक कम्पनियों को बुलायेंगे। राज्य सरकार की मध्यस्थता में हम उन्हें फुल टाईम रोजगार दिलवायेंगे। श्री सिंह ने कहा कि 10 दिन में प्रदेश के डेढ़ लाख से अधिक नौजवानों ने योजना में पंजीयन करवाया है। नगरीय‍विकास मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री ने छिन्दवाड़ा में जो विकास मॉडल लागू किया है, वही मॉडल अब पूरे प्रदेश में लागू होगा। मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना के प्रथम हितग्राही बने शनी दुबे मुख्यमंत्री कमल नाथ ने योजना की शुरूआत करते हुए भोपाल के श्री शनी दुबे सहित 12 युवक-युवतियों को प्रमाण-पत्र वितरित किये। इन्हें कम्प्यूटर रिपेयरिंग, हेल्थ जीडी असिस्‍टेंट, डाटा एंट्री ऑपरेटर, जनरल ड्यूटी, कार्यालय सहायक, हेयर स्टाईल, इलेक्ट्रिशियन, इलेक्ट्रानिक आदि के क्षेत्र में काम मिलेगा। साथ ही उन्हें विभिन्न विधाओं में उनकी रूचि के अनुसार प्रशिक्षण दिया जायेगा। स्मार्ट बिन्स, मल्टी लेवल पार्किंग, ट्रांसफर स्टेशन तथा वेक्यूम रोड स्वीपिंग मशीन का लोकार्पण मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इस मौके पर एम.पी. नगर स्थित मल्टीलेवल पार्किंग व्यवस्था के शुभारंभ के साथ ही स्मार्ट बिन्स, ट्रांसफर स्टेशन तथा वेक्यूम रोड स्वीपिंग मशीन को हरी झण्डी दिखाकर रवाना किया। समारोह के अंत में विधायक श्री आरिफ मसूद ने आभार माना। प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री संजय दुबे ने मुख्यमंत्री युवा स्वाभिमान योजना की रूपरेखा बताई। इस मौके पर किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव, विधायक श्री कुणाल चौधरी, नगर निगम परिषद के अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, श्री कैलाश मिश्रा, पूर्व महापौर श्री सुनील सूद, श्री जहीर अहमद सहित बड़ी संख्या में गणमान्य नागरिक और युवक-युवतियाँ उपस्थित थे।

प्रदेश में 50 लाख किसानों की फसल ऋण माफी योजना का क्रियान्वयन शुरू
22 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज रतलाम जिले के नामली में जय किसान फसल ऋण माफी योजना की शुरूआत करते हुए 40 हजार से ज्यादा किसानों को 134 करोड़ रुपये फसल ऋण माफी के दस्तावेज सौंपे। मुख्यमंत्री ने कहा कि हम इस योजना में प्रदेश के 50 लाख किसानों का कर्ज माफ करेंगे। उन्होंने कहा कि किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाना हमारा लक्ष्य है और इसके लिये सरकार हरसंभव प्रयास करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि नई सरकार विकास को सालों पर नहीं छोड़ेगी, वह दिन-प्रतिदिन और हफ्तों में विकास करने की पक्षधर है। इसी नीति पर हम आगे बढ़ रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने कहा कि हमारा वचन था कि किसानों का कर्जा माफ करेंगे। हम ने तय समय-सीमा में यह वचन निभाया है। कम समय में इतनी बड़ी संख्या में किसानों की कर्ज माफी का यह अभूतपूर्व काम नई सरकार ने किया है। उन्होंने कहा कि आज हमारे सामने कृषि क्षेत्र का सुनियोजित विकास करना सबसे बड़ी चुनौती है। श्री नाथ ने कहा कि सरकार का यह मानना है कि जब तक हम किसानों को खुशहाल नहीं बनायेंगे, तब तक प्रदेश का सर्वांगीण विकास नहीं हो पायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि किसानों को मजबूत बनाने के साथ ही अपने प्रदेश में बड़ी संख्या में बेरोजगार नौजवानों को काम देना भी हमारा लक्ष्य है। हम प्रदेश में बड़ी संख्या में औद्योगिक निवेश को लाकर बेरोजगारी को भी खत्म करेंगे। उन्होंने कहा कि नई सरकार घोषणाओं की सरकार नहीं है। यह काम करने वाली सरकार है। हमने यह तय किया है कि कोई भी काम कई सालों पर नहीं टलेगा। हम प्रति दिन और हफ्तों में विकास की बुनियाद रखेंगे, जिससे लोगों को बदलाव महसूस हो और प्रदेश का तेजी से विकास संभव हो। कर्ज माफी के पहले हितग्राही बने कृषक भैरूलाल राठौर श्री कमल नाथ ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना की शुरूआत करते हुए ग्राम नामली के किसान श्री बाबूलाल भैरूलाल राठौर को एक लाख 95 हजार 447 रुपये के फसल ऋण की माफी का प्रमाण-पत्र सौंपा। श्री राठौर प्रदेश में योजना के पहले लाभान्वित हितग्राही बने हैं। समारोह में 40 हजार से ज्यादा किसानों के 134 करोड़ रुपये से अधिक के फसल ऋण माफ किये गये। मुख्यमंत्री ने टोकन के रूप में कुछ किसानों को फसल ऋण माफी के प्रमाण-पत्र वितरित किये। 197 करोड़ के निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने रतलाम प्रवास के दौरान विभिन्न विभागों के लगभग 197 करोड़ लागत के 30 निर्माण कार्यों का लोकार्पण और शिलान्यास किया। उन्होंने कहा कि विकास से कोई समझौता नहीं किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने अपना वचन निभाया : कृषि मंत्री श्री सचिन यादव किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेश के अन्नदाता किसानों से 2 लाख रूपये तक का कर्ज माफ करने का जो वचन दिया था, उसे आज वे निभा रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों के खातों में राशि जमा होना प्रारंभ हो गयी है। किसानों को स्व-प्रमाणीकरण का अधिकार इस योजना में दिया गया है। उन्होंने बताया कि नई सरकार ने मात्र 57 दिन में कर्ज माफी सहित बिजली बिल आधा किया, कन्या विवाह के लिये राशि में वृद्धि करते हुए इसे 51 हजार रुपये किया है और 100 रुपये में 100 यूनिट बिजली देने का जो वचन दिया था, उसे पूरा किया। श्री यादव ने कहा कि सरकार प्रचार कम, काम ज्यादा करने पर विश्वास करती है। कार्यक्रम को सांसद श्री कांतिलाल भूरिया ने भी संबोधित किया।

रेरा में चार्टर्ड एकाउटेंट की महत्वपूर्ण भूमिका : अध्यक्ष श्री डिसा
22 February 2019
रेरा अध्यक्ष श्री अन्टोनी डिसा ने कहा है कि रेरा-एक्ट के क्रियानवयन में चार्टर्ड एकाउटेंट्स की महत्पवूर्ण भूमिका है। एक्ट की धारा 56 में चार्टर्ड एकाउटेंट को किसी संप्रवर्तक, एजेंट के प्रतिनिधित्व करने का अधिकार प्रदान किया गया है। इसके अंतर्गत वे प्राधिकरण से संबंधित सभी प्रकरणों में पक्ष-प्रस्तुति कर सकते हैं। श्री डिसा आज इन्दौर में ’’रेरा में संशोधनों ’’ विषय पर हुई भारतीय चार्टर्ड एकाउटेंट एसोसिएशन की प्रदेश स्तरीय संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। श्री डिसा ने बताया कि प्रोजेक्ट की प्रगति की सीए द्वारा सत्यापित त्रैमासिक रिटर्न के आधार पर मॉनिटरिंग की जाएगी। रेरा प्राधिकरण द्वारा संप्रवर्तक रिपोर्ट के लिये चार्टर्ड एकाउटेंट्स के सुझावों को स्वीकार कर नवीन फार्मेट निर्धारित किया गया है। रेरा प्राधिकरण चाटेर्ड एकाउटेंट्स को रेरा एक्ट के उद्देश्य की पूर्ति में प्रमुख सहयोगी मानता है और उनके साथ निरंतर संवाद चाहता है। उन्होंने कहा कि चार्टर्ड एकाउटेंट्स रेरा और संप्रवर्तक के बीच महत्वपूर्ण सेतु हैं। इसलिये उन्हें अपेक्षित ऑडिट का कार्य पूरी प्रोफेशनल गंभीरता, दक्षता और ईमानदारी से करना चाहिये। श्री डिसा ने कहा कि धारा 4(2) के अंतर्गत संप्रवर्तक को एकाउंट को सर्टिफाइड करते वक्त देखना चाहिए कि प्रोजेक्ट के लिए प्राप्त की गई राशि उसी प्रोजेक्ट में खर्च की गई है कि नहीं तथा इस्क्रो एकाउंट से उसी अनुपात में आहरण किया गया है, जितना कार्य मौके पर हुआ है। उन्होंने कहा कि सर्टिफिकेट जारी करने के पूर्व पर्याप्त जानकारी प्राप्त की जाना चाहिए। रेरा अध्यक्ष ने कहा कि संप्रवर्तक द्वारा प्रोजेक्ट के एकाउंट से आहरण के लिए सी.ए. का सर्टिफिकेशन जरूरी है। प्रति वर्ष संप्रवर्तक को अपने लेखों का चार्टर्ड एकाउटेंट से ऑडिट कराना जरूरी है। ऑडिट रिपोर्ट में आईसीएआई के मानकों का पालन होना चाहिये। उन्होनें कहा कि प्रोजेक्ट पंजीयन, क्वार्टरली रिटर्न, प्रोजेक्ट वृद्धि, प्रोजेक्ट वापसी, इस्क्रो-एकाउंट से राशि आहरण, प्रोजेक्ट पूर्ण के होने के 6 माह के भीतर ऑडिट जैसे दायित्वों के लिए चार्टर्ड एकाउटेंट अनुदेयक की भूमिका में है। श्री डिसा ने कहा कि भारतीय रियल एस्टेट में रोज नये तकनीकी नवाचार हो रहे हैं। प्रापर्टी सर्च, निर्माण तथा अनुबंध तैयारी से संबंधित इन सभी नवाचारों का अधिकाधिक फायदा उठाने पर रियल एस्टेट की सही दिशा तय होगी। उन्होंने कहा कि परिवर्तन संप्रवर्तक के लिये चुनौतीपूर्ण है। नवाचारों को आत्मसात करना ही सर्वोत्तम सुझाव है। श्री डिसा ने कहा कि आज के दौर में चार्टर्ड अकाउंटेंट प्रोफेशन कॅरियर के रूप में लोगों के बीच काफी लोकप्रिय बन गया है। इनसॉलवेंसी बैंकक्रप्टसी एक्ट से हटकर, रेरा एक्ट में सी.ए.को प्रेक्टिस करने की पूरी आजादी प्रदान की गई है। रेरा अध्यक्ष श्री डिसा ने कहा कि रेरा एक्ट का मकसद ग्राहकों के हितों की रक्षा करना और रीयल एस्टेट सेक्टर में निवेश को बढ़ाना है। रेरा एक्ट बेहतर जवाबदेही और पारदर्शिता लाकर रीयल एस्टेट की खरीद को आसान बनाता है। उन्होंने कहा कि यह फ्लैट्स, अपार्टमेन्ट्स आदि की खरीद के लिए एक एकीकृत कानूनी व्यवस्था मुहैया कराकर पूरे देश में उसका मानकीकरण करता है। श्री डिसा ने कहा कि समय पर घर, देरी पर मुआवजा, प्रोजेक्ट की पूरी जानकारी, फ्लैट कारपेट एरिया के आधार पर बिक्री, बिक्री के बाद आफ्टर सेल जैसे प्रावधानों से आवंटी को सुविधा हुई है। मांग बढ़ने से रियल एस्टेट को मंदी से उबरने में मदद मिलेगी।

केन्द्रीय मंत्री श्री गडकरी ने जबलपुर में किया 758 करोड़ के फ्लाई ओव्हर का शिलान्यास
22 February 2019
केन्द्रीय सड़क परिवहन एवं राजमार्ग मंत्री श्री नितिन गडकरी ने आज जबलपुर में प्रदेश के सबसे बड़े फ्लाई ओव्हर ब्रिज का शिलान्यास किया। प्रदेश के लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने कार्यक्रम की अध्यक्षता की। करीब 6 किलोमीटर लम्बाई के इस एलीवेटेड कॉरीडोर फ्लाई ओवर ब्रिज का केन्द्रीय सड़क निधि के 758 करोड़ 54 लाख रूपये की लागत से निर्माण किया जा रहा है। इस अवसर पर संसद सदस्य श्री राकेश सिंह, विधायक सर्वश्री संजय यादव, विनय सक्सेना, अजय विश्नोई, अशोक रोहाणी, सुशील तिवारी इंदु, श्रीमती नंदिनी मरावी, महापौर श्रीमती स्वाति सदानंद गोडबोले, महाधिवक्ता एडवोकेट श्री राजेन्द्र तिवारी और सामाजिक, धार्मिक तथा राजनैतिक संगठनों के प्रतिनिधि मौजूद थे।

राज्य-स्तरीय गुणवत्ता सेल गठित होगा
22 February 2019
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा है कि महाविद्यालयों में गुणवत्ता सुनिश्चित करने के लिये राज्य-स्तरीय गुणवत्ता सेल का गठन किया जायेगा। सेल से समाज के विभिन्न क्षेत्रों के विद्वानों और उद्योगपतियों को जोड़ा जायेगा। श्री पटवारी आज विभागीय समीक्षा बैठक कर रहे थे। मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि शिक्षकों की कक्षाओं में नियमित उपस्थिति सुनिश्चित करने के लिये अध्यापन में ई-टीचिंग को बढ़ावा देकर विभिन्न शैक्षणिक प्रविधियों, जैसे- ग्रुप डिस्कशन, केस स्टडी, ब्रेन स्ट्रामिंग, फील्ड ट्रिप, डिबेट आदि शामिल हैं, को प्रभावी बनाया जायेगा। उन्होंने कहा कि प्रतिदिन कक्षा के प्रारंभ में विषय से संबंधित कुछ नयी रोचक तथा तथ्यात्मक जानकारी विद्यार्थियों से साझा करें। इससे विद्यार्थियों का रुझान बना रहेगा। विद्यार्थियों को सम-सामयिक विषयों पर असाइनमेंट एवं प्रजेन्टेशन दिया जाना चाहिए जिससे विषय की समझ के साथ प्रतिस्पर्धा की भावना भी बेहतर होगी। श्री पटवारी ने ग्रामीण स्तर पर महाविद्यालयों में ऑनलाइन अध्यापन व्यवस्था पर जोर देते हुए कहा कि ऐसे महाविद्यालयों में वर्चुअल क्लॉस या यू-ट्यूब लेक्चर की व्यवस्था होनी चाहिये। अतिथि विद्वानों को भी मिलेगा प्रशिक्षण उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि दक्षता संवर्धन के लिये प्राचार्यों एवं प्राध्यापकों के साथ अतिथि विद्वानों को भी प्रशिक्षण दिया जायेगा। उल्लेखनीय है कि विश्व बैंक परियोजना के तहत प्रतिवर्ष लगभग 700 से 900 प्राचार्य/प्राध्यापकों को प्रशिक्षण दिया जाता है। बनेगा मोबाइल एप उच्च शिक्षा मंत्री ने जानकारी दी कि प्रदेश स्तर पर ऑनलाइन शिकायत निवारण प्रणाली विकसित करने के लिये हायर एजुकेशन मोबाइल एप शुरू किया जायेगा। एप पर स्टूडेंट डायरी, जियो टैगिंग, टाइम टेबल, छात्रवृत्ति आदि जानकारी उपलब्ध होगी। पाठ्यक्रम में बदलाव श्री पटवारी ने शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार की आवश्यकता पर जोर देते हुए कहा कि वर्तमान पारम्परिक पाठ्यक्रम से अलग नये पाठ्यक्रम का संचालन करना आज की जरूरत है। नये विषयों को पाठ्यक्रम में सम्मिलित करना आवश्यक है। उन्होंने कहा कि यूपीएससी के पाठ्यक्रम को महाविद्यालयीन पाठ्यक्रम से जोड़ा जा सकता है। इस पर विस्तृत चर्चा कर निर्णय लिया जायेगा। बैठक में आयुक्त उच्च शिक्षा श्री राघवेन्द्र सिंह ने कहा कि विद्यार्थियों के प्लेसमेंट के लिये कम्पनियों से टाई-अप करना आवश्यक है। साथ ही, विद्यार्थियों को आवश्यक ट्रेनिंग देकर प्लेसमेंट इंटरव्यू के लिये तैयार करना जरूरी है, जिससे ज्यादा से ज्यादा प्लेसमेंट हो सकें। श्री सिंह ने कहा कि फेकल्टी रिचार्ज प्रोग्राम तथा मेजर एवं माइनर रिसर्च प्रोजेक्ट को बढ़ावा देना आवश्यक है। बैठक में अपर आयुक्त श्री वेदप्रकाश, बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. आर.जे. राव तथा विश्व बैंक परियोजना के अधिकारी उपस्थित थे।

सीईओ कार्यालय में हुई मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक
22 February 2019
आगामी लोकसभा निर्वाचन-2019 के संबंध में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों की बैठक अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री संदीप यादव की अध्यक्षता में हुई। श्री यादव ने राजनैतिक दलों को फोटो निर्वाचक नामावली के विशेष संक्षिप्त पुनरीक्षण-2019 के अंतिम प्रकाशन, विशेष कैम्प के आयोजन, मतदान केन्द्र, सेवा मतदाताओं, ई.व्ही.एम., व्ही.व्ही.पैट तथा कॉल सेंटर-1950 के संबंध में जानकारी दी। श्री यादव ने राजनैतिक दलों के प्रतिनिधियों से सभी मतदान केन्द्रों के लिये बूथ लेवल एजेण्ट (BLA) नियुक्त करने, उनकी जानकारी जिला अधिकारियों को देने, जिलों में ई.व्ही.एम./व्ही.व्ही.पैट के लिये फर्स्ट लेवल चैकिंग कार्य में दलों के जिला स्तरीय प्रतिनिधियों को उपस्थित रखने का अनुरोध किया। दलों से यह भी अपेक्षा की गयी कि प्रारूप प्रकाशन के बाद उन्हें प्रदाय की गयी मतदाता सूची में यदि कोई संशोधन की आवश्यकता हो, तो संबंधित जिला निर्वाचन अधिकारी, निर्वाचन रजिस्ट्रीकरण अधिकारी को अवगत कराया जाये। बैठक में मान्यता प्राप्त राजनैतिक दलों के प्रतिनिधि, अपर मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अरूण कुमार तोमर, संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री अभिजीत अग्रवाल, श्री राजेश कौल, उप-मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री राकेश कुशरे एवं श्री राजेश श्रीवास्तव उपस्थित थे।

शिक्षा के साथ नैतिक मूल्यों का ज्ञान जरूरी- राज्यपाल श्रीमती पटेल
10 February 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि बच्चे देश का भविष्य होते हैं, उनको शिक्षा के साथ संस्कारों और जीवन के नैतिक मूल्य का ज्ञान भी दिया जाना चाहिए। श्रीमती पटेल ने कहा कि संस्कारित समाज के लिए सकारात्मक विचार, उदार हृदय और चरित्रवान व्यक्तित्व आवश्यक है। राज्यपाल आज सत्यसाईं महिला महाविद्यालय के वार्षिकोत्सव को संबोधित कर रही थीं। इस अवसर पर जनसम्पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा भी मौजूद थे। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि भारत सिद्ध महापुरूषों और ऋषियों-मुनियों की धरती है। उन्होंने सत्यसाईं बाबा से आशीर्वाद प्राप्त करने के विभिन्न अवसरों का उल्लेख करते हुए कहा कि बाबा ने अपने कार्यों से यह सिद्ध किया कि संकल्पित इच्छा शक्ति और सेवा भाव से किये गये कार्य सदैव सफल होते हैं। उन्होंने छात्राओं से कहा कि प्रकृति को आप जितना देंगे, उसका दोगुना प्रकृति आपको देगी। जनसम्पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि सरकार महिला सशक्तिकरण के लिए ठोस प्रयास कर रही है। महिलाओं को जीवन के सभी क्षेत्रों में आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित किया जा रहा है। उन्होंने बताया कि सरकार द्वारा बेटियों के विवाह में आय, जाति, धर्म का भेदभाव किये बिना 51 हजार रूपये की आर्थिक सहायता उपलब्ध कराई जा रही है। रोजगार के नए अवसर सृजित करने के लिए प्रदेश में निवेश के लिये अनुकूल वातावरण बनाया जा रहा है, बुनियादी सुविधाएँ जुटाई जा रही हैं। उन्होंने बताया कि भोपाल को देश के प्रमुख शहरों से हवाई सेवा से सीधे जोड़ने का कार्य भी तेजी से हो रहा है। हैदराबाद के लिए सीधी वायु सेवा प्रारंभ हो गई है। राज्यपाल ने वार्षिकोत्सव में जन्म दिवस पर उनको प्राप्त पुस्तकों में से 366 पुस्तकें जरूरतमंद बच्चों और विद्यालयों को प्रदान कीं। उन्होंने छात्राओं को पुरस्कार भी प्रदान किये।

भारतीय संस्कृति, परंपरा और मूल्यों से युवा पीढ़ी को जोड़ने की जरूरत
10 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि भारत की पहचान बनाने वाली संस्कृति, परंपरा और सामाजिक मूल्यों से आज की युवा पीढ़ी को जोड़ने की जरूरत है। इसके जरिये ही हम देश का निर्माण करेंगे और उसे महान बना पायेंगे। उन्होंने कहा कि विकास घोषणाओं से नहीं होने से दिखता है। श्री नाथ आज छिंदवाड़ा में राजा भोज की आदमकद प्रतिमा का अनावरण, छिंदवाड़ा शहर के लिये नियमित जल प्रदाय योजना का लोकार्पण और निर्माणाधीन शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय के निरीक्षण के बाद जनसभा को संबोधित कर रहे थे। राजा भोज ने भारत की संस्कृति को महान बनाया मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने राजा भोज की आदमकद प्रतिमा की स्थापना को छिंदवाड़ा के रहवासियों के लिये महत्वपूर्ण बताते हुये कहा कि राजा भोज की भारत देश के नव-निर्माण और इसकी संस्कृति को समृद्ध बनाने की एक व्यापक सोच थी। उन्होंने अपने समय में देश की संस्कृति को एक नई दिशा दी और जन-कल्याण की दिशा में काम करते हुये मिसाल पेश की। यही कारण है कि आज हम उनकी मूर्ति की स्थापना कर स्मरण कर रहे हैं और युवा पीढ़ी को उनके व्यक्तित्व और कृतित्व से अवगत करा रहे हैं। श्री नाथ ने कहा कि हमारे देश में हर क्षेत्र में विविधता है तो भी हम एकता के मजबूत सूत्र में बँधे हुए हैं। पूरा विश्व हमारी हर दिल को जोड़ने वाली इस संस्कृति को आश्चर्य से देखता है। नागरिकों के प्यार, विश्वास का परिणाम है छिंदवाड़ा का विकास मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिंदवाड़ा शहर के लिये नियमित जल प्रदाय योजना का लोकार्पण किया। उन्होंने कहा कि योजना निर्धारित अवधि के 20 दिन पहले ही पूरी की गई। श्री नाथ ने कहा कि आज छिंदवाड़ा में जो भी विकास दिख रहा है उसके पीछे यहाँ के नागरिकों द्वारा मुझे दिया गया प्यार, विश्वास और ताकत है। उन्होंने कहा कि यह मेरी सबसे बढ़ी पूँजी है। इसी के बल पर हर चुनौती पर विजय पाकर हम विकास के पथ पर आगे बढ़ते जायेंगे। विश्व स्तर का अस्पताल बने ऐसा प्रयास होगा मुख्यमंत्री श्री ने कहा कि छिंदवाड़ा में निर्माणाधीन शासकीय चिकित्सा महाविद्यालय में ऐसा अस्पताल बनाने का हमारा प्रयास है, जिसमें विश्व-स्तरीय चिकित्सा सुविधाएँ उपलब्ध होंगी। हमारी मंशा है कि छिंदवाड़ा सहित आसपास के लोगों को इलाज के लिये बाहर न जाना पड़े बल्कि बाहर के लोग यहाँ इलाज करवाने आएँ। नागरिक अभिनंदन समारोह में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ का राजा भोज प्रतिमा निर्माण समिति तथा अन्य सामाजिक संगठनों द्वारा अभिनंदन किया गया। मुख्यमंत्री को अभिनंदन-पत्र और स्मृति-चिन्ह भेंट किया गया।

विश्व को शून्य और दशमलव भारतीय विज्ञान की देन
10 February 2019
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज विज्ञान भवन में 'भारतीय वांग्मय में विज्ञान एवं तकनीकी : अनुसंधान एवं अनुशीलन'' विषय पर आयोजित दो दिवसीय राष्ट्रीय संगोष्ठी के समापन समारोह में कहा कि शून्य और दशमलव दुनिया को भारतीय विज्ञान की देन है। संगोष्ठी का आयोजन मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद, अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय और भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद, नई दिल्ली के संयुक्त तत्वावधान में किया गया। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि भारतीय ऋषि-मुनियों द्वारा दिया गया ज्ञान पूर्णत: वैज्ञानिक पद्धतियों पर आधारित है। जल के शुद्धिकरण के लिये नदियों में सिक्के डालने की परम्परा हो या 24 घंटे ऑक्सीजन देने वाले पीपल के वृक्ष की पूजा करने का विधान हो। इस तरह के अनेकों उदाहरण हमारी संस्कृति की वैज्ञानिक सोच को साबित करते हैं। उन्होंने कहा कि चाहे यह सब प्रयोगशालाओं में नहीं हुआ हो, लेकिन ऋषि-मुनियों की सतत तपस्या और अनुभवों पर आधारित ज्ञान का मूल विज्ञान ही है। श्री शर्मा ने मध्यप्रदेश विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी परिषद संस्थान में संस्कृत सहित अन्य भारतीय भाषाओं के साहित्य में मौजूद वैज्ञानिक तथ्यों के शोध के लिये दो कक्ष आवंटित किये जाने के लिये कहा है। उन्होंने कहा कि पहले कहा जाता था, जिसकी संस्कृत भाषा जितनी अच्छी होगी, उसकी गणित भी उतनी अधिक अच्छी होगी। श्री शर्मा ने कहा कि राष्ट्रीय संगोष्ठी के निष्कर्ष समाज को आगे बढ़ने के लिये उपयोगी सिद्ध होंगे। अटल बिहारी वाजपेयी हिन्दी विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज ने संगोष्ठी की अध्यक्षता की। इस अवसर पर परिषद के महानिदेशक प्रो. नवीन चन्द्रा, राज्य लोक सेवा आयोग के अध्यक्ष प्रो. भास्कर चौबे, ऑर्कलॉजिकल सर्वे ऑफ इण्डिया के पूर्व महानिदेशक प्रो. तिवारी और हिन्दी विश्वविद्यालय के कुल सचिव प्रो. सुनील कुमार पारे भी मौजूद थे।

मंत्री श्री यादव ने खरगोन जिले में दिया नव-दंपत्तियों को आशीर्वाद
10 February 2019
किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने खरगोन जिले में अनेक विवाह/निकाह सम्मेलनों में शामिल होकर नव-दंपत्तियों को आशीर्वाद दिया और विवाह सामग्री भेंट की। वसंत पंचमी के अवसर पर जिले के अनेक ग्रामों में मुख्यमंत्री कन्या विवाह/निकाह योजना में सामूहिक विवाह सम्मेलनों में 786 विवाह/निकाह हुए। मंत्री श्री यादव ने बताया कि मध्यप्रदेश शासन ने निर्णय लिया है कि बेटियों के विवाह में वित्तीय व्यवधान नहीं आने देंगे। बेटियों के बैक खाते में 48 हजार रूपए पहुँचाए जाएंगे। श्री यादव ने नव-दंपत्तियों के माता-पिता को शुभकामनाएँ और बधाई दी। उन्होंने नव-दंपत्तियों को भी खुशहाल जीवन की शुभकामनाएँ दी। मंत्री श्री यादव खामखेड़ा में गुर्जर समाज, बरसलाय में यादव समाज, ग्राम भगवानपुरा में भारूड़ धनगर समाज, बड़गाँव में क्षत्रिय कुशवाह समाज के सामुहिक विवाह सम्मेलन में शामिल हुए। इस अवसर पर विधायक श्री केदार डावर सहित समाजों के अध्यक्ष उपस्थित रहे।

मंत्री श्री शर्मा ने मैत्री क्रिकेट मैच के विजेताओं को पुरस्कृत किया
10 February 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज ओल्ड कैम्पियन स्कूल मैदान में पहुँचकर क्रिकेट खिलाड़ियों का उत्साहवर्द्धन किया। श्री शर्मा ने विजेता टीम मीडिया-इलेवन को पुरस्कृत किया। मैच उप विजेता महापौर एकादश रही। श्री शर्मा ने सर्वश्रेष्ठ बॉलर श्री वैभव गुप्ता, सर्वश्रेष्ठ बेट्समेन श्री मनोज चौरसिया और मैन ऑफ द मैच श्री इजहार खान को ट्रॉफी देकर सम्मानित किया।

शोभा-यात्रा में सम्मिलित हुए धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा
10 February 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्पर्क, विधि-विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और विमानन मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज सांईबाबा की शोभा-यात्रा में सम्मिलित हुए। उन्होंने सांई पालकी में पूजन कर आशीर्वाद प्राप्त किया। शोभा-यात्रा कोटरा सुल्तानाबाद से कमला नगर होते हुए पुन: कोटरा लौटी। शोभा-यात्रा में श्री ईश्वर सिंह चौहान, श्री राजेश साहिबानी, पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान 'गुड्डू', श्री प्रदीप सक्सेना 'मोनू', पूर्व पार्षद श्री प्रवीण सक्सेना, श्री हिमांशु धाकड़, श्री अमित शर्मा, श्री संजीव सक्सेना और श्री निकेश चौहान शामिल थे।

उच्च शिक्षा मंत्री ने किया मप्र निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के प्रशासनिक भवन एवं आवासीय परिसर का लोकार्पण
9 February 2019
भोपाल 9 फरवरी। मप्र निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के प्रशासनिक भवन एवं आवासीय परिसर का लोकार्पण 9 फरवरी को कालियासोत डेम के समीप स्थित संस्था में संपन्न हुआ। इस दौरान पोटेंशियल ऑफ़ इनोवेशंस एंड इन्वेंशंस फॉर सस्टेनेबल डवेलपमेंट ऑफ़ मध्यप्रदेश: अपॉर्चुनिटीज एंड चैलेंजेज विषय पर परिचर्चा भी आयोजित की गई। कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी और उच्च शिक्षा प्रमुख सचिव नीरज मंडलोई मौजूद रहे। मुख्य अतिथि उच्च शिक्षा मंत्री जीतू पटवारी ने इस अवसर पर कहा प्रसन्नता का विषय है कि मध्यप्रदेश में शिक्षा के क्षेत्र में निजी विश्वविद्यालयों की प्रगति में आयोग ने समूचे भारत में पृथक से अपनी पहचान बनाई है। परिचर्चा के विषय में कहा प्राकृतिक संसाधनों को ध्यान में रखते हुए मध्यप्रदेश में विभिन्न क्षेत्रों में शोध को आवश्यकता है, ताकि सम्पोषित विकास की अवधारणा को सफल बनाया जा सके। अतः मुझे पूर्ण उम्मीद है कि परिचर्चा से शोध की आवष्यकता और उपयोग पर कुछ सकारात्मक पहल होगी जो मध्यप्रदेश को समृद्ध एवं खुषहाल मध्यप्रदेश के सपने को पूरा करेंगे । मप्र निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग के अध्यक्ष डॉ. अखिलेश कुमार पांडेय ने इस अवसर पर कहा निजी विश्वविद्यालयों, मानक संस्थाओं एवं शासन के बीच सामांजस्य स्थापित करने तथा निजी संस्थानों को प्रेरित करने के उददेष्य से म.प्र. शासन ने निजी विश्वविद्यालय विनियामक आयोग की स्थापना 21 अक्टूबर 2009 में की । सिमित संसाधनो के साथ आयोग ने म.प्र. में उच्च शिक्षा की गुणवत्ता बनाए रखने हेतु कई प्रयास जैसे पोर्टल एवं वेबसाईट विकसित करना तथा विडियो कान्फ्रेंसिंग की सुविधा भी विकसित करने जा रहें है। विश्वविद्यालयों के संचालन में आ रही समस्याओं के निराकरण हेतु आयोग शासन की सहायता से प्रशिक्षण कार्यक्रम शुरू कर रहा है, जिसमें कुलसचिव, वित्त, परीक्षा एवं अन्य अधिकारियों हेतु प्रशिक्षण कार्यक्रम चला रहा है। आयोग निजी विष्वविद्यालय में शोध को बढ़ावा देने हेतु म.प्र. एवं केन्द्रीय संस्थानों की सहायता से निजी विश्वविद्यालयों के शिक्षकों एवं विद्यार्थियों के प्रोत्साहन की योजना बना रहा है। आयोग निजी विश्वविद्यालयों में अध्ययनरत 60 प्रतिशत से कम अंक वाले विद्यार्थियों हेतु विषेष कोचिंग तथा प्रशिक्षण की व्यवस्था हेतु विश्वविद्यालयों को प्रोत्साहित कर रहा है। सभी विश्वविद्यालयों को निर्देश जारी किए गए है कि वे अपने आसपास के 50 सरकारी स्कूलों में उपकरण तथा तकनीकी सहायता उपलब्ध कराए। परिचर्चा में विषय विशेषज्ञों की राय सतत विकास से अभिप्राय ऐसे विकास से है, जो हमारी भावी पीढ़ियों की अपनी जरूरतें पूरी करने की योग्यता को प्रभावित किए बिना वर्तमान समय की आवश्यकताएं पूरी करे। भारतीयों के लिए पर्यावरण संरक्षण, जो सतत विकास का अभिन्न अंग है, कोई नई अवधारणा नहीं है। भारत में प्रकृति और वन्यजीवों का संरक्षण अगाध आस्था की बात है, जो हमारे दैनिक जीवन में प्रतिबिंबित होता है और पौराणिक गाथाओं, लोककथाओं, धर्मों, कलाओं और संस्कृति में वर्णित है । सतत विकास लक्ष्यों का उद्देश्य सबके लिए समान, न्यायसंगत, सुरक्षित, शांतिपूर्ण, समृद्ध और रहने योग्य विश्व का निर्माण करना और विकास के तीनों पहलुओं, अर्थात सामाजिक समावेश, आर्थिक विकास और पर्यावरण संरक्षण को व्यापक रूप से समाविष्ट करना है।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी की रैली ऐतिहासिक, लाखों किसान जुटें उमड़ी भारी भीड़ से व भाजपा के पूर्व कृषि मंत्री द्वारा भाजपा की असलियत उजागर करने से बेचैन भाजपा मनगढ़ंत व झूठे आरोप लगाने लगी किसानों के नाम पर ऋण घोटाला करने वाली भाजपा को तो कर्जमाफी पर बोलने तक का हक नहीं: नरेन्द्र सलूजा
9 February 2019
मध्यप्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष के मीडिया समन्वयक नरेन्द्र सलूजा ने कहा कि जम्बूरी मैदान पर निरंतर कई फ्लाप आयोजन कर चुकी भाजपा आज कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी जी की ऐतिहासिक, यादगार व लाखों भीड़ वाली जनसभा से इतनी बेचेन हो गयी कि मनगढ़ंत व झूठे आरोप लगाने लग गयी। शर्मनाक तो यह है कि सभा प्रारंभ के पूर्व के खाली कुर्सियों के फोटो उतारकर डर्टी पाॅलिटिक्स पर उतर आयी। सलूजा ने कहा कि राहुल गांधी जी की मंदसौर के पीपलियामंडी में 6 जून 2018 को सरकार बनने के दस दिन के भीतर किसानों के कर्ज माफी की घोषणा के बाद प्रदेश के यशस्वी मुख्यमंत्री कमलनाथ जी ने पदभार ग्रहण करने के एक घंटे के भीतर ही किसानो के कर्ज माफी के क्रांतिकारी फैसले पर हस्ताक्षर कर इतिहास रच दिया। किसानो में इस फैसले से हर्ष व्याप्त है। प्रदेश के लाखों किसान इस ऐतिहासिक किसान हितैषी फैसले पर राहुल जी व कमलनाथ जी का आभार मानना चाह रहे थे।इसलिए आज प्रदेश के दूर-दूर इलाकों से लाखों किसान जम्बूरी मैदान पर एकत्रित हुए और उन्होंने राहुल जी व कमलनाथ जी का आभार माना। चूंकि भाजपा जम्बूरी मैदान पर पूर्व में कई सरकारी खर्चे व तामझाम से फ्लाप आयोजन कर चुकी है और अभी हाल ही में भाजपा ने इसी मैदान पर 13 लाख टारगेट वाला महाकुंभ मोदी जी व अमित शाह के नाम पर आयोजित किया था जो कि सुपर फ्लाप रहा, उसमें बमुश्किल 50 हजार लोग ही जुटे और कांग्रेस के इसी मैदान पर आयोजित आज के किसान आभार सम्मेलन में जब लाखों किसानो की भीड़ बगैर सरकारी खर्च व तामझाम के जुटी तो भाजपा के पेट में दर्द होना स्वाभाविक ही था। साथ ही भाजपा के पूर्व कृषि मंत्री रामकृष्ण कूसमारिया ने जिस प्रकार से आज इस आयोजन में भाजपा छोड़, कांग्रेस की सदस्यता ग्रहण की व जिस प्रकार से भाजपा की वास्तविकता उजागर की, उसके किसानो के प्रति दोहरे चरित्र को उजागर किया, उसकी किसान नीतियो की खुलकर आलोचना की, कांग्रेस की दिल खोलकर प्रशंसा की, किसानो की कर्ज माफी के निर्णय की जमकर तारीफ की, उससे भाजपा का पेट दुखना स्वाभाविक है।भाजपा को तो वेसे भी किसानो की कर्ज माफी पर बोलने तक का हक नहीं है।जिस भाजपा ने अपनी 15 वर्ष की सरकार में किसानो का एक रुपये का कर्ज भी माफ नहीं किया।किसानो की कर्ज माफी का खुलकर मजाक उड़ाया, वो आज कांग्रेस के कर्जमाफी के निर्णय पर किस हक से बात कर रही है। सलूजा ने कहा कि नेता प्रतिपक्ष भार्गव यह जान ले कि किसानो के कर्जमाफी की प्रक्रिया जोर शोर से जारी है।शीघ्र ही उनके समक्ष किसानो की कर्ज माफी के सारे सार्वजनिक आँकड़े होंगे और साथ ही भाजपा सरकार के समय के करोड़ों के फर्जी किसान ऋण के सारे आँकड़े भी कांग्रेस सरकार सार्वजनिक कर उनके समक्ष भिजवा देगी।जिससे वह भी जान ले कि उनकी किसान पुत्र की सरकार में किसानों के नाम पर केसे-केसे फर्जीवाडे व घोटाले किये गये। सलूजा ने कहा कि भार्गव यह भी जान ले कि जिस पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तडीपार, रिश्वतखोर, हत्याओं के आरोपी रहे हो, उन्हें दूसरों पर कीचड़ उछालने का कोई हक नहीं है।

उन्नतशील भारत के निर्माण में प्रगतिशील युवा रोजगार देने की रणनीति बनायें
9 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि उन्नतशील भारत के निर्माण के लिये हमें प्रगतिशील युवाओं को रोजगार देने के लिये सुनियोजित रणनीति अपनाना होगी। श्री नाथ आज महाराष्ट्र के गोंदिया में स्वर्गीय मनोहर भाई पटेल जयंती उत्सव में मेधावी छात्र-छात्राओं को स्वर्ण पदक वितरण समारोह में संबोधित कर रहे थे। समारोह में मध्यप्रदेश विधानसभा की उपाध्यक्ष सुश्री हिना कांवरे, खनिज संसाधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल, पूर्व केन्द्रीय मंत्री एवं सांसद श्री प्रफुल्ल पटेल और फिल्म अभिनेता श्री संजय दत्त उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि आज के युवा और कल की पीढ़ी के बीच एक बड़ा अंतर यह है कि हमारे नौजवानों की सोच व्यापक हुई और वे शिक्षित होने के साथ ही हुनरमंद भी हैं। आज आवश्यकता इस बात की है कि हम इन नौजवानों को उनकी अपेक्षा और पात्रता के अनुसार रोजगार उपलब्ध करवाएँ। श्री नाथ ने स्वर्गीय मनोहर भाई पटेल का स्मरण करते हुये कहा कि वे राजनैतिक व्यक्ति नहीं थे। उन्होंने राजनीति को सेवा का माध्यम बनाया। आज गोंदिया में जो भी विकास हमें दिखता है उसका श्रेय स्वर्गीय मनोहर भाई पटेल को है। सांसद श्री प्रफुल्ल पटेल ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ न केवल उनके साथी हैं, बल्कि मार्गदर्शक भी हैं। उनके मार्गदर्शन में ही गोंदिया का विकास करने में मैं सफल हुआ। इस मौके पर मेधावी छात्र-छात्राओं को श्री कमल नाथ ने स्वर्ण पदक वितरित किये।

इंजीनियर हर जगह फिट और हिट : मंत्री श्री शर्मा
9 February 2019
जनसम्पर्क, विधि-विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज मिन्टो हॉल में आयोजित मेनिट के पहले ग्लोबल एलुमिनाई कन्वेंशन को संबोधित करते हुए कहा कि इंजीनियरिंग का हर छात्र हर जगह फिट और हिट रहता है। मेनिट के इस आयोजन में 26 देशों में रह रहे पूर्व छात्रों ने सहभागिता की। श्री शर्मा ने अपने संबोधन में मेनिट के पूर्व छात्रों द्वारा विभिन्न क्षेत्रों में उल्लेखनीय कार्यों को रेखांकित करते हुए कहा कि यदि सभी मिलकर कार्य करें, तो किसी भी क्षेत्र में क्रांतिकारी परिवर्तन ला सकते हैं। उन्होंने पुराने साथियों के मिलने पर प्रसन्नता जाहिर की। श्री शर्मा ने कहा कि पुराने साथियों से मिलकर नई ऊर्जा का संचार होता है। भोपाल का मेनिट संस्थान ऐसा संस्थान है, जहाँ पर अध्ययनरत रहे छात्र आज दुनिया के 65 देशों में अपने संस्थान और भोपाल के साथ पूरे देश का नाम रोशन कर रहे हैं। प्रथम ग्लोबल एलुमिनी कन्वेंशन में मेनिट के छात्र रहे ख्यातनाम हस्तियों को सम्मानित भी किया गया। नान कोर केटेगरी में मेनिट के छात्र रहे एवं वर्तमान में महानिदेशक, अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान, श्री आर. परशुराम को सम्मानित किया गया। कोर केटेगरी में पूर्व छात्र रहे जॉन के. जॉन, श्री संतोष चौबे और श्री संजीव अग्रवाल को सम्मानित किया गया। कार्यक्रम में मेनिट एलुमिनी सेल द्वारा प्रकाशित की गई स्मारिका 'मेग्नम ओपस-2019'' का विमोचन भी अतिथियों द्वारा किया गया। इस अवसर पर कनाडा निवासी मेनिट एलुमिनी सेल की अध्यक्ष सुश्री रागिनी आर.वी.आर., पूर्व विधायक श्री शैलेन्द्र प्रधान, रिटायर्ड मेजर जनरल श्री श्याम श्रीवास्तव, श्री संजीव सक्सेना और श्री प्रफुल्ल निलोसे मौजूद थे।

शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन की आवश्यकता - स्कूल शिक्षा मंत्री श्री चौधरी
9 February 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने राज्य शिक्षा सेवा संघ के प्रथम प्रांतीय सम्मेलन में कहा कि शिक्षा को रोजागारोन्मुखी बनाने के लिये समय-समय पर रिफ्रेशर कोर्स चलाना जरूरी है। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिये परिवर्तन की महती आवश्यकता है। मंत्री द्वय ने यह बात सुभाष उत्कृष्ट उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में राज्य शिक्षा सेवा संघ के प्रथम प्रांतीय सम्मेलन में कही। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि शिक्षक बच्चों के भविष्य के निर्धारक हैं। सम्मेलन में स्कूल शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिये सकारात्मक पहल किया जाना बहुत अच्छी बात है। उन्होंने माना कि वर्तमान में शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार के लिये कई कदम उठाये जाना जरूरी है। उन्होंने कहा कि वे स्वयं सम्मेलन में दिये गये सुझावों पर शिक्षा मंत्री के साथ मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से मिलकर चर्चा करेंगे। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि शैक्षणिक गुणवत्ता के स्तर में सुधार के लिये शिक्षा व्यवस्था में परिवर्तन की महती आवश्यकता है। वर्तमान में इसकी कमियों को दूर करने के प्रयास किये जायेंगे। साथ ही, जो अच्छाइयाँ हैं, उन्हें बढ़ावा दिया जायेगा। श्री चौधरी ने कहा कि यदि हम सभी दृढ़-प्रतिज्ञ हो जायें, तो नि:स्संदेह शिक्षा की गुणवत्ता में सुधार होगा। पहली बार एक महत्वपूर्ण कदम उठाते हुए शासकीय शिक्षण संस्थानों में भी पेरेंट-टीचर मीट (पीटीएम) की शुरूआत की गई है। इस अवसर पर पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, राज्य शिक्षा सेवा संघ के अध्यक्ष श्री धीरेन्द्र चतुर्वेदी, उपाध्यक्ष श्री के.के. द्विवेदी, सचिव श्री डी.एस. कुशवाह और राज्य, संभाग एवं जिला स्तरीय पदाधिकारी मौजूद थे।

नगरीय निकाय की ग्राउण्ड स्टडी के आधार पर बने विकास की रणनीति
9 February 2019
नगर निगम, नगर पालिका और नगर परिषद की ग्राउण्ड स्टडी कर उसकी चुनौतियों और समस्याओं के निराकरण के संबंध में रणनीति बनायी जाये। इसी रणनीति के आधार पर विकास के कार्य करवाये जायें। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने नेशनल इंस्टीटयूट ऑफ अर्बनाइजेशन के संबंध में अधिकारियों से चर्चा करते हुए यह सुझाव दिये। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि नगरीय निकायों को आत्म-निर्भर बनाने के लिए प्रेरित करना होगा। उन्होंने कहा कि योजनाओं के क्रियान्वयन के लिए निकाय पूरी तरह से अनुदान पर निर्भर हैं। अपने हिस्से की 10 प्रतिशत राशि भी नहीं दे पाते हैं। श्री सिंह ने कहा कि विकास की प्लानिंग करते समय गाँवों से शहरों की ओर हो रहे माइग्रेशन को भी ध्यान में रखा जाये। नगरीय विकास के विशेषज्ञों की सेवाएँ भी ली जायें। अटल बिहारी बाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान के महानिदेशक श्री आर. परशुराम ने कहा कि नगरीय विकास एवं आवास विभाग के अधिकारियों-कर्मचारियों के साथ ही निर्वाचन के तुरंत बाद निर्वाचित पदाधिकारियों की ट्रेनिंग भी होना चाहिए। उन्होंने कहा कि 30 से 45 वर्ष तक के अनुभवी नगरीय विकास के विशेषज्ञों की सेवाएँ लेने का प्रावधान भी होना चाहिए। श्री परशुराम ने कहा कि भोपाल में बनने वाला संस्थान अन्य राज्यों के लिए भी उपयोगी होगा। आयुक्त नगरीय विकास एवं आवास श्री गुलशन बामरा ने कहा कि नगरीय निकायों में मुख्य रूप से अमृत, स्वच्छ भारत मिशन, प्रधानमंत्री आवास और स्मार्ट सिटी की योजनाओं में काम हो रहा है। पेयजल और सीवरेज की समस्याओं का निराकरण प्राथमिकता में शामिल है। शहरी विकास विशेषज्ञ श्रीमती सुनाली रोहरा ने नेशनल इंस्टीट्यूट की स्थापना के उद्देश्यों एवं महत्व के बारे में प्रेजेन्टेशन दिया। उन्होंने बताया कि संस्थान की स्थापना में डी.एफ.आई.डी., यूएसआईडी, एमआईटी, आक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी जैसे संस्थान भी सहयोग के इच्छुक हैं। श्रीमती सुनाली ने बताया कि संस्थान के संचालन के लिए 25 सदस्यों का एक स्वतंत्र बोर्ड होगा। संस्थान सेंटर ऑफ एक्सीलेंस, सर्विस लाइन्स और रीजनल चेप्टर्स के रूप में कार्य करेगा। यह पीपीपी मोड में चलाया जा सकता है। वर्ष 2025 तक 38 प्रतिशत होगी शहरी आबादी श्रीमती सुनाली ने बताया कि वर्ष-2025 तक भारत में 38 प्रतिशत आबादी शहरी होने का अनुमान है। उन्होंने शहरों में पुअर क्वालिटी ऑफ लाइफ के कारणों, शहरीकरण की धीमी गति और एक्सपर्ट की कमी की ओर ध्यान आकृष्ट किया। उन्होंने कहा कि देश के आर्थिक विकास के लिए शहरीकरण जरूरी है। बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री संजय दुबे, सचिव श्री राजीव शर्मा, संचालक टी एण्ड सी.पी. श्री राहुल जैन,अपर आयुक्त श्री स्वतंत्र सिंह, अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विश्लेषण संस्थान के मुख्य सलाहकार श्री एम.एम. उपाध्याय और श्री चितरंजन त्यागी ने भी महत्वपूर्ण सुझाव दिये।

जन-सुनवाई में समस्याओं का त्वरित निराकरण करें - मंत्री श्री सिलावट
9 February 2019
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने आज खण्डवा में जिला योजना समिति की बैठक में कहा कि जन-सुनवाई में आने वाले गरीब और परेशान आवेदकों को सम्मान से बिठाकर उनकी समस्याएं सुनी जायें और मौके पर ही समस्याओं का त्वरित निराकरण करने के प्रयास हों। उन्होंने गर्मी के मौसम में ग्रामीण और शहरी क्षेत्र में पेयजल समस्या के निराकरण के लिए व्यवस्थित कार्य-योजना बनाकर व्यवस्थाएँ सुनिश्चित करने के निर्देश दिये। मंत्री श्री सिलावट ने राजस्व अधिकारियों को निर्देश दिए कि किसानों के नामांतरण और बँटवारे के लंबित सभी प्रकरणों का निराकरण 15 फरवरी तक अनिवार्यतः करें। गरीबों और निराश्रितों को बढ़ी हुई दर से समय पर पेंशन मिले। किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव, विधायक हरसूद कुंवर विजय शाह और विधायक खण्डवा श्री देवेन्द्र वर्मा सहित समिति के सदस्य बैठक में मौजूद थे।

आधुनिक विज्ञान प्राचीन भारतीय ज्ञान की देन है- श्री जीतू पटवारी
9 February 2019
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा है कि हमारा प्राचीन भारतीय ज्ञान ही आधुनिक विज्ञान का आधार है। यह हमारी भारतीयता की पहचान है। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिवेश में शिक्षा में भारतीय परंपरागत ज्ञान और नैतिक मूल्यों के समावेश की जरूरत है। श्री पटवारी अटल बिहारी वाजपेयी हिंदी विश्विवद्यालय मे भारतीय इतिहास अनुसंधान परिषद‌ के संयुक्त तत्वावधान में मैपकास्ट में 'भारतीय वांग्मय में विज्ञान और तकनीकी : अनुसंधान एवं अनुशीलन'' विषय पर आयोजित संगोष्ठी को संबोधित कर रहे थे। मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि शून्य की खोज भारत का पेटेंट है। उन्होंने कहा कि समाज के हर क्षेत्र में नित नये शोध हो रहे हैं, जिनके परिणाम को व्यवहार में लाना जरूरी है। उन्होंने बताया कि मातृभाषा हिंदी के विस्तार के साथ हिंदी विश्वविद्यालय के उद्देश्य के प्रति राज्य सरकार गंभीर है और पूरी तरह समर्पित है। विश्वविद्यालय के कुलपति प्रो. रामदेव भारद्वाज ने कहा कि भारत में ज्ञान-विज्ञान का करोड़ों साल पुराना भण्डार छिपा हुआ है। इंदिरा गांधी मुक्त विश्वविद्यालय के प्रो. कपिल कुमार ने बताया कि भाषा हमारा गौरव है। विदेशी भाषाओं के पहले हमें अपनी मातृभाषा, परंपरा और संस्कृति को समझना होगा। अखिल भारतीय तकनीकी शिक्षा परिषद् के अध्यक्ष प्रो. अनिल सहस्त्र बुद्धे ने कहा कि विज्ञान में भारतीय परंपरा विश्व की सबसे प्राचीन पद्धति है। इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने विश्वविद्यालय की प्रवेश विवरणिका और अटल वार्ता पत्रिका का विमोचन किया।

हर गरीब को आमदनी की गारंटी देगी कांग्रेस भारत इनकम गारंटी देने वाला विश्व का पहला देश होगा मोदी सरकार ने 17 रूपये देकर जनता का अपमान किया: श्री राहुल गांधी
8 February 2019
अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी ने कहा कि सरकार बनने पर कांग्रेस इस देश के हर गरीब व्यक्ति को आमदनी की गारंटी देने के वायदे को पूरा करेगी। विश्व में भारत पहला ऐसा देश होगा जो लोगों को इनकम की गारंटी देगा। नरेन्द्र मोदी सरकार ने 17 रूपये देकर जनता का अपमान किया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश को देश का कृषि सेंटर बनायेंगे। श्री राहुल गांधी आज यहां जम्बूरी मैदान में किसान आभार रैली को संबोधित कर रहे थे। सभा में अलग-अलग जिलों और शहरों से हजारों की संख्या मंे किसान पहुंचे थे। श्री गांधी ने कहा कि किसानों की शक्ति ने छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश और राजस्थान में कांगे्रस को जिताया है। इस देश की मालिक जनता है। मालिक युवा और किसान हैं। प्रदेश की नयी सरकार कांगे्रस की नहीं बल्कि, युवाओं, किसानों, महिलाओं, मजदूरों और गरीबों की सरकार है। हमारा काम इन सभी के आदेश को सुनना है। हम 56 इंच की छाती वाले लोगों की तरह नहीं हैं। श्री गांधी ने कहा कि पांच साल पहले नरेन्द्र मोदी ने कहा था कि मेरा 56 इंच का सीना है, मैं देश का चैकीदार हूं, भ्रष्टाचार को मिटाऊंगा। आज कहते हैं कांगे्रस को मिटाऊंगा। उन्होंने कहा कि आरएसएस और बीजेपी ने मध्यप्रदेश में सरकार को ब्यूरोक्रेट्स के माध्यम से चलाया। कांगे्रस पार्टी सरकार को ब्यूरोक्रेट्स के माध्यम से नहीं पंचायत राज, जनता और कार्यकर्ताओं के माध्यम से चलाती है। उन्होंने कहा कि हम प्रदेश में फुड प्रोसेसिंग उद्योग और कोल्ड स्टोरेज का जाल बिछाने जा रहे हैं और मध्यप्रदेश को कृषि का केंद्र बनायेंगे।
श्री राहुल गांधी ने कहा कि कांगे्रस सरकारों ने हरित क्रांति, श्वेत क्रांति, मनरेगा, भोजन का अधिकार, कम्प्यूटर क्रांति जैसी योजनाओं से देश को बदलने का काम किया। किसानों का कर्जा माफ कर हमने उन्हंे फ्री गिफ्ट नहीं, बल्कि न्याय दिया है। जब अनिल अंबानी, नीरव मोदी, मेहुल चैकसी, विजय माल्या जैसे बड़े अमीरांे के 3 लाख 50 हजार करोड़ रूपये माफ हो सकते हंै तो किसानों का क्यों नहीं? उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री मोदी ने बिना रक्षा मंत्री को बताये फ्रांस से राफेल विमानों का सीधा सौदा कर लिया। लोकसभा में एक मिनिट भी राफेल पर बात नहीं की। सच्चाई को छुपाया नहीं जा सकता। उन्होंने किसानों से कहा कि मैं आपको दिल से धन्यवाद देता हूं कि आपकी शक्ति ने कांगे्रस की सरकार बनायी है। प्रदेश कांगे्रस अध्यक्ष और मुख्यमंत्री कमलनाथ ने मध्यप्रदेश की जनता को धन्यवाद देते हुए कहा कि उसने सच्चाई का साथ दिया है। कांगे्रस की सरकार से जनता निराश नहीं होगी। अभी सरकार बने केवल 45 दिन हुए हैं। सौ दिन पूरे होने दीजिये, भाजपा की और कांगे्रस की सरकार का अंतर साफ दिखने लगेगा। मैंने पहले दिन कह दिया था कमलनाथ की फोटो किसी विज्ञापन में नहीं लगेगी। हमारे सामने बहुत बड़ी चुनौती है। तिजोरी खाली है और पूरी व्यवस्था चैपट है। प्रदेश बेरोजगारी, किसानों की आत्महत्या, बलात्कार और महिलाओं पर अत्याचार, सभी में नंबर वन हो गया। इन परिस्थितियों में कांगे्रस सरकार ने प्रदेश का भार संभाला है। आज हमारे सामने सबसे बड़ी चुनौती नौजवान और किसान हैं। सबसे पहले कृषि क्षेत्र को जीवित करना होगा। मध्यप्रदेश और देश की जनता ने और खासकर नौजवानों ने मोदी का चेहरा अच्छी तरह पहचान लिया है। उन्होंने कहा कि निवेश विश्वास से आता है। हम विश्वास की सरकार बनायेंगे। उन्होंने कहा कि कर्जमाफी से 45 लाख किसानों का कर्जा माफ होगा। सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने कहा कि जनता झूठ की सरकार से प्रताड़ित हो रही थी। अब उसे परिश्रमी लोकसेवक के रूप में कमलनाथ जैसे योग्य मुख्यमंत्री मिले हैं। यह एक ऐतिहासिक परिवर्तन है। इस मैदान से यह संदेश जायेगा कि जिन लोगों ने छल, कपट और झूठ की राजनीति की है, उसे जनता ने उखाड़ दिया है। मोदी-शाह को अब भारत की जनता जान चुकी है। प्रदेश प्रभारी और महासचिव दीपक बावरिया ने कहा कि विधानसभा चुनावों में कांगे्रस की ऐतिहासिक जीत में प्रजा ने भाजपा को जवाब दे दिया है। किसानों और युवाओं में कांगे्रस सरकार बनने के बाद एक विश्वास पैदा हुआ है। कांगे्रस ने प्रजा के सामने जो वचन दिये थे वे पूरे किये जा रहे हैं। पूर्व सांसद रामकृष्ण कुसमरिया और आरपीआई के डोमनसिंह नगपुरे कांगे्रस में शामिल श्री राहुल गांधी की उपस्थिति में पूर्व भाजपा सांसद रामकृष्ण कुसमरिया और पूर्व मंत्री एवं आरपीआई के डोमनसिंह नगपुरे कांगे्रस पार्टी में शामिल हुए। दीपक बावरिया ने उन्हें सूत की माला पहनाकर विधिवत कांगे्रस में प्रवेश कराया। कुसमरिया ने कहा कि भाजपा ने अपने बुजुर्गों का अपमान किया है। अपने आपको संस्कारित कहने वाली भाजपा ने पार्टी के बुजुर्गों को एक तरह से जेल में डाल दिया है। भाजपा की रीति-नीति और क्रियाकलापों के कारण मुझे पार्टी छोड़कर कांग्रेस में आना पड़ा। कांगे्रस का वचनपत्र पढ़कर लगा कि वास्तव में अब अच्छे दिन आने वाले हैं। कर्जमाफी कर सरकार ने बड़ा काम किया है। कमलनाथ के नेतृत्व मंे मध्यप्रदेश सर्वश्रेष्ठ बनेगा। इस अवसर पर पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजयसिंह, सांसद कांतिलाल भूरिया, विवेक तन्खा और राजमणि पटेल, पूर्व नेता प्रतिपक्ष अजयसिंह, पूर्व सांसद सुरेश पचैरी, अरूण यादव सहित प्रदेश के सभी मंत्री, कांगे्रस विधायक, प्रदेश कांगे्रस के संगठन प्रभारी उपाध्यक्ष चंद्रप्रभाष शेखर सहित सभी कांगे्रस पदाधिकारी और कार्यकर्ता उपस्थित थे। पूर्व में श्री राहुल गांधी का सूत की माला पहनाकर स्वागत किया गया। उन्हें किसान कांगे्रस के प्रदेश अध्यक्ष दिनेश गुर्जर और महिला कांगे्रस की प्रदेश अध्यक्ष मांडवी चैहान द्वारा हल की प्रतिकृति स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट की गयी। मंत्री ओमकारसिंह मरकाम ने आदिवासी परंपरा से साफानुमा टोपी पहनाकर भी श्री राहुल गाधी का स्वागत किया गया। कार्यक्रम का शुभारंभ वंदे मातरम गायन से और समापन राष्ट्रगीत से हुआ। कार्यक्रम का संचालन प्रदेश प्रभारी महामंत्री राजीव सिंह ने किया। मध्यप्रदेश कांगे्रस कमेटी के कोषाध्यक्ष श्री गोविंद गोयल द्वारा श्रीमती इंदिरा गोयल की स्मृति में गोविंद गोयल अखिल भारतीय कवि सम्मेलन, सांस्कृतिक मनोरंजन मेला एवं जनसमस्या निवारण यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। श्री गोविंद गोयल द्वारा आयोजित किये जा रहे उक्त आयोजनों की विस्तृत जानकारी के संबंध में शनिवार, 9 फरवरी 2019 को दोपहर 12 बजे टी.टी. नगर, न्यू मार्केट स्थित इंडियन काफी हाउस में एक पत्रकार वार्ता आयोजित की गई है। पत्रकार वार्ता में आप सादर आमंत्रित हैं।

मुख्यमंत्री श्री नाथ ने की सांसद और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस अध्यक्ष श्री राहुल गांधी की अगवानी
8 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज सांसद और भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस के अध्यक्ष श्री राहुल गांधी की भोपाल में राजकीय विमान तल पर अगवानी की। श्री नाथ ने श्री गाँधी को पुष्प-गुच्छ भेंट कर उनका आत्मीय स्वागत किया। श्री राहुल गाँधी का विधान सभा अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति और उपाध्यक्ष सुश्री हिना कावरे ने भी पुष्पगुच्छ भेंट कर स्वागत किया। इस मौके पर पूर्व महापौर श्री सुनील सूद और श्रीमती विभा पटेल सहित अनेक जन-प्रतिनिधि उपस्थित थे। श्री राहुल गांधी के साथ नई दिल्ली से सांसद श्री ज्योतिरादित्य सिंधिया और श्री दीपक बावरिया भी भोपाल पहुँचे।

मंत्री श्री मरकाम की अध्यक्षता में हुई जनजातीय भूमि प्रबंधन समिति की बैठक
8 February 2019
राज्य शासन द्वारा आदिम जनजाति स्वामित्व की भूमि के प्रबन्धन के लिये गठित समिति की पहली बैठक आज मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम की अध्यक्षता में मंत्रालय में सम्पन्न हुई। समिति के सदस्य विधायक श्री बिसाहु लाल सिंह ने बैठक में कहा कि प्रदेश में 98 लाख वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में निवासरत आदिवासियों की जमीन की पैदावार बढ़ाने के प्रयास जरूरी हैं। उन्होंने कहा कि इनकी जमीन में सिंचाई के लिये नदी नाले एवं बरसात के पानी को पम्प द्वारा पहुँचाने की व्यवस्था करना आवश्यक है। श्री सिंह ने कहा कि खनिज संपदा से भरपूर आदिवासियों की बहुमूल्य जमीन का उन्हें उचित मूल्य दिलाने के लिये अधिग्रहण की प्रक्रिया को और अधिक सरल बनाया जाये। समिति के अध्यक्ष एवं जनजातीय कार्य मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने कहा कि सभी सुझावों पर अमल किया जायेगा। बैठक में समिति के सदस्य श्री सुनील उइके एवं विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

जेंडर के संदर्भ में डाटा सेग्रीगेशन आवश्यक : प्रमुख सचिव श्री कंसोटिया
8 February 2019
प्रमुख सचिव, महिला बाल विकास श्री जे. एन. कंसोटिया ने कहा है कि महिला सशक्तिकरण के लिए जेंडर बजटिंग आवश्यक है। उन्होंने कहा कि जेंडर के संदर्भ में डाटा सेग्रीगेशन होना चाहिए, तभी सही मायनों में जेंडर भेदभाव की दिशा में काम किया जा सकता है। श्री कंसोटिया आज होटल पलाश में यू. एन. वीमन के सहयोग से आयोजित एक दिवसीय जेंडर रिस्पान्स्टिव बजटिंग कार्यशाला को संबोधित कर रहे थे। श्री कंसोटिया ने कहा कि जेंडर रिस्पॉन्सिव बजटिंग महिलाओं को विकास की मुख्य धारा में लाने का एक सशक्त उपकरण है। डाटा सेग्रीगेशन के माध्यम से यह भी पता लगेगा कि विभिन्न विभागों में चलाई जा रही योजनाओं में बालिका या महिलाओं के लिए कितना प्रावधान या सुविधा है। यू.एन. वीमेन, हैदराबाद की सुश्री धर्मिष्ठा ने जेंडर रिस्पॉन्सिव बजट के संदर्भ में मध्यप्रदेश में किए गए सर्वे का प्रस्तुतिकरण किया। उन्होंने कहा कि सर्वे से कई ऐसे तथ्य सामने आए हैं, जिनके अनुसार महिला सशक्तिकरण की दिशा में अभी और कार्य करना बाकी है। इस अवसर पर महिला बाल विकास विभाग के अधिकारियों के अलावा वन, आदिम जाति कल्याण तथा स्कूल शिक्षा विभाग के अधिकारी भी उपस्थित थे।

विक्रम विश्वविद्यालय के कुलपति का त्याग पत्र स्वीकृत
8 February 2019
कुलाधिपति एवं राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कुलपति प्रो. एस.एस. पांडेय द्वारा प्रस्तुत त्याग-पत्र तत्काल प्रभाव से स्वीकृत कर लिया है। राज्यपाल ने विक्रम विश्वविद्यालय, उज्जैन के कला संकाय के संकायाध्यक्ष डॉ. बालकृष्ण शर्मा को आगामी आदेश तक कुलपति के पद का कार्य संपादित करने के आदेश दिये हैं।

प्रदेश में युवा स्वाभिमान योजना शुरू करने का निर्णय
7 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में प्रदेश में युवा स्वाभिमान योजना शुरू करने का निर्णय लिया गया। यह निर्णय प्रदेश के युवाओं को आने वाले समय में आत्मनिर्भर बनाने और व्यवसायिक कौशल प्रशिक्षण देने के उददेश्य से लिया गया। योजना में शहरी युवाओं को वर्ष में 100 दिन के रोजगार की गारंटी दी गई है। योजना का लाभ 21 से 30 वर्ष आयु समूह के ऐसे शहरी युवा ले सकेंगे जिनकी आय अधिकतम 2 लाख रूपये वार्षिक हो बेरोजगार है। युवाओं को प्रतिमाह 4 हजार रूपये स्टाइपेंड प्रदान किया जायेगा। योजना की नोडल एजेंसी नगरीय निकाय होंगे। इस योजना के लिए पंजीयन की प्रक्रिया नगरीय निकायों में 10 फरवरी से शुरू होगी। प्रदेश के 6 लाख 50 हजार युवा को योजना में प्रशिक्षण दिया जाएगा। योजना क्रियान्वयन पर 750 करोड़ रूपये का वित्तीय भार आएगा। मंत्रि-परिषद ने प्रदेश में भारत सरकार की इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय वृद्धावस्था पेंशन, इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय नि:शक्त पेंशन, इन्दिरा गाँधी राष्ट्रीय विधवा पेंशन योजनाओं में पात्रतानुसार 300-500 रूपये राशि में वृद्धि कर 600 रूपये प्रतिमाह प्रति हितग्राही के मान से करने का अनुमोदन किया। मंत्रि-परिषद ने मध्यप्रदेश शासन की समग्र सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना में वृद्धजन, दिव्यांगजन, परित्यक्ताओं, कल्याणियों, अविवाहित महिलाओं, कन्या अभिभावकों, वृद्धाश्रम में निवासरत सभी अत:वासियों के लिए पेंशन योजनाओं में पात्रतानुसार 300-500 रूपये में वृद्धि कर 600 रूपये प्रतिमाह प्रति हितग्राही के मान से करने का अनुमोदन किया। इससे प्रदेश के 40 लाख 37 हजार 553 से अधिक वृद्ध, कल्याणी, परित्यक्ता, अविवाहिता और दिव्यांग हितग्राहियों को लाभ मिलेगा। इसी प्रकार 6 वर्ष से अधिक आयु के मानसिक रूप से अविकसित बहुविकलांगों, प्रमस्तिष्क घात, स्वपराणयता से ग्रस्तों को पात्रतानुसार 600 रूपये प्रतिमाह प्रति हितग्राही के मान से करने का मंत्रि-परिषद ने अनुमोदन प्रदान किया। मंत्रि-परिषद ने मध्यप्रदेश लोक सेवा आयोग के लिए एक सशक्त आईटी कक्ष की स्थापना के लिए तकनीकी स्तर के चार पदों के सृजन की मंजूरी दी। मंत्रि-परिषद ने पर्यटन नीति 2016 के क्रियान्वयन के लिए वाणिज्यिक कर विभाग से संबंधित प्रावधानों में संशोधन करने का निर्णय लिया । प्रदेश में पर्यटन को बढ़ावा देने और पर्यटन क्षेत्र में निवेश के लिए अधिक से अधिक संख्या में निजी निवेशकों को पर्यटन परियोजनाओं की स्थापना के लिए प्रोत्साहन दिया जा रहा है। प्रदेश में देशी विदेशी पर्यटकों को आकर्षित करने तथा उन्हें उत्कृष्ट सेवाएँ देने के लिए विश्वस्तरीय सुविधाएँ उपलब्ध करवाई जायेंगी। इस उददेश्य से बार लायसेंस की शर्तों का युक्तियुक्तकरण किया गया है। इससे पर्यटन में सुविधाओं के साथ राजस्व में वृद्धि होगी। इंदिरा गृह ज्योति योजना वचन-पत्र के अनुसार प्रदेश में घरेलू विद्युत उपभोक्ताओं के लिये इंदिरा गृह ज्योति योजना प्रारंभ होगी। वर्तमान में लागू सरल बिजली स्कीम को इसमें समाहित किया जायेगा। योजना में उपभोक्ताओं को 100 यूनिट तक की खपत पर अधिकतम 100 रुपये का बिल दिया जायेगा। अंतर की राशि राज्य शासन द्वारा वितरण कम्पनियों को सबसिडी के रूप में दी जायेगी। हितग्राही उपभोक्ताओं द्वारा किसी माह में 100 यूनिट से अधिक बिजली खपत पर, मात्र अधिक यूनिटों के लिये टेरिफ में निर्धारित दर के अनुसार बिल दिये जायेंगे। अनुसूचित-जाति और अनुसूचित-जनजाति के गरीबी रेखा के नीचे जीवन-यापन कर रहे घरेलू सरल उपभोक्ताओं को इंदिरा गृह ज्योति योजना का लाभ मिलेगा तथा वर्तमान में प्राप्त होने वाली ऊर्जा और ईंधन प्रभार की छूट भी जारी रहेगी। यह योजना मार्च की बिलिंग साइकल से लागू होगी। इंदिरा किसान ज्योति योजना वचन-पत्र अनुसार प्रदेश के 10 हॉर्स-पॉवर तक के कृषि उपभोक्ताओं के विद्युत बिल की राशि को आधा करने के संबंध में इंदिरा किसान ज्योति योजना लागू की जायेगी। योजना अप्रैल-2019 से लागू होगी। योजना में प्रदेश के 10 हॉर्स-पॉवर से अधिक के फ्लेट रेट स्थायी कृषि पम्प कनेक्शनों को वर्तमान में लिये जा रहे 1400 रुपये प्रति हॉर्स-पॉवर प्रतिवर्ष की दर से एवं 10 हॉर्स-पॉवर तक के स्थायी कृषि पम्प कनेक्शनों को 700 रुपये प्रति हॉर्स-पॉवर प्रतिवर्ष की दर से विद्युत प्रदाय की जायेगी। अंतर की राशि राज्य शासन द्वारा वितरण कम्पनी को सबसिडी के रूप में दी जायेगी। योजना में 10 हॉर्स-पॉवर तक के मीटरयुक्त स्थायी और अस्थायी कृषि पम्प उपभोक्ताओं द्वारा वर्तमान में देय ऊर्जा प्रभार की दर में 50 प्रतिशत की रियायत देते हुए निर्धारित दर से अंतर की राशि का भुगतान राज्य शासन द्वारा वितरण कम्पनी को अतिरिक्त सबसिडी के रूप में किया जायेगा। मंत्रि-परिषद की बैठक में तीनों वितरण कम्पनी द्वारा फायनेंस कॉर्पोरेशन से प्राप्त 2900 करोड़ रुपये के मध्यम/लघु अवधि ऋण (पूर्व एवं मध्य क्षेत्र के लिये 1200-1200 करोड़ और पश्चिमी क्षेत्र के लिये 500 करोड़ रुपये का ऋण) के लिये राज्य शासन की गारंटी देने का निर्णय लिया गया है। इस गारंटी के लिये तीनों विद्युत वितरण कम्पनियों द्वारा राज्य शासन को 0.5 प्रतिशत प्रतिवर्ष की दर से गारंटी शुल्क का भुगतान किया जायेगा।

प्रत्येक पात्र किसान का ऋण माफ हो
7 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना में पात्र प्रत्येक किसान का ऋण माफ हो, यह सुनिश्चित करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि जिन किसानों के नाम पर फर्जी तरीके से ऋण निकाला गया है, वे बगैर किसी भय के सामने आयें, सरकार उन्हें न्याय दिलायेगी और दोषियों को दंडित करेगी। श्री नाथ आज मंत्रालय में फसल ऋण माफी योजना की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में सहकारिता एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, किसान-कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहन्ती एवं वित्त, कृषि और सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि फसल ऋण माफी योजना सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता में शामिल है। उन्होंने कहा कि योजना का लाभ हर उस किसान को मिलना चाहिए, जो योजना की परिधि में शामिल हैं। उन्होंने किसानों के नाम पर फर्जी तरीके से ऋण निकालने के प्रकरणों पर नाराजी व्यक्त की। उन्होंने किसानों से अपील की कि अगर उनके नाम पर फर्जी तरीके से ऋण निकाला गया है तो वे निर्भय होकर बतायें, सरकार उनके साथ खड़ी है। उन्होंने बैठक में निर्देश दिये कि फर्जी ऋण प्रकरणों के मामलों को गंभीरता से लें और इसकी सूक्ष्मता से जाँच करवायें। जो भी दोषी पाया जाये उसके खिलाफ सख्त कार्रावाई की जाये। बैठक में बताया गया कि ऋण माफी योजना में 50 लाख 61 हजार आवेदन भरे गए हैं। इसमें से 45 लाख 9 हजार आवेदन ऑनलाइन किये गये हैं। ऋण माफी की यह प्रक्रिया 22 फरवरी तक पूरी हो जायेगी और किसानों के खाते में राशि पहुँचना शुरू हो जायेगी। योजना में लघु एव सीमांत किसानों के ऋण प्राथमिकता में माफ किये जायेंगे।

खिलाड़ियों को बेहतर अवसर दिलाना सरकार का लक्ष्य-खेल मंत्री श्री पटवारी
7 February 2019
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने टी.टी. नगर स्टेडियम में 40वीं जूनियर राष्ट्रीय तीरंदाजी प्रतियोगिता का तीर-कमान से निशाना साधकर शुभारंभ किया। उन्होंने 14 फरवरी तक चलने वाली प्रतियोगिता के विधिवत शुभारंभ की घोषणा करते हुए आकाश में रंगीन गुब्बारे छोड़े। मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि तीरंदाजी प्राचीनतम खेल है। समय के साथ इस खेल का विकास हुआ है। भोपाल में राष्ट्रीय प्रतियोगिता का आयोजन प्रदेश के लिए गौरव की बात है। जबलपुर में तीरंदाजी अकादमी तथा झाबुआ और मंडला में तीरंदाजी फीडर सेंटर प्रारंभ करने का उद्देश्य प्रतिभावान तीरंदाज तैयार करना है, जो प्रदेश-देश के लिए पदक अर्जित कर सकें। श्री पटवारी ने सभी प्रतिभागियों को शुभकामनाएँ देते हुए कहा कि राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में प्रदेश के खिलाड़ियों को प्रतिभा प्रदर्शन के अधिकतम अवसर दिलाने राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। भारतीय तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष श्री बी.व्ही.पी. राव ने जबलपुर में संचालित तीरंदाजी अकादमी की सराहना करते हुए कहा कि यह अकादमी अंतर्राष्ट्रीय मानकों के अनुरूप है। अकादमी के खिलाड़ियों ने एशियाड में देश को पदक दिलाया है। उन्होंने कहा कि जबलपुर में शीघ्र ही राष्ट्रीय प्रशिक्षण शिविर लगाया जायेगा। संचालक खेल और युवा कल्याण डाँ. एस.एल. थाउसेन ने प्रतियोगिता में भागीदारी करने देश भर से आये खिलाड़ियों और ऑफिशियल्स के लिए की गई व्यवस्थाओं की जानकारी दी। प्रतियोगिता में 29 प्रदेशों और विभिन्न संस्थानों के करीब 600 बालक एवं बालिका खिलाड़ी रिकर्व, कम्पाउण्ड एवं भारतीय राउण्ड स्पर्धा में अपनी प्रतिभा का प्रदर्शन करेंगे। इस अवसर पर सचिव श्री महासिंह, मध्य प्रदेश तीरंदाजी संघ के अध्यक्ष श्री गिरिजाशंकर शर्मा और सचिव श्रीमती प्रीति जैन, भारतीय तीरंदाजी संघ के कोषाध्यक्ष श्री डी.के. विद्यार्थी भी मौजूद थे।

स्वास्थ्य मंत्री श्री सिलावट से मिले जिपलाइन कम्पनी के प्रतिनिधि
7 February 2019
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट से जिपलाइन कम्पनी के प्रतिनिधि श्री असद जुबरान और श्री पवन अनंत ने आज मंत्रालय में भेंट की । इस अवसर पर एनएचएम मिशन डॉयरेक्टर श्री निशांत वरवड़े, डॉ. सुमित शुक्ला और अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे। सिल्कॉन-वैली बेस्ड जिपलाइन कम्पनी के प्रतिनिधियों ने मंत्री श्री सिलावट को द्रोण (ऑटोनामस स्माल एयर क्रॉफ्ट) के माध्यम से ढाई किलो भार की सामग्री को लगभग 80 किलोमीटर रेडियस में 15 से 20 मिनिट में तय स्थान पर पहुँचाने की व्यवस्था से अवगत करवाया। उन्होंने इस व्यवस्था को दूरस्थ ग्रामीण अंचल में स्वास्थ्य सेवाओं के अंतर्गत लाइफ-सेविंग ब्लड आदि सामग्री पहुँचाने में उपयोगी बताया। मंत्री श्री सिलावट ने एनएचएम मिशन डॉयरेक्टर को निर्देश दिये कि कम्पनी के प्रस्ताव का परीक्षण करें।

स्मार्ट सिटी के अधिक-से-अधिक वर्क आर्डर फरवरी में ही जारी करें
7 February 2019
केन्द्रीय संयुक्त सचिव आवास एवं शहरी कार्य मंत्रालय श्री कुणाल कुमार ने कहा है कि सही स्मार्ट सिटी में निविदा संबंधी औपचारिकाताएँ पूरी कर वर्क आर्डर फरवरी में ही जारी करें। श्री कुमार स्मार्ट सिटी परियोजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा कर रहे थे। श्री कुमार ने स्मार्ट सिटीवार किये जा रहे कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने भोपाल के क्षेत्र आधारित विकास को रोल मॉडल बनाने के संबंध में कार्य करने को कहा। श्री कुमार ने इंदौर शहर के रिवर फ्रंट डेव्हलपमेंट, उज्जैन के मल्टी मॉडल हब प्रोजेक्ट और जबलपुर के नॉन मोटराईज्ड ट्रांसपोर्टेशन प्रोजेक्ट की सराहना की। संयुक्त सचिव श्री कुमार ने कहा कि जनवरी 2019 तक किये गये व्यय से संबंधित उपयोगिता प्रमाण-पत्र जल्द भेजें जिससे संबंधित शहरों की अगली किश्त फरवरी में ही जारी की जा सके। बैठक में प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री प्रमोद अग्रवाल ने स्मार्ट सिटी में चल रहे कार्यों की जानकारी दी। बैठक में प्रदेश की सभी 7 स्मार्ट सिटी के मुख्य कार्यपालन अधिकारी एवं नगरीय विकास एवं आवास विभाग के अधिकारी उपस्थित थे।

मध्यप्रदेश पर्यटन को मिला अन्तर्राष्ट्रीय अवार्ड
7 February 2019
हाल ही में स्पेन में 'फितूर' कार्यक्रम में मध्यप्रदेश पर्यटन को टीवीसी का अन्तर्राष्ट्रीय अवार्ड मिला है। अवार्ड टीवीसी मध्यप्रदेश के डेस्टिनेशन पर केन्द्रित है। इसे 58 फिल्मों की प्रविष्टि में से चुना गया। पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल को प्रमुख सचिव श्री हरिरंजन राव ने आज मंत्रालय में अवार्ड के बारे में जानकारी देते हुए अवार्ड सौंपा। पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने पर्यटन रणनीति में निगम के होटल, रिसॉर्ट आदि के प्रचार और जानकारी को शामिल करने पर जोर दिया। प्रमुख सचिव श्री राव ने मंत्री श्री बघेल को वैश्विक स्तर पर मध्यप्रदेश पर्यटन के प्रचार-प्रसार के लिये किये जा रहे प्रयासों से अवगत करवाया। उन्होंने बताया कि अन्तर्राष्ट्रीय स्तर पर 4 ट्रेड और 9 रोड शो में मध्यप्रदेश पर्यटन द्वारा सह-भागिता की जा रही है। लन्दन और बर्लिन में विश्व के सबसे बड़े ट्रेवल ट्रेड शो में भी भागीदारी की जा रही है। हाल ही में स्पेन में 'फितूर' कार्यक्रम में भी मध्यप्रदेश पर्यटन की भागीदारी थी। इस मौके पर पर्यटन निगम के एम.डी. श्री टी. इलैया राजा सहित वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

जनता की संतुष्टि पहली प्राथमिकता - ग्रामीण विकास मंत्री श्री पटेल
7 February 2019
पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा है कि जनता की संतुष्टि शासन की पहली प्राथमिकता है। इसमें किसी भी प्रकार की लापरवाही बर्दाश्त नहीं की जायेगी। भ्रष्टाचार करने वाला अगर मेरा रिश्तेदार होगा, तो उसे भी नहीं छोडूंगा। किसी भी स्तर पर भ्रष्टाचार बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। उन्होंने कहा कि जन-प्रतिनिधि ग्रामीण क्षेत्रों में अपनी सक्रियता बढ़ायें। श्री पटेल ने उनसे मिलने मंत्रालय पहुँचे पंचायत राज प्रतिनिधियों से चर्चा के दौरान यह बात कही। मंत्री श्री पटेल ने कहा कि शासकीय अमला और पंचायत प्रतिनिधि आपसी समन्वय से जनहित के कार्य करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश की लगभग सवा पाँच करोड़ जनसंख्या ग्रामीण क्षेत्रों में निवास करती है, जिनके जीवन-स्तर में उत्तरोत्तर सुधार करना राज्य सरकार की प्राथमिकता है। श्री पटेल ने कहा कि सरपंचों को भी अपने अधिकारों और दायित्वों के प्रति सचेत रहना चाहिये। सचिव या अन्य लोगों के प्रभाव में गलत कार्य नहीं करना चाहिये। उन्होंने कहा कि पंचायत राज संचालनालय के माध्यम से पंचायत राज प्रतिनिधियों के प्रशिक्षण का आयोजन पूरे प्रदेश में किया जा रहा है। इसका शुभारंभ हाल ही में धार जिला मुख्यालय से किया जा चुका है। श्री पटेल ने कहा कि ग्रामीण विकास विभाग में सभी प्रकार के भुगतान ऑनलाइन किये जा रहे हैं। पंचायत राज प्रतिनिधि इस प्रक्रिया को गंभीरता से इस्तेमाल करें।

गौ-शाला परियोजना पर तेजी से काम शुरू, कई संस्थाएँ आगे आईं
6 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर गौ-शाला परियोजना पर तेजी से काम शुरू हो गया है। आठ जिलों में गौ-शाला संचालन के लिए विभिन्न संस्थाओं ने रूचि दिखाई है। भारतीय प्रौद्योगिकी संस्‍थान रुड़की और राष्ट्रीय प्रौद्योगिकी संस्थानों भी गौ-शालाओं के प्रबंधन को सतत् रूप से प्रभावी बनाने में आगे आ रहे हैं। बायफ जैसी संस्थाएँ गौ-शाला गोद लेने को तैयार हैं। गौ-शाला नीति का मसौदा तैयार कर लिया गया है। गौ-शाला विधेयक का ड्राफ्ट भी तैयार किया जा रहा है। प्रदेश में इतने विशाल स्तर पर बेसहारा पशुओं को आसरा देने का काम पहली बार हो रहा है। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने आज यहाँ मंत्रालय में गौ-शाला प्रोजेक्ट की प्रगति की समीक्षा की और इस पर अगले तीन सप्ताह में ठोस कार्रवाई करने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि अभी छह सौ से ज्यादा ऐसे स्थानों को चुना गया है, जहाँ गौ-शाला स्थापित की जा सकती हैं। आगे प्रक्रिया चल रही है। नौ हजार से ज्यादा बेसहारा गौ-वंश को आसरा देने का काम शुरू हो गया है। मुख्यमंत्री ने प्रदेश में काम कर रही औद्योगिक कंपनियों के सोशल कॉर्पोरेट रिस्पांसिबिलिटी फण्ड के उपयोग की गाईड लाइन में गौ-शाला के संचालन के लिये भी फंड देने का प्रावधान शामिल करने के निर्देश दिए। श्री नाथ ने बेसहारा पशुओं की समस्या वाले जिलों में युद्ध स्तर पर काम शुरू करने को कहा है। उन्होंने सभी सम्बंधित विभागों के बजट का बेहतर उपयोग करने के निर्देश देते हुए कहा कि अगले तीन सप्ताह में गौ-शाला का स्वरुप जमीन पर उतारना चाहिए। गौ-शाला संचालन की एजेंसियों की प्राथमिकताएँ तय मुख्यमंत्री ने गौ-शाला के संचालन में पहली प्राथमिकता जिला प्रशासन, दूसरी प्राथमिकता पंचायत, तीसरी स्व-सहायता समूहों और चौथी प्राथमिकता प्रतिबद्ध स्वयं-सेवी संस्था को देने के निर्देश दिये हैं। उन्होने कहा कि गैर वन गाँवों में गौ-शाला के संचालन की जिम्मेदारी पशुपालन विभाग की होगी जबकि वन-गाँवों में वन विभाग गौ-शालाओं का संचालन करेगा। मुख्यमंत्री ने मुख्य सचिव की अध्यक्षता में अपर मुख्य सचिवों की समन्वय समन्वय समिति बनाने के निर्देश दिए। गौ-शाला संचालन में सभी स्तर की पंचायतों और पंचायत सचिवों की जिम्मेदारी भी तय करने को कहा है। बैठक में पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह यादव, ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल, कृषि मंत्री श्री सचिन यादव, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती और संबंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

कर्मचारियों का सम्मान हमारा धर्म : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
6 February 2019
प्रदेश के समस्त कर्मचारियों के कल्याण के लिए आज मंत्रालय में समस्त कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों के साथ सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, गृह मंत्री श्री बाला बच्चन और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने संयुक्त बैठक में चर्चा की। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि कर्मचारियों का सम्मान हमारा धर्म हैं। उन्होंने वचन-पत्र में उल्लेखित सभी 68 माँगों को समय-सीमा में पूर्ण करने की बात कही। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि सरकार प्रदेश की जनता के साथ कर्मचारियों के हित में निरन्तर कार्य करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में एक माह के समय में ही सरकार ने वचन-पत्र में उल्लेखित कई वचन को पूरा कर दिखाया हैं। सरकार बनने के पूर्व श्री कमल नाथ ने सभी कर्मचारी संगठनों के प्रतिनिधियों से मुलाकात कर उनकी माँगों और समस्याओं को सुना और वचन-पत्र में उन्हें सम्मिलित किया। अब सरकार एक-एक कर सभी माँग पूरी करेगी। श्री शर्मा ने कहा कि सरकार में मंत्री के दायित्वों के निर्वहन के साथ ही जब भी कर्मचारी संगठनों को उनके सहयोग की आवश्यकता होगी, वे हर समय उनके साथ खड़े रहेंगे। बैठक में सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह और गृह मंत्री श्री बाला बच्चन ने भी कर्मचारियों के हित में सरकार की ओर से आवश्यक कदम उठाने का आश्वासन दिया।

मार्च अंत तक यूआईएन नम्बर जनरेट नहीं होने पर शस्त्र लायसेंस होंगे निरस्त
6 February 2019
गृह विभाग के अधिकारियों ने आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंस के जरिये नेशनल डाटा आर्म्स लायसेंस के संबंध में जिला कलेक्टरों से चर्चा की। अधिकारियों ने कलेक्टर्स को निर्देशित किया कि इस वर्ष मार्च माह के अंत तक जिन शस्त्रों के लायसेंस यूनिक आईडेन्टिफिकेशन नम्बर (यूआईएन) के अंतर्गत जनरेट नहीं होंगे, वे लायसेंस स्वत: ही समाप्त हो जायेंगे। इस बात को ध्यान में रखते हुए प्रदेश में सभी शस्त्रों का यूआईएन नम्बर जनरेशन का कार्य नियत समय में पूरा किया जाये। बताया गया कि मध्यप्रदेश में अब तक 2 लाख 24 हजार 107 शस्त्रों के यूआईएन जनरेट किये जा चुके हैं। अभी भी प्रदेश में 6623 शस्त्रों के यूआईएन नम्बर जनरेट किया जाना शेष है। कार्य में आ रही दिक्कतों के संबंध में भी कान्फ्रेन्स में चर्चा की गयी और जिला अधिकारियों को प्रति सोमवार साप्ताहिक समीक्षा के लिये निर्देशित किया गया। कान्फ्रेन्स में गृह सचिव डॉ. रवि कुमार गुप्ता, उप सचिव गृह डॉ. आर.आर. भोंसले मौजूद थे।

परिश्रम का कोई पर्याय नहीं
5 February 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि कड़ी मेहनत और कर्त्तव्यनिष्ठा से ही सफलता मिलती है। परिश्रम का कोई पर्याय नहीं है। देश को आजादी कड़े संघर्ष के बाद मिली है। इसे बनाए रखने के लिए जरूरी है कि हम सभी राष्ट्रीय भावना के साथ अपना कर्तव्य निभाएं। राज्यपाल गणतंत्र दिवस समारोह में शामिल होकर लौटे एनसीसी कैडेट्स के एट होम कार्यक्रम को सम्बोधित कर रही थी। कार्यक्रम में गणतंत्र दिवस समारोह में उत्कृष्ट उपलब्धि अर्जित करने वाले कैडेट अंडर ऑफिसर गरिमा सिंह भदौरिया, योगेश दधोरे और सीनियर केप्टन दीपेंद्र सिंह जादौन को सम्मानित किया गया। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि युवा वर्ग में अनुशासन तथा एकता की भावना का विकास करने में एनसीसी संगठन का सराहनीय योगदान रहा है। उन्होंने कहा कि एनसीसी में महिलाओं की भागीदारी गर्व की बात है। श्रीमती पटेल ने समाज का आव्हान किया कि बच्चों को एनसीसी में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित करें। राज्यपाल ने आशा व्यक्त की कि भविष्य में भी एनसीसी के कैडेट्स नये जोश से नई उपलब्धियाँ अर्जित कर देश, प्रदेश का नाम रौशन करेंगे। राज्यपाल को एनसीसी शिविर में कैडेट द्वारा निर्मित समुद्री पोत का मॉडल स्मृति चिन्ह के रूप में भेंट किया गया। अतिरिक्त महानिदेशक एनसीसी मेजर जनरल मुकेश के. दत्ता ने बताया कि मध्यप्रदेश के 51 और छत्तीसगढ़ के 27 जिलों में एक लाख युवा एनसीसी का प्रशिक्षण प्राप्त कर रहे हैं। इनमें 30 प्रतिशत बालिकाएँ हैं। एनसीसी द्वारा संचालित खेल और साहसिक गतिविधियों में कैडेट्स की उपलब्धियों का उल्लेख करते हुए उन्होंने बताया कि देश की सशस्त्र सेना में 3 कैडेट का चयन हुआ है और 12 कैडेट ने रूस सहित 10 अन्य देश की यात्रा की है। उप महानिदेशक ब्रिगेडियर केजेएस राठौर और ग्रुप कमाण्डर ब्रिगेडियर अनिल हुड्डा भी उपस्थित थे।

जय किसान फसल ऋण माफी योजना में हरदा जिले में बेहतर कार्य : प्रभारी मंत्री श्री शर्मा
5 February 2019
जनसंपर्क विधि-विधायी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व और हरदा जिले के प्रभारी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा है कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना के तहत हरदा जिले में बेहतर कार्य किया जा रहा है। हरदा जिले में अभी तक 67 हजार फॉर्म आ चुके हैं। हरदा जिला पूरे प्रदेश में फार्म भरवाकर प्राप्त करने के मामले में छ्ठवें स्थान पर है। आगामी 22 फरवरी को किसानों के खाते में राशि आएगी। बेहतर कार्य के लिये जिला प्रशासन बधाई का पात्र है। प्रभारी मंत्री श्री शर्मा ने आज हरदा में किसानों के प्रतिनिधियों से चर्चा की। चर्चा के दौरान पूर्व विधायक श्री आर.के. दोगने, श्री लक्ष्मी नारायण पवार भी मौजूद थे। प्रभारी मंत्री ने कहा कि गड़बड़ी करने वालों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाएगी। उन्हें किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा। उन्होंने कहा कि जो योजनाएँ सरकार के द्वारा चलाई जा रही है उनका शत-प्रतिशत लाभ जरूरतमंदों को दिलाया जाएगा। लाभ दिलाए जाने के समुचित इंतजाम किए जाएंगे। प्रभारी मंत्री श्री शर्मा ने विकास के छिंदवाड़ा मॉडल का उदाहरण देते हुए कहा कि मध्यप्रदेश में ऐसा वातावरण तैयार किया जा रहा है, जिससे ज्यादा से ज्यादा निवेश को आकर्षित किया जा सके। प्रदेश सरकार निवेश और बिजनेस को सरल, सुगम और लाभकारी बनाने पर कार्य कर रही है।

किसानों को एक ही पोर्टल पर विभाग की सभी योजनाओं का लाभ मिलना सुनिश्चित करें- कृषि मंत्री श्री यादव
5 February 2019
किसान-कल्याण तथा कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने मंत्रालय में यंत्रदूत सहित कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय द्वारा संचालित योजनाओं के क्रियान्वयन तथा आवेदन की प्रक्रिया की समीक्षा की। मंत्री श्री यादव ने कहा कि सभी प्रकार के यंत्र एवं कृषि उपकरण एक ही पोर्टल पर आवेदन के माध्यम से प्रदाय करने की सुविधा किसानों को उपलब्ध होना सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने कहा कि इससे किसानों को अनावश्यक रूप से विभिन्न कार्यालयों में चक्कर न लगाने होंगे। बैठक में संचालक कृषि अभियांत्रिकी श्री राजीव चौधरी और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

मोगली बाल उत्सव 24 से 30 मार्च तक
5 February 2019
राज्य स्तरीय मोगली बाल उत्सव 24 मार्च से 30 मार्च 2019 तक प्रदेश के 6 राष्ट्रीय उद्यानों में होगा। इस संबंध में आयुक्त लोक शिक्षण द्वारा प्रदेश के सभी जिला शिक्षा अधिकारियों को निर्देश दे दिये गये है। उत्सव प्रदेश के 6 अभयारण्यों में होगा। इन सभी अभयारण्यों में अलग-अलग जिलों के छात्र-छात्राएँ शामिल होंगे। विभिन्न अभयारण्यों में उत्सव की तिथियाँ और शामिल होने वाले जिलों के निर्धारित कार्यक्रम के अनुसार राष्ट्रीय उद्यान कान्हा जिला मण्डला में (8 जिले) मण्डला, जबलपुर, डिण्डोरी, बैतूल, देवास, रतलाम, आगर-मालवा और शाजापुर 24 से 26 मार्च तक, राष्ट्रीय उद्यान पन्ना में (8 जिले) सागर, दमोह, छतरपुर, पन्ना, टीकमगढ़, सतना, रीवा और कटनी 24 से 26 मार्च तक, राष्ट्रीय उद्यान पेंच जिला सिवनी में (9 जिले) सिवनी, बालाघाट, छिन्दवाड़ा, नीमच, मंदसौर, झाबुआ, अलीराजपुर, बड़वानी और उज्जैन 24 से 26 मार्च तक, राष्ट्रीय उद्यान बॉधवगढ़ जिला उमरिया में (8 जिले) उमरिया, शहडोल, अनूपपुर, सिंगरौली, सीधी, रायसेन, नरसिंहपुर और राजगढ़ 28 से 30 मार्च तक, माधव राष्ट्रीय उद्यान शिवपुरी में (9 जिले) श्योपुर, मुरैना, भिण्ड, ग्वालियर, दतिया, शिवपुरी, गुना, अशोकनगर और विदिशा 28 से 30 मार्च तक तथा राष्ट्रीय उद्यान मढ़ई जिला होशंगाबाद में (9 जिले) जिले के होशंगाबाद, भोपाल, सीहोर, इंदौर, धार, बुरहानपुर, खण्डवा, हरदा, उज्जैन जिले के छात्र-छात्राएँ शामिल होंगे। 28 से 30 मार्च की अवधि में शामिल होंगे। उत्सव में प्रत्येक जिले से 8 छात्र-छात्राएँ शामिल होंगे। इनमें कनिष्ठ वर्ग से दो छात्र-दो छात्राएँ तथा वरिष्ठ वर्ग से दो छात्र- दो छात्राएँ होंगी। छात्राओं के साथ दल प्रभारी एक शिक्षिका तथा छात्रों के साथ एक शिक्षक दल प्रभारी के रूप में उत्सव में सहभागिता करेंगे।

पूरे भोपाल में पानी की सप्लाई एक समान हो
5 February 2019
पूरे भोपाल में पानी की सप्लाई एक समान हो। पानी का लीकेज हर हाल में रोकें। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने यह निर्देश भोपाल नगर पालिक निगम में चल रहे कार्यों की समीक्षा के दौरान दिये। श्री सिंह ने कहा कि मेडिकल कॉलेज और रामनगर की नव-निर्मित पानी की टंकी को 7 दिन में कनेक्ट करें। उन्होंने कहा कि जहाँ भी पेय-जल आपूर्ति की समस्या आती है, उसका तुरन्त निराकरण करें। उन्होंने कहा कि जहाँ बल्क कनेक्शन लिये गये हैं, वहाँ जल आपूर्ति सुनिश्चित हो। श्री सिंह ने कहा कि शंकराचार्य नगर, रोहित नगर, स्नेह नगर सहित विभिन्न काँलोनियों की पानी की समस्या का निराकरण जल्दी किया जाये। बैठक में प्रमुख सचिव श्री प्रमोद अग्रवाल ने कहा कि कामर्शियल नल कनेक्शन में मीटर रीडिंग के आधार पर जल कर की वसूली करें। उन्होंने कहा कि इस संबंध में नगर पालिक निगम परिषद में निर्णय लिया जाना चाहिये। पानी के बिल की जानकारी एस.एम.एस. से दी जाये। बैठक में विधायक श्रीमती कृष्णा गौर और पार्षद श्री गिरीश शर्मा ने क्षेत्रीय समस्याओं से अवगत कराया। इस दौरान नगर निगम आयुक्त श्री अभिजीत अग्रवाल एवं अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

खनिज मंत्री श्री जायसवाल साउथ अफ्रीका में खनिज निवेशक सम्मेलन में शामिल हुए
5 February 2019
खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल साउथ अफ्रीका के केपटाउन शहर में विश्व स्तरीय खनिज निवेशक सम्मेलन में शामिल हुए। इस मौके पर प्रमुख सचिव खनिज श्री नीरज मंडलोई और खनिज संचालक श्री विनीत आस्टिन भी उपस्थित रहे। मंत्री श्री जायसवाल ने सम्मेलन में भाग ले रही विभिन्न प्रतिष्ठित कम्पनियों के साथ खनिज अन्वेषण के संबंध में विस्तृत चर्चा की। सम्मेलन में 74 देशों की 2000 कम्पनियों के प्रतिनिधि भाग ले रहे हैं। सम्मेलन में खनिज अन्वेषण संबंधी नवीन तकनीक और उपकरणों आदि का भी प्रदर्शन किया गया है। सम्मेलन में सचिव भारत सरकार इस्पात मंत्रालय एवं अन्य राज्य उड़ीसा, झारखंड, कर्नाटका आदि राज्य सरकारों का प्रतिनिधि मंडल भी भाग ले रहा है।

मंत्री श्री यादव ने की योजनाओं की समीक्षा
5 February 2019
कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने आज विदिशा में जिला योजना समिति की बैठक में जय किसान फसल ऋण माफी योजना के क्रियान्वयन की समीक्षा की। श्री यादव ने बैठक में कहा कि योजना के क्रियान्वयन में दोषी कर्मचारियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। उन्होंने अधिकारियों को नागरिकों की समस्याओं के निराकरण के लिये सक्रिय रहकर कार्य करने के निर्देश दिये। मंत्री श्री यादव ने कहा कि हर अधिकारी-कर्मचारी मुख्यालय में रहे। इसके लिये मुख्यालय में निवास की प्रमाणित जानकारी प्राप्त की जाये। औचक निरीक्षण के माध्यम से अधिकारियों-कर्मचारियों की उपस्थिति सुनिश्चित की जाये। स्वास्थ्य संबंधी योजनाओं की नियमित समीक्षा की जाये। श्री यादव ने राजस्व संबंधी समस्याओं के निराकरण के लिये कलेक्टर को नियमित समीक्षा करने के निर्देश दिये। उन्होंने प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौ-शाला संचालन के लिये भूमि आरक्षित करने को कहा और लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के अधिकारियों को गर्मी के मौसम में पर्याप्त पेयजल प्रबंधन के लिये अभी से प्रयास करने के निर्देश दिये। मंत्री श्री यादव ने हैण्डपम्प खनन के संबंध में जन-प्रतिनिधियों से परामर्श करने के लिये कहा।

तकनीकी शिक्षा समाज के लिए उपयोगी
4 February 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि तकनीकी शिक्षा समाज उपयोगी होनी चाहिए। नवाचार और शोध की दिशा भी समाज-कल्याण के साथ मानव और प्रकृति के मध्य संतुलन स्थापित करने वाली होना चाहिए। ज्ञान और कौशल समाज और राष्ट्र के लिए सार्थक तभी होंगे जब उनमें मानवीय मूल्य और सदगुण विद्यमान हों। राज्यपाल आज राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के दशम दीक्षांत समारोह को संबोधित कर रही थी। राज्यपाल ने विद्यार्थियों को उपाधियों और पदकों से सम्मानित किया। मुख्य अतिथि प्रो. ए.एस. किरण कुमार थे। राज्यपाल ने कहा कि भारतीय संस्कृति का आधार सब सुखी हों,पर आधारित है। किसी भी देश की समृद्धता उसकी बौद्धिक पूँजी की गुणवत्ता पर निर्भर होती है। शिक्षा और तकनीकी कौशल से ही व्यक्ति एवं समाज का सर्वांगीण विकास संभव है। वर्तमान में सूचना प्रौद्योगिकी पर आधारित जीवन शैली से समाज की तकनीकीविदों से अपेक्षाएँ भी बढ़ी हैं। उन्नत तकनीक ने जीवन स्तर ऊँचा उठाया है तथा विकास की नयी इबारतों को गढ़ा है। विकास की अवधारणा में जीवन मूल्यों की प्रधानता बनी रहे, इस पर भी ध्यान केंद्रित किया जाना जरूरी है। राज्यपाल ने छात्र-छात्राओं से अपेक्षा की कि वे समाज एवं राष्ट्र हित के लिए सदैव ज्ञान का उपयोग करेंगे। रचनात्मक दृष्टिकोण के साथ समाज के जिम्मेदार नागरिक के रूप में निज हित से ऊपर उठकर कार्य करेंगे। उन्होंने कहा कि जीवन में सफलता का सबसे महत्वपूर्ण माध्यम समय का सदुपयोग है। लक्ष्य सामर्थ्य के साथ जुड़ा होना चाहिए जो पहुँच में हो किंतु पकड़ में नहीं हो। ऐसा करने से लक्ष्य पूर्ति पर नये लक्ष्य की प्ररेणा मिलती है। उन्होंने विद्यार्थियों से अपेक्षा की कि वे देश के नागरिकों के जीवन-स्तर, जन-कल्याण और चहुँमुखी विकास के नये प्रतिमान गढ़ने में सफल होंगे। राज्यपाल ने प्रो. किरण कुमार के विशद ज्ञान और अनुभव का विश्वविद्यालय के विद्यार्थियों को लाभ दिलाने की दिशा में पहल की आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि इस संबंध में प्रकोष्ठ बनाकर कार्यवाही की जानी चाहिए। तकनीकी शिक्षा एवं कौशल विकास मंत्री श्री बाला बच्चन ने विद्यार्थियों के प्लेसमेंट के क्षेत्र में नये प्रयासों की जरूरत बताई। विश्वविद्यालय के साथ बड़ी कम्पनियों को जोड़ने की पहल करने को कहा। उन्होंने इस दिशा में नये विचारों को भी आमंत्रित किया। श्री बच्चन ने छात्र-छात्राओं को उनकी जरूरतों की पूर्ति में सरकार का पूरा सहयोग देने का आश्वासन दिया। उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्व. श्री राजीव गांधी का स्मरण करते हुए कहा कि उनके विजन के अनुसार विश्वविद्यालय की स्थापना हुई है। इससे तकनीकी शिक्षा के अवसर और पहुँच बढ़ी है। तकनीकी शिक्षा सस्ती, सरल और सुविधापूर्वक उपलब्ध हो रही है। मुख्य अतिथि वरिष्ठ वैज्ञानिक प्रो किरण कुमार ने विद्यार्थियों का आव्हान किया कि भारत को विश्व गुरू बनाने के लिए जरूरी है कि विद्यार्थी नये मार्ग का निर्माण करने वाले बनें। उन्होंने कहा कि ज्ञान अर्जन किसी भी व्यक्ति के जीवन का सबसे महत्वपूर्ण तथ्य होता है। उन्होंने कहा कि तकनीक का उपयोग कर सामाजिक समस्याओं के समाधान के अनेक सफल प्रयोग हुए हैं। उनसे प्ररेणा लेकर हमें समाज की समस्याओं को दूर करने में प्रौद्योगिकी का उपयोग करना चाहिए। कुलपति प्रो सुनील कुमार ने स्वागत भाषण दिया। अतिथियों को स्मृति-चिन्ह भेंट किये गये। विद्यार्थियों ने दीक्षांत संकल्प भी लिया। समारोह में तकनीकी शिक्षा के प्रति बाल्यावस्था से अभिरूचि जाग्रत करने के उद्देश्य से चांदपुर प्राथमिक विद्यालय से आमंत्रित 25 छात्र-छात्राएँ भी उपस्थित थे।

आर्थिक गतिविधियों को बढ़ाने माइनिंग प्रस्तावों पर निर्णय ले केन्द्र
4 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने नई दिल्ली में आज प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी से मुलाकात की और कृषि एवं खनन से जुड़े मुददों पर विस्तार से चर्चा की। श्री नाथ ने राज्य की आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिये माइनिंग लीज पाने की पात्रता रखने वाले 27 प्रकरण में जल्द से जल्द निर्णय लेने का अनुरोध किया। श्री कमल नाथ ने प्रधानमंत्री को विस्तार से बताया कि मध्यप्रदेश के करीब 170 आवेदन हैं जो खदान एवं खनिज (विकास एवं नियमन) अधिनियम की धारा 10-ए और 2-बी के अंतर्गत माइनिंग लीज अनुदान पाने की पात्रता रखते हैं। इन प्रस्तावों पर जल्द निर्णय होने से राज्य की आर्थिक गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। मुख्यमंत्री ने बताया कि जनवरी 2015 में खदान और खनिज (विकास एवं नियमन) अधिनियम मध्यप्रदेश जैसे राज्य जिला खनिज कोष के नये प्रावधानों का लाभ उठा रहे हैं। साथ ही वे अधोसंरचना के विकास और खनन गतिविधियों से प्रभावित क्षेत्रों के लोगों के लिये अन्य संकेतकों को सुधारने में भी योगदान दे रहे हैं। प्राइज डेफिसिट योजना के 575.90 करोड़ रूपये जारी करने का आग्रह मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रधानमंत्री का ध्यान तिलहन के लिये प्राइज डेफिसिट भुगतान योजना के क्रियान्वयन लागत की शेष राशि 575.90 करोड़ रूपये शीघ्र जारी करने का आग्रह किया है। उन्होंने प्रधानमंत्री समर्थन मूल्य तय करने के पूर्व के निर्णय को आगे बढाते हुए अभियान के क्रियान्वयन के संबंध में ध्यान आकृष्ट करते हुए कहा कि अभियान के माध्यम से किसानों को उनकी उपज का न्यूनतम समर्थन मूल्य सुनिश्चित करने के लिये राज्य सरकार प्रतिबद्ध है। श्री नाथ ने श्री मोदी को बताया कि मध्यप्रदेश सरकार ने 1951.80 करोड़ रूपये किसानों को भुगतान किये थे जो न्यूनतम समर्थन मूल्य और आदर्श विक्रय मूल्य का अंतर था। उन्होंने कहा कि यदि यह फसल नाफेड द्वारा न्यूनतम समर्थन मूल्य पर उपार्जित होती तो प्रशासनिक लागत और हानि करीब 2800 करोड़ आती। मुख्यमंत्री ने लागत में 50 प्रतिशत की भागीदारी भारत सरकार द्वारा करने के निर्णय को देखते हुए शेष 575.90 करोड़ रूपये शीघ्र जारी करवाने का आग्रह किया । सोयाबीन के लिये म.प्र. का लक्ष्य 26.92 लाख मीट्रिक टन करने का आग्रह मुख्यमंत्री ने सोयाबीन के लिये प्राइज डेफिसिट योजना में राज्य के उत्पादन का 40 प्रतिशत यानी 26.92 लाख मीट्रिक टन लक्ष्य तय करने का आग्रह किया है। श्री नाथ ने कहा कि प्राइज डेफिसिट योजना की गाइडलाइन में राज्य को दिये लक्ष्य को उत्पादन का 25 प्रतिशत से बढ़ाकर 40 प्रतिशत करने के तरीके का उल्लेख नहीं किया गया है जबकि यही मूल्य समर्थन योजना की गाइडलाइन में अंकित है। उन्होंने प्राइज डेफिसिट योजना में परिवर्तन करने का आग्रह करते हुए कहा कि इससे उत्पादन के 25 प्रतिशत के लक्ष्य को 40 प्रतिशत तक बढ़ाया जा सकेगा।

मंत्री श्री शर्मा ने 11 लाख की सी.सी. रोड का किया भूमि-पूजन
4 February 2019
जनसम्पर्क, विधि-विधायी, धर्मस्व और धार्मिक न्यास, विमानन, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज जवाहर भवन परिसर, रोशनपुरा पर सीमेन्ट-कांक्रीट रोड का भूमि-पूजन किया। रोड 11 लाख रुपये की लागत से निर्मित की जायेगी। श्री शर्मा ने बताया कि क्षेत्र में स्मार्ट लाइट भी लगाई जायेगी। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार द्वारा एक माह की अवधि में जनता के हित में कई महत्वपूर्ण निर्णय लिये गये हैं। उन्होंने कहा कि सरकार बनते ही सबसे पहले किसानों का 2 लाख रुपये तक का कर्ज माफ किया गया। कन्या विवाह योजना में सहायता राशि को बढ़ाकर 51 हजार रुपये किया गया। इस योजना में जाति-धर्म के साथ ही आय के बंधन को भी समाप्त कर दिया गया। योजना का लाभ सभी को मिलेगा। विधवा एवं निराश्रित पेंशन राशि को 300 रुपये से बढ़ाकर एक हजार रुपये किया गया है। इस अवसर पर पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, श्री कैलाश मिश्रा, श्री ईश्वर सिंह चौहान और श्री आसिफ ज़की भी मौजूद थे।

राज्य में शुरू होगी रात्रिकालीन बस सेवा : परिवहन मंत्री श्री राजपूत
4 February 2019
परिवहन मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत ने कहा है कि यात्री बस चालकों और परिचालकों के लिये यूनिफार्म को आवश्यक घोषित किया जायेगा। क्षेत्रीय परिवहन कार्यालयों के अपने भवन निर्मित करने, रात्रिकालीन बस सेवा प्रारंभ करने और ग्रामीण परिवहन को बढ़ावा देने के लिये सभी आवश्यक व्यवस्थाएँ की जाएंगी। साथ ही प्रदेश में निजी बस ऑपरेटर्स और सूत्र सेवा के मध्य समन्वय स्थापित कर यात्रियों के हित में समाधान निकाला जायेगा। परिवहन मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि राज्य में नया एप बनाकर रेड बस, ओला, उबेर आदि को एक ही प्लेटफार्म पर समाहित करने, आमजन के हित में जीपीएस आधारित ऑटोमेटिक व्हीकल लोकेशन पद्धति लागू करने का प्रयास किया जायेगा। इससे नियंत्रण कक्ष के माध्यम से विभिन्न वाहनों पर नजर रखी जा सकेगी। स्कूली पाठ्यक्रम में यातायात सुरक्षा का अध्याय शामिल करने की पहल भी की जायेगी। श्री राजपूत ने प्रशासन अकादमी में परिवहन विभाग के अधिकारियों और बस ऑपरेटर्स की संयुक्त बैठक में यह जानकारी दी। मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि प्रदेश के नागरिकों को अच्छी परिवहन सुविधाएँ मुहैया कराने के लिये वर्तमान में लागू व्यवस्था में आवश्यक सुधार किये जायेंगे। उन्होंने बताया कि सुधारों की प्रक्रिया प्रारंभ की जा चुकी है। प्राइवेट बस ऑपरेटर्स से संवाद की पहल भी इसी दिशा में एक महत्वपूर्ण कड़ी है। उन्होंने कहा कि आज की बैठक में ऑपरेटर्स के साथ हुई बातचीत में उनकी वास्तविक परेशानियों की जानकारी मिली है। सभी वर्ग की अलग-अलग दिक्कतें हैं। आमजन की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए परिवहन नीति में आवश्यक संशोधन भी किये जायेंगे। मंत्री श्री राजपूत ने कहा कि विस्तृत क्षेत्रफल वाले हमारे राज्य में आबादी के अनुपात में आवश्यक लोक परिवहन प्रबंध करने की दिशा में शीघ्र ही कदम उठाये जायेंगे। बैठक में इन्टर सिटी ट्रांसपोर्ट अथॉरिटी के कार्यों, परिवहन प्रशासन को सुदृढ़ करने, वाहनों के फिटनेस प्रमाण-पत्र की व्यवस्था में सुधार, सुरक्षित वाहन चालन एवं सड़क दुर्घटना में कमी लाने और वाहनों के प्रदूषण की जाँच के लिये केन्द्र स्थापित करने सभी जिला मुख्यालयों और एक लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में बस अड्डों के निर्माण, नये मार्ग पर वाल्वो बस संचालन, नान स्टाप सेवा के रूट में वृद्धि, स्कूल बसों/ वाहनों की सुरक्षा और उनके चेकिंग अभियान के संबंध में चर्चा हुई। परिवहन मंत्री ने विभागीय अधिकारियों को वचन-पत्र के पालन के प्रति गंभीर रहने और नागरिकों को आवश्यक सुविधाएँ देने के लिये सक्रिय रहने के निर्देश दिये। प्रारंभ में बस ऑपरेटर्स ने परिवहन मंत्री द्वारा बैठक बुलाकर संवाद करने की सराहना की। बस ऑपरेटर्स में ग्वालियर के श्री विमल गुप्ता, देवास के श्री वीरेन्द्र बैस, बैतूल के श्री शमीम खान, जबलपुर के श्री संजय शर्मा, चन्देरी के श्री सुरेन्द्र मिश्रा, उज्जैन के श्री मोहम्मद इमरान, सिवनी के श्री संजीव जैन, झाबुआ के श्री प्रकाश जैन, भोपाल के श्री ब्रजमोहन राठी आदि शामिल थे। परिवहन आयुक्त डॉ. शैलेन्द्र श्रीवास्तव एवं अन्य अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।

बिना पूर्वाग्रह के पात्र किसानों को मिले ऋण माफी का फायदा
4 February 2019
सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने आज यहाँ भोपाल जिले में जय किसान फसल ऋण माफी योजना की क्रियान्वयन समिति की बैठक में कहा कि बिना किसी पूर्वाग्रह के और पूरी पारदर्शिता के साथ पात्र किसानों को फसल ऋण माफी योजना का फायदा दिलायें। बैठक में जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा, भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री श्री आरिफ अकील, विधायक श्री आरिफ मसूद सहित संबंधित विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि जय किसान ऋण माफी योजना का सफल क्रियान्वयन राज्य सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है। योजना को क्रियान्वित करने में सभी संबंधित अधिकारी पूर्ण निष्पक्षता बरतें। कोई भी पात्र किसान योजना का लाभ लेने से वंचित न रहे। उन्होंने कहा कि किसानों के आवेदनों का सूक्ष्मता से परीक्षण किया जाये। यदि किसानों को आवेदन-पत्र की पूर्ति में कोई कठिनाई हो रही है, तो उसे दूर किया जाये। कलेक्टर डॉ. सुदाम खाडे ने बताया कि जिले में 3 फरवरी तक जय किसान ऋण मुक्ति योजना में लगभग 59 हजार आवेदन प्राप्त हुए हैं। आवेदन-पत्रों की स्क्रूटनी का काम जारी है। जिले की सभी ग्राम पंचायतों में हरे और सफेद फार्म की सूची चस्पां कर दी गई है। जो किसान पात्र हैं, किन्तु उनका नाम दोनों सूचियों में नहीं हैं, उनसे गुलाबी फार्म भरवाये जा रहे हैं। कलेक्टर ने बताया कि किसानों को होने वाली कठिनाइयों के निराकरण के लिए कलेक्टर कार्यालय में नियंत्रण कक्ष बनाया गया है। प्रत्येक ग्राम पंचायत में एक नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है। नोडल अधिकारी फोन द्वारा किसानों की समस्याओं का निराकरण कर रहे हैं। सभी संबंधित अधिकारियों से कहा गया है कि वे पूरी गंभीरता के साथ योजना को क्रियान्वित करने में अपने दायित्वों का निर्वहन करें।

जो कहा है वो पूरा करेंगे : मंत्री श्री शर्मा
3 February 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने मध्यप्रदेश लघु वेतन कर्मचारी संघ के तत्वावधान में अंशकालीन कर्मचारियों की प्रदेशव्यापी आमसभा में कहा कि राज्य सरकार द्वारा वचन-पत्र में जो कहा गया है, उन सभी वचनों को पूरा किया जायेगा। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र में कर्मचारियों की 68 माँगे शामिल थीं। इन सभी को सरकार पूरा करेगी। कर्मचारियों की ऐसी मांगें, जो वचन-पत्र में नहीं थीं किन्तु पूरी की जाना जरूरी है, उन्हें भी पूरा किया जायेगा। श्री शर्मा ने कहा कि 6 फरवरी को मंत्रालय में सभी कर्मचारी संगठनों के पदाधिकारियों से भेंट कर उनकी माँगों को सुना जायेगा। उन्हें पूरा करने के लिये आवश्यक कदम उठाये जायेंगे। शाहजहांनी पार्क में आयोजित इस कार्यक्रम में कर्मचारी संघ के प्रातांध्यक्ष श्री महेन्द्र शर्मा और पार्षद श्री प्रवीण सक्सेना मौजूद थे।

भव्य रूप से मनाया जायेगा नर्मदा जयंती महोत्सव- मंत्री श्री पी.सी. शर्मा
3 February 2019
होशंगाबाद में 11-12 फरवरी को नर्मदा जयंती महोत्सव भव्य रूप से मनाया जायेगा। महोत्सव में जल-मंच आकर्षण का मुख्य केन्द्र रहेगा। होशंगाबाद जिले के प्रभारी, जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा की अध्यक्षता में भोपाल के तुलसी नगर स्थित नर्मदा मंदिर में नर्मदा जयंती महोत्सव समिति की बैठक में यह जानकारी दी गई। जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि नर्मदा जयंती महोत्सव का प्रदेश में व्यापक प्रचार-प्रसार किया जाये। उन्होंने कहा कि महोत्सव में सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन एवं गणमान्य नागरिकों का अभिनन्दन किया जायेगा। इस मौके पर महोत्सव में जलमंच, विद्युत, बेरीकेटिंग, पुलिस कन्ट्रोल रूम एवं नर्मदा घाट और केन्द्रीय जल आयोग की व्यवस्था के बारे में विस्तृत चर्चा हुई। नर्मदा जयंती महोत्सव की बैठक में महोत्सव कमेटी के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक श्री सीताशरण शर्मा, पूर्व मंत्री श्री सरताज सिंह, पूर्व विधायक सुश्री सविता दीवान, पूर्व विधायक श्री अर्जुन पलिया, जिला कांग्रेस अध्यक्ष श्री कपिल फौजदार, कार्यकार अध्यक्ष श्री राजेश तिवारी, नगर पालिका अध्यक्ष श्री अखिलेश खण्डेलवाल, जिले के वरिष्ठ प्रशासनिक एवं पुलिस अधिकारी होशंगाबाद कलेक्टर श्री आशीष सक्सेना उपस्थित थे।

समस्याओं का निराकरण नहीं हुआ, तो सीधे एक्शन लेंगे : मंत्री श्री शर्मा
3 February 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज वल्लभ नगर वार्ड क्रमांक-33 पहुँचकर आम जनता की समस्याओं को सुना। उन्होंने मौके से ही दूरभाष पर जिम्मेदार अधिकारियों को समस्याओं के निराकरण के निर्देश दिये। श्री शर्मा ने कहा कि निराकरण की कार्यवाही तीन दिन में नहीं हुई, तो सीधे एक्शन लिया जायेगा। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने आम नागरिकों से कहा है कि जनता खुद सरकार है। जनता की समस्याओं को प्राथमिकता से निराकृत किया जायेगा। नागरिकों ने क्षेत्र में पानी की समुचित व्यवस्था, सफाई नहीं होने और बिजली कनेक्शन काटे जाने संबंधी समस्याओं से श्री शर्मा को अवगत करवाया। श्री शर्मा ने नगर निगम के बिजली विभाग को सभी कटे हुए बिजली कनेक्शन तत्काल जोड़े जाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि किसी भी उपभोक्ता से प्रति माह 100 रुपये से ज्यादा बिजली का बिल नहीं लिया जाये। श्री शर्मा ने कहा कि बिजली का बिल आधा कर दिया गया है। उन्होंने पानी की समस्या के निराकरण के लिये नगर निगम को नल कनेक्शनों को जोड़ने और पानी समुचित मात्रा में उपलब्ध करवाने के निर्देश दिये। श्री शर्मा ने सफाई दरोगा को तीन दिन में वल्लभ नगर और भीम नगर में सफाई व्यवस्था दुरूस्त कराने को कहा है। समस्या निराकरण के लिये कैम्प लगेगा जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने क्षेत्रवासियों को आश्वस्त किया कि क्षेत्र की सभी समस्याओं के निराकरण के लिये जल्द ही कैम्प लगाया जायेगा। उन्होंने कहा कि वे नगर निगम आयुक्त और बिजली, पानी, सड़क और सफाई के जिम्मेदार अधिकारियों को कैम्प में लेकर स्वयं आयेंगे। श्री शर्मा ने आम जनता को अपना मोबाइल नं.9425010011 नोट कराते हुए कहा कि किसी भी प्रकार की समस्या होने पर सीधे उनसे सम्पर्क करें। रोजगार मेला लगेगा 14-15 फरवरी को श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश सरकार जनहित के सभी कार्यों को करने के लिये वचनबद्ध है। उन्होंने अब तक सरकार द्वारा जनहित में लिये गये महत्वपूर्ण निर्णयों से अवगत कराया। श्री शर्मा ने कहा कि सभी बेरोजगार युवाओं को रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। उन्होंने कहा कि आगामी 14-15 फरवरी को मानस भवन में रोजगार मेला आयोजित किया जा रहा है। मेले में 50 कम्पनियाँ आयेंगी, जो युवाओं की भर्ती करेंगी। इसमें 18 वर्ष से 40 वर्ष की आयु वर्ग के युवाओं की भर्ती की जायेगी। रोजगार मेला प्रात: 9 बजे प्रारंभ होगा।

गौ-शालाओं का विकास किया जायेगा : धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा
3 February 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्पर्क, विधि-विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और विमानन मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज गायत्री शक्तिपीठ में पेविंग ब्लॉक लगाने का भूमि-पूजन किया। पेविंग ब्लाक लगाने का कार्य पार्षद निधि से किया जा रहा है। कार्य की लागत 8 लाख रुपये है। श्री शर्मा ने मंदिर परिसर में नलकूप खनन की मंजूरी भी दी। इस अवसर पर क्षेत्रीय पार्षद और नगर निगम के नेता प्रतिपक्ष श्री मोहम्मद सगीर और क्षेत्रीय विधायक आरिफ मसूद मौजूद थे। गौ-शालाओं के लिये सम्पूर्ण कार्य-योजना बनेगी श्री शर्मा ने मंदिर परिसर में गौ-शाला का अवलोकन कर गौ-शाला प्रबंधन पर प्रसन्नता व्यक्त की। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी मंदिरों में गौ-शालाओं के प्रबंधन को बेहतर बनाने का कार्य किया जायेगा। श्री शर्मा ने गौ-धन के संवर्धन से होने वाले लाभ से आम व्यक्तियों को लाभान्वित करने के लिये गौ-शालाओं के विकास के लिये सम्पूर्ण कार्य-योजना बनाकर प्रदेश स्तर पर क्रियान्वित करने की बात कही। श्री शर्मा ने नगर निगम को मंदिर परिसर में बॉयोगैस संयंत्र के लिये सोक-पिट बनाने के निर्देश दिये।

कोलम्बिया यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिये अजा वर्ग के विद्यार्थियों को मिले छात्रवृत्ति
3 February 2019
मध्यप्रदेश जांगड़ा महासभा में धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्पर्क, विधि-विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी और विमानन मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि धरना और प्रदर्शन के दौरान जांगड़ा समाज के बन्धुओं पर लगे मुकदमे वापस करवाये जायेंगे। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग के विद्यार्थियों को कोलम्बिया यूनिवर्सिटी में पढ़ने के लिये छात्रवृत्ति मिलनी चाहिए। श्री शर्मा ने कहा कि जाति प्रमाण-पत्र के लिये 50 साल का रिकार्ड माँगने के औचित्य का परीक्षण करवाया जायेगा। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने कहा कि समाज की धर्मशाला के लिये जमीन देख लें, शेष कार्यवाही नगरीय विकास विभाग जल्द करेगा। उन्होंने बताया कि कोलम्बिया यूनिवर्सिटी में पढ़ने वाले सबसे पहले भारतीय डॉ. भीमराव अम्बेडकर थे। श्री सिंह ने कहा कि मैंने भी उसी यूनिवर्सिटी से पढ़ाई की है। उन्होंने कहा कि अनुसूचित जाति वर्ग के लोगों को शासन की सभी योजनाओं का लाभ दिलाया जायेगा। उन्होंने इस मौके पर प्रदेश स्तरीय युवक-युवती परिचय सम्मेलन में उपस्थित युवक-युवतियों को उनके भावी जीवन की शुभकामनाएँ दी। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने कहा कि समाज के सभी बच्चों को बेहतर शिक्षा लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि उनकी शिक्षा के लिये सभी सुविधाएँ उपलब्ध करवायी जायेंगी। इस मौके पर स्मारिका का भी विमोचन किया गया। महासभा में हिमांशु बांधेवाल की स्मृति में प्रतिभाशाली छात्र-छात्राओं तथा वरिष्ठ समाज-सेवियों का सम्मान भी किया गया। कक्षा 10वीं और 12वीं में 80 प्रतिशत से अधिक अंक प्राप्त करने वाले विद्यार्थियों को सम्मानित किया गया। प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री जे.एन. कंसोटिया भी उपस्थित थे।

नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री सिंह द्वारा सोनागिरि से बायपास तक सड़क का भूमि-पूजन
3 February 2019
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने वार्ड 67 में सोनागिरि से रजत नगर होते हुए अयोध्या बायपास तक बनने वाली फोर लेन मास्टर प्लान सड़क का भूमि-पूजन किया। सड़क 5 करोड़ 25 लाख की लागत से बनाई जायेगी। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री ने कहा कि सड़क को स्मार्ट सड़क बनाने के साथ ही वार्ड की पानी, सड़क और सीवेज की समस्याओं को भी जल्द दूर किया जायेगा। उन्होंने कहा कि गुणवत्तापूर्ण कार्य करवाना हमारी प्राथमिकता है। उन्होंने कहा कि पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर के कर्म और उनकी कार्यशैली से अधिक से अधिक सीखेंगे, तो सफलता जरूर मिलेगी। श्री सिंह कहा कि किसी भी समस्या के निराकरण के लिये हमारे घर और कार्यालय के दरवाजे हमेशा खुले हैं। युवा स्वाभिमान योजना श्री सिंह ने बताया कि प्रदेश में युवा स्वाभिमान योजना लागू की जा रही है। योजना में 21 से 30 वर्ष की उम्र के शहरी युवाओं को 100 दिन का रोजगार सुनिश्चित किया जायेगा। उन्होंने कहा कि सभी नगरीय निकायों में मूलभूत सुविधाएँ प्राथमिकता से विकसित की जायेंगी। पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर ने कहा कि यह कार्यक्रम जनता का है। उन्होंने कहा कि शहर में मेट्रो ट्रेन जल्द शुरू होनी चाहिए। श्री गौर ने कहा कि नगरों में लगभग ढाई करोड़ लोग निवास करते हैं, इनकी सुख-सुविधाओं की जिम्मेदारी नगरीय विकास एवं आवास विभाग की है। विधायक श्रीमती कृष्णा गौर ने क्षेत्रीय समस्याओं से अवगत कराया। पूर्व सांसद श्री संदीप दीक्षित और पूर्व अध्यक्ष नगरपालिक निगम भोपाल श्री कैलाश मिश्रा ने भी विचार व्यक्त किये। पार्षद श्री गिरीश शर्मा ने वार्ड की समस्याओं की ओर ध्यान आकृष्ट किया।

मोटर सायकल से सब्जी मंडी पहुँचे मंत्री श्री मरकाम
3 February 2019
जनजातीय कार्य मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम आज डिण्डोरी जिला मुख्यालय में मोटर सायकल से सब्जी मंडी पहुँचे और सब्जी व्यापारियों की समस्याएँ सुनी। श्री मरकाम मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के फिजूलखर्ची पर अंकुश लगाने संबंधी आदेश का संदेश देने घर से मोटर सायकल से सब्जी मंडी पहुँचे। मंत्री श्री मरकाम मंडी में व्यापारियों से रू-ब-रू हुए। उन्होंने व्यापारियों की माँग पर मंडी परिसर में शौचालय बनवाने के लिये नगर परिषद के अधिकारियों को निर्देशित किया। मंडी में वाहनों के प्रवेश से होने वाली समस्याओं को दूर करने के लिये मंत्री श्री मरकाम ने मंडी में वाहनों के प्रवेश पर रोक लगाने के लिये कहा।

रामराजा सरकार की नगरी ओरछा में अध्यात्म विभाग के पहले कार्य का भूमि-पूजन
2 February 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन मंत्री श्री पी.सी. शर्मा और वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने आज रामराजा सरकार की नगरी निवाड़ी जिले के ओरछा में 96 लाख रूपये लागत के रानी गनेश कुँवरि यात्री सेवा सदन का भूमि-पूजन किया। धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा गठित अध्यात्म विभाग के पहले कार्य का भूमि-पूजन रामराजा सरकार की नगरी ओरछा से किया जा रहा है, ताकि इस नगरी से प्रदेश में मंदिर संस्कृति संरक्षित रहे, मंदिरों की संपत्तियाँ सुरक्षित रहें, उनका सही प्रबंधन हो तथा देव स्थान के हित में सदुपयोग हो सके। श्री शर्मा ने बताया कि सभी देव स्थानों के विकास के लिये सरकार तेजी से कार्य करेगी। पुजारियों की नियुक्ति प्रक्रिया निर्धारित की जा रही है। उनके मानदेय में तीन गुना की वृद्धि की जा रही है। देव स्थानों के भवन, दुकान आदि संपत्तियों को किराये पर देने के नियम भी बनाये जा रहे हैं। देव स्थानों की ऐसी संपत्तियाँ जो कि नगरीय क्षेत्र में आ गई है, उनके विकास की योजना भी बनाई जा रही है। पुजारी कल्याण कोष का गठन मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि सरकार द्वारा पुजारी कल्याण कोष का गठन किया जा रहा है। पुजारियों के बच्चों के शिक्षण और स्वास्थ्य पर भी सरकार ध्यान देगी। पुजारियों के लिये बीमा व्यवस्था लागू की जायेगी। पुजारियों के जो बच्चे संस्कृत में अध्ययन करना चाहते हैं, उन्हें आचार्य स्तर तक की शिक्षा दिलाई जायेगी। केशवकुँज मंगल परिसर और राय प्रवीण विविध कला केन्द्र विकसित होंगे श्री शर्मा ने कहा कि मध्यप्रदेश तीर्थ मेला प्राधिकरण एवं रामराजा मंदिर की संयुक्त निधि से अगले चरण में ओरछा में केशवकुँज मंगल परिसर एवं राय प्रवीण विविध कला केन्द्र बनाये जायेंगे। केशवकुँज मंगल परिसर ओरछा में महाकवि केशव की स्मृति को चिर स्थायी तो बनायेगा ही, साथ ही यह परिसर ओरछा में कथा भागवत विवाह इत्यादि मांगलिक कार्यों के आयोजन के लिये भी आदर्श स्थल होगा। गायन और नृत्य से रामराजा मंदिर को भक्तिभाव से सराबोर करने वाले राय प्रवीण को समर्पित राय प्रवीण विविध कला केन्द्र कला साधकों के लिये स्मारक बनेगा। यह ओरछा में भजन, कीर्तन, नृत्य आदि कलाओं के लिये प्रोत्साहन का कार्य भी करेगा। उन्होंने जीरन और अछरू माता में 20-20 लाख रूपये की धर्मशालाओं का अगले चरण में निर्माण किये जाने की बात भी कही। रामराजा मंदिर में लगेगी सौलर यूनिट धार्मिक न्यास और धर्मस्व मंत्री ने बताया कि रामराजा मंदिर में सौलर यूनिट सिस्टम लगाया जायेगा। तीर्थ नगरी के रूप में ओरछा को पूर्णरूपेण विकसित करने के लिये आगामी 50 वर्षों की आवश्यकताओं को दृष्टिगत रखते हुए इसका मास्टर प्लान तैयार किया जायेगा। कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये वाणिज्य कर मंत्री श्री राठौर ने कहा कि रामराजा सरकार की नगरी ओरछा सभी वर्गों की श्रद्धा का राष्ट्रीय केन्द्र है। उन्होंने कहा कि ओरछा के संपूर्ण विकास के साथ ही अछरू माता मंदिर, साकेत रामायण संग्रहालय एवं क्षेत्र के देव स्थानों के विकास के लिये कार्य-योजनाएँ प्रस्तुत की गईं हैं। इन योजनाओं के प्रारंभ होने पर क्षेत्र का विकास सुनिश्चित होगा। युवाओं और स्थानीय लोगों को रोजगार भी मिलेगा।

जय किसान फसल ऋण माफी योजना के लिये निरंतर सक्रिय रहेंगे कंट्रोल-रूम
2 February 2019
मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने जय किसान फसल ऋण माफी योजना के लिये जिलों में स्थापित कंट्रोल-रूम को निरंतर सक्रिय रखने के निर्देश दिये हैं। श्री मोहंती ने कहा कि योजना के क्रियान्वयन के संबंध में जिला कलेक्टर्स कृषि, सहकारिता तथा अन्य संबंधित विभागों के अधिकारियों के निरंतर सम्पर्क में रहें तथा समय-सीमा में गतिविधियों का क्रियान्वयन सुनिश्चित करें। मुख्य सचिव आज प्रशासन अकादमी में कलेक्टर्स की बैठक को संबोधित कर रहे थे। निराश्रित पशुओं के लिये गौ-शाला खोले जाने तथा अपराधिक प्रकरणों के लोकहित में प्रत्याहरण की प्रक्रिया के संबंध में भी आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। अपर मुख्य सचिव, पशुपालन विभाग श्री मनोज श्रीवास्तव ने निराश्रित पशुओं के लिये गौ-शाला खोले जाने के संबंध में प्रस्तुतिकरण देते हुए बताया कि प्रत्येक विकासखण्ड में कम से कम 3 गौ-शाला आरम्भ की जाना है। इसके लिये जिला तथा विकासखण्ड स्तर पर समिति गठित की जायेगी। उन्होंने गौ-शालाओं के लिये तत्काल भूमि चिन्हित करने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव, गृह श्री मलय श्रीवास्तव ने आपराधिक प्रकरणों के लोकहित में प्रत्याहरण की प्रक्रिया के संबंध में प्रस्तुतिकरण भी दिया। जिला कलेक्टर्स को प्रमुख सचिव, वित्त श्री अनुराग जैन, प्रमुख सचिव, किसान कल्याण श्री राजेश राजौरा और प्रमुख सचिव, सहकारिता श्री अजीत केसरी ने भी संबांधित किया।

एनएसएस के विद्यार्थी नई पीढ़ी को राष्ट्र सेवा के लिये प्रेरित करें
2 February 2019
उच्च शिक्षा, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी से नई दिल्ली में सम्पन्न गणतंत्र दिवस परेड में शामिल मध्यप्रदेश तथा छत्तीसगढ़ राज्य के राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के विद्यार्थियों ने भेंट की। श्री पटवारी ने एनएसएस के उद्देश्यों को समाज के लिये हितकारी बताते हुए दल के सदस्यों का उत्साहवर्धन किया। मंत्री श्री पटवारी ने एनएसएस के विद्यार्थियों से कहा कि नई पीढ़ी को राष्ट्र सेवा के लिये प्रेरित करें। साथ ही, राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के विचारों के अनुसार भारतीय समाज के नव-निर्माण में अपना अमूल्य योगदान सुनिश्चित करें। एनएसएस दल के विद्यार्थियों ने खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री पटवारी को स्मृति-चिन्ह भेंट किया। इस अवसर पर प्रो. रीना ताम्रकार, कार्यक्रम अधिकारी डॉ. आर.के. विजय और समन्वयक श्री राहुल सिंह परिहार उपस्थित थे।

जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणामों से नहीं जागे तो बनेंगे विश्व युद्ध के हालात
2 February 2019
पर्यावरण एवं लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने कहा है कि हम अब भी जलवायु परिवर्तन के दुष्परिणामों को नहीं समझेंगे, तो दुनिया में पानी को लेकर तीसरे विश्व युद्ध के हालात बनेंगे। इसलिये जल संरक्षण पर विशेष ध्यान देना नितांत आवश्यक हो गया है। पर्यावरण मंत्री आज यहाँ एप्को परिसर में ''वेटलैण्डस एण्ड क्लाइमेट चेंज'' पर केन्द्रित कार्यशाला के उद्घाटन सत्र को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने स्कूली बच्चों और कॉलेज के छात्रों की ड्राइंग और ओपन क्विज प्रतियोगिता के प्रतिभागियों को पुरस्कार भी वितरित किये। मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि वेटलैण्ड कई तरह से उपयोगी है। वेटलैण्ड वास्तव में झील, नदी, तालाब, जलाशय, डेम और नमीयुक्त नदी तथा समुद्र किनारे का हिस्सा होता है। यह जल को प्रदूषित होने से बचाता है। वेटलैण्ड अन्य महत्वपूर्ण उपयोगों के साथ-साथ भू-जल तथा वातावरण से कार्बन डाई-ऑक्सईड अवशोषित कर जलवायु परिवर्तन की दृष्टि से अत्यंत महत्वपूर्ण हैं। उन्होंने कहा कि जल को सहेजने एवं संरक्षित रखने के उपाय हमारे संस्कारों एवं शिक्षा में हमेशा से मिलते रहे हैं। दुर्भाग्य यह है कि हमारे जलीय संसाधन दिनों-दिन नष्ट और प्रदूषित हो रहे हैं। कहीं न कहीं हम सब इसके लिए जिम्मेदार हैं। श्री वर्मा ने कहा कि हमें इन महत्वपूर्ण जलीय संसाधनों को पुनर्जीवित करने तथा इनका संरक्षण करने की जिम्मेदारी उठानी चाहिए। उन्होंने कहा कि जलीय संसाधन प्रकृति और ईश्वर की अनमोल धरोहर तथा मानव जीवन का आधार है। यदि जल को सहेजने वाले संसाधन नष्ट हुए, तो समझ लीजिए कि मानव-जीवन के साथ अन्य जीवन भी नष्ट हो जाएंगे। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में केन्द्र सरकार के पर्यावरण और जल संरक्षण की दिशा में जारी दिशा-निर्देशों का सकारात्मकता के साथ पालन किया जायेगा। राज्य स्तर पर जलीय संसाधनों को संरक्षित करने के लिये हरसंभव प्रयास किये जायेंगे। मंत्री श्री वर्मा ने वेटलैण्ड इन्वेन्ट्री तथा पोर्टल तैयार करने के लिये एप्को के प्रयासों की सराहना की। प्रमुख सचिव पर्यावरण श्री अनुपम राजन ने बताया कि जलवायु परिवर्तन से हमारी कृषि व्यवस्था प्रभावित हुई है। इसका असर दुनिया के कई देशों की जीडीपी पर भी पड़ा है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में स्थित शहरी तालाबों में वेटलैण्ड के संरक्षण की योजना चल रही है। केन्द्र सरकार से स्वीकृत योजनाओं में वर्तमान में 40 प्रतिशत राशि राज्य सरकार द्वारा वहन की जा रही है। एप्को के एक्जीक्यूटिव डॉयरेक्टर श्री जितेन्द्र सिंह राजे ने बताया कि वेटलैण्ड दिवस के अवसर पर इस वर्ष भी एप्को द्वारा वेटलैण्ड्स एवं जलवायु परिवर्तन विषय पर जन-जाग्रति कार्यक्रम किये गए, जिनमें विद्यालयीन एवं महाविद्यालयीन छात्र-छात्राओं ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। उन्होंने बताया कि राज्य वेटलैण्ड प्राधिकरण, एप्को द्वारा इसरो, अहमदाबाद एवं मैप-आईटी, भोपाल से प्राप्त आंकड़ों के आधार पर राज्य में स्थित 2.25 हेक्टेयर से बड़े वेटलैण्ड्स की सूची तैयार कर डिजिटल इन्वेन्ट्री तथा वेब पोर्टल तैयार किया गया है। डिजिटल इन्वेन्ट्री में 2.25 हेक्टेयर से अधिक क्षेत्रफल वाले मध्यप्रदेश में 15 हजार 152 वेटलैण्ड्स हैं। यह राज्य के कुल क्षेत्रफल का 1.74 प्रतिशत है। इनकी तमाम प्रक्रिया करके अधिसूचना के प्रस्ताव राज्य शासन को भेजे जा रहे हैं। कार्यक्रम में बरकतउल्लाह विश्वविद्यालय भोपाल के पूर्व कुलपति डॉ. रामप्रसाद और पर्यावरण विज्ञान के प्रो. प्रदीप श्रीवास्तव भी मौजूद थे।

मुख्यमंत्री को निराश्रित गौ वंश संरक्षण के निर्णय पर पंडित कमलकिशोर नागर ने दिया साधुवाद
2 February 2019
आचार्य श्री विद्यासागर महाराज के बाद प्रख्यात कथावाचक पंडित कमलकिशोर नागर ने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के एक हजार गौशालाएँ खोलने के निर्णय पर उन्हें साधुवाद दिया है। पंडित नागर इन दिनों इंदौर के निकट गोम्मटगिरी में कथा वाचन कर रहे हैं। पंडित नागर ने कहा है कि गौ-माता की रक्षा का संकल्प निभाकर मुख्यमंत्री राजधर्म का पालन कर रहे हैं। उल्लेखनीय है कि श्री नागर द्वारा मध्यप्रदेश एवं राजस्थान में समाज के सहयोग से 197 गौशालाएँ संचालित की जाती हैं। गोम्मटगिरी की गौवर्धन गौशाला में एक हजार गाय हैं।

स्थाई पेजयल व्यवस्था की कार्य-योजना बनाने के निर्देश
2 February 2019
लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने गरमी के मौसम में पेयजल व्यवस्था की राज्य स्तरीय कार्यशाला में निर्देश दिये कि प्रदेश में पेयजल की स्थाई व्यवस्था के लिए विस्तृत कार्य-योजना बनाई जाये। । प्रत्येक विभागीय अधिकारी और कर्मचारी को इस व्यवस्था को सफल बनाने के लिये दिन-रात काम करना होगा। उन्होंने कहा कि गरमी के मौसम में लोगों को शुद्ध पेयजल उपलब्ध कराने के कार्य को चुनौती के रूप लेना होगा। यह मानव सेवा का कार्य है। मंत्री श्री पांसे ने कहा कि जन-प्रतिनिधियों के निर्देशों का अधिकारी पालन करें। उनके द्वारा बताये गये कार्यो को गंभीरता से समय पर पूर्ण करें। उन्होंने कहा कि प्रदेश में कहीं से भी पेयजल की समस्या की शिकायत नहीं मिलना चाहिए। शिकायत आने पर संबंधित अधिकारी के विरूद्ध कठोर कार्यवाही की जायेगी। श्री पांसे ने कहा कि अधिकारी ग्रामीण क्षेत्रों का निरंतर दौरा करें। प्रदेश की भौगोलिक आवश्यकता अनुसार जन-प्रतिनिधियों से चर्चा करें, कार्य योजनाएँ बनायें और उन्हें पूरा करें। राज्य स्तरीय कार्यशाला में प्रमुख सचिव श्री विवेक अग्रवाल, प्रमुख अभियन्ता श्री के.के. सोनगरिया और प्रदेश के सभी अधीक्षण यंत्री और कार्यपालन यंत्री उपस्थित थे।

मंत्री श्री अकील द्वारा रक्त संग्रहण चलित वाहिनी का लोकार्पण
2 February 2019
भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुर्नवास मंत्री श्री आरिफ अकील ने भोपाल मेमोरियल अस्पताल में रक्त संग्रहण चलित वाहिनी का लोकार्पण किया। श्री अकील ने कहा कि स्वैच्छिक रक्तदान को बढ़ावा देने के लिये यह एक अच्छी पहल है। इसके जरिये युवा रक्तदाता जरूरतमंद व्यक्ति की मदद कर सकेगा। डॉ. सीमा नवेद ने बताया कि सर्वसुविधायुक्त इस वाहन के जरिये जगह-जगह से रक्तदाताओं से रक्त एकत्रित कर जरूरतमंद व्यक्तियों की सुविधा के लिये उपलब्ध करवाया जायेगा। स्वास्थ्य शिविर में पहुँचे मंत्री मंत्री श्री आरिफ अकील के निर्देश पर आज शासकीय गैस राहत चिकित्सालय करोंद में नि:शुल्क चिकित्सा परीक्षण शिविर का आयोजन किया गया। गैस राहत विभाग के सौजन्य से गैस पीड़ित क्षेत्र में यह शिविर लगाया गया। इसमें जीवन ज्योति कॉलोनी के निवासियों का नि:शुल्क स्वास्थ्य परीक्षण किया गया। मंत्री श्री अकील सुबह-सुबह शिविर का मुआयना करने पहुँचे और उन्होंने चिकित्सकों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिये। लगभग 15 विशेषज्ञों ने शिविर में अपनी सेवाएँ दीं। शिविर में लगभग 500 से अधिक लोगों का स्वास्थ्य परीक्षण किया गया।

देशवासियों के जीवन में क्रांतिकारी बदलाव लाएगा बजट : राकेश सिंह
1 February 2019
भोपाल। केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत अंतरिम बजट ऐतिहासिक और क्रांतिकारी है। यह देश की दिशा और दशा बदलने वाला बजट है, जो देश की उन्नति में मील का पत्थर साबित होगा। देश की विकास यात्रा को गति देगा। प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी की सरकार का यह बजट इतिहास में स्वर्णाक्षरों से लिखा जाएगा। बजट में कृषि, ग्रामीण विकास, स्वास्थ्य, शिक्षा, रोजगार, बुनियादी ढांचागत क्षेत्रों को मजबूत करने के मिशन पर फोकस किया गया है और विकास के इस प्रयास में देश के श्रमिकों, किसानों, महिलाओं और गरीबों का भी ध्यान रखा गया है। इसके साथ ही आयकर की सीमा 2.5 से 5 लाख करके सरकार ने मध्यम वर्ग को उदारतापूर्वक राहत देने का प्रयास किया है। यह बात शुक्रवार को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह ने केंद्र सरकार द्वारा प्रस्तुत अंतरिम बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कही।
कृषि क्षेत्र और किसानों की बदलेगी तस्वीर
प्रदेश अध्यक्ष श्री राकेश सिंह ने बजट पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा कि केंद्र सरकार का यह बजट देश के कृषि क्षेत्र के साथ-साथ किसानों के लिए भी क्रांतिकारी होगा। सरकार ने पूरे देश में ली जाने वाली 22 फसलों के लिए न्यूनतम समर्थन मूल्य की घोषणा की है। किसान सम्मान निधि के तहत मिलने वाली 6000 रुपए की राशि देश के 12 करोड़ किसानों की आय बढ़ाने तथा उनके जीवन को आसान बनाने में मददगार होगी। श्री सिंह ने कहा कि परंपरागत रूप से हमारी कृषि अर्थव्यवस्था में गौ आधारित रही है। केंद्र सरकार की कामधेनु योजना में गौपालकों को दी जाने वाली 500 रुपए की राशि किसानों को वापस गौपालन की ओर ले जाएगी, जिससे जैविक कृषि को बढ़ावा मिलेगा। इसके अलावा सरकार ने पशुपालन तथा मछली पालन पर ब्याज में 2 फीसदी सब्सिडी देने की भी घोषणा की है।
मध्यम वर्ग को मिलेगी राहत
श्री सिंह ने कहा कि देश में पहली बार प्रधानमंत्री श्री मोदी की सरकार ने देश के बड़े मध्यम वर्ग के बारे में सोचा है और उसकी तकलीफों को समझते हुए राहत देने का प्रयास किया है। केंद्र सरकार ने आयकर की सीमा को ढाई लाख से बढ़ाकर 5 लाख कर दिया है, जिससे देश के मध्यम वर्ग और विशेषकर नौकरीपेशा वर्ग के 3 करोड़ लोगों को लाभ होगा। उन्होंने कहा कि इस वर्ग के लोगों के लिए यह एक क्रांतिकारी निर्णय है। इसके अलावा स्टेंडर्ड डिडक्शन की सीमा भी बढ़ाई गई है। इन दोनों ही कदमों से मध्यमवर्गीय लोगों को राहत मिलेगी।
असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए संजीवनी
प्रदेश अध्यक्ष श्री सिंह ने प्रस्तावित बजट को देश के असंगठित क्षेत्र के 10 करोड़ श्रमिकों के लिए संजीवनी बताया है। इसके अलावा असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों के लिए 60 वर्ष की आयु पूर्ण होने पर 3000 रुपए प्रतिमाह पेंशन का प्रावधान किया है। 21 हजार रुपए तक मासिक पाने वाले कामगारों को 7 हजार रुपए बोनस दिए जाने का प्रावधान किया है। यही नहीं, बल्कि इस वर्ग के श्रमिकों की असामयिक मृत्यु पर ईपीएफ से मिलने वाले मुआवजे की राशि बढ़ाकर 6 लाख रुपए कर दी है, जिससे सामाजिक सुरक्षा को बढ़ावा मिलेगा। श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार ने श्रमिकों को दी जाने वाली पेंशन में अपना अंशदान बढ़ाकर 14 प्रतिशत कर दिया है।
महिलाओं का होगा सशक्तीकरण
प्रदेश अध्यक्ष श्री सिंह ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री मोदी की सरकार का जोर प्रारंभ से ही महिला सशक्तीकरण पर रहा है। इसका प्रमाण है कि मुद्रा लोन लेने वाले हितग्राहियों में 70 फीसदी महिलाएं हैं। केंद्र सरकार ने देश की 6 करोड़ गरीब गृहिणियों को उज्ज्वला योजना के गैस कनेक्शन देकर धुएं से राहत प्रदान की है और आगामी समय के लिए इसका लक्ष्य 8 करोड़ कनेक्शन रखा गया है। श्री सिंह ने कहा कि सरकार ने बजट में महिला सुरक्षा और सशक्तीकरण के लिए 1330 करोड़ रुपये की राशि प्रस्तावित की है, जिसका लाभ निश्चित रूप से देश की महिलाओं को मिलेगा।
देश के विकास को गति देगा बजट
प्रदेश अध्यक्ष श्री सिंह ने कहा कि केंद्र सरकार का बजट देश के विकास को गति देने वाला है। यही वजह है कि बजट प्रस्तुत किए जाने के तुरंत बाद सेंसेक्स 400 अंक उछल गया। उन्होंने कहा कि इस बजट में रक्षा क्षेत्र के लिए 3 लाख करोड़ का प्रावधान किया गया है, ताकि भारत रक्षा क्षेत्र में एक क्षेत्रीय महाशक्ति और वैश्विक ताकत के रूप में स्थापित हो सके। उन्होंने कहा कि देश के 15-8 लाख गांव सड़क से जुड़ चुके हैं और देश में इन्फ्रास्ट्रक्चर के सुधार के लिए सरकार ने 19 हजार करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। गांवों में रोजगार के अवसर सृजित करने के लिए सरकार ने मनरेगा के अंतर्गत 60 हजार करोड़ का प्रावधान किया है। उन्होंने कहा कि सरकार के ये कदम निश्चित तौर पर देश के आर्थिक विकास को गति देंगे।
प्रदेश अध्यक्ष 2 फरवरी से जबलपुर में
भोपाल। भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष व सांसद श्री राकेश सिंह 2, 3, 4 एवं 5 फरवरी को जबलपुर प्रवास पर रहेंगे। प्रदेश अध्यक्ष 1 फरवरी को विमान द्वारा दिल्ली से जबलपुर के लिए रवाना होंगे एवं 2, 3, 4 एवं 5 फरवरी को जबलपुर में स्थानीय कार्यक्रमों में भाग लेंगे।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की उपस्थिति में हुआ नये स्वरूप में वन्दे मातरम
1 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की उपस्थिति में आज मंत्रालय के समक्ष सरदार वल्लभ भाई पटेल पार्क में राष्ट्रगीत वन्दे मातरम का सामूहिक गायन नये स्वरूप मे सम्पन्न हुआ। इस अवसर पर राष्ट्रगान जन-गण-मन का सामूहिक गायन भी सम्पन्न हुआ। बढ़ी संख्या में जनसामान्य ने पहले शौर्य स्मारक पर पुष्पांजलि अर्पित की, फिर पुलिस बैंड के साथ मंत्रालय तक मार्च किया। पुलिस बैंड निरंतर देशभक्ति के गीतों की धुनें बजाता हुआ वल्लभ भवन की ओर अग्रसर होता रहा । शौर्य स्मारक से आरंभ हुए मार्च में सामान्य प्रशासन, सहकारिता तथा संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, विधि-विधायी कार्य एवं जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी.शर्मा तथा खेल एवं युवा काल्याण तथा उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी भी सम्मिलित हुए। नये स्वरूप में आरंभ हुए वन्दे मातरम् कार्यक्रम के लिए प्रात: 10:00 बजे से ही शौर्य स्मारक पर जनसामान्य का एकत्र होना आरंभ हो गया था। इस अवसर पर उपस्थित मंत्रीगण तथा अन्य गणमान्य नागरिकों द्वारा शौर्य स्मारक पर पुष्प अर्पित करने के बाद बढ़ी संख्या में एकत्र लोग पुलिस बैंड के साथ वल्लभ भवन स्थित सरदार पटेल पार्क की ओर अग्रसर हुए। पुलिस बैंड द्वारा ''नन्हा मुन्ना राही हूँ'' और ''कदम कदम बढ़ाये जा- खुशी के गीत गाये जा'' जैसे देशभक्ति पूर्ण तरानों की धुनें पूरे मार्ग में प्रस्तुत की गईं। राष्ट्रीय भावना से ओतप्रोत जनसमुदाय पूरे उत्साह से सरदार पटेल पार्क की ओर अग्रसर हुआ। सरदार पटेल पार्क को वन्दे मातरम् कार्यक्रम के लिए विशेष रूप से सजाया गया था। मध्यप्रदेश पर्यटन द्वारा कार्यक्रम के लिए फूड कोर्ट की व्यवस्था भी की गई थी। मुख्यमंत्री श्री कमल-नाथ की उपस्थिति में सरदार पटेल पार्क में राष्ट्रगीत वन्दे मातरम् ओर राष्ट्रगान जन-गण-मन का गायन हुआ। इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री एस.आर.मोहन्ती, अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग श्री विनोद सेमवाल, अपर मुख्य सचिव वन श्री के.के.सिंह, अपर मुख्य सचिव ऊर्जा श्री आई.सी.पी.केसरी सहित बड़ी संख्या में मंत्रालय, विंध्याचल तथा सतपुड़ा भवन के अधिकारी/कर्मचारी उपस्थित थे।

चुनावी साल में जुमलों भरा बजट : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
1 February 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने केन्द्र सरकार द्वारा आज प्रस्तुत अंतरिम बजट पर अपनी प्रतिक्रिया देते हुए जुमलों भरा बजट बताया। उन्होंने कहा कि लोकसभा के चुनाव को देखते हुए यह बजट बनाया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि दो हेक्टेयर तक की जोत वाले किसानों को 6000 रूपये सालाना देने का जो वादा किया है, वह बहुत कम है। इसका मतलब उन्हें हर महीने पाँच सौ रूपये मिलेंगे और हर दिन साढ़े सोलह रूपये पड़ेंगे। यह बहुत कम है। उन्होंने कहा कि किसानों को सबसे बड़ी राहत तब मिलती, जब उनका कर्जा केन्द्र सरकार माफ कर देती। श्री कमल नाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार किसानों का कर्जा माफ करके उन्हें सबसे बड़ी राहत दे रही है। श्री कमल नाथ ने कहा कि केन्द्र सरकार ने वादा किया था कि हर नागरिक के खाते में 15 लाख रूपये आयेंगे और 2 करोड़ लोगों को रोजगार मिलेगा। दोनों वादे झूठे निकले। उन्होंने कहा कि साढ़े चार साल में भारत के इतिहास में बेरोजगारों की संख्या सबसे ज्यादा बढ़ी है। श्री कमल नाथ ने कहा कि मध्यप्रदेश में युवा स्वाभिमान योजना द्वारा शहरी गरीब युवाओं को रोजगार देने की शुरूआत की जा रही है। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने प्रधानमंत्री श्रम योगी मानधन का हवाला देते हुए 29 वर्ष की आयु से पेंशन योजना से जुड़कर 100 रूपये प्रतिमाह जमा कर 60 साल की उम्र में प्रति माह 3000 रूपये पेंशन देने की घोषणा पर कहा कि जब तक हितग्राहियों को पेंशन मिलेगी, तब तक महँगाई इतनी ज्यादा बढ़ चुकी होगी कि पेंशन की राशि का वास्तविक मूल्य एक हजार गुना तक कम हो जायेगा। इसलिये यह पेंशन योजना सिर्फ दिखावा है। उन्होंने कहा कि बजट में गैर-कृषि भूमि मजदूरों के लिये कोई प्रावधान नहीं किया गया है।

वंदे मातरम में शामिल हुए जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
1 February 2019
सरदार वल्लभभाई पटेल उद्यान में मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ, जनसम्पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विधि एवं विधायी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा , सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, लोक स्वास्थ्य एवं यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी, पर्यटन मंत्री श्री सुरेंद्र सिंह ने नागरिकों के साथ राष्ट्रगीत वंदे मातरम और राष्ट्रगान जन गण मन का गायन किया। इसके पूर्व जनसम्‍पर्क मंत्री श्री शर्मा, सहकारिता मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी पुलिस बैंड और आम नागरिकों के साथ शौर्य स्मारक से शहीदों को पुष्पांजलि अर्पित करने के बाद पैदल मार्च करते हुए वंदे मातरम गायन के लिए वल्लभ भवन पहुँचे।

श्रम मंत्री श्री सिसोदिया द्वारा बीमा चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण
1 February 2019
श्रम मंत्री श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने आज यहाँ सोनागिरी क्षेत्र में संचालित कर्मचारी राज्य बीमा चिकित्सालय का आकस्मिक निरीक्षण किया l चिकित्सालय में अव्यवस्थाओं पर नाराजगी व्यक्त करते हुए उन्होंने एक कर्मचारी को निलंबित करने और एक चिकित्सक को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिए। श्रम मंत्री श्री सिसोदिया ने कहा कि संगठित क्षेत्रों में काम करने वाले कामगारों के लिए प्रदेश में राज्य बीमा कर्मचारी निगम द्वारा संचालित सभी चिकित्सालयों में बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएँ मुहैया करवाई जाएंगी। उन्होंने चिकित्सालय में निरीक्षण के दौरान 2 करोड़ 8 लाख रुपये लागत के रिनोवेशन कार्यों की धीमी प्रगति पर नाराजगी व्यक्त की। श्री सिसोदिया ने निर्देश दिये कि सभी वार्डों में दरवाजों और खिड़कियों पर मच्छर जाली आवश्यक रूप से लगाई जाये। उन्होंने चिकित्सालय परिसर में वाटर कूलर लगाने और चिकित्सालय में बंद बड़ी सोनोग्राफी मशीन चालू कराने के लिये शीघ्र ही रेडियोलॉजिस्ट की नियुक्ति करने के निर्देश दिये। चिकित्सालय की अधीक्षक डॉक्टर सत्यवती हेमान्द्री को वार्ड बॉय और अन्य रिक्त पदों की डिमांड भेजने के निर्देश दिये। श्रम मंत्री ने निरीक्षण के दौरान चिकित्सालय के ओपीडी, स्टोर रूम, कीचिन शेड, सर्जिकल वार्ड, नेत्र चिकित्सा वार्ड, महिला वार्ड आदि का भ्रमण किया। उन्होंने वार्डों में भर्ती मरीजों से चिकित्सालय की व्यवस्थाओं और इलाज के विषय में चर्चा की। श्रम मंत्री ने रसोईघर में अव्यवस्थायें मिलने पर गहरी नाराजगी व्यक्त करते हुए रसोईघर इंचार्ज विनीत विल्सन को तत्काल प्रभाव से निलंबित करने तथा इंचार्ज चिकित्सक डॉ. सी.एम. केसरी को कारण बताओ नोटिस जारी करने के निर्देश दिये। उन्होंने केन्द्रीय लोक निर्माण विभाग के कर्मचारियों को रिनोवेशन का कार्य शीघ्र पूर्ण कराने और आगामी दस दिनों में प्रगति रिपोर्ट प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मंडल का निरीक्षण श्रम मंत्री श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने म.प्र. भवन एवं अन्य संनिर्माण कर्मकार मंडल कार्यालय का भी निरीक्षण किया। उन्होंने कर्मकार मंडल में संचालित योजनाओं और कार्यक्रमों के विषय में सचिव श्री पाठक और अन्य अधिकारियों से जानकारी ली। श्री सिसोदिया ने कहा कि मंडल द्वारा संचालित सभी योजनाओं और कार्यक्रमों का संचालन प्रभावी ढंग से किया जाये। उन्होंने कर्मचारियों से उनकी समस्याओं और कार्य-प्रक्रिया के बारे में विस्तार से चर्चा की।

मंत्री श्री अकील ने किया करोंद चिकित्सालय का निरीक्षण
1 February 2019
भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास मंत्री श्री आरिफ अकील ने आज शासकीय गैस राहत चिकित्सालय, करोंद का निरीक्षण किया। उन्होंने पंजीयन रजिस्टर की जाँच की। श्री अकील ने दवा वितरण केन्द्र पर उपलब्ध दवाइयों की जानकारी ली और साफ-सफाई की व्यवस्था चाक-चौबंद रखने के निर्देश दिये। मंत्री श्री अकील ने चिकित्सालय में पेयजल कनेक्शन उपलब्ध करवाने और रात में भी एक डाक्टर की ड्यूटी लगाने को कहा। उन्होंने पैथालॉजी लैब में जाँच की स्थिति की जानकारी भी ली। इस मौके पर भोपाल गैस पीड़िता महिला उद्योग संगठन के संयोजक अब्दुल जब्बार खान सहित स्वास्थ्य और नगर निगम के अधिकारी मौजूद थे। मंत्री श्री अकील ने जीवन-ज्योति कॉलोनी का किया निरीक्षण मंत्री श्री आरिफ अकील आज करोंद स्थित जीवन ज्योति कॉलोनी भी पहुँचे और स्थानीय नागरिकों की समस्याएँ सुनकर उनका अधिकारियों को तत्काल निराकरण करने के निर्देश दिये। मंत्री श्री अकील ने कॉलोनी में स्थानीय नागरिकों के लिये स्वास्थ्य कैम्प लगाने और अगले ‍िदन ही स्वास्थ्य परीक्षण की रिपोर्ट प्रस्तुत करने को कहा। श्री अकील ने साफ-सफाई की व्यवस्था दुरूस्त करने और सड़क निर्माण के लिये निर्देशित किया।

खेलों में भी भविष्य निर्माण की अपार संभावनाएँ : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
31 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज यहाँ सर्वपल्ली राधाकृष्णन विश्वविद्यालय की 8 दिवसीय स्पोर्टस लीग का मशाल जला कर शुभारंभ किया। इस अवसर पर आर.के.डी.एफ कॉलेज की क्रिकेट ट्राफी का अनावरण भी किया गया। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने खिलाड़ियों से कहा कि खेल की दुनिया में भी उज्जवल भविष्य के निर्माण की अपार संभावनाएँ हैं। उन्होंने विश्वविद्यालय की गतिविधियों की सराहना की। श्री शर्मा ने खिलाड़ियों को शुभकामनाएँ भी दी।

इलेक्ट्रॉनिक काँटों से 20 लाख मी. टन धान की रिकार्ड खरीदी : मंत्री श्री तोमर
31 January 2019
खाद्य, नागरिक आपूर्ति और उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्दुमन सिंह तोमर ने बताया है कि प्रदेश में इस वर्ष समर्थन मूल्य पर धान की 20 लाख मीट्रिक टन से अधिक रिकार्ड खरीदी की गई है। इसके एवज में 3 लाख 61 हजार 690 किसानों के बैंक खातों में 3634 करोड़ 69 लाख रूपये की राशि जमा कराई गई है। इस वर्ष की गई धान की खरीदी पिछले 6 वर्षों में सर्वाधिक है। राज्य शासन द्वारा समर्थन मूल्य पर धान खरीदी के लिए प्रदेश में 951 केन्द्र बनाये गये। नागरिक आपूर्ति निगम और मार्कफेड द्वारा इन केन्द्रों पर इलेक्ट्रॉनिक काँटों के माध्यम से धान खरीदी का कार्य किया गया। मंत्री श्री तोमर ने बताया कि किसानों से की गई खरीदी के एवज में 1750 रूपये प्रति क्विंटल के मान से भुगतान की राशि "जस्ट-इन-टाइम" साफ्टवेयर के माध्यम से सीधे किसानों के खातों में जमा कराई गई। मंत्री श्री तोमर ने बताया कि गत 6 वर्षों में इस वर्ष धान की रिकार्ड खरीदी की गई है। उन्होंने बताया‍कि वर्ष 2013-14 में 2 लाख 86 हजार किसानों से 15 लाख 65 हजार मीट्रिक टन, वर्ष 2014-15 में 2 लाख 34 हजार किसानों से 12 लाख 3 हजार मीट्रिक टन, वर्ष 2015-16 में 2 लाख 43 हजार किसानों से 12 लाख 65 हजार मीट्रिक टन, वर्ष 2016-17 में 2 लाख 87 हजार किसानों से 19 लाख 61 हजार मीट्रिक टन और वर्ष 2017-18 में 2 लाख 82 हजार किसानों से 1 लाख 65 हजार मीट्रिक टन धान की खरीदी की गई थी। खरीदी की एवज में किसानों को 2276 करोड़ 25 लाख रूपये राशि का भुगतान किया गया था। इस वर्ष 3634 करोड़ 69 लाख रूपये की राशि का भुगतान किसान भाइयों को सीधे उनके बैंक खातों में किया गया है।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की पहल पर कुंभ मेला जायेंगे 3600 तीर्थ-यात्री
31 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की पहल पर 12 फरवरी से प्रयागराज कुंभ मेला के लिये मुख्यमंत्री तीर्थ-दर्शन योजना के अंतर्गत विशेष ट्रेन रवाना होगी। इसमें रवाना हो रहे 3600 तीर्थ-यात्री कुंभ मेले का पुण्य लाभ ले सकेंगे। हबीबगंज रेल्वे स्टेशन से 12 फरवरी को यात्रा की शुरूआत होगी। बुरहानपुर से 14 फरवरी, शिवपुरी से 22 फरवरी और परासिया से 24 फरवरी को कुंभ मेला के लिये विशेष ट्रेन रवाना होंगी। इनमें भोपाल, विदिशा, सागर, दमोह, बुरहानपुर, खण्डवा, हरदा, जबलपुर, परासिया, शिवपुरी, अशोकनगर, गुना, इटारसी, कटनी, नरसिंहपुर के तीर्थ-यात्री शामिल होंगे। प्रत्येक ट्रेन में तीर्थ-यात्रियों की देख-रेख के लिये दस-दस सुरक्षाकर्मी साथ रहेंगे। यात्रा पाँच दिन की होगी। हबीबगंज से जाने वाली ट्रेन में भोपाल, विदिशा, सागर और दमोह के 900 तीर्थ-यात्री शामिल होंगे। बुरहानपुर से रवाना हो रही ट्रेन में बुरहानपुर-खण्डवा-हरदा-जबलपुर के 900, शिवपुरी-अशोकनगर-कटनी के 900 और परासिया से जाने वाली ट्रेन में परासिया-छिंदवाड़ा-बैतूल-इटारसी-होशंगाबाद-नरसिंहपुर के 900 तीर्थ-यात्री यात्रा में शामिल होंगे। यात्रियों के लिये भोजन, चाय, नाश्ता, रूकने की व्यवस्था और तीर्थ-स्थल तक बसों से ले जाने और लाने के लिये गाइड की व्यवस्था रहेगी। कुंभ जाने वाले तीर्थ-यात्रियों से अपने व्यक्तिगत उपयोग की सामग्री अपने साथ रखने के लिये कहा गया है।

खेलों को बेहतर संसाधन हमेशा प्रोत्साहित करते है - मंत्री श्री पटवारी
31 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा है कि खिलाड़ियों को बेहतर संसाधन हमेशा प्रोत्साहित करते हैं। खिलाड़ी अपने मन और शरीर को तपाकर पदक अर्जित करता है। इसलिये सरकार का कर्त्तव्य है कि उन्हें हर प्रकार की सुविधा मुहैया कराए। श्री पटवारी आज यहाँ छोटे तालाब में आयोजित 29वीं राष्ट्रीय जूनियर एवं सब जूनियर कयाकिंग-कनोईंग प्रतियोगिता का शुभारंभ कर रहे थे। प्रतियोगिता में 17 राज्यों के करीब 300 खिलाड़ी भाग ले रहे हैं। खेल मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि मध्यप्रदेश में वाटर स्पोर्टस की अपार संभावनाएँ हैं। उन्होंने इंदौर के बिलावली तालाब को भी वाटर स्पोर्टस के लिए उपयोगी बनाने में सहयोग देने की बात कही। साथ ही छोटे तालाब में कयाकिंग-कनोईंग के खिलाड़ियों के लिए व्यवस्थित जिम का निर्माण कराने का आश्वासन दिया।

अविष्कार को जन्म देते हैं नए विचार - मंत्री डॉ. चौधरी
31 January 2019
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ.प्रभुराम चौधरी ने कहा है कि बच्चों के नए विचार हमेशा अविष्कार को जन्म देते हैं। इसके लिए जरूरी है कि बच्चों को उनकी प्रतिभा को प्रदर्शित करने के समुचित अवसर उपलब्ध करवाये जायें। अभिभावक और शिक्षक, दोनों ही बच्चे की रूचि को पहनाकर उसे आगे बढ़ने के लिए प्रोत्साहित करें। डॉ. चौधरी सांची में आयोजित तीन दिवसीय राज्य स्तरीय विज्ञान, गणित एवं पर्यावरण प्रदर्शनी के समापन समारोह को संबोधित कर रहे थे। डॉ. चौधरी ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य में बच्चे प्रतिभाशाली हैं और उनमें आगे बढ़ने की ललक है। उनकी प्रतिभा को पहचानकर उन्हें अवसर उपलब्ध कराने होंगे। प्रदर्शनी में बच्चों ने आकर्षक और वर्तमान तथा भविष्य को दृष्टिगत रखते हुए मॉडल प्रदर्शित किए हैं। सांची में इस प्रदर्शनी के आयोजन से रायसेन तथा विदिशा क्षेत्र के बच्चों को भी यह प्रदर्शनी देखने का अवसर मिला और निश्चित ही वह इससे प्रोत्साहित होंगे। उन्होंने कहा कि वर्तमान परिदृश्य को ध्यान में रखकर हमें कृषि क्षेत्र में वैज्ञानिक तरीके से न्यूनतम लागत में अधिकतम उत्पादन के लिये नई-नई खोज करनी चाहिए। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने प्रदर्शनी में बच्चों द्वारा प्रदर्शित मॉडल देखे और उन्हें सराहा। डॉ. चौधरी ने प्रदर्शनी में चयनित मॉडलों और संगोष्ठियों, वाद-विवाद प्रतियोगिता के विजेता छात्र-छात्राओं को पुरस्कार भी वितरित किए।

जलवायु परिवर्तन के लिए जागरूकता आवश्यक : एप्को महानिदेशक श्री राजन
31 January 2019
प्रमुख सचिव पर्यावरण एवं महानिदेशक एप्को श्री अनुपम राजन ने विश्व नमभूमि दिवस पर आयोजित कार्यशाला में कहा कि जलवायु परिवर्तन के लिए जागरूकता आवश्यक है। वन विहार भोपाल के सहयोग से विभिन्न जन-जागरूकता के कार्यक्रम किये जा रहे हैं यह सराहनीय है। इसी श्रंखला में 31 जनवरी को वर्ड लाचिंग की गई, जिसमें विषय-विशेषज्ञ मोहम्मद खलिक ने पक्षियों के विषय में बताया। कार्यक्रम के प्रारंभ में मुख्य वैज्ञानिक अधिकारी डॉ. विनिता विपट ने रामसर साइट के बारे में विस्तार से जानकारी दी। विशेषज्ञ के रूप में श्री अजीत सोनकिया पूर्व आईएफएस अधिकारी एवं डॉ. विपिन व्यास सह-प्राध्यापक बरकतउल्ला विश्वविद्यालय भोपाल द्वारा वैटलैण्ड एवं जलवायु परिवर्तन पर व्याख्यान दिए गए। श्रीमती संगीता राजौरा संचालक वन विहार वन्य प्राणी संरक्षण का महत्व एवं वैटलैण्ड की भूमिका पर विचार व्यक्त किए एवं छात्र-छात्राओं को पर्यावरण संरक्षण के लिए प्रेरित किया। उत्कृष्ट लेखों को 2 फरवरी, 2019 के विश्व वैटलैण्ड दिवस पर पुरस्कृत किया जायगा। श्री जितेन्द्र सिंह राजे वैटलेण्ड प्राधिकरण के सदस्य सचिव व कार्यपालन संचालक एप्को वैटलैण्ड मार्च का शुभारंभ हरी झंडी दिखाकर किया। मार्च सैर-सपाटा भोज वैटलैण्ड के निकट से वन विहार तक की गई। इस अवसर पर विद्यार्थियों के बीच ओपन हाउस क्विज भी की गई। क्विज में पर्यावरण एवं वैटलैण्डस से संबंधित सामान्य प्रश्न पूछे गए एवं सही जबाव देने वाले छात्रों को पुरस्कृत किया गया। अंत में श्री अजय मिश्रा द्वारा आभार व्यक्त किया गया।

मंत्री श्री मरकाम ने किया पारदी एवं गोण्डी क्षेत्र का भ्रमण
31 January 2019
जनजातीय कार्य मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने आज यहाँ पारदी एवं गोण्डी क्षेत्र का भ्रमण किया। बंजारा जाति बहुल इस क्षेत्र की समस्याओं को लेकर उन्होंने अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिये। श्री मरकाम ने गांधी नगर क्षेत्र में नई जेल के पास पारदी, गोण्ड एवं बंजारा बहुल क्षेत्र गोण्डीपुरा का निरीक्षण किया। उन्होंने क्षेत्र में खुले हुए गंदे नाले एवं व्याप्त गंदगी के कारण निवसियों के स्वास्थ्य को लेकर चिंता व्यक्त की। उन्होंने स्थानीय समस्याओं का तत्काल निराकरण के निर्देश दिए।

संचालक करते थे बच्चियों का यौन षोषण और भाजपा सरकार देती थी उस आश्रय गृह को 16 लाख रूपये प्रतिमाह: शोभा ओझा
31 January 2019
प्रदेष कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती शोभा ओझा ने जावरा, रतलाम के कुंदन कुटीर आश्रय गृह से भागी बालिकाओं के मामले में, गिरफ्तार हुए आरोपियों में संघ के कार्यकर्ता की भी गिरफ्तारी को संघ और भाजपा के लोगों का असली चरित्र बताते हुए कहा कि, यह पिछले पंद्रह सालों में भाजपा सरकार द्वारा जारी रहे जंगलराज को ही दर्षाने का एक और उदाहरण मात्र हैै। श्रीमती ओझा ने कहा कि मामले में पाॅस्को ऐक्ट के साथ ही धारा 376 और अन्य धाराओं में जिन चार आरोपियों पूर्व संचालिका रचना भारतीय, ओमप्रकाष भारतीय, सन्देष जैन और संघ के सक्रिय कार्यकर्ता दिलीप बरैया को गिरफ्तार किया गया है, वे लंबे समय से षराब पीकर नाबालिग बच्चियों के साथ मारपीट करने के साथ ही यौन षोषण भी करते थे। ऐसी संस्था को भाजपा की प्रदेष सरकार 16 लाख रूपये महीने की आर्थिक मदद करती थी। वर्षोें तक बिना जंाच के चहेतों को फायदा पहंुचाने के लिए ऐसी संस्था की सरकार द्वारा आर्थिक मदद करते रहना षर्मनाक है। श्रीमती ओझा ने कहा कि पिछले 15 सालों से एक ऐसी असंवेदनषील सरकार सत्ता पर काबिज थी जिसके संरक्षण में ऐसी दानवी संस्थाएॅं फल-फूल रही थीं, जिनमें अपराधी दंडित होने की बजाय सरकार की वित्तीय मदद् का लाभ उठा रहे थे। श्रीमती ओझा ने कहा कि पूर्व में भी होषंगाबाद, बैरागढ़ और भोपाल के ऐसे कई उदाहरण सामने आए थे, जहां मूक-बधिर और नाबालिग बच्चियों के साथ क्रूरता, बलात्कार और आप्राकृतिक दुष्कर्म की घटनाएं र्हुइं थी, जिसका कि प्रदेष कांग्रेस ने पत्रकार-वार्ताओं के माध्यम से समय-समय पर खुलासा किया था लेकिन भाजपा की तत्कालीन गूॅंगी-बहरी सरकार के कान पर जूॅं तक नहीं रेंगी थी। कांग्रेस के दबाव में उसने केवल आधी-अधूरी कार्यवाहियाॅं ही की थी, क्योंकि फंसने वाले भाजपा के चहेते थे। सभी जानते हैं कि बैरागढ़ और भोपाल मे संचालित आश्रय गृहों के कर्ताधर्ता एम.पी. अवस्थी और अष्विनी षर्मा जो कांग्रेस के खुलासे के बाद गिरफ्तार हुए थे, उनके घृणित और पाषविक कृत्यों को कौन वित्त पोषित और संरक्षित कर रहा था? श्रीमती ओझा ने पुलिस अधिकारियों के द्वारा जावरा के आश्रय गृह में घटित घटना के आरोपियों की षीघ्र गिरफ्तारी और आश्रय-गृह को सील करने की त्वरित कार्यवाही पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए अपराधियों को चेतावनी दी है, कि प्रदेष में कांग्रेस की सरकार ऐसे दुष्कृत्यों को किसी भी कीमत पर बर्दाष्त नहीं करने वाली है।
एक फरवरी को नये स्वरूप में वल्लभ भवन पर होगा राष्ट्र गीत ‘वंदे मातरम्’ का गायन: शोभा ओझा
प्रदेष कांग्रेस मीडिया विभाग की अध्यक्ष श्रीमती षोभा ओझा ने कहा कि भोपाल में राष्ट्रगीत ‘वन्दे मातरम्’ का गायन नए स्वरूप में जनता की सहभागिता के साथ गाए जाने की व्यवस्था की गई है। मध्यप्रदेष की कांग्रेस सरकार द्वारा आयोजित इस कार्यक्रम में दिनांक एक फरवरी को इस हेतु पुलिस बैण्ड के साथ राष्ट्रीय भावना को जाग्रत करने वाले गीतों की धुन बजाते हुए षौर्य-स्मारक से 10ः45 बजे प्रारंभ होकर जनसमूह वल्लभ भवन पहुंचेगा। पुलिस बैण्ड के वल्लभ भवन प्रांगण पहुंचने पर राष्ट्रीय गान ‘जनगणमन’ और राष्ट्रगीत ‘वन्दे-मातरम्’ गाया जाएगा। वल्लभ भवन प्रांगण में राज्य षासन के अधिकारी, कर्मचारियों के साथ ही कांग्रेसजन और आम नगरिक भी कार्यक्रम में सम्मिलित होंगे। श्रीमती ओझा ने कहा कि संभाग एवं जिला मुख्यालयों पर भी उक्त कार्यक्रम समारोहपूर्वक आयोजित किया जायेगा।

नगरीय प्रशासन मंत्री जयवधर्न सिंह ने प्रदेश कांगे्रस मुख्यालय में कांगे्रसजनों एवं आम नागरिकों से मुलाकात की उनकी समस्याओं के शीध्र निराकरण के आदेश दिये
31 January 2019
नगरीय प्रशासन मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने आज प्रदेश कांगे्रस कार्यालय पहुंचकर आम जनता एवं कांगे्रसजनों की समस्याऐं सुनी और चुनिंदा मामलों में तत्काल निराकरण के आदेश दिये। श्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि जमीनी स्तर पर काम करने वाले कांगे्रसजनों को न सिर्फ आम जनता से जुड़े हुए असली मुद्दों की बेहतर जानकारी है, बल्कि उसके निराकरण के लिए सरकार को उमदा सुझाव भी देते हैं। श्री सिंह ने कहा कि नगरीय प्रशासन विभाग द्वारा शीघ्र ही नौजवानों को साल में 100 दिन का रोजगार देने की योजना प्रारंभ की जा रही है। एक और वचन निभाते हुए कांगे्रस सरकार मध्यप्रदेश के बेरोजगार नौजवानों को कौशल विकास के साथ-साथ रोजगार से जोड़ने की योजना पर शीघ्र अमल करेगी। श्री सिंह ने प्रदेश कांगे्रस के उपाध्यक्ष संगठन प्रभारी चंद्रप्रभाष शेखर, प्रकाश जैन, महामंत्री राजीव सिंह और मृणाल पंत से संगठनात्मक गतिविधियों और आगामी लोकसभा चुनाव की तैयारियों पर भी चर्चा की। पार्टी के विभिन्न पदाधिकारियों श्री जे.पी. धनोपिया, श्रीमती विभा पटेल, निहाल अहमद, गन्नू तिवारी, गुडडू अनीस आदि ने भी श्री जयवर्धन सिंह द्वारा नगरीय विकास संबंधित कार्यों को तेज गति से किये जाने पर स्वागत करते हुए अपने-अपने सुझाव दिये।
महापुरुषों के व्यक्तित्व की जानकारी नई पीढ़ी में सेवाभाव का संचार करती है
30 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की पुण्य-तिथि पर राजभवन में आयोजित कार्यक्रम में कहा कि स्वतंत्रता संग्राम के संघर्ष की घटनाएँ और महापुरुषों के व्यक्तित्व की जानकारियाँ नई पीढ़ी में सेवाभाव का संचार करती हैं। उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी ने गाँधी जी की दाण्डी यात्रा की स्मृति में 150 करोड़ रुपये लागत के प्रेरणादायी स्मारक का लोकार्पण कर उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित की है। राज्यपाल ने सरदार पटेल के व्यक्तित्व की सराहना करते हुए देश में विश्व में सरदार पटेल की सबसे बड़ी प्रतिमा के निर्माण की महत्ता प्रतिपादित की। राजभवन के डॉक्टर पाठक की विदाई राज्यपाल श्रीमती पटेल ने आज राजभवन में सेवानिवृत्त डॉ. एन.के. पाठक को भावभीनी विदाई दी। उन्होंने डॉ. पाठक की सेवाओं की सराहना की। इस अवसर पर राजभवन के अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।

कृषि उपज मंडियों को सुदृढ़ बनाने में नाबार्ड से सहयोग का आग्रह
30 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) से कृषि उपज मंडियों की व्यवस्थाओं को सुदृढ़ बनाने में सहयोग की अपेक्षा की। आज यहाँ मंत्रालय में राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) के प्रतिनिधि मंडल से चर्चा में उन्होंने राज्य में परस्पर सहयोग के संभावित क्षेत्रों में नाबार्ड की भूमिका पर चर्चा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि ग्रामीण अधोसंरचना निर्माण में नाबार्ड सहयोग कर सकता है। केवल सड़कें नहीं, सामाजिक क्षेत्र में भी सहयोग की भरपूर संभावनाएं है। ग्रामीण क्षेत्रों में पॉलिटेक्निक कॉलेज और प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र को सुदृढ़ बनाने में भी सहयोग किया जा सकता है। मुख्यमंत्री ने प्रारंभिक सहकारी समितियों के कम्प्यूटरीकरण में भी सहयोग का आग्रह किया, ताकि सहकारिता के कामकाज में पारदर्शिता आये। उन्होंने नाबार्ड अधिकारियों से कहा कि किसानों ने अपनी मेहनत से खाद्यान्न उत्पादन बढ़ाया है। इससे खाद्यान्न भंडारण और प्रबंधन का नया क्षेत्र खुला है। इसमें भी नाबार्ड की भूमिका हो सकती है। नाबार्ड प्रतिनिधि मंडल ने मुख्यमंत्री को स्टेट क्रेडिट सेमिनार में भाग लेने के लिए आमंत्रित किया। सेमीनार फरवरी के दूसरे सप्ताह में आयोजित होगा, जिसमें वर्ष 2019 -20 के लिए एक लाख 73 हजार करोड़ रुपये का राज्य क्रेडिट प्लान जारी किया जाएगा। नाबार्ड ने मुख्यमंत्री को वर्ष 2018-19 में अच्छा प्रदर्शन करने वाले स्व-सहायता समूहों के उत्पाद भेंट किये। उल्लेखनीय है कि नाबार्ड स्व-सहायता समूहों के अलावा 1300 किसान उत्पाद कंपनियों को भी प्रोत्साहित कर रहा है। मुख्यमंत्री को छिंदवाड़ा जिले के तामिया ब्लॉक में काम कर रहे किसान उत्पाद कंपनी 'फलम' के उत्पाद भेंट किये गये। प्रमुख सचिव वित्त श्री अनुराग जैन, नाबार्ड के जनरल मैनेजर डॉक्टर डी एस चौहान, जनरल मैनेजर सुश्री एम खेस और उप महाप्रबंधक श्री गौतम कुमार सिंह इस मौके पर उपस्थित थे।

निराश्रित गौ-वंश के लिये गौ-शाला खोलने के निर्णय परआचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को दिया आशीर्वाद
30 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने निराश्रित गौ-वंश के लिये एक हजार गौ-शालाएँ खोलने के निर्णय पर अपना आशीर्वाद दिया है। आचार्य श्री का यह संदेश लेकर आज ब्रह्मचारी बहन डॉ. नीलम जैन, सुश्री रेखा जैन एवं श्री प्रेयश कुमार जैन ने मुख्यमंत्री से मुलाकात की। आचार्य विद्यासागर महाराज ने अपने आशीर्वाद संदेश में इस बात पर खुशी जाहिर की कि इससे मूक-पशु गाय का संरक्षण होगा। उन्हें आश्रय मिलेगा। उन्होंने मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के इस निर्णय को प्रेरक बताया। आचार्य श्री विद्यासागर महाराज ने मुख्यमंत्री को सागर जेल में कैदियों के लिये बनाए विशेष प्रशिक्षण सेल के शुभारंभ कार्यक्रम में भी आमंत्रित किया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निराश्रित गौ-वंश के लिये गौ-शालाएँ खोलने के निर्णय की पूरे प्रदेश में व्यापक सराहना हुई है। गौ-शालाओं के संचालकों को मुख्यमंत्री की इस पहल से उम्मीद हुई है कि प्रदेश में गो-धन और वंश की रक्षा हो सकेगी। सराहनीय और संघर्षमय पहल : महंत स्वामी ऋषभ देवानंद - श्री कृष्णायन संस्था ग्वालियर ग्वालियर के लाल टिपारा में नगर निगम की गौ-शाला में 7 हजार गौ-वंश की देखभाल कर रही श्री कृष्णायन संस्था के महंत स्वामी ऋषभ देवानंद ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ की पहल सराहनीय और संघर्षमय पहल है। उन्होंने सुझाव दिया कि गौ-वंश के संरक्षण के लिए गोचर की व्यवस्था और प्रबंधन के साथ ही इस काम में सेवाभावी संतों को जोड़ा जाये, तो मुख्यमंत्री अपने प्रोजेक्ट गौ-शाला को साकार कर सकेंगे। अच्छी सोच के साथ सकारात्मक पहल : रवि सेठी संचालक अहिल्या माता गौ - शाला इंदौर इंदौर में अहिल्या माता गौ-शाला संचालित करने वाले श्री रवि सेठी ने कहा कि वे वर्षों से गौ-संरक्षण एवं गौ-उत्पाद के क्षेत्र में सेवा की भावना से काम कर रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने गौ-संरक्षण और निराश्रित गायों के लिये जो कदम उठाया है वह अच्छी सोच के साथ सकारात्मक पहल है। उनके इस अभियान में अहिल्या माता गौ-शाला पूरा सहयोग प्रदान करेगी। प्रयास साकार होंगे और गौ-धन की रक्षा होगी - उत्तम यादव राधा रानी गौ-शाला, छतरपुर छतरपुर जिले के ग्राम पंचायत कुर्रा पट्टी के ग्राम सपन पट्टी में राधारानी गौ-शाला संचालित करने वाले श्री उत्तम यादव ने कहा कि मुख्यमंत्री के इस निर्णय से गौ-माता के संरक्षण के प्रयास न केवल साकार होंगे बल्कि गौ-धन की रक्षा हो सकेगी। श्री यादव ने बताया कि उनकी 11 लोगों की समिति वर्तमान में 30-35 गायों का पालन कर रही है।

मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी को श्रद्धांजलि दी
30 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की पुण्यतिथि शहीद दिवस पर उनकी प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित कर श्रद्धांजलि दी। श्री नाथ ने मिंटो हाल परिसर में स्थित गाँधी जी की प्रतिमा के समक्ष ठीक पूर्वान्ह 11.00 बजे 2 मिनट का मौन रखकर उनका स्मरण किया। इस मौके पर जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा सहित बड़ी संख्या में जन-प्रतिनिधि एवं नागरिक उपस्थित थे।

महिलाओं और बच्चों के खिलाफ यौन हिंसा पर सख्ती से अंकुश लगाया जाएगा
30 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि यौन हिंसा की शिकार महिलाओं और बच्चों को न्याय दिलाने और इस घिनौने अपराध पर सख्ती से अंकुश लगाने के लिऐ सरकार शीघ्र ही रणनीति तैयार करेगी। श्री नाथ ने आज निवास पर राष्ट्रीय गरिमा अभियान के बैनर पर 'गरिमा यात्रा' पर निकले दल से मुलाकात करते समय यह जानकारी दी। राष्ट्रव्यापी यात्रा पर निकले इस दल का उद्देश्य पीड़ित महिलाओं और बच्चियों में जागरूकता पैदा करने के साथ न्याय की लड़ाई लड़ना है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि सभ्य समाज में महिलाओं और बच्चियों के प्रति अत्याचार की घटनायें शर्मनाक हैं। उन्होंने कहा कि सरकार के साथ समाज की भागीदारी से हम इस समस्या का समाधान कर सकते हैं। उन्होंने राष्ट्रीय गरिमा अभियान द्वारा इस दिशा में की गई पहल सराहना की। मुख्यमंत्री ने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार महिलाओं और बच्चियों की सुरक्षा के लिए प्रतिबद्ध है। पीड़ितों को शीघ्र न्याय दिलाने के लिये राज्य सरकार सुनियोजित प्रयास कर रही है। उन्होंने राष्ट्रीय गरिमा अभियान दल से सरकार के साथ सहयोग की अपेक्षा की। राष्ट्रीय गरिमा अभियान की राष्ट्रव्यापी यात्रा 20 दिसम्बर 2018 को मुंबई से शुरू हुई थी। यह यात्रा 22 फरवरी 2019 को दिल्ली में समाप्त होगी। राष्ट्रीय गरिमा अभियान की यह यात्रा देश के 24 राज्य के 200 जिलों से गुजरेगी और दस हजार किलोमीटर की दूरी तय करेगी। इस मौके पर राष्ट्रीय गरिमा यात्रा के संयोजक श्री आशिफ शेख, श्री सादिक आगवान, सुश्री उर्मिला देवी, सुश्री शांति प्रजापति, सुश्री दुर्गा, सुश्री रेखा चौहान, श्री राजेन्द्र मेवाड़ा और श्री समीर तावेर उपस्थित थे।

कुष्ठ रोग छूआछूत की बीमारी नहीं - जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
30 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने आज यहाँ शासकीय कमला नेहरू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय में कुष्ठ रोग को जड़ से मिटाने के लिए विद्यार्थियों को संकल्प दिलाया। उन्होंने कहा कि कुष्ठ रोग भी अन्य बीमारियों की तरह ही है, जिसे उपचार द्वारा ठीक किया जा सकता है। यह छूआछूत या संक्रमण की बीमारी नहीं है। श्री शर्मा ने इस अवसर पर छात्राओं को इस दिशा में उत्कृष्ट प्रयासों के लिये पुरस्कार भी वितरित किए। जनसम्पर्क श्री शर्मा ने राष्ट्रीय कुष्ठ उन्मूलन कार्यक्रम के अंतर्गत कुष्ठ जागरूकता अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि राष्ट्रपिता महात्मा गांधी ने स्वयं कुष्ठ रोगियों की सेवा की थी। उन्होंने यह संदेश दिया था कि यह रोग किसी को स्पर्श करने से नहीं होता है। श्री शर्मा ने गांधी जी की पुण्यतिथि पर उनका स्मरण करते हुए विद्यार्थियों से कहा कि दूसरों को सीख देने से पहले खुद को उस पर अमल करना चाहिए। यह गांधी जी के मूल सिद्धांतों में शामिल है। जनसम्पर्क मंत्री ने छात्राओं से लगन और समर्पण के साथ अपना कार्य करने का आव्हान किया। कुष्ठ निवारण के लिए दिलाया संकल्प मंत्री श्री शर्मा ने कार्यक्रम में विद्यालय की छात्राओं को संकल्प दिलाया कि सभी कुष्ठ पीड़ित अथवा कुष्ठ मुक्त परिवार से समान व्यवहार रखेंगे। कुष्ठ रोगियों को सम्मान देंगे। उनके साथ किसी प्रकार का भेदभाव नहीं करेंगे। कुष्ठ रोगियों को उपचार दिलाने में सहयोग करेंगे। गांव, प्रदेश और देश को कुष्ठ मुक्त बनाने के लिए सतत् प्रत्यनशील रहेंगे। श्री शर्मा ने स्वास्थ्य विभाग के साथ ही सभी को यह संकल्प भी दिलाया कि वे आगामी एक वर्ष में भोपाल में मौजूद सभी 220 कुष्ठ रोगियों को कुष्ठ मुक्त करेंगे। स्पर्श अभियान का शुभारंभ जनसम्पर्क मंत्री ने विद्यालय में स्पर्श अभियान का भी शुभारंभ किया। उन्होंने कुष्ठ रोगी श्री जावेद और श्री नफीस से हाथ मिलाया। श्री शर्मा ने संदेश दिया कि कुष्ठ रोगियों से हाथ मिलाने या उनके साथ रहने से सामान्य व्यक्ति को कुष्ठ रोग नहीं होता। स्कूली विद्यार्थियों को ब्लैक बोर्ड और कुर्सियों की सौगात कार्यक्रम के संयुक्त आयोजक भोपाल क्लासिक लायंस क्लब द्वारा छात्राओं को दो ब्लैक बोर्ड भेंट किए गए। कार्यक्रम में मौजूद मध्यप्रदेश तृतीय श्रेणी संघ के कार्यकारी अध्यक्ष श्री प्रमोद तिवारी ने छात्राओं के लिए दो सौ कुर्सियां प्रदान करने की स्वीकृति दी।

खेल मंत्री श्री पटवारी से मिले राष्ट्रीय पैरा जूडो खिलाड़ी
30 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी से अन्तर्राष्ट्रीय एवं राष्ट्रीय जूडो खिलाड़ियों ने कोच श्री प्रवीण भटेले के नेतृत्व में सौजन्य भेंट की। पैरा एशियन गेम्स जकार्ता, इंडोनेशिया-2018 की स्वर्ण पदक विजेता कु. पूनम शर्मा तथा राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक हॉसिल करने वाली कु. स्वति शर्मा और कपिल परमार ने खेल मंत्री से उनके अभ्यास स्थान पर बोर्डिंग-डे बोर्डिंग की सुविधा तथा दृष्टि बाधित खिलाडियों को उत्कृष्ट खिलाड़ी घोषित करने का आग्रह किया। मंत्री श्री पटवारी ने खिलाड़ियों को आश्वासन दिया है कि इस संबंध में नीति निर्धारित कर निर्णय लिया जायेगा।

भोपाल में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिये शीघ्र बनेगा स्टेडियम
29 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज भोपाल में अंतर्राष्ट्रीय क्रिकेट मैच के लिये स्टेडियम निर्माण हेतु भोपाल के समीप ग्राम बरखेड़ा नाथू में जमीन का मौका मुआयना किया। उन्होंने कहा कि क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण कार्य शीघ्र शुरू होगा। श्री शर्मा ने स्टेडियम के निर्माण के लिए दस्तावेजों का अवलोकन किया। मंत्री श्री शर्मा ने बताया कि निर्माण कार्य चार चरणों में किया जाएगा। प्रथम चरण पूरा होने पर स्थानीय क्रिकेट खिलाड़ी मैदान पर खेल सकेंगे। श्री शर्मा ने संचालक खेल एवं युवक कल्याण श्री एस.एल. थाउसेन से अपेक्षा जताई कि एक महीने में स्टेडियम की डिटेल प्रोजेक्ट रिपोर्ट (डीपीआर) तैयार हो जाएगी। उन्होंने कहा कि शीघ्र ही खेल एवं युवक कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी के साथ एक बार पुन: संयुक्त रूप से निर्मण स्थल का मौका मुआयना कर प्रशासनिक कार्यवाही को अंतिम स्वरूप प्रदान कर देंगे। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने मौके पर मौजूद ग्रामीणों के द्वारा रोजगार उपलब्ध कराने में प्राथमिकता की माँग पर उन्हें आश्वस्त किया कि स्टेडियम के निर्माण से न केवल स्थानीय ग्रामीणों को रोजगार मिलेगा बल्कि क्षेत्र का तीव्र गति से विकास भी होगा। उन्होंने कहा कि ग्राम बरखेड़ा नाथू में 50 एकड़ की जमीन पर स्पोटर्स कॉम्प्लेक्स का निर्माण भी होगा, जिसमें अंतर्राष्ट्रीय स्तर के क्रिकेट स्टेडियम का निर्माण भी शामिल है। इससे क्षेत्र में विकास के नये रास्ते खुलेंगे और अधिकतम लोगों को रोजगार उपलब्ध होगा। कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े, मध्यप्रदेश क्रिकेट एसोसिएशन के सदस्य श्री अरूणेश्वर सिंहदेव और पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान मौका मुआयना के वक्त मौजूद थे।

कैम्पिंग पॉलिसी में प्रदेश की 80 साइटस का चिन्हांकन पर्यटन मंत्री श्री बघेल
29 January 2019
पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने विभागीय समीक्षा बैठक में कहा है कि पर्यटन के क्षेत्र में एडवेंचर और वॉटर टूरिज्म की गतिविधियों का विस्तार किया जाये। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश टूरिज्म बोर्ड द्वारा कैम्पिंग पॉलिसी में 80 साइटस का चिन्हांकन किया गया है। श्री बघेल ने प्रसिद्ध पर्यटन स्थल माँडू और साँची में जल्दी ही लाइट एण्ड साउण्ड शो शुरू शुरू करने के निर्देश दिये। प्रमुख सचिव, पर्यटन श्री हरि रंजन राव ने बैठक में प्रजन्टेशन में बताया कि टूरिज्म बोर्ड ने कैम्पिंग पॉलिसी तैयार की है। इसमें लगभग 100 और कैम्पिंग साउण्ड का चिन्हांकन होने की संभावना है। उन्होंने बताया कि सिटी वॉक फेस्टिवल के अंतर्गत 11 स्थानों पर सिटी वॉक का सफल आयोजन किया गया। शीघ्र ही माँडू, पचमढ़ी और खजुराहो में गो हेरीटेज रन आयोजित की जायेगी। मध्यप्रदेश अब फिल्म निर्माताओं का पसंदीदा स्थल बनता जा रहा है। वर्तमान में प्रदेश में पॉंच फिल्मों की शूटिंग अलग-अलग स्थान और समय पर चल रही हैं। प्रसाद योजना के तहत ओंकारेश्वर में विभिन्न अधो-संरचना विकास के काम किये जा रहे हैं। बैठक में बताया गया कि विश्व प्रसिद्ध पर्यटन स्थल खजुराहो को आइकॉनिक साइट के रूप में भारत सरकार ने चिन्हांकित किया है। खजुराहो-नई दिल्ली रूट को उड़ान योजना में शामिल किया गया है। यूनेस्को क्रिएटिव सिटी के रूप में भोपाल को म्यूजियम, ग्वालियर को म्यूजिक, चंदेरी को टेक्सटाइल और इंदौर को क्यूजन (Cuisine city) सिटी के रूप में प्रस्तावित किया गया है। बैठक में हेरिटेज संवर्धन एवं हेरिटेज सेक्टर में संभावनाएँ, कैम्पिंग पॉलिसी और विभिन्न सर्किट के अंतर्गत किये जा रहे कार्यों पर केन्द्रित प्रजन्टेशन दिया गया। प्रस्तावित नर्मदा परिक्रमा पर्यटन प्लान पर भी विमर्श किया गया। बैठक में टूरिज्म बोर्ड की अपर प्रबंध संचालक श्रीमती भावना वालिम्बे सहित टूरिज्म बोर्ड और पर्यटन निगम के अधिकारी मौजूद थे।

शहीद दिवस पर पूर्वान्ह 11 बजे प्रदेश में होगा दो मिनिट का मौन
29 January 2019
प्रदेश में शहीद दिवस 30 जनवरी को राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी के बलिदान दिवस और अन्य शहीदों की स्मृति में दो मिनिट का मौन धारण किया जायेगा। सामान्य प्रशासन विभाग ने इस संबंध में समस्त विभागों, कमिश्नरों और कलेक्टरों को निर्देश जारी किये हैं। भारतीय स्वतंत्रता संग्राम में जीवन का बलिदान देने वाले शहीदों को तीस जनवरी को प्रदेश भर में स्मरण करते हुए पूर्वान्ह 11 बजे सभी कार्य और गतिविधियाँ रोककर दो मिनिट का मौन धारण के संबंध में सभी विभागों को विस्तृत निर्देश भेजे गये हैं। मौन धारण के लिये सायरन बजाकर/ सेना की तोप दागकर आवश्यक व्यवस्था भी की जायेगी। शहीद दिवस 30 जनवरी को पूर्वान्ह 10 बजकर 59 मिनिट पर प्रथम सायरन एक मिनिट तक बजाया जायेगा। फिर दो मिनिट के बाद अर्थात 11 बजकर दो मिनिट से 11 बजकर तीन मिनिट तक ऑल क्लियर सायरन बजाया जाएगा। जहाँ भी सायरन उपलब्ध है, यही कार्य विधि अपनाई जायेगी। व्यवहारिक रूप से जहाँ भी संभव हो, दो मिनिट का मौन शुरू होने और समाप्त होने की सूचना दी जायेगी। सिग्नल सुनकर जो व्यक्ति जहाँ उपलब्ध हो, खड़े होकर, मौन धारण करेंगे। अकेले खड़े होने के स्थान पर अधिक व्यक्ति एक ही स्थान पर एकत्र होकर मौन के लिये खड़े हो सकें, तो यह और भी कारगर एवं प्रभावशाली होगा। यदि एक स्थान पर एकट्टे होने से कार्य में अस्त-व्यस्त होने की आशंका हो, तो सबको एक जगह एकत्रित होने की आवश्यकता नहीं है। सामान्य प्रशासन विभाग ने जारी निर्देश में 30 जनवरी को सभी जिलों और शहरों में सायरन की व्यवस्था कर शहीदों की स्मृति में मौन धारण करने के लिये आम नागरिकों के साथ ही औद्योगिक प्रतिष्ठानों, अशासकीय संस्थाओं से भी अनुरोध किया है। विद्यालयों और महाविद्यालयों में सायरन की जगह घण्टी की व्यवस्था की जा सकती है। दैनिक कार्य त्यागकर करें मौन धारण सामान्य प्रशासन विभाग ने कहा है कि कार्यालयों में जब दो मिनिट का मौन रखा जा रहा हो, तब आम लोग अपने दैनिक कार्य को दो मिनिट के लिये त्यागकर इसमें शामिल हों। शहीद दिवस सम्पूर्ण गरिमा के साथ मनाया जाये। मंत्रालय उद्यान में होगा शहीद दिवस शहीद दिवस पर राजधानी भोपाल में मंत्रालय के द्वार क्रमांक-एक के समकक्ष सरदार वल्लभ भाई पटेल उद्यान में पूर्वान्ह 11 बजे मौन धारण किया जायेगा। इसमें वरिष्ठ अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित रहेंगे।

चुनाव में धन-बल का उपयोग रोकने के लिये सघन निगरानी रखी जाये : मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी
29 January 2019
आगामी लोकसभा सामान्य निर्वाचन 2019 की तैयारियों के लिये निर्वाचन व्यय निगरानी तंत्र को मजबूती से लागू करने के लिये उड़नदस्ता दल तथा स्थैतिक निगरानी दल का गठन कर कार्यवाही शुरू की जायें। संवेदनशील निर्वाचन व्यय निगरानी क्षेत्रों का चयन कर, विशिष्ट कार्यवाहियों की जानकारी प्रतिदिन निर्वाचन कार्यालय को उपलब्ध करायें। निर्वाचन व्यय निगरानी के संबंध में मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल. कान्ता राव ने पुलिस विभाग को ये निर्देश दियें। आयकर विभाग को निर्देश दिये कि संदेहास्पद लेन-देन वाले खातों की जांच की जायें। श्री राव ने नोडल अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि एयरपोर्ट/एयरस्ट्रिप/हेलीपेड पर जांच की कार्यवाही हेतु टीम का गठन करें। एयरपोर्ट अथॉरिटी को निर्देशित किया कि एयरपोर्ट/एयरस्ट्रिप/हेलीपेड पर कार्यवाही की सूचनायें, विमानों/चार्टेड प्लेन/हेलीकॉप्टर की आवाजाही की सूचना तथा विस्तृत रिपोर्ट मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी, जिला निर्वाचन अधिकारी एवं आयकर नोडल अधिकारी को उपलब्ध करवाई जायें ताकि निगरानी टीमें कार्यवाही कर सकें। सीआईएसएफ को निर्देशित किया कि इंटेलीजेंस यूनिट के साथ समन्वय कर एयरपोर्ट/एयरस्ट्रिप/हेलीपेड पर चेकिंग की व्यवस्था सुनिश्चित करें। बैठक में निर्देशित किया गया कि राज्य स्तरीय उडनदस्ते बनाकर आबकारी विभाग द्वारा छापे की कार्यवाही की जायें। बैंको को निर्देशित किया कि संदेहास्पद लेन-देन की जानकारी आयकर विभाग को तुरंत उपलब्ध करवायी जायें। परिवहन विभाग को निर्देशित किया कि अवैध वाहनों की सघन चैकिंग की जायें। स्टार प्रचारकों के वाहनों के परमिट जारी करते समय दस्तावेजों की जांच के लिये नोडल अधिकारी की नियुक्ति की जायें। दूरसंचार विभाग को निर्देशित किया कि एसएमएस की दरों का निर्धारण किया जायें। शैडो ऐरिया में वैकल्पिक संचार व्यवस्था - मोबाईल टॉवर्स स्थापित किये जायें। फ्लाईंग स्कॉड, एसएसटी टीमों के वाहनों में जीपीएस सिस्टम को ट्रेक करने तथा सूचनाओं के आदान-प्रदान के लिये मजबूत नेटवर्क की व्यवस्था की जायें। रेलवे विभाग को निर्देशित किया कि निर्वाचन व्यय निगरानी के अंतर्गत रेलवे स्टेशनों पर अवैध सामग्री, मदिरा, अवैध धन, अवैध हथियार की रोकथाम के लिये कार्यवाही की जायें। बैठक में संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री राजेश कौल, पुलिस महानिरीक्षक श्री चंचल शेखर, उप मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री राजेश श्रीवास्तव तथा संबंधित विभागों के नोडल अधिकारी उपस्थित थे।

बीटिंग द रिट्रीट के साथ गणतंत्र दिवस समारोह का समापन
29 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदी बेन पटेल की उपस्थिति में गणतंत्र दिवस समारोह का समापन भोपाल के मोतीलाल नेहरू स्टेडियम में '' बीटिंग द रिट्रीट'' से हुआ । पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्‍ला के मार्गदर्शन में मध्यप्रदेश पुलिस के ब्रास बैण्ड और मास्‍ड बैण्ड ने कन्सर्ट , मार्च पास्ट एवं सामूहिक वादन की आर्कषक प्रस्तुति दी। कार्यक्रम में पुलिस ब्रास बैण्ड द्वारा हिन्दी व अंग्रेजी क्लासिकल धुनों के साथ ही नई एवं पुरानी हिन्दी फिल्मों के 8 गानों पर आकर्षक संगीतमय प्रस्तुति दी गई । दोनों बैण्ड द्वारा मार्चपास्ट करते हुए बैण्डवार सामूहिक प्रस्तुतियाँ दी गईं। श्री सुनील कटारे के नेतृत्‍व में ब्रास बैण्ड और मास्ड बैण्डस द्वारा संगीतमयी प्रस्‍तुतियां दी गयी। पुलिस ब्रास बैण्ड द्वारा बीटिंग द रिट्रीट में निम्न प्रस्तुतियाँ दी गई- कार्यक्रम की समाप्ति में बैण्ड ने सामूहिक प्रस्तुति दी एवं ''सारे जहाँ से अच्छा'' एवं जहाँ डाल डाल पर सोने की चिडि़या गानों की धुन पर मार्चपास्ट किया। राष्ट्रगान के पश्चात आतिशबाजी का आकर्षक कार्यक्रम हुआ। बीटिंग द रिट्रीट सैन्य व अर्ध्द सैन्य बलों की प्राचीन परंपरा है। युद्ध के बाद जब सैन्य टुकड़ियां वापस अपने कैम्पों में आती थी तो युद्ध के तनाव को कम करने के लिए एवं मनोरंजन के लिए बैण्ड वादन का कार्यक्रम रखा जाता था । भारत में इस कार्यक्रम के साथ ही गणतंत्र दिवस के कार्यक्रमों की औपचारिक समाप्ति होती है। इस अवसर पर विशेष पुलिस महानिदेशक श्री के.एन.तिवारी, पुलिस हाउसिंग कार्पोरेशन के चेयरमेन श्री वी.के. सिंह, अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक एस.ए.एफ. श्री विजय यादव सहित अन्‍य अतिरिक्‍त पुलिस महानिदेशक तथा वरिष्ठ अधिकारी, सेवानिवृत्‍त वरिष्‍ठ पुलिस अधिकारी तथा बड़ी संख्या में नागरिकों ने उपस्थित रहकर ''बीटिंग द रिट्रीट '' की संगीतमयी संध्या का आनंद लिया।

अगले चार माह में खुलेंगी 1000 गौ शालाएँ, एक लाख निराश्रित गौ-वंश को मिलेगा आसरा
29 January 2019
राज्य सरकार ने ऐतिहासिक निर्णय लेते हुए अगले चार माह के भीतर 1000 गौ-शालाएँ खोलने का निर्णय लिया है। इसमें एक लाख निराश्रित गौ-वंश की देख-रेख होगी और 40 लाख मानव दिवसों का निर्माण होगा। उल्लेखनीय है कि प्रदेश में अब तक कोई भी शासकीय गौ-शाला नहीं खोली गयी थी । वचन पत्र का एक और वचन पूरा मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज यहाँ मंत्रालय में वचन पत्र का एक और वचन पूरा करते हुए प्रोजेक्ट गौ-शाला को तत्काल पूरा करने के निर्देश दिए। ग्रामीण विकास विभाग प्रोजेक्ट गौ-शाला का नोडल विभाग होगा। ग्राम पंचायत, स्व-सहायता समूह, राज्य गौ-संवर्धन बोर्ड से संबद्ध संस्थाएँ एवं जिला समिति द्वारा चयनित संस्थाएँ प्रोजेक्ट गौ-शाला का क्रियान्वयन करेंगी। निजी संस्थाएँ भी प्रोजेक्ट गौ-शाला में शामिल हो सकेंगी मुख्यमंत्री ने निजी संस्थाओं से भी इस परियोजना में भाग लेने का आग्रह किया। उन्होंने स्वामित्व संचालन और प्रबंधन के आधार गौ-शालाओं के संचालन की सम्भावनाएँ तलाशने के भी निर्देश दिए। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रोजेक्ट गौ-शाला से शहरों और गाँवों में निराश्रित पशुओं द्वारा पहुँचाये जा रहे नुकसान से निजात मिलेगी। निराश्रित पशुओं को घर आश्रय मिलेगा। साथ ही ग्रामीण रोज़गार के भी अवसर निर्मित होंगे। चार माह बाद इन गौ-शालाओं का विस्तार होगा। बैठक में बताया गया कि प्रदेश में 614 गौ-शालाएँ हैं जो निजी क्षेत्र में संचालित है। अब तक एक भी शासकीय गौ-शाला संचालित नहीं है। गौ-शाला प्रोजेक्ट के लिए कलेक्टर की अध्यक्षता में जिला स्तरीय समिति होगी। विकासखंड स्तर की समिति में अनुविभागीय अधिकारी राजस्व अध्यक्ष होंगे। गौ-शाला में शेड, ट्यूबवेल, चारागाह विकास, बायोगैस प्लांट, नाडेप, आदि व्यवस्थाएँ होंगी। फंड की व्यवस्था पंचायत, मनरेगा, एमपी-एमएलए फंड तथा अन्य कार्यक्रमों के समन्वय से होगी। जिला समिति गौ-शालाओं के लिए स्थल चुनेंगी। बैठक में पशुपालन मंत्री श्री लाखन सिंह यादव, कृषि मंत्री श्री सचिन यादव, राजस्व मंत्री श्री गोविन्द सिंह राजपूत, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती और सम्बंधित विभागों के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।

ऊर्जा संरक्षण के उपायों को सरकार प्राथमिकता से लागू करेगी - विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी मंत्री श्री शर्मा
29 January 2019
विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज टेक्नोक्रेट्स इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी-एडवांस (टीआईटी) कॉलेज में "इंमरजिंग टेक्नोलॉजिस इन इंजीनियरिंग एण्ड साइंस'' विषय आधारित दो दिवसीय इंटरनेशनल कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ किया। उन्होंने कॉन्फ्रेंस में आए प्रतिनिधियों से आव्हान किया कि यदि कॉन्फ्रेंस में ऊर्जा को संरक्षित करने पर विचार मंथन कर संरक्षण संबंधी उपाय निष्कर्ष स्वरूप आते हैं, तो सरकार उन्हें प्राथमिकता से लागू करने के प्रयास करेगी। श्री शर्मा ने अपने संबोधन में कहा कि इंजीनियरिंग और विज्ञान में उभरती हुई नवीन तकनीकों का विकास में अहम योगदान है। इन तकनीकों के विकास के साथ ही एक बेहतर वातावरण, सुसंस्कृत और शांति प्रिय सामाजिक माहौल को बनाये रखना भी आज की आवश्यकता है। इंजीनियरिंग के छात्र जीवन में प्रत्येक कार्य को सफलतापूर्वक अंजाम तक पहुँचाने में सक्षम होते हैं। उन्होंने क्रिकेट के इरापल्ली प्रसन्ना और वेंकटराघवन जैसे गेंदबाजों के उदाहरण देते हुए कहा कि वे भी इंजीनियर होने के बाद भी गेंद को स्पिन कराते हुए बल्लेबाजों को बोल्ड आउट करते थे। श्री शर्मा ने टीआईटी के ग्रुप चेयरमेन डॉ. आर.आर. करसोलिया को आश्वस्त किया कि विद्यार्थियों के हित में चलाये जाने वाले कार्यक्रमों में सरकार हर संभव मदद के लिए सदैव तत्पर है। कॉन्फ्रेंस को राजीव गांधी प्रौद्योगिकी विश्वविद्यालय के वाइस चांसलर प्रो. सुनील कुमार गुप्ता ने भी संबोधित किया। इस अवसर पर जर्मनी के रिसर्च स्कालर एवं प्रो. डॉ. एस. डीकोवैन, डॉ. हेल्मूट ग्लॉक और डॉ. बर्नार्ड ग्लूक भी उपस्थित थे।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने फसल ऋण माफी योजना के क्रियान्वयन का जायजा लिया
29 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज ग्राम पंचायत बाग मुगालिया छाप में 'जय किसान फसल ऋण माफी योजना'' की क्रियान्वयन संबंधी प्रक्रिया का अवलोकन किया। उन्होंने ग्राम पंचायत भवन में ऋण माफी के लिए भरवाए जा रहे प्रपत्रों का अवलोकन किया। श्री शर्मा ने ग्राम पंचायतों में किसानों से चर्चा की। उन्होंने पूछा कि उन्हें योजना के फार्म भरने में दिक्कतों का सामना तो नहीं करना पड़ रहा हैं। कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े ने कृषकों के उत्तर देते संतुष्ट किया। श्री शर्मा ने किसानों से पंजीयन संबंधी मैसेज मोबाइल पर प्राप्त होने की पड़ताल की। उन्हें बताया गया कि मोबाइल पर मैसेज प्राप्त हो रहे हैं। श्री शर्मा ने स्वयं पंजीयन संबंधी मैसेज कृषकों को दिखाया। उन्होंने कहा कि प्रक्रिया के तहत किसानों के ऋणों को माफ किया जा रहा है। फरवरी माह की 22 तारीख से किसानों के खातों में राशि जमा होना प्रारंभ हो जाएगी। बाग मुगालिया छाप में खुलेगा पंजीयन केन्द्र जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा को बाग मुगालिया छाप के कृषकों द्वारा सरकारी समिति का केन्द्र ग्राम कोड़िया में होने से उन्हें हो रही दिक्कतों से अवगत कराया गया। कृषकों ने बताया कि कोड़िया की समिति में 17 गांव के कृषक अपनी फसलों का पंजीयन भी कराते है और तुलावटी संबंधी कार्य होने से समस्या का सामना करता पड़ता है। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कलेक्टर डॉ. सुदाम खाड़े को बाग मुगालिया छाप में नवीन पंजीयन केन्द्र खोलते हुए आसपास गांव को जोड़ने के निर्देश दिए। मंदिर की दीवार का भूमिपूजन जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने बाग मुगालिया छाप में शिव मंदिर की दीवार के निर्माण हेतु भूमिपूजन किया। उक्त निर्माण कार्य तीन लाख 40 हजार रूपए की लागत से किया जा रहा है। सरपंच को बैठाया मुख्य कुर्सी पर जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने ग्राम पंचायत भवन में सरपंच श्री लीलाकिशन पाटीदार को मुख्य कुर्सी पर बैठाया। वे स्वयं सरपंच के पास कुर्सी पर बैठे। श्री शर्मा ने कहा कि यह मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की सरकार हैं। प्रदेश सरकार पंचायतों को सशक्त बनाना चाहती है।

कॅरियर अवसर मेले केवल औपचारिकता नहीं बनें, रोजगार भी दिलवायें
29 January 2019
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने आज यहाँ स्वामी विवेकानंद कॅरियर मार्गदर्शन योजना के तहत दो-दिवसीय कॅरियर अवसर मेले का शुभारंभ करते हुए कहा कि उच्च शिक्षा और रोजगार एक बड़ी चुनौती है। देश उन्नतशील है, परंतु रोजगार घट रहा है। यह विसंगति दूर करना सबकी संयुक्त जिम्मेदारी है। माँग और आपूर्ति में समन्वय आवश्यक है। उन्होंने कहा कि कॅरियर मेले केवल औपचारिका बनकर नहीं रह जायें। इससे ठोस धरातल पर बेरोजगारों को रोजगार भी दिलवायें। श्री पटवारी ने कहा कि हमें देखना होगा कि उच्च शिक्षा का पाठ्यक्रम आज की प्रतियोगी प्रतिस्पर्धा को पूर्ण करता है या नहीं? इस व्यवस्था में बदलाव लाना जरूरी है। कॅरियर मेले के मार्गदर्शन से विद्यार्थियों को सही दिशा मिलेगी। उच्च शिक्षा मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री की मंशानुसार शहरी बेरोजगारों को मनरेगा की तर्ज पर युवा स्वाभिमान योजना से एक वर्ष में 100 दिवस का रोजगार सुनिश्चित करने के लिये नीति तैयार की जा रही है। प्रमुख सचिव, उच्च शिक्षा श्री नीरज मण्डलोई ने कहा कि प्रतियोगी परीक्षाओं के पाठ्यक्रमों को विश्वविद्यालयीन पाठ्यक्रमों में शामिल किये जाने की आवश्यकता है। इस सोच पर कार्य किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि शासन का प्रयास है कि विद्यार्थियों को महँगी कोचिंग के लिये परेशान नहीं होना पड़े। सामान्य परिषद की बैठक सम्पन्न उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी की अध्यक्षता में आज उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान, भोपाल की सामान्य परिषद की बैठक सम्पन्न हुई। बैठक में कन्या छात्रावास के मैनेजर एवं परिचारक के मानदेय वृद्धि, मानसेवी शिक्षकों के मानदेय, संस्थान में आउटसोर्सिंग सेवाएँ तथा सत्र 2019-20 से बीएससी फॉरेंसिक साइंस, बी.कॉम. कम्प्यूटर एप्लीकेशन और बी.कॉम. टेक्सेशन के विषय के अतिथि शिक्षकों के मानदेय तथा पाठ्यक्रम के नियमित संचालन पर विस्तृत चर्चा की गई। बैठक में उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान की प्रभारी संचालक डॉ. मीरा पिंगले तथा विभिन्न विभागों के अधिकारी उपस्थित थे। मेले का आयोजन उच्च शिक्षा उत्कृष्टता संस्थान तथा सरोजनी नायडू शासकीय कन्या महाविद्यालय के संयुक्त तत्वावधान में किया जा रहा है। आज मेले में संस्थान परिसर में लगभग 70 स्टॉल लगाये गये। दो-दिवसीय कॅरियर मेले में वर्धमान, ल्यूपिन, अज़ीज़ प्रेमजी, जोमेटो जैसी बड़ी कम्पनियाँ सहभागिता कर रही हैं।

किसान और युवा कल्याण सरकार की प्राथमिकता : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
28 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि राज्य सरकार का नजरिया एकदम साफ है। किसान और युवा कल्याण राज्य सरकार की प्राथमिकता है। श्री नाथ ने आज यहाँ समन्वय भवन में आयोजित यादव महासभा में ये विचार व्यक्त किये। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने पूर्व उप मुख्यमंत्री स्वर्गीय सुभाष यादव का स्मरण करते हुए समन्वय भवन का नामकरण स्व. यादव के नाम पर करने की घोषणा की। मुख्यमंत्री ने कहा कि यादव समाज का गौरवपूर्ण इतिहास है। उन्होंने यादव समाज को सांस्कृतिक क्रियाकलापों के लिये भूमि आवंटन का आश्वासन दिया। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश के विकास के लिये नये दृष्टिकोण के साथ कृषि क्षेत्र पर ध्यान देना होगा। अर्थ-व्यवस्था को मजबूत बनाने के लिये किसान की क्रय शक्ति को बढ़ाना होगा। उन्होंने कहा कि किसान कर्ज माफी की 55 हजार करोड़ रूपये की योजना पहले से ही तैयार थी, जिस पर कार्य प्रारंभ कर दिया गया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले दिनों में 35 लाख किसानों की ऋण माफी की कार्रवाई पूरी हो जायेगी। उन्होंने कहा कि यदि आम आदमी की जिन्दगी में परिवर्तन नहीं हो रहा है, तो आर्थिक और व्यवसायिक गतिविधियों को बढ़ाने के लिये निवेश को बढ़ाना जरूरी है। मूलभूत सुविधाओं में किये गये निवेश से भी रोजगार के अनेक नये अवसर बनते हैं। श्री कमल नाथ ने कहा कि देश-दुनिया में युवा वर्ग बदल गया है। आधुनिक संचार सुविधाओं से जुड़े इस वर्ग की नयी आशाएँ और आकांक्षाएँ हैं। उनके लिये सुरक्षित भविष्य का निर्माण, व्यवसाय और रोजगार के नये अवसर उपलब्ध कराना और भारतीय मूल्यों के साथ जुड़ाव को मजबूत बनाना वर्तमान समय की चुनौती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की महानता का आधार उसकी संस्कृति तथा सामाजिक और आध्यात्मिक मूल्य हैं। पूरी दुनिया भारत की विभिन्नताओं में एकता से प्रभावित है, सम्मान से हमारे देश की ओर देखती है। उन्होंने कहा कि धर्म, भाषा, परम्पराओं, खान-पान और पहनावे में विभिन्नताओं वाला दुनिया का अकेला हमारा देश है। सोवियत संघ भी विभिन्नताओं वाला देश था, जो बिखर गया। हमारे देश की इस ताकत का आधार है भारतीय सामाजिक मूल्य और आध्यात्मिक सांस्कृतिक परम्पराएँ। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने यादव समाज का आव्हान किया कि भारतीय आध्यात्मिक मूल्यों के संरक्षण के लिये कार्य करें। इस अवसर पर कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव, किसान कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन यादव, यादव, महासभा के अध्यक्ष श्री योगेन्द्र सिंह, श्री दामोदर सिंह और वरिष्ठ सदस्य श्री भगवान सिंह सहित अन्य जन-प्रतिनिधि, महासभा के पदाधिकारी और बड़ी संख्या में सदस्य उपस्थित थे।

बच्चों के विरूद्ध अपराध रोकने सजग है राज्य सरकार : मंत्री श्री शर्मा
28 January 2019
विधि एवं विधायी, जनसम्‍पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा है कि बच्चों के विरूद्ध अपराधों को रोकने के लिए राज्य सरकार सजग है। इन अपराधों में लिप्त अपराधियों को तुरंत दंडित कराने के लिए सरकार फास्ट ट्रेक कोर्ट के माध्यम से सुनवाई की पहल करने जा रही है। श्री शर्मा ने आज यहाँ बीएसएस कॉलेज में बाल यौन शोषण के खिलाफ 20 जनवरी से चल रहे जागरूकता अभियान के समापन अवसर पर यह जानकारी दी। इस अवसर पर मंत्री श्री शर्मा ने पुस्तक 'मेरा शरीर! यहाँ मेरी मर्ज़ी चलेगी!'' और न्यूज लेटर 'मध्यप्रदेश दर्पण'' का विमोचन किया। विधि एवं विधायी मंत्री श्री शर्मा ने बाल यौन शोषण को रोकने के लिए सामाजिक जागरूकता की आवश्यकता बताई। उन्होंने कहा कि सब का एकजुट होकर इस विषय पर गंभीर चर्चा करना भी सामाजिक क्रांति का सूचक है। आज से कुछ वर्षों पहले तक हम सार्वजनिक रूप से इस प्रकार की चर्चा से भी परहेज करते थे। श्री शर्मा ने कहा कि बच्चों को जागरूक बनाने और इसके लिए 'चुप्पी तोड़ो'' अभियान निरंतर चलाना होगा। अभियान सफल बनाने में राज्य सरकार हरसंभव सहायता करेगी। उन्होंने जागरूकता अभियान चलाने वाली संस्था वर्ल्ड विजन इंडिया के डायरेक्टर डॉ. वर्गीस जैकब का आभार व्यक्त किया। समापन समारोह को बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्री राघवेन्द्र शर्मा, ग्राम बचई जिला नरसिंहपुर की सुश्री लक्ष्मी मेहरा ने भी संबोधित किया। कार्यक्रम में बाल शोषण के विरूद्व बच्चों ने सुझाव दिये। इस अवसर पर श्रीमती मंजू शर्मा और एक दिन के लिए बाल आयोग की अध्यक्ष रही तानिया भी मौजूद थी।

खेलो इण्डिया गेम्स के पदक विजेताओं को मिलेगी दोगुनी प्रोत्साहन राशि
28 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने खेलो इण्डिया-2019 यूथ गेम्स के 31 पदक विजेता खिलाड़ियों को आज टी.टी. नगर स्टेडियम में प्रोत्साहन राशि का प्रतीकात्मक चेक प्रदान कर सम्मानित किया। श्री पटवारी ने विजेताओं को बधाई एवं शुभकामनाएँ दीं। उन्होंने कहा कि अगले वर्ष से खेलो इण्डिया के पदक विजेता खिलाड़ियों को दोगुनी प्रोत्साहन राशि दी जायेगी। साथ ही, राष्ट्रीय चैम्पियनशिप में पदक अर्जित करने वाले खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि में 50 गुना वृद्धि की जाएगी। खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि खेलों के क्षेत्र में कोई कमी न आये, इसकी जिम्मेदारी राज्य शासन की है। खिलाड़ियों और प्रशिक्षकों को विदेश में प्रशिक्षण के लिये राज्य शासन वित्तीय सहायता प्रदान करेगा। साथ ही, खिलाड़ियों को बेहतर उपकरण की सुविधा उपलब्ध कराई जायेगी। खेल मंत्री ने कहा कि अब राष्ट्रीय प्रतियोगिता में भागीदारी करने के लिये प्रदेश के खिलाड़ियों का रेल किराया शासन द्वारा वहन किया जायेगा। शासन वहन करेगा चिकित्सा उपचार का खर्च मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि शासन ने निर्णय लिया है कि प्रदेश के उत्कृष्ट खिलाड़ियों के चिकित्सा उपचार का खर्च राज्य शासन वहन करेगा। खिलाड़ियों का बीमा भी कराया जायेगा। इसके लिये नीति तैयार की जा रही है। यह व्यवस्था अगले सत्र से लागू होगी। श्री पटवारी ने शीघ्र ही प्रांतीय ओलम्पिक खेलों के आयोजन की घोषणा की। खेल मंत्री ने कहा कि उच्च शिक्षा और खेल विभाग के समन्वय से यह प्रयास किया जा रहा है कि विश्वविद्यालय स्तर पर भी अलग-अलग खेलों के लिये अधोसंरचना विकास के कार्य किये जायें। संचालक, खेल एवं युवा कल्याण डॉ. एस.एल. थाउसेन ने कहा कि विभाग द्वारा जिलों में प्रचलित खेलों को चिन्हित कर उन्हें आवश्यक संसाधन उपलब्ध कराने के प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने उच्च शिक्षा एवं स्कूल शिक्षा विभाग की खेल एवं युवा कल्याण विभाग के साथ सहभागिता की आवश्यकता बताई। मध्यप्रदेश राज्य खेल अकादमी के सम्मानित खिलाड़ी स्वर्ण पदक विजेता- मनीषा कीर, अनवर खान और अविनाश यादव (शूटिंग), रीतेश ओहरे (एथलेटिक्स), रुचिर श्रीवास और दिव्या पवार (बॉक्सिंग)। रजत पदक विजेता- मुस्कान किरार (तीरंदाजी), इकराम अली (एथलेटिक्स), अंजलि शर्मा (बॉक्सिंग), ऐश्वर्य प्रताप सिंह (शूटिंग)। काँस्य पदक विजेता- आकाश दुबे, बुशरा खान और सुनील डाबर (एथलेटिक्स), प्रियांशी प्रजापति (कुश्ती), हर्षित बिंजवा, श्रेया अग्रवाल और पूजा विश्वकर्मा (शूटिंग)। सम्मानित मध्यप्रदेश के खिलाड़ी स्वर्ण पदक विजेता- अनुशा कुटुम्बले (टेबल-टेनिस), महक जैन (टेनिस)। रजत पदक विजेता- बहादुर पटेल और कौस्तुभ जायसवाल (एथलेटिक्स), कान्या नायर (तैराकी), शिवानी पवार (कुश्ती)। काँस्य पदक विजेता- कुँवर विश्वजीत एवं कान्हा त्यागी (वेटलिफ्टिंग), रोहित कोष्टा (जूडो), कान्या नायर (तैराकी), अंकित एवं प्रांजल सोनकर (कुश्ती)।

जय किसान फसल ऋण माफी योजना से उत्साहित हैं किसान
28 January 2019
प्रदेश में जय किसान फसल ऋण माफी योजना लागू होने से किसान उत्साहित हैं। योजना के अंतर्गत किसानों के पंजीयन का कार्य गत 15 जनवरी से प्रदेशभर में संचालित किया जा रहा है। पिछले 15 दिनों में 41 लाख 82 हजार 924 किसानों ने फसल ऋण माफी योजना से लाभान्वित होने के लिये अपने आवेदन पत्र ग्राम पंचायतों में जमा करवाये हैं। फसल ऋण माफी के लिये योजना अंतर्गत अभी तक 55 प्रतिशत किसानों ने हरे, 38 प्रतिशत किसानों ने सफेद और 7 प्रतिशत किसानों ने गुलाबी आवेदन भरकर जमा करवाये हैं। आगामी 5 फरवरी 2019 तक ग्राम पंचायतों में किसानों से आवेदन पत्र प्राप्त किये जायेंगे। किसान कल्याण और कृषि विकास विभाग के अनुमान के अनुसार जय किसान फसल ऋण माफी योजना में पंजीयन की अंतिम तारीख तक 53 लाख से अधिक आवेदन जमा होने की संभावना है।

सरकारी भवन के निर्माण में आवंटित बजट का हो शत-प्रतिशत उपयोग
28 January 2019
लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि सरकारी भवनों के निर्माण के लिये इस वर्ष आवंटित बजट का शत-प्रतिशत उपयोग सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने अब तक शुरू नहीं किये गये निर्माण कार्यों की जानकारी पर अप्रसन्नता व्यक्त की। लोक निर्माण मंत्री श्री वर्मा आज मंत्रालय में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से प्रदेश में सरकारी भवनों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में प्रमुख सचिव, लोक निर्माण श्री मोहम्मद सुलेमान भी मौजूद थे। लोक निर्माण मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि विभागीय निर्माण कार्य में देरी होने से जन-सामान्य में लोक निर्माण विभाग की छवि बिगड़ती है। विभागीय अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि स्वीकृत निर्माण कार्य समय पर शुरू हों और नियत समय पर ही पूरे हों। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र में किये गये वायदों का अक्षरश: पालन हो। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि विभाग द्वारा पूर्व के वर्षों में जिन भवनों का निर्माण किया गया था, यदि उनका रख-रखाव उचित तरीके से नहीं हो पा रहा है, तो वहाँ बहु-मंजिला भवन निर्माण का प्रस्ताव प्राथमिकता के साथ तैयार किया जाये। बैठक में अधिकारियों को निर्देश दिये गये कि पीडब्ल्यूडी को जिन सरकारी भवनों के निर्माण के लिये भूमि आवंटित की जाती है, भवन निर्माण के पहले उस साइट का हर दृष्टिकोण से परीक्षण कर लिया जाये। उन जगहों पर भवनों का निर्माण कतई न किया जाये, जिसका जनहित में उपयोग न हो सके। विभागीय अधिकारी उन कार्यों में टेण्डर की प्रक्रिया शुरू न करें, जिन भवनों के लिये संबंधित विभाग द्वारा भूमि आवंटित नहीं कराई गई हो। बैठक में बताया गया कि इस वर्ष पीडब्ल्यूडी द्वारा 1200 सरकारी भवनों के निर्माण को पूरा करने का कार्यक्रम तैयार किया गया था। इनमें से 500 भवनों का निर्माण कार्य पूरा किया जा चुका है। स्वीकृत किये गये 3000 करोड़ रुपये के कार्यों में से अब तक विभाग द्वारा 1800 करोड़ रुपये लागत के कार्य पूर्ण कर लिये गये हैं। प्रदेशभर में शाला भवन, छात्रावास भवन, स्वास्थ्य केन्द्र भवन, राजस्व एवं विधि विभाग के न्यायालय भवन, आईटीआई, मेडिकल कॉलेज भवन आदि के कार्य करवाये जा रहे हैं। बैठक में इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन के गोडाउन निर्माण के कार्य की प्रगति की विशेष रूप से चर्चा की गई। प्रमुख सचिव, लोक निर्माण ने पूर्व वर्षों के लम्बित कार्यों को भी कार्य-योजना बनाकर शीघ्र पूरा करने के निर्देश दिये।

कमाण्ड क्षेत्र के हर खेत तक पानी पहुँचाये : मंत्री श्री बघेल
28 January 2019
नर्मदा घाटी विकास मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने आज मंत्रालय में नर्मदा घाटी विकास विभाग परियोजनाओं की गहन समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि नर्मदा घाटी विकास के लिये निर्मित और निर्माणाधीन सिंचाई परियोजनाओं का जल परियोजना कमाण्ड क्षेत्र के हर खेत तक पहुंचाना सुनिश्चित करें। इसके लिये निर्मित सिंचाई क्षमता और वास्तविक सिंचाई क्षमता के बीच का अंतर पाटने के लिये प्राथमिकता से प्रयास किये जाये। मंत्री श्री बघेल ने रानी अवंती बाई लोधी सागर, बरगी डायवर्जन, इंदिरा सागर, ओंकारेश्वर, हालोन, लोअरगोई, नर्मदा मालवा गम्भीर, खरगोन उद्वहन, मान तथा जोबट परियोजनाओं के साथ ही वृहद परियोजनाओं से जुडे विस्थापन और पुर्नवास कार्यों की भी विस्तृत समीक्षा की। श्री बघेल ने डही (धार) अंचल के सिंचाई से वंचित क्षेत्र तक सिंचाई जल पहुंचाने के लिये कार्य-योजना बनाने के निर्देश दिये। श्री बघेल ने कहा कि निर्माणाधीन परियोजनाओं को समय सीमा में पूरा करने के लिये पूरी सक्रियता से काम करें। प्रमुख सचिव एवं प्राधिकरण के उपाध्यक्ष श्री पंकज अग्रवाल ने नर्मदा घाटी में निर्मित और निर्माणाधीन सिंचाई परियोजनाओं से सिंचाई और निर्माणाधीन कार्यों की विस्तृत जानकारी दी। श्री अग्रवाल ने मैदानी इंजिनियरों को निर्माण कार्यों में गति लाने के लिये अग्रिम कार्य-योजना बनाकर समस्याओं का पूर्व आंकलन करने के लिये मार्गदर्शन दिया। इस अवसर पर नर्मदा घाटी विकास विभाग के प्रमुख सचिव/नर्मदा घाटी विकास प्राधिकरण उपाध्यक्ष श्री पंकज अग्रवाल सहित विभाग के सभी वरिष्ठ अधिकारी और मैदानी इंजिनियर उपस्थित थे।

मनरेगा की तर्ज पर शहरी युवाओं के लिये सुनिश्चित होगा रोजगार : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
27 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेश के शहरी युवा बेरोजगारों को उनकी इच्छा के अनुरूप क्षेत्र में रोजगार की गारंटी देते हुए युवा स्वाभिमान योजना लागू करने का निर्णय लिया है। मुख्यमंत्री ने गणतंत्र दिवस पर छिंदवाड़ा जिला मुख्यालय में आयोजित समारोह में योजना की जानकारी देते हुए कहा कि ग्रामीण क्षेत्रों में तो मनरेगा के अंतर्गत रोजगार के अवसर मिल जाते हैं, लेकिन शहरी क्षेत्र के युवा ऐसे अवसरों से वंचित रह जाते हैं। उन्होंने कहा कि अस्थाई रोजगार और कौशल विकास को जोड़कर युवा स्व स्वाभिमान को योजना को जन-हितैषी स्वरूप प्रदान किया गया है। श्री कमल नाथ ने कहा कि प्रदेश का भविष्य युवा शक्ति में निहित है। युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है, आवश्यकता केवल प्रतिभाओं को निखारने की है। मुख्यमंत्री ने बताया कि शीघ्र ही मंत्रि-परिषद की मंजूरी के पश्चात योजना का क्रियान्वयन प्रारंभ किया जायेगा। मुख्यमंत्री ने कहा है कि प्रदेश की युवा शक्ति को राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर रोजगार के अवसरों का लाभ प्राप्त करने योग्य बनाना युवा स्वाभिमान योजना का उद्देश्य है। योजना से शहरी युवा बेरोजगारों को उनकी इच्छा के अनुरूप क्षेत्र में एक वर्ष में 100 दिन का तात्कालिक अस्थाई रोजगार उपलब्ध कराया जायेगा। रोजगार के दौरान ही युवाओं को उनकी पसंद के क्षेत्र में कौशल विकास का प्रशिक्षण भी दिलवाया जायेगा। वचन-पत्र का वादा होगा पूरा मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि राज्य सरकार द्वारा वचन-पत्र में किये गये युवाओं के रोजगार के अधिकार के वादे को अमली जामा पहनाने के वचन की पूर्ति की दिशा में युवा स्वाभिमान योजना एक बड़ा कदम है। युवाओं को आधुनिक तकनीक से जोड़ते हुए उनकी पसंद के रोजगार में स्थापित होने के लिये राज्य सरकार समुचित प्रशिक्षण उपलब्ध करवायेगी। मुख्यमंत्री ने कहा है कि युवाओं को स्व-रोजगार के क्षेत्र में सक्षम बनाने के लिये राज्य सरकार कृत-संकल्पित होकर कार्य करेगी। पंजीयन 10 फरवरी से प्रारंभ होगा युवा स्वाभिमान योजना का शीघ्र क्रियान्वयन सुनिश्चित करने के लिये प्रदेश में शहरी बेरोजगार युवाओं के पंजीयन का कार्य 10 फरवरी, 2019 से नगरीय निकायों में प्रारंभ किया जा रहा है। पंजीकृत युवाओं को फरवरी माह में ही उनकी पसंद के रोजगार के लिये कौशल प्रशिक्षण भी दिया जायेगा। नगरीय निकाय होंगे क्रियान्वयन एजेंसी युवा स्वाभिमान योजना के क्रियान्वयन की जिम्मेदारी नगरीय निकायों को सौंपी जा रही है। नगरीय निकाय द्वारा ऐसे सभी शासकीय विभागों को योजना से जोड़ा जायेगा, जिनके द्वारा निर्माण और सेवा के कार्य संबंधित नगरीय क्षेत्र में संचालित किये जा रहे हैं अथवा स्वीकृत किये जा रहे हैं।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने होशंगाबाद में ध्वजारोहण किया
27 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व और होशंगाबाद जिले के प्रभारी मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने होशंगाबाद जिला मुख्यालय पर पुलिस परेड ग्राउंड में आयोजित गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली। उन्होंने प्रदेश के मुख्यमंत्री माननीय श्री कमलनाथ के संदेश का वाचन किया। श्री शर्मा ने कहा कि सरकार प्रत्येक वर्ग के उत्थान के लिए वचनबद्ध है। सरकार की सर्वोच्च प्राथमिकता है कि सभी वर्गों को विकास के समुचित अवसर उपलब्ध हो जिससे प्रदेश तीव्र गति से विकास की ओर अग्रसर हो सके। होशंगाबाद जिले के प्रभारी मंत्री श्री शर्मा ने गणतंत्र दिवस के अवसर पर आयोजित जिला स्तरीय मुख्य समारोह में स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों को शॉल एवं श्रीफल से सम्मानित किया। इस अवसर पर स्कूली विद्यार्थियों के द्वारा देश-भक्ति आधारित गीतों पर रंगा-रंग एवं मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई। समारोह में विभिन्न विभागों द्वारा आकर्षक झांकियां भी निकाली गई। श्री शर्मा ने मार्च पास्ट, सांस्कृतिक कार्यक्रम एवं झांकियों के विजेताओं के साथ ही जिले में उत्कृष्ट कार्य करने वाले अधिकारियों, कर्मचारियों को भी पुरस्कृत किया। समारोह में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, जिला पंचायत अध्यक्ष श्री कुशल पटेल, संभाग आयुक्त श्री उमाकांत उमराव, पुलिस महानिरीक्षक श्री के.सी.जैन, डीआईजी, कलेक्टर, एसपी सहित अन्य स्थानीय जनप्रतिनिधि एवं अधिकारियों के साथ ही विद्यार्थी एवं नागरिकगण उपस्थित थे।

भारतीय संस्कृति का अनूठा संगम है लोकरंग
27 January 2019
जनसम्पर्क, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने गणतंत्र दिवस पर बीएचईएल, दशहरा मैदान में 34वें राष्ट्रीय लोकरंग समारोह का शुभारंभ किया। उन्होंने इस अवसर पर गणतंत्र दिवस समारोह में चयनित झाँकियों और प्रतिभागियों तथा अन्य क्षेत्रों में विशिष्ट उपलब्धियों के लिये राज्य स्तरीय पुरस्कारों का वितरण किया। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि लोकरंग समारोह भारतीय संस्कृति को प्रदर्शित करने का अनूठा संगम स्थल है। यहाँ विभिन्नता में एकता की परम्परा देखने को मिलती है। इस अवसर पर उन्होंने उपस्थित जनों को गणतंत्र दिवस की शुभकामनाएँ दीं। संस्कृति सचिव, श्रीमती रेनू तिवारी ने बताया कि पाँच दिवसीय राष्ट्रीय लोकरंग समारोह में 30 जनवरी तक प्रति दिन शाम 7 बजे से समारोह स्थल बीएचईएल दशहरा मैदान पर विभिन्न प्रस्तुतियाँ होंगी। इसमें परम्पारिक नृत्य, मध्यप्रदेश एवं अन्य राज्यों के गायन, अन्य देशों के नृत्य, समवेत नृत्य नाट्य, बच्चों की फिल्मों, कठपुतलियों और विभिन्न आंचलिक व्यंजनों का आनंद दर्शकों को मिलेगा।

खेलों से जीवन में उत्साह का संचार होता है - जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
27 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने भोजपुर क्लब ग्राउंड पर दिव्यांग बच्चों के लिए आयोजित खेल दिवस कार्यक्रम में बच्चों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि खेलों से जीवन में उत्साह का संचार होता है। वे उन सभी को सेल्यूट करते हैं, जो इन दिव्यांग बच्चों के जीवन में उत्साह के संचार के लिए सतत प्रयासरत हैं। श्री शर्मा ने कहा कि दिव्यांग बच्चे असाधारण प्रतिभा के धनी होते हैं। अवसर और वातावरण मिलने पर अपनी प्रतिभा का लोहा मनवाने में सक्षम होते हैं। उन्होंने कहा कि दिव्यांग जन भी समस्त नागरिक अधिकारों के प्रबल अधिकारी हैं। श्री शर्मा ने क्रिकेट खेलने वाले दिव्यांग बच्चों के साथ आँखों पर पट्टी बांधकर क्रिकेट खेला और शतरंज की चालें भी चली। बच्चों के इस आयोजन में भोपाल के 12 ब्लाइंड स्कूलों के लगभग 450 बच्चों ने हिस्सा लिया। कार्यक्रम में नृत्य और गायन प्रतियोगिता का आयोजन भी किया गया। विजेता बच्चों को जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा द्वारा पुरस्कृत एवं सम्मानित किया गया। विक्रम अवार्डी सोनू गोलकर से मिले जनसम्पर्क मंत्री जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने विक्रम पुरस्कार से सम्मानित भारतीय ब्लांइड टीम के कप्तान श्री सोनू गोलकर से भेंट कर उन्हें बधाई और शुभकामनाएं दी। श्री शर्मा ने कहा कि श्री गोलकर की क्रिकेट टीम ने भी विराट कोहली की भारतीय क्रिकेट टीम के समान ही प्रतियोगिताओं को जीतकर सम्मान अर्जित किया है। इस अवसर पर बाल संरक्षण आयोग के अध्यक्ष श्री राघवेन्द्र शर्मा, लायन अदिता असनानी तथा खिलाड़ियों के अतिरिक्त विद्यालयों के प्रशिक्षक और शिक्षक भी उपस्थित थे।

पूरे प्रदेश में हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया गणतंत्र दिवस समारोह
27 January 2019
गणतंत्र दिवस समारोह पूरे प्रदेश में हर्षोल्लासपूर्वक मनाया गया। जिला मुख्यालय में विधानसभा अध्यक्ष, उपाध्यक्ष और मंत्रि-मण्डल के सदस्यों ने ध्वजारोहण किया और प्रदेश की जनता के नाम जारी मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के संदेश का वाचन किया। समारोह में स्कूली छात्र-छात्राओं ने रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। विभिन्न विभागों द्वारा विकास की झलक दर्शाती चलित झाँकियाँ भी निकाली गयीं। गणतंत्र दिवस समारोह के बाद मंत्रि-मण्डल के सदस्यों ने बच्चों के साथ मध्यान्ह भोजन किया। विधानसभा अध्यक्ष श्री नर्मदा प्रसाद प्रजापति ने नरसिंहपुर जिला मुख्यालय में आयोजित गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हिना लिखिराम कांवरे ने बालाघाट में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और परेड की सलामी ली। चिकित्सा शिक्षा, संस्कृति एवं आयुष मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने खरगोन में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने देवास में ध्वजारोहण किया। समारोह में स्कूली छात्र-छात्राओं ने रोचक सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये। जल संसाधन मंत्री श्री हुकुम सिंह कराड़ा ने शाजापुर में ध्वजारोहण किया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। सहकारिता, संसदीय कार्य एवं सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने पुलिस परेड ग्राउण्ड, भिण्ड में ध्वजारोहण किया और मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के संदेश का वाचन किया। गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने बड़वानी में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। उन्होंने उत्कृष्ट सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले बच्चों को पुरस्कृत भी किया। भोपाल गैस त्रासदी, राहत एवं पुनर्वास, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण, सूक्ष्म, लघु एवं मध्यम उद्यम मंत्री श्री आरिफ अकील ने सीहोर में ध्वजारोहण किया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने टीकमगढ़ में राष्ट्रीय ध्वज फहराया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने सिवनी में ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली। पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने मुरैना, लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसी सिलावट ने खण्डवा, राजस्व एवं परिवहन मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत ने सागर और महिला एवं बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने ग्वालियर में ध्वजारोहण कर मार्च-पास्ट की सलामी ली। जनजातीय कार्य, विमुक्त, घुमक्कड़ एवं अर्द्ध-घुमक्कड़ कल्याण मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने डिण्डोरी में ध्वजारोहण कर मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी ने रायसेन में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। इसी प्रकार, ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने राजगढ़ में, लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने बैतूल, वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने धार, कुटीर एवं ग्रामोद्योग, नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने विदिशा, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने गुना जिला मुख्यालय में गणतंत्र दिवस समारोह में ध्वजारोहण किया और परेड की सलामी ली तथा मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। खेल, युवा कल्याण और उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने इंदौर, पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने सीधी, सामाजिक न्याय, नि:शक्तजन कल्याण और अनुसूचित-जाति कल्याण मंत्री श्री लखन घनघोरिया ने जबलपुर, श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने अशोकनगर, खाद्य, नागरिक आपूर्ति तथा उपभोक्ता संरक्षण मंत्री श्री प्रद्युम्न सिंह तोमर ने शिवपुरी, किसान कल्याण तथा कृषि विकास, उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन सुभाष यादव ने रतलाम, नर्मदा घाटी विकास और पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने झाबुआ, वित्त, योजना एवं आर्थिक सांख्यिकी मंत्री श्री तरुण भनोट ने मण्डला में ध्वजारोहण कर परेड की सलामी ली और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया। शेष 20 जिलों में कलेक्टर ने ध्वजारोहण किया और मुख्यमंत्री के संदेश का वाचन किया।

राज्यपाल श्रीमती पटेल ने राज्य स्तरीय समारोह में किया किया ध्वाजारोहण
26 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने 70 वें गणतंत्र दिवस के अवसर पर भोपाल के लाल परेड मैदान में आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में ध्वजारोहण किया और नागरिकों को सम्बोधित किया। राज्यपाल ने ध्वजारोहण के पश्चात् गणतंत्र दिवस परेड का निरीक्षण कर सलामी ली। हर्ष फायर के बीच पुलिस बैण्ड दल ने उपनिरीक्षक श्री सुनील कटारे के निर्देशन में ‘‘जन गण मन’’ की धुन बजाई । राज्यपाल ने हर्ष के प्रतीक रंगीन गुब्बारे भी छोड़े। आकर्षक परेड का प्रदर्शन हर्ष फायर के बाद परेड कमाण्डर एस.डी.ओ.पी. जावरा जिला रतलाम श्री आशुतोष बागरी (भापुसे) और परेड टू-आई सी. उप पुलिस अधीक्षक अशोक नगर श्री संदीप कुमार निंगवाल के नेतृत्व मे गणतंत्र दिवस परेड का प्रदर्शन किया गया । परेड में निरीक्षक श्री एल.एल.नायक ने सी.आई.एस.एफ., निरीक्षक श्री प्रदीप पांडे ने मध्यप्रदेश विशेष सशस्त्र बल, निरीक्षक श्री अंकुश परते ने एस.टी.एफ, निरीक्षक श्री पंकज द्विवेदी ने जिला पुलिस बल/रेल पुलिस (पुरूष), उप निरीक्षक श्री के.बी.गामी ने गुजरात रिजर्व पुलिस बल, उपनिरीक्षक सुश्री पूनम कटारे ने जिला पुलिस बल (महिला)/वि.स.बल, कंपनी कमांडर श्री डी.आर.वर्मा ने मध्यप्रदेश होमगार्ड, सहायक जेल अधीक्षक श्री विकास तिवारी ने जेल विभाग(पुरूष), सहायक जेल अधीक्षक सुश्री मनीषा यादव जेल विभाग (महिला), सेवानिवृत्‍त नेवी कमाण्‍डर श्री उदय सिंह ने भूतपूर्व सैनिक, सीनियर अन्‍डर ऑफिसर हर्ष चतुर्वेदी ने एन.सी.सी. आर्मी विंग (बॉयज) , सीनियर कैडेट कैप्टन आकाश यादव ने एन.सी.सी नेवल विंग, कैडेट सीनियर अंडर ऑफिसर पीयूष भडाना ने एन.सी.सी.एयर विंग, सीनियर अंडर ऑफिसर रविना तेलंग ने सीनियर डिवीजन एन.सी.सी. आर्मी विंग गर्ल्स, कमाण्डर आदित्‍य राठौर ने स्काउट्स(बॉयज), कमाण्डर रूमेजा जैहरा ने गाइड (गर्ल्स), कमाण्डर योगेश सिंह सिकरवार ने पुलिस (बॉयज), कमाण्‍डर मुबरिसरा अंजुम ने शौर्य दल, उप निरीक्षक श्री प्रकाश नारायण शर्मा के नेतृत्व में श्वान दल सहित 20 प्‍लाटूनों ने आकर्षक परेड की। गणतंत्र दिवस परेड में मणिपुर सशस्‍त्र पुलिस प्‍लाटून का नेतृत्‍व उप निरीक्षक श्री सेमसन वाईकहोम ने किया था । इसी प्रकार इस वर्ष गुजरात रिजर्व पुलिस बल गणतंत्र दिवस परेड में सम्मिलित हो रहा है। जिसका नेतृत्‍व पुलिस उप निरीक्षक श्री के.बी.गामी ने किया। उप निरीक्षक श्री प्रकाश नारायण शर्मा के नेतृत्व में श्वान दल ने भाग लिया । स्कूली बच्चों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम की प्रस्तुति परेड के पश्चात् विभिन्न स्कूलों के विद्यार्थियों ने रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत किये । लोक संस्‍कृति विभाग के कलाकारों ने भील जनजाति का मनमोहक भगोरिया लोकनृत्‍य प्रस्‍तुत किया । इसके बाद 20 विभागों ने विभागीय योजनाओं एवं कार्यक्रमों का संदेश देती हुई आकर्षक झांकियों का प्रदर्शन किया। सर्वोत्कृष्ट प्रदर्शन के लिये पुरस्कार घोषित गणतंत्र‍दिवस परेड में सशस्त्र बलों में सर्वोत्‍कृष्‍ट प्रदर्शन करने पर म.प्र. विशेष सशस्त्र बल की टुकड़ी को प्रथम, सीआईएसएफ की टुकड़ी को द्वितीय एवं जेल विभाग (पुरुष) टुकड़ी को तृतीय पुरस्‍कार घोषित किया। गैर शस्‍त्र दलों में एन.सी.सी. एयर विंग दल को प्रथम, एन.सी.सी.सीनियर गर्ल्स को द्वितीय तथा शौर्य दल को तृतीय पुरस्‍कार घोषित किया गया। इसी प्रकार सांस्कृतिक कार्यक्रमों की श्रेणी में डीपीएस स्कूल नीलबड़ को प्रथम, शासकीय उच्च्तर माध्यमिक विद्यालय आनंदनगर को द्वितीय, सेंट जेवियर स्कूल भेल को तृतीय तथा शारदा विद्या मंदिर केरवा रोड के बच्चों को सांत्वना पुरस्कार के लिये चयनित किया गया। विभागीय गतिविधियों पर आधारित विकास प्रदर्शिनियों की श्रृंखला में पुरातत्व अभिलेखागार एवं संग्रहालय विभाग की झाँकी को प्रथम, पर्यटन विभाग की झाँकी द्वितीय एवं महिला एवं बाल विकास विभाग की झाँकी को तृतीय स्थान प्राप्त हुआ।

मध्यान्ह भोज में शामिल हुये मुख्यमंत्री
26 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ गणतंत्र दिवस पर छिंदवाड़ा में प्राथमिक एवं माध्यमिक शाला सर्रा में आयोजित विशेष मध्यान्ह भोज में शामिल हुये। उन्होंने यहाँ बच्चों को अपने हाथों से खाना खिलाया और शुभकामनाएँ दी। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने बच्चों से कहा कि देश का गौरवशाली इतिहास है। स्वतंत्रता संग्राम सेनानियों और बलिदानियों के त्याग, समर्पण और संघर्षो के बाद देश को स्वतंत्रता मिली है। जिसके बाद देश में प्रजातंत्र लागू हुआ। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत के संविधान से दुनिया के अन्य देशों ने भी बहुत कुछ सीखा है। विश्व के कई देशों के संविधान निर्माण में भी डॉ. अम्बेडकर का विशेष योगदान है। प्रजातंत्र को बनाये रखना भावी पीढ़ी की जिम्मेदारी है। आज के बच्चे कल का भविष्य हैं, इसलिये बच्चों में केवल शिक्षा ही नहीं ज्ञान का विकास करना भी जरूरी है। उन्होंने कहा कि बच्चों को दी जाने वाली शिक्षा में संस्कृति और मूल्यों का समावेश जरूरी है। मूल्यों से ही हमारे देश की एकता और समाज का मान बना रह सकता है। श्री नाथ ने शिक्षकों और संबंधित अधिकारियों से बच्चों को मूल्यों की शिक्षा देने की अपेक्षा की और बच्चों के उज्जवल भविष्य की शुभकामनाएँ दी। मुख्यमंत्री ने किया पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गाँधी की प्रतिमा का अनावरण मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने छिंदवाड़ा में प्रियदर्शनी पार्क में देश की पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गाँधी की प्रतिमा का अनावरण किया। श्री नाथ ने कहा कि यह वही स्थान है जहाँ से भारत की पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय इंदिरा गांधी ने छिन्दवाड़ा वासियों से प्यार और विश्वास माँगा था। यह मेरी भी अपील है कि आपका प्यार और विश्वास इसी तरह मिलता रहे। मुख्यमंत्री ने कहा कि लंबे संघर्षो के बाद हमें यह आजादी मिली है। बाबा साहब अम्बेडकर के प्रयासों से भारत को विश्व के सबसे बड़े प्रजातांत्रिक देश का दर्जा मिला है। उन्होंने कहा कि यही भारत की शान है। गणतंत्र दिवस के अवसर पर हम सब संकल्प लें कि भारत के प्रजातंत्र को मजबूत करेंगे। संविधान में निहित मूल्यों को कभी कमजोर नहीं होने देंगे। संविधान और इसकी संस्थाओं को मिलकर मजबूत बनायेंगे। इस अवसर पर विधायक श्री दीपक सक्सेना, श्री गंगा प्रसाद तिवारी, श्री नकुल नाथ एवं जन-प्रतिनिधि मौजूद थे।

शहरी गरीब युवाओं के लिये शुरू होगी युवा स्वाभिमान योजना : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
26 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि शहरी क्षेत्र के गरीब युवाओं को अस्थायी रोजगार देने के लिये युवा स्वाभिमान योजना लागू की जा रही है। इसमें शहरी क्षेत्र के गरीब युवाओं को एक साल में 100 दिन का रोजगार उपलब्ध कराया जाएगा। गणतंत्र दिवस पर नागरिकों के नाम अपने संदेश में नई योजना की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि युवा शक्ति के हाथ में प्रदेश का भविष्य है। उन्होंने कहा कि युवाओं में प्रतिभा की कमी नहीं है। जरूरत केवल युवा प्रतिभाओं को निखारने की है ताकि वे राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकें। पंजीयन 10 फरवरी से होगा प्रारंभ श्री कमल नाथ ने कहा कि रोजगार के दौरान युवाओं को उनके पसंद के क्षेत्र में कौशल विकास का प्रशिक्षण दिया जाएगा। उनके हाथ में कौशल होगा, तो वे विभिन्न क्षेत्रों में उपलब्ध रोजगार के अवसरों का पूरा-पूरा लाभ उठा सकेंगे। उन्होंने कहा कि योजना में 10 फरवरी से युवाओं का पंजीयन प्रारंभ होगा और फरवरी माह में ही रोजगार और कौशल देने का काम शुरू हो जायेगा। मुख्यमंत्री ने नागरिकों को गणतंत्र दिवस की बधाई और शुभकामनाएं दी। उन्होंने संविधान के निर्माण से जुड़ी सभी महान विभूतियों एवं स्वतंत्रता संग्राम के बलिदानियों का स्मरण किया। उन्होने छिन्दवाडा में गणतंत्र दिवस परेड की सलामी ली। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने काम शुरू करते ही पात्र किसानों का दो लाख रूपये तक का कर्ज माफ कर दिया है। उन्होंने कहा कि औद्योगिक नीति में बदलाव करते हुए शासन की सहायता लेने वाले उद्योगों में कम से कम 70 प्रतिशत रोजगार प्रदेश के ही लोगों को दिया जायेगा। वृद्धजनों, दिव्यांगों कल्याणियों की पेंशन बढ़ेगी मुख्यमंत्री ने कहा कि वृद्धजनों, दिव्यांगों एवं कल्याणियों को दी जाने वाली सामाजिक सुरक्षा पेंशन की राशि 300 रूपये से बढ़ाकर 1000 रूपये कर दी जायेगी। इसे पूरा करने में पहला कदम बढ़ाते हुए अप्रैल के पहले सप्ताह से मिलने वाली पेंशन की राशि बढ़ाकर 600 रूपये प्रतिमाह कर दी जाएगी। हर साल इसमें बढ़ोत्तरी होगी। तेन्दूपत्ता मजदूरी होगी 2500 रुपये प्रति मानक बोरा मुख्यमंत्री ने कहा कि आने वाले तेन्दूपत्ता सीजन से तेन्दूपत्ता मजदूरी और बोनस का नकद भुगतान होगा। तेन्दूपत्ता की मजदूरी दर 2000 रूपये प्रति मानक बोरा को बढ़ाकर 2500 रूपये प्रति मानक बोरा की जा रही है। मुख्यमंत्री ने कहा कि आवारा पशुओं के लिये गौशाला खोलने की योजना पर काम शुरू हो गया है। फरवरी माह में योजना को अंतिम रूप देकर क्रियान्वयन शुरू कर दिया जाएगा। जनजातीय कल्याण की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि जनजातीय भाइयों के पास जमीनों का सबसे बेहतर उपयोग करने के लिये जनजातीय कल्याण मंत्री की अध्यक्षता में अनुसूचित जनजाति के सांसदों और विधायकों की एक समिति बनाई गई है। इस समिति की अनुशंसा पर सरकार काम करेगी। अध्यात्म विभाग के गठन की चर्चा करते हुए श्री कमलनाथ ने कहा कि भारत की आध्यात्मिक विरासत एवं दर्शन प्रणाली एक वैश्विक धरोहर है। इस धरोहर के संरक्षण, संवर्धन और वर्तमान परिप्रेक्ष्य में देश-विदेश की बहुलतावादी संस्कृति के विकास को नये आयाम देने का काम यह विभाग करेगा। वचन पूरा करने में नहीं आयेगी वित्तीय बाधा मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार ने विषम वित्तीय परिस्थितियों में कार्य संभाला है लेकिन जनता से किये गये वादों को पूरा करने में वित्तीय बाधा आड़े नहीं आने दी जायेगी। वित्तीय प्रबंधन को मजबूत बनाने के अनेक कदम उठाये जायेंगे। करों की चोरी की रोकथाम और राजस्व बढ़ाने की व्यवस्था को पुख्ता कर एवं आय के नए साधनों को लागू कर वित्तीय संसाधन जुटाये जायेंगे। सरकार ऐसी योजनाओं को बदलेगी या समाप्त करेगी, जो आम लोगों के लिये अब जरूरी नहीं रह गई हैं। अधोसंरचना विकास पर विशेष ध्यान मुख्यमंत्री ने कहा कि अधोसंरचना विकास के कार्य जैसे सड़क, बिजली, सिंचाई, जल-प्रदाय, नगरीय अधोसंरचना आदि विकसित करने के लिये अंतर्राष्ट्रीय वित्तीय संस्थाओं से धनराशि जुटाई जाएगी। इन क्षेत्रों में कार्यों को विशेष प्राथमिकता दी जाएगी। सामाजिक क्षेत्र की प्राथमिकताओं की चर्चा करते हुए श्री कमल नाथ ने कहा कि स्कूलों में गुणवत्तापूर्ण पढ़ाई, अस्पतालों में बेहतर इलाज और कुपोषण के विरूद्ध समाज के साथ मिलकर व्यापक अभियान चलाया जाएगा। समृद्ध गांव बनायेंगे मुख्यमंत्री ने कहा कि गांव में शिक्षा, स्वास्थ्य, पानी, बिजली, सड़क, स्वच्छता और कुटीर तथा ग्रामोद्योगों से स्थानीय स्तर पर रोजगार जैसी बुनियादी आवश्यकताओं को पूरा कर गांवों को समृद्ध और स्वावलम्बी बनाया जायेगा। इसके लिये ग्राम पंचायतवार योजनाएं बनाकर स्थानीय लोगों की भागीदारी से उन पर अमल किया जायेगा। 'लोगों की सरकार' के स्थान पर 'लोग ही सरकार' के सिद्धांत पर त्रि-स्तरीय पंचायत राज संस्थाओं को सशक्त बनाया जायेगा। ग्राम सभाओं को और अधिक सशक्त बनाते हुए विशेष महिला ग्राम सभाएं आयोजित की जायेंगी। परिवर्तन के साथ नई कार्य संस्कृति जरूरी मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रशासन में नयी कार्य-संस्कृति लाना जरूरी है। नये नजरिये और दृष्टिकोण के साथ परिवर्तन आयेगा। उन्होंने सभी शासकीय और पुलिस कर्मचारियों तथा अधिकारियों से अपेक्षा की कि वे जन सेवा का कार्य पूरी ईमानदारी के साथ करेंगे। सरकारी विभागों और सरकारी अमले के कामों का मूल्यांकन जनता करेगी। जनता का मूल्यांकन ही सही माना जायेगा। मध्यप्रदेश शासन-प्रशासन और आम लोगों के बीच समन्वय का उदाहरण पेश करेगा। सरकार हर वर्ग की चिंता करेगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सरकार से लोगों को नाउम्मीदी नहीं होगी। प्रचार कम, काम ज्यादा होगा। आने वाले पांच सालों में प्रदेश को पूरी तरह विकसित प्रदेश बनाने की राह पर तेजी से काम करने के लिये राज्य सरकार संकल्पित है।

मुख्यमंत्री निवास में प्रमुख सचिव श्री वर्णवाल ने किया ध्वजारोहण
26 January 2019
गणतंत्र दिवस के अवसर पर मुख्यमंत्री निवास में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के प्रमुख सचिव श्री अशोक वर्णवाल ने ध्वजारोहण किया। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के विशेष कर्त्तव्यस्थ अधिकारी श्री भूपेन्द्र गुप्ता, मुख्यमंत्री सचिवालय के अधिकारी, मुख्यमंत्री के निजी, प्रशासनिक एवं सुरक्षा स्टाफ में पदस्थ अधिकारी और कर्मचारी उपस्थित थे।

म.प्र. में समावेशी अर्थ-व्यवस्था का मॉडल बनेगा
23 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि बेरोजगारी और किसानों की आर्थिक समस्याओं को हल करते हुए भारत की अर्थ-व्यवस्था को समावेशी अर्थ-व्यवस्था बना कर इसका विस्तार करना जरूरी हो गया है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश में समावेशी अर्थ-व्यवस्था का मॉडल बनाया जाएगा। दावोस में विश्व आर्थिक मंच के वार्षिक सम्मेलन में आज दूसरे दिन 'उभरते बाजार' सत्र को संबोधित करते हुए मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि भारत विश्व की दूसरी सबसे बड़ी अर्थ-व्यवस्था बनने की दौड़ में है। इसके सामने कई बड़ी चुनौतियाँ भी हैं। श्री कमल नाथ ने कहा कि आज बेरोजगारी सबसे बड़ी समस्या है । किसानों की आर्थिक स्थिति को मजबूत बनाना एक बड़ी चुनौती है। मुख्यमंत्री ने कहा कि भारत की आर्थिक प्रगति की संभावनाओं का पूरा दोहन करने के लिए जरूरी है कि सबसे पहले इन ज्वलंत मुद्दों से निपटने की तैयारी करें। मुख्यमंत्री ने सत्र को संबोधित करते हुए कहा कि सतत आर्थिक विकास के लिए पर्यावरण के मुद्दों पर भी साथ-साथ ध्यान देना जरुरी है। उन्होंने कहा कि समाज में बढ़ती गैर-बराबरी की समस्या भी एक मुद्दा बनकर सामने आया है। उन्होंने कहा कि न्याय की समानता आर्थिक असमानता को दूर कर सकेगी। उन्होंने कहा कि यह भारत की नहीं बल्कि विश्व के सभी देशों की समस्या है। इस पर वैश्विक चिंतन और समाधान आवश्यक है। भारत में जो किसानों की समस्या है, वह विश्व के अन्य किसानों की समस्याओं से अलग है। इसलिए समाधान भी एक समान नहीं हो सकते। श्री कमल नाथ ने कहा कि विश्व व्यापार में बढ़ोतरी के लिए कानून आधारित व्यापारिक व्यवस्थाएँ जरूरी हैं।

नेताजी भारत रत्‍न थे, भारत रत्‍न है, भारत रत्‍न रहेंगे : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
23 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज सुभाष स्कूल चौराहे पर नेताजी सुभाष चन्द्र बोस की प्रतिमा पर पुष्पाजंलि अर्पित की। उन्होंने कहा कि नेताजी का आज़ादी के आंदोलन में अद्भुत और अविस्मरणीय योगदान रहा है। उनके द्वारा दिया गया 'जय हिन्द'' का नारा आज भी हर एक में जोश और स्फूर्ति पैदा करता है। नेताजी ने न केवल राजनीतिक जीवन में उच्चतम आयाम स्थापित किए अपितु आज़ाद हिन्द सेना का गठन और सफल नेतृत्व कर स्वतंत्रता आंदोलन में उच्चतम प्रतिमान स्थापित किए। हम सब उनकी जयंती के अवसर पर उन्हें सादर नमन करते है। श्री शर्मा ने कहा कि नेताजी भारत रत्‍न थे, भारत रत्‍न है और भारत रत्‍न रहेंगे।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने मध्यप्रदेश माध्यम के कर्मचारियों को एरियर का चेक सौंपा
23 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने आज मध्यप्रदेश माध्यम के कर्मचारियों को 7वें वेतनमान के एरियर की प्रथम किश्त 61 लाख 73 हजार 520 रूपये का चेक सौंपा। उन्होंने इस अवसर पर कर्मचारियों को शुभकामनाएँ दी। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव जनसम्पर्क श्री एम.गोपाल रेड्डी, सचिव एवं आयुक्त जनसम्पर्क श्री पी. नरहरि भी मौजूद थे।

आगामी खेलो इंडिया यूथ गेम्स के मैडल में हो चार गुना बढ़ोतरी
23 January 2019
खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी आज टी.टी. नगर स्टेडियम पहुँचे और खेलो इंडिया यूथ गेम्स के पदक विजेता स्टार खिलाड़ियों को उनके शानदार प्रदर्शन के लिए बधाई और शाबाशी देकर उनका उत्साहवर्धन किया। उन्होंने खेल प्रशिक्षकों को भी बधाई दी। इस अवसर पर मौजूद संचालक खेल और युवा कल्याण डाँ. एस.एल. थाउसेन ने खेल मंत्री को खेलो इंडिया यूथ गेम्स में भागीदारी कर पदक अर्जित करने वाले खिलाड़ियों का परिचय कराते हुए यूथ गेम्स में खिलाड़ियों द्वारा अर्जित उपलब्धि से अवगत कराया। खेल सुविधाओं में धन की कमी आडे़ नहीं आयेगी खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि खेलो इंडिया यूथ गेम्स में हमारे खिलाड़ियों ने मैडल जीतकर मध्यप्रदेश का गौरव बढ़ाया है। इस उपलब्धि पर हमें गर्व है। उन्होंने यूथ गेम्स के स्टार खिलाड़ियों को आगामी खेलो इंडिया यूथ गेम्स में मध्यप्रदेश के पदकों की संख्या में चार गुना बढ़ोतरी करने के लिए प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खिलाड़ियों की खेल सुविधाओं में धन की कमी आडे़ नहीं आने दी जायेगी। खेलों में मध्यप्रदेश बनेगा देश का नम्बर वन राज्य खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि मध्यप्रदेश में खेलों के क्षेत्र में अपार संभावनाएँ हैं। इसे दृष्टिगत रखते हुए खेलों के विकास के लिए सरकार द्वारा हरसंभव प्रयास किए जा रहे हैं ताकि मध्यप्रदेश देश का अग्रणी राज्य बने। उन्होंने बताया कि प्रदेश के खिलाड़ियों को उनकी प्रतिभा का प्रदर्शन करने के पर्याप्त अवसर दिलाने के लिए सरकार द्वारा कोई कसर बाकी नहीं रखी जायेगी। इसके लिए व्यवस्थित कार्य योजना तैयार की जा रही है। उन्होंने बताया कि भोपाल के अलावा प्रदेश के चार बड़े शहरों में भी आवश्यकता के अनुसार खेल अकादमी स्थापित की जायेगी ताकि राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं के लिए प्रतिभावान खिलाड़ी तैयार हों और देश के लिए पदक जीत सकें। खेलों से मिलता है बेहतर स्वास्थ्य खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने खेलों के महत्व को रेखांकित करते हुए कहा कि जीवन में जिस प्रकार अच्छे संसाधन, अच्छा घर, अच्छा परिवार जरूरी होता है, उसी प्रकार खेलों से हमें अच्छा स्वास्थ्य मिलता है। अच्छा स्वास्थ्य ही सफल जीवन का परिचायक है। उन्होंने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए कहा कि खूब खेलो, खूब परिश्रम करो और मैडल जीतकर प्रदेश का नाम रोशन करो। रविवार को होगा प्रोत्साहन राशि का वितरण खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी रविवार 27 जनवरी, 2019 को टी.टी. नगर स्टेडियम में पूर्वांह 12 बजे आयोजित कार्यक्रम में खेलो इंडिया यूथ गेम्स के पदक विजेता स्टार खिलाड़ियों को प्रोत्साहन राशि का वितरण करेंगे। कार्यक्रम में खेल मंत्री श्री पटवारी खिलाड़ियों से खुलकर चर्चा भी करेंगे।

अनियमितताओं के दोषी बख्शे नहीं जायेंगे : मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह
23 January 2019
सहकारिता मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने अधिकारियों को जय किसान फसल ऋण माफी योजना का समयबद्ध क्रियान्वयन करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने स्पष्ट कहा है कि कतिपय कृषकों द्वारा ऋण नहीं लेने के बावजूद उनके नाम से ऋण प्रकरण बनाये जाने जैसे मामलों में दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जाये। सहकारिता मंत्री ने कहा कि सहकारी क्षेत्र में अनियमित कार्य करने वालों को बख्शा नहीं जायेगा। मंत्री डॉ. सिंह ने कहा है कि सहकारी अधिनियम के प्रावधान के अनुरूप कृषकों द्वारा लिये गये ऋण की सूची प्रति वर्ष तहसीलदार को भेजी जाये। कृषक की ऋण पुस्तिका में भी प्रविष्टि की जाये। उन्‍होंने कहा कि व्यवसायिक बैंकों की तरह सहकारी बैंक द्वारा भी कृषकों के अभिलेखों में ऋण की प्रविष्टि ऑनलाइन की जाये। सहकारिता मंत्री ने होशंगाबाद और हरदा जिलों से प्राप्त शिकायतों की जाँच के निर्देश प्रमुख सचिव को दिये हैं। सहकारिता मंत्री ने वर्ष 2007 में भारत शासन द्वारा ऋण माफी/राहत योजना में सामने आई आर्थिक अनियमितताओं के दोषी कर्मचारियों का उत्तरदायित्व निर्धारित कर विस्तृत जानकारी प्रस्तुत करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा है कि होशंगाबाद, हरदा, भिण्ड, पन्ना और सागर जिलों में हुई अनियमितताओं का विस्तृत विवरण उपलब्ध करवाया जाये। योजना में अप्रैल 2007 के पश्चात के ऋण प्रकरणों को ही शामिल किया जाये।

राजगढ़ में विस्थापितों का पुनर्वास सर्वे पुन: करवायें - प्रभारी मंत्री श्री सिंह
23 January 2019
राजगढ़ जिले की मोहनपुरा और कुण्डालिया बाँध परियोजना के विस्थापितों का पुनर्वास संबंधी सर्वे एक बार पुन: करवाया जाये, ताकि एक भी पात्र व्यक्ति लाभ से वंचित नहीं रहे। नगरीय विकास एवं आवास मंत्री तथा राजगढ़ जिला प्रभारी श्री जयवर्द्धन सिंह ने आज राजगढ़ में आयोजित जिला योजना समिति की बैठक में यह निर्देश दिये। ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह, विधायक सर्वश्री बाबू सिंह तंवर, गोरधन दांगी और राज्यवर्द्धन सिंह, जिला पंचायत अध्यक्ष श्रीमती गायत्री जसवंत गुर्जर सहित जिला योजना समिति के अन्य सदस्य बैठक में मौजूद थे। मंत्री श्री सिंह ने विस्थापितों के पुनर्वास कार्य को शीघ्र पूर्ण करने के लिये कहा। बैठक में बताया गया कि जिला मुख्यालय पर नेवज नदी के शहरी प्रवाह क्षेत्र में 36 करोड़ रुपये लागत की सौंदर्यीकरण परियोजना क्रियान्वित की जा रही है। इसमें शहर के विभिन्न क्षेत्रों में सौंदर्यीकरण के कार्यों को प्रस्तावित किया गया है। बैठक में जय किसान फसल ऋण माफी योजना सहित किसानों से जुड़े अन्य मुद्दों और विभिन्न कार्यक्रमों की प्रगति की समीक्षा भी की गई। मंत्री श्री सिंह ने राजगढ़ जिले के हिरनखेड़ी जोड़ पर 21 लाख 60 हजार रुपये लागत से बनने वाले सामुदायिक भवन और पिपलोदी जोड़ पर बनने वाले बाबा रामदेव मंदिर का भूमि-पूजन किया। उन्होंने इसके लिये अपनी ओर से 5 लाख रुपये की राशि देने की घोषणा भी की। मंत्री श्री सिंह ने उत्कृष्ट विद्यालय में छात्र-छात्राओं को साइकिल भी वितरित की।

राजधानी में निश्चित समय में हो पीडब्ल्यूडी की सड़कों का निर्माण
23 January 2019
लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज यहाँ निर्माण भवन में अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि राजधानी भोपाल में विभाग की निर्माणाधीन सड़कों को गुणवत्ता के साथ निश्चित समय-सीमा में पूरा किया जाये। उन्होंने कहा कि जो ठेकेदार निर्माण कार्यों में देरी कर रहे हैं, उन्हें ब्लैक लिस्टेड कर उनके विरुद्ध कार्यवाही करें। श्री वर्मा ने राजधानी परिक्षेत्र के निर्माण कार्यों की भी समीक्षा की। बैठक में प्रमुख अभियंता, लोक निर्माण श्री अखिलेश अग्रवाल मौजूद थे। बैठक में बताया गया कि भोपाल में भदभदा-बिलकिसगंज-सीहोर सड़क के चौड़ीकरण कार्य की शुरूआत कर दी गई है। इस मार्ग की 8 किलोमीटर सड़क को फोरलेन किया जा रहा है। इस पर 30 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। यह कार्य आगामी 18 महीने में पूरा कर लिया जायेगा। इसी तरह, कलियासोत से बरही तक 12 किलोमीटर टू-लेन रोड का कार्य भी शुरू कर दिया गया है। इस मार्ग के बनने पर चूनाभट्टी, गुलमोहर, बागमुगालिया और कटारा हिल्स के यातायात को सुगम बनाया जा सकेगा। टू-लेन रोड के निर्माण कार्य पर 50 करोड़ रुपये की राशि खर्च की जा रही है। यह कार्य 10 फरवरी, 2020 तक पूरा कर लिया जायेगा। यह टू-लेन रोड होशंगाबाद बायपास पर जाकर मिलेगी। बैठक में जानकारी दी गई कि राजधानी परिक्षेत्र लोक निर्माण विभाग पर भोपाल के अधीन 14 हजार से अधिक सरकारी मकानों के संधारण के कार्य हैं। राजधानी भोपाल में बी-श्रेणी के 114, सी-श्रेणी के 75, डी-श्रेणी के 287, ई-श्रेणी के 515, एफ-श्रेणी के 1686, जी-श्रेणी के 2917, एच-श्रेणी के 4425 और आई-श्रेणी के 3916 शासकीय आवास हैं। बैठक में बताया गया कि न्यू डेवलपमेंट बैंक से करीब 300 करोड़ रुपये लागत के विदिशा और होशंगाबाद जिले के 5-5 सड़क कार्यों को मंजूरी मिली है। ये कार्य शुरू किये जा रहे हैं। केन्द्र सरकार के सेंटर रिजर्व फण्ड से करीब 325 किलोमीटर लम्बाई की सड़कों की स्वीकृति मिली है। इस कार्य पर करीब 585 करोड़ की राशि खर्च की जायेगी।

प्लेसमेंट के लिए योग्य विद्यार्थियों को ही रोजगार मेले में बुलाएँ
23 January 2019
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने रोजगार मेलों में प्लेसमेंट के लिए सिर्फ अंतिम वर्ष के योग्य विद्यार्थियों को ही बुलाए जाने के निर्देश दिए हैं। श्री पटवारी ने रोजगार मेलों में कौन-कौन सी कंपनियाँ आ रही है, उसमें कितने प्लेसमेंट है तथा कितने बच्चों को नियुक्ति पत्र दिये गए हैं, इसकी मानीटरिंग भी सुनिश्चित करने के निर्देश दिए। उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी आज मंत्रालय में विश्व बैंक तथा राष्ट्रीय उच्चतर शिक्षा अभियान (रूसा) परियोजना की समीक्षा कर रहे थे। मंत्री श्री जीतू पटवारी ने शासकीय महाविद्यालयों के छात्रावासों की स्थिति की समीक्षा करते हुए कहा कि ऐसे महाविद्यालय जिनमें कन्या छात्रावास भवन है परंतु छात्रावास संचालन नहीं हो रहा है। ऐसे महाविद्यालयों के प्राचार्यों को पत्र लिख कर वस्तुस्थिति की जानकारी आठ दिन के अंदर बुलाई जाए। उच्च शिक्षा मंत्री ने कहा कि अधोसंरचना पर आवंटित बजट का लगभग 90 प्रतिशत समयावधि में उपयोग हो, यह सुनिश्चित किया जाय। साथ ही महाविद्यालयों के निर्माण कार्यों से संबंधित निविदाओं को जल्द ऑनलाइन अपलोड करने की व्यवस्था करें। श्री पटवारी ने उन सभी कॉलेजों को जो विश्व बैंक परियोजना में चिन्हित किए गए हैं उनकी वास्तविक स्थिति की जाँच करवाने के भी निर्देश दिए। इस अवसर पर प्रमुख सचिव उच्च शिक्षा श्री नीरज मण्डलोई उपस्थित थे।

मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने सखी संवाद में आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं से सीधी बात की
23 January 2019
महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने आज गुना में राष्ट्रीय बालिका दिवस के अवसर पर सखी संवाद कार्यक्रम में आँगनवाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं से सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका ईमानदारी और निष्ठा से दायित्वों का निर्वहन करें। साथ ही कुपोषण को मिटाने में पूरे मनोयोग से कार्य करें। उन्होंने आँगनवाड़ी केन्द्रों को नियमित खोलने और आँगनवाड़ी केन्द्रों के माध्यम से संचालित कार्यक्रमों का बेहतर ढंग से क्रियान्वयन सुनिश्चित करने को भी कहा। सखी संवाद कार्यक्रम में आँगनवाड़ी कार्यकताओं और सहायिकाओं द्वारा काम को सरल और अधिक उपयोगी ढंग से करने के संबंध में दिये गये सुझावों पर मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने आवश्यक कार्यवाही की बात कही। बेटा-बेटी में भेदभाव नहीं करने और बेटियों को आगे बढ़ने के पूरे अवसर मुहैया कराने का उपस्थितजनों से आव्हान करते हुए कहा कि बेटियाँ पढ़ेंगी, तो आगे बढ़ेंगी। इस अवसर पर कार्यक्रम को श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने भी संबोधित किया।

दावोस में विश्व आर्थिक मंच पर मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
22 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज से स्विट्जरलैंड के दावोस में शुरू हुए विश्व आर्थिक मंच के 49वें सम्मेलन में वैश्विक निवेश समुदाय से मध्यप्रदेश को आर्थिक शक्ति बनाने पर चर्चा की। यह सम्मेलन 25 जनवरी तक चलेगा। इसमें विश्व के 3200 उद्योग एवं व्यापार प्रतिनिधि और 100 देश के राष्ट्र प्रमुख भाग ले रहे हैं। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने वर्ल्ड इकॉनामिक फोरम के शुभारंभ सत्रों के दौरान कई राजनयिकों और व्यापार प्रतिनिधियों से भेंट की। श्री कमल नाथ ने साउथ अफ्रीका के व्यापार एवं निवेश मंत्री रॉब डेविस से मुलाकात की। इसके अलावा मुख्यमंत्री प्रॉक्टर एंड गेम्बल के एशिया पैसिफिक, इंडिया एंड अफ्रीका के प्रेसीडेंट श्री मंगेश्वरण सुरंजन से मिले और मध्यप्रदेश में निवेश को लेकर चर्चा की। श्री कमल नाथ ने आईएमएफ न्यूज की प्रेसीडेंट सुश्री लागार्ड से भेंट के दौरान भारत की अर्थ-व्यवस्था पर चर्चा की। उन्होंने डब्ल्यूईएफ के फ्यूचर ऑफ मॉबिलिटी सिस्टम के हेड श्री क्रिस्टोफ वोल्फ से भी मुलाकात की।

जय किसान फसल ऋण माफी योजना में गड़बड़ी पर होगी सख्त कार्यवाही
22 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण एवं उच्च शिक्षा मंत्री तथा देवास जिले के प्रभारी श्री जीतू पटवारी ने आज देवास में जिला योजना समिति की बैठक में निर्देश दिये हैं कि जय किसान फसल ऋण माफी योजना में अगर किसी भी तरह की गड़बड़ी की या पायी गई तो जिम्मेदार अधिकारियों/कर्मचारियों के विरूद्ध कड़ी कार्यवाही की जायेगी। श्री पटवारी ने बैकों को किसानों की सूचियाँ हिन्दी में प्रदर्शित करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि 26 जनवरी को किसानों की सूचियों का वाचन ग्रामसभा में किया जाये और 22 फरवरी से किसानों के खाते में राशि पहुँचाना सुनिश्चित हो। साथ ही ओला-पाला से प्रभावित फसलों का सर्वे तथा प्रकरण को बीमा कंपनी को भिजवाने के भी निर्देश दिये। मंत्री श्री जीतू पटवारी ने मध्यप्रदेश राज्य ग्रामीण आजीविका मिशन के तहत संचालित योजनाओं की समीक्षा करते हुए निर्देश दिये कि बच्चों के गणवेश के कपड़ों की गुणवत्ता को लेकर जाँच समिति गठित करें। श्री पटवारी ने ग्राम पंचायतों में गौशाला खोलने की योजना के तहत प्रत्येक ग्राम पंचायत में गौशाला खोलने के लिए जल्द से जल्द जमीन चिन्हित करने के निर्देश दिये। 72 घंटे में बदले जाये जले/खराब ट्रांसफार्मर मंत्री श्री जीतू पटवारी ने बैठक में ट्रांसफार्मर खराब होने और निर्धारित समय अवधि में न बदले जाने की शिकायत पर संबंधित ग्राम पंचायत के सरपंच को मोबाईल पर सीधे संपर्क कर ट्रांसफार्मर की स्थिति की जानकारी ली। उन्होंने इसके लिए जिम्मेदार अधिकारी के विरूद्ध कार्यवाही करने के निर्देश दिये। प्रभारी मंत्री ने शहरी क्षेत्र में एक दिन तथा ग्रामीण क्षेत्र में 72 घंटों में ट्रांसफार्मर बदलने के शासन आदेश की अवहेलना करने पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। इस अवसर पर लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा, विधायकगण सर्वश्री मनोज चौधरी, गायत्रीराजे पॅवार, आशीष शर्मा, पहाड़सिंह कन्नौजे उपस्थित थे।

लक्ष्य कार्यक्रम पर पूरी निष्ठा से अमल करें
22 January 2019
एनएचएम मिशन संचालक श्री निशांत वरवड़े ने आज यहाँ प्रसूति गृह और ऑपरेशन कक्ष में देखभाल की गुणवत्ता में सुधार के उद्देश्य से हाल ही में स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्रालय द्वारा शुरू किये गये लक्ष्‍य कार्यक्रम संबंधी कार्यशाला का शुभारंभ किया। उदघाटन सत्र में श्री वरवड़े ने कहा कि कार्यक्रम को चिकित्सक और हॉस्पिटल का अन्य स्टॉफ पूरी ईमानदारी और निष्ठा से क्रियान्वित करे। उन्होंने कहा कि इसके सफल क्रियान्वयन से मातृ-शिशु मृत्यु दर में कमी आयेगी। इससे प्रसव के बाद स्वस्थ जच्चा-बच्चा हॉस्पिटल से अपने घर जायेगा। उन्होंने कहा कि शासकीय अस्पतालों में लक्ष्य कार्यक्रम को क्रियान्वित करने के लिये सभी आवश्यक संसाधन और सुविधाएँ मुहैया करवाई जा रही हैं। उप संचालक डॉ. अर्चना मिश्रा और डॉ. पंकज शुक्ला ने कार्यशाला के तकनीकी सत्रों को संबोधित किया। डॉ. मिश्रा ने बताया कि लक्ष्य कार्यक्रम के प्रथम चरण में 5 मेडिकल कॉलेज अस्पताल और 18 जिला अस्पताल को शामिल किया गया है। कार्यशाला में 14 जिला अस्पताल के सिविल सर्जन, स्त्री रोग विशेषज्ञ और मेटरनिटी विभाग का अन्य स्टॉफ शामिल हुआ।

रेरा एक्ट को और अधिक सशक्त बनाया जाये : श्री अंटोनी डिसा
22 January 2019
नागरिकों की आवास संबंधी समस्याओं के निराकरण और उन्हें गुणवत्तापूर्ण आवास उपलब्ध करवाने के लिये जरूरी है कि रेरा (रियल इस्टेट रेग्युलेटरी अथॉरिटी) एक्ट को और अधिक सशक्त और प्रभावी बनाया जाये। मध्यप्रदेश रेरा के चेयरमेन श्री अंटोनी डिसा ने यह बात नई दिल्ली में शहरी विकास और आवास विभाग की बैठक में कही। महाराष्ट्र सहित अन्य राज्यों के रेरा पदाधिकारियों ने भी श्री डिसा की बातों का समर्थन किया। श्री डिसा ने कहा कि प्राधिकरण को केवल मुआवजा निर्धारण ही नहीं, बल्कि रियल इस्टेट को भी प्रोत्साहित करना है। इसके बाद भी किसी भी पक्ष द्वारा आदेश के पालन में कोताही करने पर उसके विरुद्ध कठोर कार्यवाही के लिये प्राधिकरण को और अधिक अधिकार देने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि रेरा एक्ट में संशोधन करते समय मध्यप्रदेश में हुए अनुभव का ध्यान जरूर रखा जाये। श्री डिसा ने कहा कि रेरा एक्ट के क्रियान्वयन में मध्यप्रदेश देश में अग्रणी रहा है। उन्होंने कहा कि वर्तमान में रेरा में बगैर पंजीयन के भी कुछ बिल्डर प्लाट और फ्लेट की बिक्री कर लेते हैं। इससे आवंटी के हितों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ता है और उसकी भरपाई बाद में प्रभावी रूप से नहीं हो पाती है। इस ओर भी ध्यान देने की जरूरत है। श्री डिसा ने बताया कि मध्यप्रदेश रेरा प्राधिकरण में प्राप्त 2583 प्रकरण में से 1435 पर आदेश पारित किया जा चुका है। उन्होंने बताया कि अवैध प्रोजेक्ट के विरुद्ध भी लगातार कार्यवाही की जा रही है। अवैध प्रोजेक्ट की जानकारी के लिये हेल्पलाइन नम्बर-8989880123 शुरू किया गया है। इस नम्बर पर पूरे प्रदेश से लगातार अवैध कॉलोनियों की जानकारी मिल रही है।

ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने किया स्टेट लोड डिस्पेच सेंटर का निरीक्षण
22 January 2019
ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने जबलपुर में स्टेट लोड डिस्पेच सेंटर का निरीक्षण किया। श्री सिंह ने सेंटर की कार्य-प्रणाली के बारे में जानकारी ली। सेंटर की ग्रिड अनुशासन के साथ सुचारु विद्युत आपूर्ति में महत्वपूर्ण भूमिका होती है। ऊर्जा मंत्री ने सेंटर द्वारा नवकरणीय ऊर्जा उत्पादन का बिना कटौती के ग्रिड में समायोजन सहित अन्य कार्यों के बारे में चर्चा की। एम.पी. पावर मैनेजमेंट कम्पनी के प्रबंध संचालक श्री संजय कुमार शुक्ल ने बताया कि बिजली आपूर्ति में ग्रिड की महत्वपूर्ण भूमिका रहती है। स्टेट लोड डिस्पेच सेंटर को ग्रिड के अनुशासन और बिजल फ्रिक्वेंसी पर विशेष ध्यान रखना पड़ता है। इस दौरान सामाजिक न्याय मंत्री श्री लखन घनघोरिया, वित्त मंत्री श्री तरुण भानोत, विधायक द्वय श्री संजय यादव एवं श्री विनय सक्सेना तथा अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

अनुदान भी मिलेगा और मानदेय भी बढ़ेगा : धर्मस्व मंत्री श्री शर्मा
21 January 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी एवं विमानन मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज मध्यप्रदेश संत पुजारी महासंघ के स्थापना दिवस समारोह को संबोधित करते हुए कहा कि सरकार शीघ्र ही पुजारियों के मानदेय में पांच गुना तक वृद्धि करने जा रही है। उन्होंने मंदिरों के रख-रखाव और संरक्षण के लिए अनुदान भी दिए जाने की बात कही। श्री शर्मा ने कहा कि संत पुजारियों एवं धार्मिक स्थलों से संबंधित समस्याओं का निराकरण शीघ्र ही किया जाएगा। उन्होंने कहा कि सरकार ने अध्यात्म विभाग का गठन किया है। सभी समस्याओं के निराकरण के लिए कदम उठाए जा रहे हैं। कार्यक्रम में पुजारियों के द्वारा मांग पत्र धर्मस्व मंत्री को सौंपा गया। मांग पत्र में उल्लेखित मांगों पर विचार उपरांत उन्हें पूरा करने के हर संभव प्रयास किए जाने को श्री शर्मा ने आश्वस्त किया है। कार्यक्रम में पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, संत पुजारी संघ के उपाध्यक्ष श्री जगदीश शर्मा, श्री नरेन्द्र दीक्षित, श्री राकेश चतुर्वेदी, श्री धु्व नारायण एवं अन्य पुजारी उपस्थित थे।

जनसम्पर्क मंत्री द्वारा सुश्री दिव्या पंवार सम्मानित
21 January 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज पुरानी जेल स्थित मंदिर परिसर में दिव्या पंवार को सम्मानित किया। सुश्री पंवार ने दो दिन पहले ही 'खेलो इंडिया सेकेण्ड यूथ गेम्स'' पुणे में बॉक्सिंग के 54 किलोग्राम वर्ग में फायनल स्पर्धा में हरियाणा की बॉक्सर सुश्री शिवानी को हराकर गोल्ड मेडल जीता है। श्री शर्मा ने कहा कि सुश्री दिव्या ने अपने पॉवर से प्रदेश को गौरवान्वित किया है। उन्होंने दिव्या के उज्जवल भविष्य की कामना की। स्कूल का निरीक्षण मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने पुरानी जेल के सामने तात्या टोपे शासकीय हाई स्कूल का निरीक्षण किया। उन्होंने स्कूली विद्यार्थियों और शिक्षकों से उनकी समस्याओं संबंधी पड़ताल की। श्री शर्मा ने कहा कि स्कूल की सभी मूलभूत आवश्यकताओं को जल्द ही पूरा किया जाएगा।

मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने केन्द्रीय राज्य मंत्री श्री पुरी से की भेंट
21 January 2019
प्रदेश के नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्द्धन सिंह ने सोमवार को नई दिल्ली में शहरी विकास और आवास राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) श्री हरदीप सिंह पुरी से भेंट कर प्रदेश में चल रही विभागीय योजनाओं के संबंध में चर्चा की। श्री जयवर्द्धन सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में कुल 712 करोड़ रुपये आवंटित करने की माँग की। श्री सिंह ने प्रधानमंत्री आवास योजना (शहरी) में लगभग एक लाख आवासों के लिये 600 करोड़ रुपये की प्रथम किश्त और द्वितीय किश्त के रूप में 112 करोड़ रुपये आवंटित करने का आग्रह किया। मंत्री श्री सिंह ने दीनदयाल अंत्योदय योजना-राष्ट्रीय शहरी आजीविका मिशन में वित्तीय वर्ष 2018-19 की द्वितीय किश्त के 29 करोड़ 51 लाख रुपये जारी करने का अनुरोध किया। मंत्री श्री सिंह ने स्वच्छ भारत मिशन में 25 हजार 160 सामुदायिक और सार्वजनिक शौचालय निर्माण का लक्ष्य पूरा करने के लिये 14 करोड़ 32 लाख रुपये का अतिरिक्त आवंटन जारी करने का आग्रह किया है। श्री सिंह ने इस अतिरिक्त आवंटन की माँग के पीछे सार्वजनिक शौचालय की पुनरीक्षित लागत को बताया है। उन्होंने प्रदेश में शहरी विकास योजनाओं की अद्यतन स्थिति से भी अवगत कराया। इस दौरान प्रमुख सचिव नगरीय विकास एवं आवास श्री प्रमोद अग्रवाल भी उपस्थित थे।

अंतिम व्यक्ति तक पहुँचे योजनाओं का लाभ - ऊर्जा मंत्री श्री सिंह
21 January 2019
ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने विकास कार्यों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन के प्रति सकारात्मक दृष्टिकोण अपनाने के निर्देश देते हुए अधिकारियों से कहा है कि उन्हें इस बात पर खास ध्यान देना होगा कि जिन लोगों के लिये योजनाएँ बनाई जा रही हैं, उन तक उनका लाभ हर हाल में पहुँचे। मंत्री श्री सिंह आज प्रभार के जिले जबलपुर के कलेक्टर कार्यालय में आयोजित बैठक में विभिन्न विकास कार्यों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा कर रहे थे। बैठक में सामाजिक न्याय, नि:शक्तजन कल्याण एवं अनुसूचित जाति कल्याण मंत्री श्री लखन घनघोरिया तथा वित्त, योजना, आर्थिक एवं सांख्यिकी मंत्री श्री तरुण भनोत भी मौजूद थे। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि जन-आकांक्षाओं के अनुरूप कार्य करना है। योजनाओं का सीधा लाभ उस आखिरी व्यक्ति तक पहुँचे, जिनके लिये योजनाएँ संचालित की जा रही है। उन्होंने गर्मियों के दौरान जबलपुर जिले में पेयजल आपूर्ति को लेकर जन-प्रतिनिधियों द्वारा दिये गये सुझावों पर अमल करने के निर्देश दिये। श्री सिंह ने बैठक में सार्वजनिक वितरण प्रणाली और खाद्य सुरक्षा अधिनियम के तहत पात्र परिवारों को खाद्यान्न वितरण की स्थिति पर चर्चा करते हुए अधिकारियों को गरीबों के हक के राशन की कालाबाजारी करने वालों पर सख्त कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शराब के अवैध करोबार में लिप्त लोगों की तरह पुलिस सार्वजनिक वितरण प्रणाली के खाद्यान्न के अवैध परिवहन में लगे तत्वों और इसके लिये प्रयुक्त वाहनों की धरपकड़ की कार्यवाही भी करें। बैठक में विधायक श्री विनय सक्सेना, श्री संजय यादव, कलेक्टर श्रीमती छवि भारद्वाज, पुलिस अधीक्षक श्री अमित सिंह, जिला पंचायत की सीईओ सुश्री रजनी सिंह, नगर निगम आयुक्त चन्द्रमौलि शुक्ला आदि मौजूद थे।

पुष्पेन्द्र पाल सिंह फिर चुने गए पीआर सोसाइटी भोपाल के आध्यक्ष। संजीव गुप्ता सचिव के रूप में और श्री मनोज द्विवेदी कोषाध्यक्ष होगे ।
20 January 2019
पब्लिक रिलेशन सोसाइटी भोपाल में, एजीएम श्री पुष्पेन्द्र पाल सिंह को फिर से सर्वसम्मति से आध्यक्ष चुना गया। जबकि श्री संजीव गुप्ता सचिव के रूप में और श्री मनोज द्विवेदी पीआर समाज के कोषाध्यक्ष के रूप में चुने गए ।
aa श्री पुष्पेन्द्र पाल सिंह ने कहा, “अब हमारे पास भोपाल में 2020 PRSI वार्षिक सम्मेलन को सफलतापूर्वक आयोजित करने की चुनौती है। मैं इस सम्मेलन को सबसे यादगार बनाने के लिए सभी सम्मानित सदस्यों की मदद और मार्गदर्शन मांग रहा हूं ” एजीएम वार्षिक रिपोर्ट तथा परीक्षित लेखा, सचिव श्री संजीव गुप्ता द्वारा प्रस्तुत और पढ़े गए। साथ ही सभी सदस्यों ने एक साथ दोपहर के भोजन का आनंद लिया।

पत्रकारों का सम्मान बरकरार रखा जाएगा -जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
20 January 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आज यहाँ जर्नलिस्ट यूनियन ऑफ एमपी (जम्प) की कार्य समिति की बैठक में शामिल हुए। श्री शर्मा ने कहा कि राज्य सरकार मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में पत्रकारों के सम्मान को बरकरार रखने के लिए सभी आवश्यक कदम उठाएगी। मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि सरकार शीघ्र ही पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट को विधि एवं विधायी कार्य विभाग के पास आवश्यक परीक्षण के लिए भेज रही है। तत्पश्चात शीघ्र ही आगे की कार्यवाही की जाएगी। यूनियन के प्रदेश महासचिव श्री नवीन आनंद जोशी ने श्री पी.सी. शर्मा को स्मृति-चिन्ह भेंटकर मांग-पत्र सौपा।

जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने किया मैराथन सहभागियों का उत्साहवर्धन
20 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने आज टी.टी. नगर स्टेडियम में मैराथन के सहभागियों का उत्साहवर्धन किया। उन्होंने कहा कि खेलकूद से तन और मन दोनों ही स्वस्थ रहते हैं। श्री शर्मा पंचशील नगर के जैन मंदिर में पूजा में भी शामिल हुए। उन्होंने रहवासियों को आश्वस्त किया कि संपूर्ण प्रोजेक्ट बनाकर सड़क और नाली संबंधी समस्याओं का निराकरण किया जाएगा। श्री शर्मा बिसनखेड़ी में गुजराती समाज के पूजन कार्यक्रम में भी शामिल हुए। कार्यक्रम में श्री शर्मा का शॉल-श्रीफल से सम्मान किया गया। भदभदा बस्ती में 45 दिन में होगी पेयजल व्यवस्था जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने भदभदा बस्ती के रहवासियों के बीच पहुँचकर आश्वस्त किया कि उनकी पेयजल समस्या का निराकरण 45 दिन में कर दिया जाएगा। उन्होंने नगर निगम के अधिकारियों को मोबाइल पर ही समस्या के निराकरण के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि भदभदा बस्ती में शीघ्र ही बिजली के समुचित इंतजाम किए जायेंगे। रहवासियों की स्थायी आवासीय व्यवस्था की जाएगी। कार्यक्रम में पार्षद श्री मोनू सक्सेना भी मौजूद थे।

आगामी 39वीं वालीवॉल प्रतियोगिता नये इंडोर स्टेडियम में आयोजित होगी : मंत्री श्री जयवर्धन सिंह
20 January 2019
स्वतंत्रा संग्राम सेनानी स्व. अमर सिंह राठौर (दद्दा जी) की स्मृति में पृथ्वीपुर में आयोजित वॉलीवाल टूर्नामेंट का आज भव्य समापन हुआ। 38वीं अखिल भारतीय वालीवॉल प्रतियोगिता के समापन अवसर पर खेल एवं युवा कल्याण तथा उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह, नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन मंत्री श्री सुरेंद्र सिंह बघेल और वाणिज्य कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर के साथ विधायक श्री नीरज विनोद दीक्षित, श्री संजय शर्मा, श्री प्रदुम्न लोधी, श्री कुणाल चौधरी तथा श्री राहुल लोधी शामिल हुए। समारोह में स्वागत भाषण के दौरान वाणिज्य कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने पृथ्वीपुर विधानसभा क्षेत्र एवं निवाड़ी जिले के विकास कार्यों की जानकारी भी दी। नगरीय विकास एवं आवास विभाग मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने पृथ्वीपुर में इंडोर स्टेडियम स्वीकृत करने और आगामी 39वीं वॉलीवाल प्रतियोगिता नये इंडोर स्टेडियम में आयोजित करने की बात कही। खेल एवं युवा कल्याण एवं उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि मोहनगढ़ महाविद्यालय में शीघ्र ही स्टाफ की कमी को दूर किया जायेगा। नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन विभाग मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल (हनी) ने कहा कि हमारे वाणिज्य कर मंत्री ने जो भी पर्यटन क्षेत्रों के विकास का प्रस्ताव प्रस्तुत किया है वह प्रस्तावित रूपरेखा सहित स्वीकृत कर शीघ्र ही अमल में लाया जायेगा।

घुमक्कड़, अर्द्धघुमक्कड़ और विमुक्त समुदाय को मिलेंगे रोजगार के अवसर
20 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा आ यहाँ गांधी भवन में विमुक्त एवं घुमक्कड़ और अर्द्वघुमक्कड़ समुदायों के एक जुटता दिवस कार्यक्रम में शामिल हुए। श्री शर्मा ने कहा कि इन वर्गों को पक्की छत मुहैया कराई जाएगी। जनसम्पर्क मंत्री ने कार्यक्रम में विमुक्कत घुमक्कड़ और अर्द्वघुमक्कड़ जनजाति राष्ट्रीय आयोग-2008 की "रेण्के समिति की सिफारिशें'' पुस्तक का विमोचन भी किया। श्री शर्मा ने कहा कि घुमक्कड़ और अर्द्वधुमक्कड़ एवं विमुक्त समुदायों के बच्चों की शिक्षा के लिए आवश्यक प्रबंध कराए जाएंगे। समुदाय के लोगों को रोजगार के अवसर भी उपलब्ध कराये जायेंगे। कन्या विवाह के लिए 51 हजार रूपए की सहायता राशि प्रदान की जायेगी। उन्होंने बताया कि समुदाय की बुजुर्ग एवं विधवा महिलाओं की पेंशन राशि तीन सौ रूपए से बढ़ाकर एक हजार रूपए कर दी गई है। घुमक्कड़ समुदायों की पुलिस द्वारा प्रताड़ित किए जाने संबंधी शिकायत पर श्री शर्मा ने कहा कि संबद्ध थानों में थानेदार और समुदाय के लोगों की बैठक करवाई जायेगी। संबंधित जिला कलेक्टर एवं पुलिस अधीक्षक स्तर पर भी प्रताड़ना संबंधी शिकायतों का निराकरण किया जाएगा। कार्यक्रम में प्रदेश के विभिन्न जिलों से कुचबंदियां पारदी, कंजर, बेडिया, बागरी, सिकलीगर एवं अन्य घुमक्कड़ एवं अर्द्वघुमक्कड़ और विमुक्त जातियों के प्रतिनिधियों के साथ ही पार्षद श्री योगेन्द्र सिंह चौहान, शहरी मजदूर संगठन भोपाल की सुश्री शिवानी तनेजा, विधिक सहायक एडवोकेट श्री अभय और वंचित महिला मंच की सुश्री सीमा देशमुख मौजूद थीं।

प्रदेश के खिलाड़ियों ने जीते 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य पदक
20 January 2019
महाराष्ट्र के पुणे में 9 से 20 जनवरी, 2019 तक आयोजित ‘खेलो इंडिया यूथ गेम्स’ के आज अंतिम दिन मध्यप्रदेश तीरंदाजी अकादमी की खिलाड़ी मुस्कान किरार ने रजत पदक पदक दिलाया। टेबल टेनिस में प्रदेश ने अंडर 17 में ओवर ऑल दूसरा स्थान प्राप्त किया। प्रदेश को रनर-अप ट्रॉफी से नवाजा गया। आज खेले गए तीरंदाजी के कंपाउंड अंडर-21 बालिका वर्ग के फायनल में मुस्कान किरार ने 144 अंकों के साथ रजत पदक अर्जित कर प्रदेश को गौरवान्वित किया। मुस्कान मात्र एक अंक से स्वर्ण पदक से दूर रह गई। झारखंड की खिलाड़ी अनिता कुमारी ने 145 अंकों के साथ स्वर्ण पदक जीता। राजस्थान की खिलाड़ी स्वर्णा झँवर 141 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर रही। मुस्कान किरार मध्यप्रदेश तीरंदाजी अकादमी जबलपुर में मुख्य प्रशिक्षक रिचपाल सिंह सलारिया से प्रशिक्षण हासिल कर रही हैं। खेलो इंडिया यूथ गेम्स में प्रदेश के खिलाड़ियों ने कुल 31 पदक जीते, जिनमें 8 स्वर्ण, 8 रजत और 15 कांस्य पदक शामिल हैं। इनमें राज्य खेल अकादमियों के खिलाड़ियों द्वारा अर्जित 6 स्वर्ण, 5 रजत और 11 कांस्य सहित 22 पदक शामिल हैं। शूटिंग अकादमी के खिलाड़ियों ने तीन स्वर्ण, एक रजत और तीन कांस्य, बॉक्सिंग अकादमी के खिलाड़ियों ने दो स्वर्ण और एक रजत, एथलेटिक्स अकादमी के खिलाड़ियों ने एक स्वर्ण, एक रजत और चार कांस्य, कुश्ती अकादमी के खिलाड़ियों ने एक रजत और तीन कांस्य, तीरंदाजी अकादमी की खिलाड़ी ने एक रजत तथा जूडो अकादमी के खिलाड़ी ने एक कांस्य, इस प्रकार कुल 22 पदक जीते हैं। खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री पटवारी ने दी बधाई खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने खेलो इंडिया यूथ गेम्स में मध्यप्रदेश के खिलाड़ियों द्वारा किए गए उत्कृष्ट प्रदर्शन की सराहना की है। उन्होंने सभी पदक विजेताओं को बधाई देते हुए कहा है कि खिलाड़ियों ने पदक जीतकर प्रदेश को गौरवान्वित किया है। संचालक खेल और युवा कल्याण डॉ. एस.एल. थाउसेन ने भी प्रदेश का गौरव बढ़ाने वाले पदक विजेता खिलाड़ियों को बधाई दी है।

वर्ल्ड इकानामिक फोरम के विशेष आमंत्रण पर मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ दावोस रवाना
19 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ वर्ल्ड इकानामिक फोरम की 49वीं बैठक में भाग लेने आज तड़के दिल्ली से दावोस के लिये रवाना हुए। यह बैठक ग्लोबल एजेंडा तय करने के लिये रखी गई है। वर्ल्ड इकानामिक फोरम के अध्यक्ष श्री बार्ज ब्रेंडे ने मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ को विशेष रूप से स्विटजरलैंड के दावोस क्लारेस्टर्स में वर्ल्ड इकानामिक फोरम की 22 से 25 जनवरी को होने वाली 49वीं वार्षिक बैठक में भाग लेने के लिये आमंत्रित किया है। ग्लोबल एजेंडा तय करने के लिये यह बैठक महत्वपूर्ण है। बैठक में शामिल हो रहे प्रतिभागी मध्यप्रदेश में होने वाले सुधारों और दृष्टिकोण से परिचित होंगे। श्री ब्रेंडे ने आशा व्यक्त की है कि श्री कमलनाथ के नेतृत्व में मध्यप्रदेश अप्रत्याशित रूप से प्रगति और समृद्धि हासिल करेगा। उन्होंने मध्यप्रदेश के सतत और समावेशी विकास की सोच को जमीन पर उतारने में नई भूमिका में सफल होने कामना की है। सार्वजनिक- निजी क्षेत्र की परस्पर साझेदारी को प्रोत्साहित करने वाली अतर्राष्ट्रीय संस्था के रूप में वर्ल्ड इकानामिक फोरम की प्रदेश के साथ साझेदारी लाभदायी होगी। राज्य की विकास संभावनाओं को पूरा करने में राज्य का सहयोग मिलेगा।
जय-किसान फसल ऋण माफी योजनाजय-किसान फसल ऋण माफी योजना
19 January 2019
जय किसान फसल ऋण माफी योजना का लाभ लेने के लिये प्रदेश के किसानों में भरपूर उत्साह है। योजना के शुरूआती पाँच दिनों में ही 15 और 19 जनवरी को 12 लाख 85 हजार से अधिक किसानों ने ग्राम पंचायतों में कर्ज माफी के आवेदन-पत्र जमा करवा दिये हैं। आज ही 5 लाख 38 हजार 283 आवेदन जमा हुए है। जमा हुए आवेदन-पत्रों में 60 प्रतिशत हरे, 38 प्रतिशत सफेद और 2 प्रतिशत गुलाबी आवेदन-पत्र हैं। अभी तक 7 लाख 48 हजार 868 हरे, 4 लाख 89 हजार 509 सफेद और 46 हजार 624 गुलाबी आवेदन भरे जा चुके हैं। उल्लेखनीय है कि योजना की निर्धारित क्रियान्वयन प्रक्रिया के अंतर्गत किसानों से कर्ज माफी के आवेदन-पत्र 5 फरवरी, 2019 तक प्राप्त किये जायेंगे। किसान-कल्याण और कृषि विकास विभाग के अनुमान के अनुसार कुल 54 लाख कर्ज माफी आवेदन-पत्र 5 फरवरी तक जमा होने की संभावना है।
प्रयागराज कुंभ में होगा प्रदेश का मण्डप : मंत्री श्री शर्मा
19 January 2019
प्रयागराज कुंभ में मध्यप्रदेश से जाने वाले श्रद्धालुओं की सुविधाओं को दृष्टिगत रखते हुए सभी आवश्यक प्रबंध किए जाएंगे। यह बात धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व, जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज मंत्रालय में हुई अध्यात्म विभाग की बैठक में यह जानकारी दी। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि प्रयागराज कुंभ में बनाया जा रहा मध्यप्रदेश का मण्डप प्रदेश की अध्यात्मिक, धार्मिक और संत-ऋषि परम्पराओं की अवधारणाओं को प्रतिबिम्बित करेगा। इसमें मध्यप्रदेश के सभी विशिष्ट धार्मिक स्थलों पर आधारित प्रदर्शनी भी लगाई जाएगी। उन्होंने बताया कि सांस्कृतिक कार्यक्रमों का आयोजन भी मध्यप्रदेश के मण्डप में होगा। श्री शर्मा ने अधिकारियों को मण्डप में समुचित प्रबंध करने के निर्देश दिए। बैठक में अपर मुख्य सचिव जनसम्पर्क श्री एम. गोपाल रेड्डी, अपर मुख्य सचिव अध्यात्म श्री मनोज श्रीवास्तव, सचिव संस्कृति श्रीमती रेनू तिवारी सहित पर्यटन और संबद्ध विभागों के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।

विकास के साथ पर्यावरण संरक्षण भी निहायत जरूरी - जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
19 January 2019
जनसम्पर्क एवं विधि एवं विधायी मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने जनपरिषद संस्था की तीन दिवसीय छठवीं अंतर्राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस का शुभारंभ करते हुए कहा कि विकास के इस दौर में विकास के साथ पर्यावरण को संरक्षित किया जाना निहायत जरूरी है। पर्यावरण संरक्षण से ही भावी पीढ़ियों का भविष्य बचाया जा सकेगा। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने अंतर्राष्ट्रीय कॉन्फ्रेंस में संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा निर्धारित किए गए बिन्दुओं के अतिरिक्त दैनंदिनी जीवन को प्रभावित करने वाले पर्यावरण के सभी पहलुओं पर विचार करते हुए पर्यावरण संरक्षण के कारगर उपायों पर गंभीर विमर्श किए जाने की आवश्यकता जताई। उन्होंने उपस्थित वैज्ञानिकों और विदेशों से आए हुए प्रतिनिधि मण्डल से आव्हान करते हुए कहा कि निश्चित ही इस कॉन्फ्रेंस से अपेक्षित उत्साहवर्धक निष्कर्ष निकलेंगे जिनका लाभ लेकर पर्यावरण का बेहतर संरक्षण संभावित हो सकेगा। श्री शर्मा ने कहा कि विज्ञान और तकनीकी के साथ धर्म और अध्यात्म का गहरा संबंध आदिकाल से भारत में रहा है। हमारी संस्कृति में आज भी पीपल के पेड़ की पूजा की जाती है जो कि 24 घण्टें हमें प्राण वायु देता है। अतीत में कभी नदियों में जल के शुद्धिकरण के लिए तांबें के सिक्के डाले जाते थे। वह परम्परा आज भी जारी है। पर्यावरण संरक्षण आदिकाल से भारतीय संस्कृति का अभिन्न हिस्सा रहा है। श्री शर्मा ने शुभारंभ अवसर पर जनपरिषद की कॉन्फ्रेंस प्रोसीडिंग बुक की सीडी का अन्य अतिथियों के साथ विमोचन किया। उन्होंने दुनिया भर में 68 हजार से अधिक शो कर चुके जादूगर आनंद, मिसेज इंडिया (अर्थ) भोपाल निवासी और डॉ. संगीता सिंह और शाला त्यागी 400 बाल श्रमिकों को पुन: स्कूल में दाखिल करवाने वाली समाजसेवी माही भजनी का सम्मान किया। कॉन्फ्रेंस में शोधार्थियों ने अपने शोध पत्र पढ़ें। जनपरिषद के अध्यक्ष पूर्व डीजीपी श्री एन.के. त्रिपाठी, डीजी होमगार्ड श्री महान भारत सागर, एडमिरल श्री राकेश पंडित, वैज्ञानिक डॉ. ए.सुब्बाराव के साथ अमेरिका, रूस, जर्मनी, बिटेन और नेपाल से आए हुए प्रतिनिधि मंडल भी कॉन्फ्रेंस में सम्मिलित हुए। कार्यक्रम का संचालन संस्था के संयोजक श्री रामजी श्रीवास्तव ने किया।
जरूरतमंदों की मंशानुसार योजनाओं का क्रियान्वयन जरूरी : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
18 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज यहाँ कन्वेंशन सेंटर में तीन दिवसीय आईएएस ऑफीसर्स मीट का शुभारंभ किया। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जरूरतमंदों की मंशा के अनुरूप योजनाओं का क्रियान्वयन किया जाना वर्तमान समय की आवश्यकता है। उन्होंने कहा कि सफलता और संतुष्टि में बहुत अंतर होता है। किसी पद को प्राप्त करने की सफलता संतुष्टि का आधार नहीं होती। संतुष्टि सफल परिणामों से मिलती है। सफलता किसी पद पर बने रहने तक रहती है, जबकि संतुष्टि सारा जीवन साथ चलती है। विविधता का संरक्षण सबसे बड़ी चुनौती मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि सम्पूर्ण विश्व भारत को उसकी अनेकता में एकता की ताकत के लिये देखता है, आर्थिक और सैनिक शक्ति के लिये नहीं। उन्होंने कहा कि हमारी सबसे बड़ी खूबी सहनशीलता है, जो चन्द्रगुप्त मौर्य और सम्राट अशोक के समय से विद्यमान है। हमें गर्व होना चाहिये कि हम ऐसे देश के नागरिक हैं, जहाँ अनेक धर्म, जाति, परम्पराएँ, भाषाएँ विद्यमान हैं। दुनिया में कोई ऐसा अन्य राष्ट्र नहीं है। हमारा पहनावा भी भौगोलिक बदलाव के साथ बदल जाता है। हमारी विविधता और अनेकता ही हमारी शक्ति है। मुख्यमंत्री ने कहा कि इसका संरक्षण वर्तमान समय की सबसे बड़ी चुनौती है। नव-निर्माण के लिये संकल्पित और समर्पित हों अधिकारी श्री कमल नाथ ने कहा कि तेजी से बदलते विश्व की चुनौतियों के साथ देश और प्रदेश का नव-निर्माण करना समय की माँग है। इसके अनुरूप ही हम सबको मिलकर, संकल्पित और समर्पित होकर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि सेवा के स्वरूप में परिवर्तन के साथ-साथ आम जनता की अपेक्षाओं में भी बदलाव हुआ है। वैश्विक स्तर पर नाटो का स्वरूप बदला है। अब गुटनिरपेक्ष जैसे आंदोलनों की चर्चा नहीं होती। उन्होंने कहा कि देश ने इन परिवर्तनों को बखूबी अपनाया है। हमारे सामने चुनौती यह है कि हम वैश्विक बदलावों को कैसे देखते हैं, कैसे स्वीकार करते हैं। श्री कमल नाथ ने कहा कि आज अधिकारियों के समक्ष सबसे बड़ा दायित्व नवीन परिवर्तनों के साथ देश और प्रदेश को आगे ले जाना है। सोचना होगा कि शासन में बदलाव और सुधार कैसे किया जाये। उन्होंने कहा कि इसी तथ्य पर प्रदेश के भविष्य का स्वरूप तय होगा। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि विश्व का परिदृश्य तेजी से बदल रहा है। इसके अनुसार ही हम भी बदल रहे हैं। उन्होंने बताया कि वर्ष 1992 में पहली बार उन्होंने लाल बहादुर प्रशासन अकादमी, मसूरी में उदबोधन दिया था। इसके 6-7 वर्ष बाद जब वे पुन: अकादमी में गये, तो उन्हें वहाँ संकाय, प्रशिक्षणार्थियों और विषय-वस्तु में बहुत परिवर्तन देखने को मिला। उन्होंने कहा कि वर्ष 1992 मे अकादमी में तकनीक और सूचना प्रौद्योगिकी आदि विषयों पर कोई बात नहीं होती थी। श्री कमल नाथ ने कहा कि ऐसा विशिष्ट बदलाव उन्हें पिछले दिनों भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रोबेशनल अधिकारियों से मुलाकात के समय महसूस हुआ। उन्होंने कहा कि इन अधिकारियों में बड़ी संख्या इंजीनियरों और डॉक्टरों की है। आज से 20 वर्ष पूर्व ऐसा नहीं होता था। मुख्यमंत्री ने कहा कि अधिकारियों की आयु वर्ग में भी अंतर आया है। ऑफिसर्स मीट एक अच्छी पहल मुख्यमंत्री ने कहा कि ऑफिसर्स मीट एक अच्छी पहल है। इससे वरिष्ठ और कनिष्ठ अधिकारियों को अनौपारिक वातावरण में मिलने का अवसर मिलता है। उन्होंने कहा कि भारतीय प्रशासनिक सेवा सबसे अधिक व्यापक और विविधता से परिपूर्ण है। किसी अन्य सेवा की तुलना में यहाँ कार्यक्षेत्र का विस्तार अधिक है। प्रशासनिक सेवा के अधिकारी को सम्पूर्ण सेवाकाल में अलग-अलग कार्यक्षेत्र में सेवा करने का अनुभव मिलता है, जबकि अन्य सेवाओं में ऐसा नहीं है। वैश्विक मुद्दों का ज्ञान होना आवश्यक : सीएस श्री मोहंती मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने अधिकारियों से कहा कि दृष्टिकोण में बदलाव लाना होगा। वरिष्ठों के अनुभवों का लाभ कनिष्ठ अधिकारियों को मिलेगा। उन्होंने कहा कि प्रशासनिक निर्णय जिला स्तर पर किये जायें। वरिष्ठ अधिकारी भी जिले के अधीनस्थ अधिकारियों को निर्णय लेने में सहयोग करें। श्री मोहंती ने कहा कि वर्तमान समय में भी उत्तरदायित्व वहीं हैं। केवल रिस्पांस टाइम में कमी आयी है। उन्होंने कहा कि अधिकारियों को वैश्विक मुद्दों का ज्ञान होना आवश्यक है। मुख्य सचिव ने कहा कि एक टीम लीडर के लिये यह आवश्यक है कि वह टीम को पूरा सहयोग और समर्थन प्रदान करे। उन्होंने ऑफिसर्स मीट की सफलता के लिये सभी अधिकारियों को शुभकामनाएँ दीं। आई.ए.एस. एसोसिऐशन की अध्यक्ष श्रीमती गौरी सिंह ने कहा कि मीट के दौरान मिल-जुलकर सांस्कृतिक गतिविधियों, खेलकूद और अन्य कार्यक्रमों में भाग लेकर अधिकारियों का भाईचारा बेहतर होगा। आपसी समझदारी बढ़ेगी। मीट आयोजन समिति के अध्यक्ष श्री पंकज अग्रवाल ने मीट की दौरान होने वाली गतिविधियों का ब्योरा दिया। उन्होंने बताया कि आगामी ढाई दिन में मीट की एसोसियेशन के सदस्यों और उनके परिजनों के बीच सांस्कृतिक कार्यक्रम इनडोर-आउटडोर गेम्स, अंताक्षरी और क्विज़ आदि कार्यक्रम होंगे। सम-समायिक विषय पर उद्बोधन और एक-दूसरे के विचारों को समझने के लिये पैनल डिस्कशन के आयोजन भी किये जा रहे हैं।
कर्मचारी हितैषी सभी वचन पूरा करेगी सरकार
18 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने आज यहाँ सतपुड़ा भवन में कर्मचारी संघों द्वारा आयोजित सम्मान समारोह में कहा कि सरकार कर्मचारियों के हित में वचन पूरा करने के लिए कटिबद्ध है। उन्होंने कहा कि वचन पत्र में दिए गये सभी वचन सरकार पूरा करेगी। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि कर्मचारी हितों के लिए वे हमेशा उनके संघर्ष में साथी रहे हैं और आगे भी कर्मचारियों को यथोचित लाभ दिलाने के लिए हमेशा साथ रहेंगे। सरकार द्वारा कर्मचारियों की मांगों पर शीघ्र ही विचार कर उन्हें अमल में लाया जाएगा। उन्होंने कहा कि वे मंत्री होने के पहले कर्मचारियों के साथ और फिर विधायक हैं। कर्मचारियों की समस्याओं के निराकरण के लिए पहले संघर्ष किया है, अब निराकरण करेंगे। सम्मान समारोह में मध्यप्रदेश तृतीय वर्ग कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री ओपी कटियार, राज्य कर्मचारी संघ के प्रदेश अध्यक्ष श्री जितेन्द्र सिंह, लघु वेतन कर्मचारी संघ के श्री महेन्द्र शर्मा, निगम-मंडल अधिकारी-कर्मचारी समन्वय महासंघ के प्रांताध्यक्ष श्री अजय श्रीवास्तव, डिप्लोमा इंजीनियर एसोसिएशन के डी.एस.भदौरिया, राजपत्रित कर्मचारी संघ के श्री डी.के. यादव सहित अन्य कर्मचारी मौजूद थे।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से मिलीं प्रोचांसलर सुश्री मजूमदार
17 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से सिंबायोसिस स्किल यूनिवर्सिटी की प्रोचांसलर सुश्री स्वाति मजूमदार ने आज मंत्रालय में सौजन्य भेंट की। मुख्यमंत्री श्री नाथ को सुश्री मजूमदार ने स्मृति चिन्ह और वर्ष 2019 का कैलेंडर भेंट किया।





जैव विविधता संरक्षण के लिए ग्रामीणों की सहभागिता जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
17 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा है कि जैव विविधता संरक्षण के लिए ग्रामीणों की सहभागिता की महती आवश्यकता है। जागरण लेक सिटी यूनिवर्सिटी में जैव विविधता पर आयोजित कार्यशाला में यह बात कही। श्री शर्मा ने कहा कि ग्रामीण के संसाधनों उपयोग पर ग्राम पंचायतों को उपकर लगाने का अधिकार पंचायती राज में दिया गया है। ग्राम पंचायतें इस अधिकार का उपयोग कर प्राप्त होने वाली धनराशि से जैव विविधता संरक्षण के लिए बहुतेरे उपाय कर सकती हैं। उन्होंने पर्यावरण को बचाने में धार्मिक मान्यताओं को भी महत्वपूर्ण बताया। श्री शर्मा ने कहा कि पीपल के वृक्ष में देवी-देवताओं का वास होने का उल्लेख धार्मिक ग्रन्थों में है। सभी जानते है कि पीपल का वृक्ष 24 घंटे ऑक्सीजन देता है। उन्होंने कहा कि जैव विविधता के संरक्षण के लिए कार्यशाला के निष्कर्षों का लाभ सभी को मिलेगा।


ओलंपिक, एशियन और कॉमनवेल्थ गेम्स के पदक विजेताओं को सरकार देगी प्रोत्साहन
17 January 2019
खेल और युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने प्रदेश के अर्जुन, विक्रम, एकलव्य खिलाड़ियों तथा विश्वामित्र पुरस्कार से सम्मानित प्रशिक्षकों और खेल संघों के पदाधिकारियों से खेलों के विकास पर सीधा संवाद किया। उन्होंने कहा कि इस संवाद के माध्यम से प्राप्त महत्वपूर्ण सुझावों पर गंभीरता के साथ अमल किया जायेगा ताकि खिलाड़ियों को प्रोत्साहन मिले और खेलों का विकास हो। प्रदेश के खिलाड़ी ओलंपिक, एशियन गेम्स और कॉमनवेल्थ गेम्स में भागीदारी करते हैं, तो सरकार उन्हें प्रोत्साहन देगी। जिस तरह अन्य प्रदेशों में करोड़ों रूपए की सम्मान निधि वहां के खिलाड़ियों को उपलब्ध करायी जाती है, उसी प्रकार हमारे खिलाड़ियों को भी प्रोत्साहन की बढ़ी हुई राशि प्रदान की जायेगी। इसका प्रस्ताव तैयार कर वित्त विभाग को भेजा गया है। खेल मंत्री श्री पटवारी आज टी.टी. नगर स्टेडियम स्थित मार्शल आर्ट हॉल में आयोजित संवाद कार्यक्रम को संबांधित कर रहे थे। कार्यक्रम में प्रदेश भर से आये अर्जुन, विक्रम, एकलव्य खिलाड़ियों तथा विश्वामित्र पुरस्कार से सम्मानित प्रशिक्षकों और खेल संघों के पदाधिकारियों ने प्रदेश में खेलो के विकास के लिए महत्वपूर्ण सुझाव प्रस्तुत किये। मंत्री श्री पटवारी ने खिलाड़ियों को प्रोत्साहित करते हुए बताया कि ओलंपिक के स्वर्ण पदक विजेताओं को 3 करोड़, रजत विजेताओं को 2 करोड़ और कांस्य विजेता को 1 करोड़ रूपए की राशि दिये जाने का प्रस्ताव है। प्रतिभागिता करने पर कम से कम 10 लाख रूपए प्रोत्साहन स्वरूप दिए जाएंगे। एशियन गेम्स के स्वर्ण पदक विजेताओं को 2 करोड़, रजत को 1 करोड़ और कांस्य विजेता को 75 लाख रूपए की राशि दिया जाना प्रस्तावित है। प्रतिभागिता करने पर कम से कम 5 लाख रूपए प्रोत्साहन स्वरूप दिए जाएंगे। राष्ट्रमंडल या एशियन इंडोर गेम्स के स्वर्ण पदक विजेताओं को 50 लाख, रजत विजेताओं को 30 लाख और कांस्य विजेता को 20 लाख रूपए और प्रतिभागिता करने पर 2 लाख रूपए प्रोत्साहन स्वरूप दिया जाना प्रस्तावित किया गया है। दक्षिण एशियाई खेलों के स्वर्ण पदक विजेताओं को 6 लाख, रजत विजेताओं को 4 लाख और कांस्य विजेताओं को 3 लाख रूपए तथा प्रतिभागिता करने पर 1.50 लाख रूपए प्रोत्साहन स्वरूप दिए जाने का प्रस्ताव शासन को भेजा गया है। राष्ट्रमंडल, एशियन या अन्य अंतराष्ट्रीय चैंपियनशिप में स्वर्ण पदक विजेताओं को 4 लाख, रजत को 3 लाख और कांस्य विजेता को 2 लाख रूपए की राशि, प्रतिभागिता करने पर 1 लाख रूपए प्रोत्साहन स्वरूप दिए जाने का प्रस्ताव है। इसके अतिरिक्त राष्ट्रीय खेलों में दलीय विधा में स्वर्ण पदक विजेताओं को 6 लाख, रजत को 4 लाख और कांस्य विजेता को 3 लाख रूपए, अधिकृत राष्ट्रीय चैंपियनशिप में मप्र के मूल निवासी या खेल विभाग द्वारा संचालित अकादमियों के अधिकृत खिलाड़ियों को पदक जीतने पर व्यक्तिगत एवं दलीय विधा में स्वर्ण पदक विजेताओं को 2 लाख, रजत को 1.50 लाख और कांस्य विजेता को 1 लाख रूपए की राशि दिये जाने का प्रस्ताव है। श्री जीतू पटवारी ने कहा कि राष्ट्रीय स्तर के खेलों में लगातार भागीदारी के बाद भी किसी खिलाड़ी को नौकरी नहीं मिल पाती है, तो सरकार का यह प्रयास होगा कि किसी खिलाड़ी के साथ अन्याय न हो। उसके लिए न्यूनतम कारगर व्यवस्था की जाएगी। खिलाड़ियों की राष्ट्रीय, अंतराष्ट्रीय स्तर की प्रतियोगिता में भागीदारी पर उन्हें प्रोत्साहन राशि दी जाएगी। इसके अलावा पदक जीतने वाले खिलाड़ियों को शानदार पारितोषिक के रूप में प्रोत्साहन राशि को बढ़ाया जा रहा है। देश में प्रशिक्षण प्राप्त करने के लिए खिलाड़ी को प्रशिक्षण हेतु राशि रू. 1.00 लाख अथवा वास्तविक (जो कम हो), जिसमें खिलाड़ी का आना-जाना, भोजन, आवास, प्रशिक्षण एवं चिकित्सा व्यय सम्मिलित होगा, उपलब्ध कराई जावेगी। अवार्डियों ने खेल मंत्री की पहल को सराहा यह पहला अवसर है कि खेलों के विकास और खिलाड़ियों के हित में अवार्डियों और खिलाड़ियों से सीधे संवाद कर सुझाव लिए गए। कार्यक्रम में उपस्थित अवार्डियों और खिलाड़ियों द्वारा संवाद कार्यक्रम की मुक्तकंठ से सराहना करते हुए खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी की इस पहल का स्वागत किया गया। खिलाड़ियों का मानना है कि संवाद रूपी इस खेल महाकुंभ के माध्यम से खेल नीति तैयार कर खिलाड़ियों के हित में महत्वपूर्ण निर्णय लिए जा सकेंगे। संवाद कार्यक्रम में प्रमुख सचिव खेल श्री अनिरूद्ध मुकर्जी, संचालक खेल डॉ. एस.एल. थाउसेन, अर्जुन अवार्डी हॉकी खिलाड़ी श्रीमती सुनीता चंद्रा, श्री सैयद जलालुद्दीन रिजवी, कुश्ती खिलाड़ी श्री कृपाशंकर, श्री पप्पू यादव, शूटिंग खिलाड़ी सुश्री राजकुमारी राठौर, सैलिंग कोच श्री जीएल यादव, रोइंग कोच श्री दलवीर सिंह उपस्थित थे।


खाद्य प्रसंस्करण उद्योग नीति को परिष्कृत करें : कृषि मंत्री श्री यादव
17 January 2019
किसान कल्याण एवं कृषि विकास तथा उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण मंत्री श्री सचिन यादव ने आज किसान भवन में उद्यानिकी विभाग के कार्यों की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि खाद्य प्रसंस्करण उद्योग की स्थापना से प्रदेश के कृषकों की आर्थिक उन्नति सुनिश्चित की जायेगी। श्री यादव ने नीति को परिष्कृत करने के निर्देश दिये। मंत्री श्री सचिन यादव ने अधिकारियों से कहा कि स्थानीय युवाओं को उनके कार्य क्षेत्र में बहुतायत में उत्पादित उपज आधारित खाद्य प्रसंस्करण उद्योग लगाने के लिये प्रेरित किया जाये। स्थानीय स्तर पर इस तरह के उद्योगों की स्थापना वहाँ रोजगार के नवीन अवसर उपलब्ध कराएगी। साथ ही, किसानों को उपज का अच्छा मूल्य प्राप्त होने से उनकी आर्थिक स्थिति में भी सुधार होगा। बैठक में डायरेक्टर हार्टिकल्चर श्री सत्यानंद, एम.डी. मण्डी बोर्ड श्री फ़ैज अहमद किदवई, श्री अकबर शेर खॉन तथा निमरानी और देवास फुड पार्क के प्रतिनिधि उपस्थित थे।


सहकारी संस्थाएँ जरूरतमंदों का हित संवर्धन करें - मंत्री डॉ. गोविंद सिंह
17 January 2019
सहकारिता, सामान्य प्रशासन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ. गोविंद सिंह ने आज सहकारिता विभाग के क्रियाकलापों की जानकारी प्राप्त की। विभागीय अधिकारियों के साथ संस्थावार योजनाओं की समीक्षा करते हुए डॉ. गोविंद सिंह ने कहा कि सहकारी संस्थाओं को सक्षम बनाकर जरूरतमंद वर्ग के हित में कार्यों को केन्द्रित किया जाये। संस्थाओं की अनियमितताएँ बर्दाश्त नहीं की जायेंगी। उन्होंने वचन-पत्र में शामिल बिन्दुओं पर शीघ्र कार्यवाही के निर्देश दिये। मंत्री डॉ. सिंह ने कहा कि सहकारिता का उद्देश्य किसानों और उपभोक्ताओं का हित संवर्धन है। सहकारी संस्थाओं की अच्छी छवि भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि शासन स्तर पर सहकारी संस्थाओं से सामग्री क्रय करने का कार्य प्राथमिकता पूर्वक होना चाहिये। इसके लिये आवश्यक हो, तो भण्डार क्रय नियम में जरूरी संशोधन करने पर विचार किया जायेगा। डॉ. सिंह ने उपभोक्ता संघ द्वारा संचालित प्रियदर्शनी केन्द्रों को आधुनिक और आवश्यक बनाने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि मॉल संस्कृति के विकास के कारण प्रियदर्शनी केन्द्रों के संचालन को और अधिक व्यवस्थित किया जाना चाहिये। बैठक में सहकारिता मंत्री ने मध्यप्रदेश राज्य सहकारी विपणन संघ, राज्य सहकारी संघ, बीज संघ, उपभोक्ता संघ, आवास संघ, अपेक्स बैंक आदि के नियमित कार्यों के संबंध में विस्तृत जानकारी प्राप्त की। उन्होंने कृषि ऋण वितरण, कृषि आदानों, उर्वरक और कीटनाशक के वितरण, सार्वजनिक वितरण प्रणाली, खाद्यान्नों के उपार्जन, दलहन-तिलहन उपार्जन, सहकारी संस्थाओं के ऑडिट आदि के बारे में भी चर्चा की। प्रमुख सचिव, सहकारिता श्री अजीत केसरी ने बैठक में विभिन्न सहकारी संस्थाओं की वर्तमान स्थिति की जानकारी दी। इस अवसर पर त्रि-स्तरीय सहकारी साख संरचना के संबंध में भी जानकारी प्रदान की गई। पंजीयक एवं आयुक्त, सहकारिता श्री केदार शर्मा सहित विभागीय अधिकारी बैठक में उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री से मिले भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रोबेशनर अधिकारी
16 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से भारतीय प्रशासनिक सेवा के प्रदेश कॉडर के वर्ष 2017 के प्रोबेशनर अधिकारियों ने आज मंत्रालय में सौजन्य भेंट की। इस अवसर पर महानिदेशक प्रशासन अकादमी श्री ए. पी. श्रीवास्तव भी मौजूद थे।





सुरक्षित भविष्य के लिए ईधन बचाएँ - जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
16 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने आज समन्वय भवन में ईधन संरक्षण क्षमता महोत्सव “सक्षम’’ समारोह में कहा कि सुरक्षित भविष्य के लिए ईधन का संरक्षण अत्यावश्यक है। उन्होंने ईधन बचाने के लिए सभी उपस्थितजनों को शपथ भी दिलायी। श्री शर्मा ने ईधन संरक्षण के लिए 16 जनवरी से आगामी 15 फरवरी तक चलने वाले अभियान का शुभारंभ किया। जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि वर्तमान में 80 प्रतिशत पेट्रालियम पदार्थो का आयात विदेशों से किया जाता है, जिसमें अत्याधिक धनराशि व्यय होती है। उन्होंने कहा कि हम जितना अधिक ईधन संरक्षित करेंगे, उतनी ही धनराशि अन्य उद्योग धंधों को स्थापित करने में लगाई जाएगी। बचने वाली धनराशि का उपयोग जन-कल्याण के कार्यों में किया जाएगा। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि ईधन संरक्षण के लिए हम साइकिलिंग को दिनचर्या में शामिल कर सकते हैं। रेड सिग्नल के समय खर्च होने वाले ईधन को हम बायपास रोड एवं सर्विस रोड बनाकर सुरक्षित करने का कार्य कर सकते हैं। उन्होंने पेट्रालियम कंजर्वेशन रिसर्च एसोसिएशन (पीसीआरए) के चीफ जनरल मैनेजर श्री विज्ञान कुमार से बढ़ते पेट्रोलियम पदार्थों के दामों को नियंत्रित करने के लिए आवश्यक उपायों पर गौर करने को कहा।


बच्चों का स्वास्‍थ्य और सुरक्षा सर्वोपरि
16 January 2019
वाणिज्यक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा है कि बच्चों का स्वास्‍थ्य और सुरक्षा सर्वोपरि हैं। इसलिए मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान में कोई बच्चा न छूटे इसका हम सब को मिलकर ध्यान रखना होगा। और सभी बच्चों और पालकों को टीका लगवाने के लिए प्रेरित करना होगा। श्री राठौर निवाड़ी में मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान का शुभारंभ कर रहे थे। श्री राठौर ने कहा कि बच्चों का टीकाकरण स्कूल और आँगनवाड़ी में भी किया जाये। कार्यक्रम में टीकमगढ़ एवं निवाड़ी जिले में 9 माह से 15 वर्ष के लगभग 4 लाख 75 हजार बच्चों का टीकाकरण किया जायेगा। अभियान के तहत प्रथम 15 दिन में जिले के सभी प्राथमिक शालाओं में टीकाकरण अभियान संचालित किया जायेगा। इसके बाद 15 दिन आँगनवाड़ी केन्द्रों में अभियान चलाया जायेगा।


मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान को जन-आंदोलन बनायें - मंत्री श्री सिलावट
16 January 2019
लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री श्री तुलसीराम सिलावट ने आज इंदौर के विद्यासागर स्कूल में मीजल्स-रूबेला अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने विभागीय अधिकारियों तथा कर्मचारियों से कहा कि मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान को जन-आंदोलन बनाया जाये। उन्होंने कहा कि बच्चों में देश का भविष्य निहित है। इस भविष्य को निरोग और सशक्त बनाने के लिये समाज का हर तबका टीकाकरण अभियान में अपनी भागीदारी निभाये। मंत्री श्री सिलावट ने कहा कि अभियान को हमें चुनौती के रूप में संचालित करना होगा। यह कोशिश होगी कि हर बच्चे का टीकाकरण हो। श्री सिलावट ने बीमारी उन्मूलन के लिये सभी को संकल्प दिलाया और टीका लगवाने वाले बच्चों को प्रमाण-पत्र प्रदान किये। स्कूलों और मदरसों में पहुँचे मंत्री श्री सिलावट मंत्री श्री सिलावट बुधवार को इंदौर में मदरसों और स्कूलों में पहुँचे। केन्द्रीय विद्यालय क्रमांक-1, इंदौर में उन्होंने टीकाकरण अभियान का संकल्प दिलाया उन्होंने कहा कि इस विद्यालय के विद्यार्थी उच्च पदों पर पहुँचें। इसके लिये जरूरी है कि बच्चों को स्थायी स्वास्थ्य सुरक्षा दी जाये। उन्होंने बताया कि मीजल्स-रूबेला अभियान बच्चों को दो जानलेवा बीमारियों से सुरक्षा कवच प्रदान करता है। श्री सिलावट खजराना स्थित मदरसा भी पहुँचे और टीकाकरण अभियान में शामिल हुए। श्री सिलावट इंदौर नगर में टीकाकरण अभियान को बढ़ावा देने के लिये चलाये जा रहे हस्ताक्षर अभियान में भी शामिल हुए। जिलों में पहुँचे मंत्रीगण प्रदेश के विभिन्न जिलों में मंत्रि-परिषद के सदस्यों द्वारा मीजल्स-रूबेला टीकाकरण अभियान का शुभारंभ किया गया। राजधानी भोपाल में जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने भेल क्षेत्र के कार्मल कान्वेंट स्कूल में मीजल्स-रूबेला अभियान का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि अभियान में सभी वर्गों की भागीदारी सुनिश्चित होना चाहिये। देवास में लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने मीजल्स-रूबेला अभियान का शुभारंभ करते हुए कहा कि अभियान में समर्पित भावना से कार्य करने की जरूरत बताई। इसे मात्र सरकारी ड्यूटी नहीं समझें। गुना जिले में अभियान की शुरूआत करते हुए श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने कहा कि टीकाकरण जीवन से जुड़ा पहलू है। इसे पूरी गंभीरता से लिया जाये। ग्वालियर जिले में अभियान की शुरूआत करते हुए पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि एम.आर. टीकाकरण के जरिये बच्चों को सुरक्षा कवच पहनाया जा रहा है। नौ माह से 15 वर्ष आयु तक के सभी बच्चों का टीकाकरण करवाना शुरू करें। प्रदेश के अन्य जिलों में भी मीजल्स-रूबेला अभियान का सार्वजनिक स्वरूप में शुभारंभ किया गया।


सिटी बसें अच्छी और सुरक्षित हों : मंत्री श्री जयवर्धन सिंह
16 January 2019
अर्बन पब्लिक ट्रांसपोर्ट सिस्टम को सुदृढ़ करें। सिटी बस अच्छी और सुरक्षित हों। नगरीय विकास और आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने यह निर्देश मंत्रालय में विभागीय योजनाओं की समीक्षा के दौरान दिये। उन्होंने कहा कि इलेक्ट्रिक बसों की खरीदी को प्राथमिकता दें। श्री सिंह ने कहा कि समय पर काम पूरा नहीं करने वाली एजेंसियों को नोटिस देकर ब्लैक-लिस्टेड करने की कार्यवाही की जाये। राजस्व बढ़ाने के उपाय करें नगरीय विकास और आवास मंत्री ने नगरीय निकायों को राजस्व बढ़ाने के उपाय करने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि अमृत योजना में निर्माणाधीन जल आपूर्ति और सीवरेज सिस्टम के कार्य समय-सीमा में पूरा करवायें। प्रधानमंत्री आवास योजना में निर्माणाधीन आवासों का कार्य तय समय में पूरा करवायें। हाउसिंग फॉर ऑल योजना में वर्ष 2022 तक 11 लाख आवास बनाने का लक्ष्य पूरा करने के समर्पित प्रयास करें।। इंदौर-उज्जैन को 7 स्टार स्टेटस समीक्षा बैठक में बताया गया कि प्रदेश के सभी नगरीय निकाय ओडीएफ घोषित हो चुके हैं। इंदौर और उज्जैन को इस क्षेत्र में 7 स्टार स्टेटस मिल चुका है। प्रदेश के 17 शहर ओडीएफ प्लस और 4 निकाय ओडीएफ प्लस-प्लस घोषित हो चुके हैं। ये शहर इंदौर, उज्जैन, खरगोन और शाहगंज हैं। गौरतलब है कि देश में 7 शहर ओडीएफ प्लस-प्लस घोषित किये गये हैं। इनमें से 4 मध्यप्रदेश के और 3 छत्तीसगढ़ के हैं। यह सर्वे क्वालिटी काउंसिल ऑफ इण्डिया द्वारा किया गया है। शेष शहरों का भी सर्वे किया जा रहा है। श्री सिंह ने शहरों के मास्टर प्लान और वचन-पत्र के बिन्दुओं को भी प्राथमिकता से पूरा करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि शहरों के विकास की नियोजित प्लानिंग करें। प्रमुख सचिव श्री प्रमोद अग्रवाल ने विभागीय योजनाओं की अद्यतन स्थिति से अवगत कराया। इस दौरान आयुक्त नगरीय विकास और आवास श्री गुलशन बामरा तथा अपर आयुक्त श्री स्वतंत्र सिंह सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।


निराश्रित पशुधन का प्रबंधन एक हफ्ते में शुरू करें - पशुपालन मंत्री श्री यादव
16 January 2019
प्रदेश सरकार निराश्रित गौवंश के बेहतर प्रबंधन के लिये कटिबद्ध है। निराश्रित जानवरों को पकड़ कर उचित स्थान पर रखने की कार्य-योजना पर एक सप्ताह के भीतर अमल शुरू करें। पशुपालन, मछुआ कल्याण एवं मत्स्य विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने आज ग्वालियर में संभाग के सभी जिलों के कलेक्टर और विभागीय अधिकारियों को यह निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि पुरानी गौशालाओं और गौ सदनों की क्षमताओं का पूरा इस्तेमाल करें। साथ ही, स्थान निर्धारित करें, जहाँ पकड़े गए निराश्रित गौवंश को बेहतर ढंग से रखा जा सके। पशुपालन मंत्री श्री यादव ने कहा कि निराश्रित घूमने वाले पशुओं का प्रबंधन पूरी संजीदगी के साथ करें। उन्होंने कहा सड़कों पर आए दिन निराश्रित पशुओं की वजह से दुर्घटनाएं होती हैं। जिनमें पशुओं के साथ-साथ मनुष्य भी घायल होते हैं। ऐसी दुर्घटनाओं में जान-माल का भारी नुकसान उठाना पड़ता है। उन्होंने कहा कि ग्रामीण अंचल में निराश्रित जानवर फसलों को भारी नुकसान पहुँचाते हैं। इसलिए प्रदेश सरकार ने वचन पत्र में दिए गए वायदे को पूरा करने के लिये निराश्रित गौवंश के प्रबंधन के लिए गौशालाएं खोलने का निर्णय लिया है। उन्होंने कहा कि प्रथम चरण में पकड़े गए जानवरों को रखने के लिये पुरानी गौशालाओं, बंद पड़े सरकारी कृषि फार्म और अधोसंरचना का उपयोग करें। साथ ही 10 से 15 ग्राम पंचायतों के बीच उचित जमीन चिन्हित कर वहाँ गौशालाएं स्थापित की जाएँ। उन्होंने निर्देश दिये कि यथासंभव राष्ट्रीय राजमार्ग और प्रमुख मार्गों के किनारे गौशालायें स्थापित करने का प्रयास करें। अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने कहा कि गौशालाओं को आत्मनिर्भर बनाने की जरूरत है। उन्होंने जिला कलेक्टरों से कहा कि गौशालाओं के लिये जमीन चिन्हित करने के साथ-साथ यह भी तय करें कि इनका संचालन किस प्रकार किया जायेगा। उन्होंने उद्यमी भावना के साथ गौशालाएं स्थापित करने पर बल दिया। गौशालाओं के संचालन में जनभागीदारी बढ़ाने के लिये भी कहा।


सभी शासकीय कार्यालय में मतदाता जागरूकता फोरम बनाया जाये
16 January 2019
मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री व्ही.एल.कान्ता राव ने विभागों केनोडल अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि सभी शासकीय, गैर-सरकारी संगठन और व्यवसायिक कार्यालयों में मतदाता जागरूकता बढ़ाने के लिये 'मतदाता जागरूकता फोरम' का गठन किया जाये। 'मतदाता जागरूकता फो़रम' कार्यालयों में मतदाता सूची में पंजीकरण, मतदान संबंधी गतिविधियों और निर्वाचन की मूलभूत प्रक्रियाओं के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिये एक अनौपचरिक मंच का कार्य करेगा। इस फोरम में कार्यालय के सभी कर्मचारी स्वैच्छिक सदस्य बन सकते हैं। संयुक्त मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी श्री विकास नरवाल ने कहा कि फो़रम,सदस्यों को निर्वाचन संबंधी जानकारियॉं फोरम उपलब्ध करायेगा, जो कर्मचारियों को सशक्त मतदाता के रूप में विकसित करने में सहायक होगी । फोरम में मतदाता जागरूकता को बढ़ाने के लिये कार्यालय प्रमुख की अध्यक्षता में एक नोडल अधिकारी नियुक्त होगा, जो मुख्य निर्वाचन पदाधिकारी और जिला निर्वाचन कार्यालय के साथ समन्वय बनाकर कार्य करेगा। फोरम निर्वाचन गतिविधियों को कार्यालय में उपलब्ध मनोरंजन क्लब, स्पोर्टस क्लब और ऐसे ही किसी अन्य क्लबों के साथ मतदाता जागरूकता बढ़ाने की कार्यवाही सुनिश्चित करेगा। फो़रम का मुख्य उद्देश्य मतदाता जागरूकता को बढ़ाना, कार्यालय के अधिकारियों-कर्मचारियों का मतदाता सूची में नाम जुड़वाना और उनको मतदाता परिचय पत्र बनवाने के लिये प्रेरित करना है। शासकीय कार्यालयों में मतदाता सूची में नाम जोड़ने और निर्वाचन प्रक्रिया की समस्त जानकारियों के लिये समय-समय पर कार्यशाला, प्रतियोगिताएँ, सांस्कृतिक कार्यक्रम, वाद-विवाद, प्रश्नोत्तरी प्रतियोगिताओं का आयोजन भी फोरम करेगा। बैठक में विभिन्न विभागों एवं संस्थानों के नोडल अधिकारी उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना का क्रियान्वयन 15 जनवरी से
14 January 2019
मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने जिलाधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना के आवेदन पत्र ग्राम पंचायत स्तर पर 15 जनवरी की स्थिति में अनिवार्यत: उपलब्ध हों। उन्होंने आज मंत्रालय में वीडियो कॉफ्रेंस के माध्यम से सभी संभागायुक्तों तथा कलेक्टर्स से योजना के क्रियान्वयन के संबंध में चर्चा की। उल्लेखनीय है कि सम्पूर्ण प्रदेश में 15 जनवरी से योजना का क्रियान्वयन आरंभ किया जा रहा है। श्री मोहंती ने कहा कि समस्त ग्राम पंचायतों में 18 जनवरी तक हरी और सफेद सूचियाँ चस्पा होना सुनिश्चित किया जाये। इस संबंध में उन्होंने दूर-दराज के जिलों डिण्डौरी, अलीराजपुर, सिंगरौली, श्योपुरकलां, के कलेक्टरों से विशेष रूप से बातचीत कर आवेदन-पत्र प्राप्त होने संबंधी जानकारी प्राप्त की। श्री मोहंती ने कहा कि योजना के तहत 22 फरवरी से किसानों को भुगतान होना है। अत: जिला स्तर पर सभी गतिविधियों का संचालन समय सीमा में सुनिश्चित किया जाये। वीडियो कॉफ्रेंस में कृषि उत्पादन आयुक्त श्री पी.सी. मीना, प्रमुख सचिव किसान कल्याण डॉ. राजेश राजौरा, प्रमुख सचिव वित्त श्री अनुराग जैन, प्रमुख सचिव सहकारिता श्री के.सी.गुप्ता, आयुक्त मंडीबोर्ड श्री फैज अहमद किदवई सहित अन्य वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे। प्रमुख सचिव किसान कल्याण डॉ. राजेश राजौरा ने योजना क्रियान्वयन के संबंध में प्रस्तुतिकरण दिया। उन्होंने बताया कि प्रदेश में 26 बैंकों की 7 हजार 500 शाखाओं के माध्यम से योजना का क्रियान्वयन किया जायेगा। ऑफ लाईन आवेदन पत्र हरे, सफेद तथा गुलाबी आवेदन-पत्रों में भरे जायेंगे, जो पर्याप्त मात्रा में जिलों में भेजे जा चुके हैं। इनका ग्राम पंचायतवार समुचित वितरण सुनिश्चित किया जाये। हरे आवेदन पत्र प्राप्त करते समय नोडल अधिकारी आवश्यक रूप से हरी सूची के सरल क्रमाँक आवेदन पर लिखना सुनिश्चित करें। चालीस लाख किसानों के नाम cmlws@mponline.gov.in पर अपलोड किये जा रहे हैं। मंगलवार 15 जनवरी से ग्राम पंचायतवार तथा शाखावार हरी और सफेद सूचियों को पोर्टल से डाउनलोड कर चस्पा करने की प्रक्रिया बनाई गई है। प्रति दिन ग्रामवार तथा शाखावार प्राप्त होने वाले आवेदनों की स्थिति की समीक्षा की जायेगी। उन्होंने निर्देश दिये कि प्रदर्शित की जाने वाली सूचियों में कृषकों के नाम हिन्दी में ही दर्ज हों। प्रमुख सचिव सहकारिता श्री के.सी. गुप्ता ने निर्देश दिये कि आवेदन प्राप्त होने के साथ-साथ उनको रिकार्ड में दर्ज करने का कार्य सुनिश्चित किया जाये। वीडियो काँफ्रेंस में संभागायुक्त तथा कलेक्टर से योजना के क्रियान्वयन के संबंध में सुझाव भी प्राप्त किए गये।


शांति और सद्भाव के लिए अच्छा साहित्य जरूरी : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
14 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने अच्छे साहित्य को शांति और सद्भाव के लिए बहुत आवश्यक बताया है। उन्होंने भारत भवन में प्रथम भोपाल लिटरेचर एण्ड आर्टस फेस्‍टीवल में यह बात कही। तीन दिवसीय फेस्टीवल में 100 से अधिक लेखकों, पर्यावरणविदों, वरिष्ठ लोक सेवकों, पत्रकारों और कलाकारों ने हिस्सा लिया। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि भारत भवन में प्रवेश करते ही एक अलग अनुभूति होती है। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री स्व. श्री अर्जुन सिंह के कला के प्रति प्रेम और अध्ययन की रूचि को स्मरण करते हुए भारत भवन को उनके कार्यकाल की ऐतिहासिक स्मृति बताया। श्री शर्मा ने समारोह में उपस्थितजनों को एक गुलदस्ते की संज्ञा देते हुए कहा कि वे देश-विदेश से आए हुए कलाकारों, साहित्यकारों को देख बहुत आनंदित हैं। भोपाल में इस आयोजन ने खुशबू बिखेरी है। प्रदेश सरकार इस प्रकार के आयोजनों के लिए हर संभव सहायता करेगी। उन्होंने भव्य आयोजन के लिए आयोजकों को बधाई दी। काफी-टेबिल बुक “भोपाल - इकोज ऑफ एन ऐरा’’ का विमोचन हुआ जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने समापन समारोह में अन्य अतिथियों के साथ संगीतज्ञ जो अलवारिस द्वारा लिखी गई काफी-टेबिल बुक 'भोपाल-इकोज ऑफ एन ऐरा' का विमोचन किया। समापन समारोह में भारत निर्वाचन आयोग के पूर्व आयुक्त श्री एस.वाय. कुरैशी, पद्मश्री श्री रतन थियाम, श्री राघव चन्द्रा, सुश्री मीरा दास, वरिष्ठ पत्रकार श्री अभिलाष खांडेकर, श्री रविन्द्र चौबे, सचिव संस्कृति श्रीमती रेनू तिवारी मौजूद थे।


धर्म और अध्यात्म से ही आनंद की प्राप्ति होती है : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
14 January 2019
धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व तथा जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज सर्वधर्म तीर्थ दर्शन धर्म यात्रा के सहभागियों से कहा कि धर्म और अध्यात्म से ही आनंद की प्राप्ति होती है। श्री शर्मा ने हरी झंडी दिखाकर एक हजार तीर्थ यात्रियों की बसों को नर्मदा स्नान के लिए रवाना किया। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार राम वन पथ गमन का निर्माण करेंगी। नर्मदा पथ भी बनाया जाएगा। धर्म यात्रा का आयोजन सर्वधर्म तीर्थ दर्शन धर्म यात्रा तीर्थ समिति आनंद नगर द्वारा किया गया। समिति द्वारा गत वर्ष से मकर संक्रांति के पर्व पर श्रद्धालुओं को नर्मदा मैया के पवित्र दर्शन एवं स्नान कराने के लिये नि:शुल्क यात्रा कराई जा रही है। साथ ही नि:शुल्क भोजन की व्यवस्था भी की जाती है। धर्म यात्रा आनंद नगर कोकता से माँ नर्मदा घाट शाहगंज तक जाती है। इस अवसर पर श्री कौशल राय, श्री विपिन चौकसे, श्री गोविन्द गोयल, श्री संजय चौकसे, श्री हरिओम पाल, श्री लोकेश राय, श्री दौलत साहू और श्री हेमन्त रजक मौजूद थे।


सांस्कृतिक पर्व है मकर संक्रांति : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
14 January 2019
जनसम्‍पर्क, विधि एवं विधायी, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज यहाँ मंदाकिनी मैदान कोलार रोड पर 22वें पतंग उत्सव का शुभारंभ किया। उन्होंने पतंगबाजों से कहा कि मकर संक्रांति सांस्कृतिक पर्व है। श्री शर्मा ने इस अवसर पर पाँच पतंग गुरूओं का सम्मान किया। पतंग उत्सव में 16 क्लब शामिल हुए। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने अलौकिक सेवा समिति के अध्यक्ष श्री विजय शंकर दीक्षित को आयोजन के लिए बधाई दी। श्री शर्मा ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों को मकर संक्रांति की शुभकामनाएँ दी। उन्होंने कहा कि पतंग उत्सव में सभी वर्गों का सम्मिलित होना और एक-दूसरे को तिल के लड्डू खिलाना भोपाल की गंगा-जमुनी तहजीब को दर्शाता है। जनसम्पर्क मंत्री ने इस अवसर पर राष्ट्रीय एवं अंतर्राष्ट्रीय स्तर के पतंगबाजों श्री भैया भाई, श्री नासिर अंसारी, श्री लक्ष्मीनारायण खण्डेलवाल, श्री छोटे मियां और श्री रेहान लखनवी को सम्मानित किया।


निर्माण कार्यों की गुणवत्ता से किसी तरह का समझौता न हो
14 January 2019
लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने विभागीय अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि प्रदेश में हो रहे सभी निर्माण कार्य तय समय-सीमा में पूरे हों। निर्माण कार्यों में होने वाली देरी को बर्दाश्त नहीं किया जायेगा। मंत्री श्री वर्मा आज भोपाल में वीडियो कॉन्फ्रेंस के माध्यम से प्रदेश के विभागीय अधिकारियों से चर्चा कर रहे थे। इस मौके पर प्रमुख सचिव, लोक निर्माण श्री मोहम्मद सुलेमान भी मौजूद थे। मंत्री श्री वर्मा ने कहा कि अधिकारी निर्माण कार्यों की गुणवत्ता के साथ किसी भी तरह से समझौता न करें। उन्होंने वचन-पत्र में दिये गये वायदों के मुताबिक कार्य के निर्देश दिये। बैठक में प्रदेश में चल रहे सड़क एवं भवन निर्माण कार्यों की जानकारी दी गई। श्री वर्मा ने सतना और शहडोल जिले में निर्माण कार्यों में तेजी लाने के निर्देश दिये। बैठक में बताया गया कि केन्द्र सरकार की भारतमाला योजना के अंतर्गत पहले चरण में राज्य शासन द्वारा सुझाए गये 5,987 किलोमीटर लम्बाई के राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इन मार्गों का निर्माण फोर-लेन मार्गों के रूप में एनएचएआई द्वारा किया जायेगा। इन योजनाओं में जबलपुर बायपास, सागर बायपास, ग्वालियर बायपास और ओरछा बायपास का निर्माण शामिल है। इसी योजना में भोपाल-इंदौर 6 लेन एक्सप्रेस-वे एवं भोपाल बायपास (दक्षिण-पश्चिम भाग) बनाये जाने की भी सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इस एक्सप्रेस-वे हाईवे की अनुमानित लागत 4 हजार करोड़ रुपये है। इसके लिये डीपीआर का कार्य प्रगति पर है। लोक निर्माण मंत्री ने संभागवार विभागीय निर्माण कार्यों की समीक्षा की। भोपाल-जबलपुर मार्ग का किया निरीक्षण लोक निर्माण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज मण्डीदीप जाते हुए भोपाल-जबलपुर राष्ट्रीय राजमार्ग क्रमांक-12 का निरीक्षण किया। निरीक्षण के दौरान बताया गया कि मिसरोद से ओबेदुल्लागंज तक के लगभग 49 किलोमीटर मार्ग का निर्माण कार्य मध्यप्रदेश सड़क विकास निगम द्वारा करवाया जा रहा है। कार्य की लागत लगभग 530 करोड़ रुपये है। इस कार्य को मार्च-2020 तक पूरा कर लिया जायेगा। निर्माण पूरा होने के बाद मण्डीदीप से होकर गुजरने वाले यातायात को और सुगम बनाया जा सकेगा।


प्रत्येक महाविद्यालय में गठित होगा इलेक्‍ट्रोलर लिट्रेसी क्लब
14 January 2019
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशानुसार मतदाता जागरूकता अभियान के अन्तर्गत प्रत्येक महाविद्यालय में इलेक्ट्रोलर लिट्रेसी क्बल (ELC) का गठन किया जायेगा। निर्वाचन साक्षरता के लिए छात्र-छात्राओं को मतदाता जागरूकता से संबंधित अभियान एवं गतिविधियों के क्रियान्वयन के लिए तैयार किया जायेगा। यह क्लब महाविद्यालय में एवं छात्र-छात्राएँ अपने निवास के आस-पास पूरा वर्ष मतदाता जागरूकता गतिविधियों को संचालित करेंगे। महाविद्यालय के प्राचार्य क्लब के संरक्षक होंगे। प्रत्येक संस्था में इस कार्य के लिए दो कैम्पैस एम्बेसेडर छात्र-छात्राओं की नियुक्ति की जायेगी। सभी संस्थाओं को निर्देशित किया गया है कि 18 वर्ष से अधिक उम्र के समस्त छात्र-छात्राओं का मतदाता परिचय-पत्र बनाकर वितरित किया जाना सुनिश्चित करें। महाविद्यालय के प्रत्येक छात्र अपने निवास के आस-पास दस-दस घरों में जाकर मतदाता जागरूकता संबंधी प्रचार-प्रसार करेंगे तथा 18 वर्ष की आयु से अधिक के व्यक्ति जिनका परिचय पत्र नहीं बना है, उनका परिचय-पत्र बनवाने में सहयोग करेंगे। छात्रों द्वारा 18 वर्ष से अधिक आयु के जिन व्यक्तियों की पहचान की जायेगी, उनकी सूची तैयार कर महाविद्यालय को देगें। ऐसे छात्र, जिन्होंने व्यवहारिक प्रयास कर सफलतापूर्वक सूची का निर्माण किया है, उन्हें महाविद्यालय और जिला स्तर पर पुरस्कार और प्रशस्ति-पत्र प्रदान कर सम्मानित किया जायेगा। इस अभियान में एन.एस.एस., एन.सी.सी. और क्रीड़ा विभाग के छात्र-छात्राओं का भी सहयोग लिया जायेगा। प्रतियोगिता 15 जनवरी से शुरू होंगी नौवें राष्ट्रीय मतदाता दिवस समारोह में महाविद्यालय और जिला स्तर एवं संबंधित विश्वविद्यालय द्वारा वाद-विवाद, निबंध, चित्रकला तथा स्लोगन प्रतियोगिता का आयोजन किया जा रहा है। ये प्रतियोगिताएँ 15 जनवरी से 22 जनवरी 2019 तक आयोजित की जायेगी। प्रत्येक स्तर पर प्रत्येक विधा में प्रथम तथा द्वितीय स्थान प्राप्त चयनित विद्यार्थी प्रत्येक विश्वविद्यालय से अधिकतम कुल 8 छात्र-छात्राएँ राज्य स्तरीय प्रतियोगिता में शामिल होंगी।


नेशनल लोक अदालत की तारीखें घोषित
14 January 2019
सर्वोच्च न्यायालय और राष्ट्रीय विधिक सेवा प्राधिकरण के निर्देशानुसार वर्ष 2019 में आयोजित की जाने वाली नेशनल लोक अदालतों की तारीखें घोषित कर दी गई हैं। सदस्य सचिव राज्य विधिक सेवा प्राधिकरण श्री विजय चन्द्र ने बताया कि 9 मार्च, 13 जुलाई, 14 सितम्बर और 14 दिसम्बर को नेशनल लोक अदालत का आयोजन होगा। नेशनल लोक अदालतों के लिये चिन्हित किये गये लम्बित और प्रिलिटिगेशन के प्रकरणों में न्यायालयों में लम्बित प्रकरणों में आपराधिक शमनीय प्रकरण, पराक्राम्य अधिनियम की धारा-138 के अंतर्गत प्रकरण, मनी रिकवरी सबंधी मामले, एमएसीटी प्रकरण (मोटर दुर्घटना क्षतिपूर्ति दावा प्रकरण), श्रम विवाद प्रकरण, विद्युत एवं जल कर/बिल संबधी (सिर्फ शमनीय प्रकरण), वैवाहिक प्रकरण, भूमि अधिग्रहण के प्रकरण, सेवा मामले जो सेवानिवृत्त संबंधी लाभों से संबंधित, राजस्व प्रकरण (सिर्फ जिला/उच्च न्यायालयों में लम्बित) दीवानी इत्यादि मामले महत्वपूर्ण हैं। इनके अतिरिक्त, प्रीलिटिगेशन (मुकदमा पूर्व) के अंतर्गत पराक्राम्य अधिनियम की धारा-138 के अंतर्गत प्रकरण, मनी रिकवरी संबंधी मामले, श्रम विवाद संबंधी मामले, विद्युत एवं जल कर/बिल संबंधी (सिर्फ शमनीय प्रकरण), दूरसंचार के बकाया लैण्डलाइन/मोबाइल बिल संबंधी प्रकरण, आपराधिक शमनीय प्रकरण, वैवाहिक प्रकरण, दीवानी इत्यादि मामले भी सुने जायेंगे। सदस्य सचिव ने बताया कि आमजनता/पक्षकारगण, जो न्यायालय में लम्बित एवं मुकदमेबाजी के पूर्व (प्रिलिटिगेशन प्रकरण) नेशनल लोक अदालत के लिये चिन्हित किये गये प्रकरणों/विवादों का उचित समाधान कर, आपसी सहमति से लोक अदालत में निराकरण कराना चाहते हैं, वे संबंधित न्यायालय अथवा जिला विधिक सेवा प्राधिकरण/उच्च न्यायालय विधिक सेवा समिति से सम्पर्क कर अपना मामला आयोजित होने वाली नेशनल लोक अदालतों में रखे जाने के लिये अपनी सहमति और आवश्यक कार्यवाही पूर्ण करायें। सदस्य सचिव ने पक्षकारों से नेशनल लोक अदालतों में अधिक से अधिक संख्या में भाग लेने का आग्रह किया है।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा पुलिस कर्मियों की मृत्यु पर शोक व्यक्त
14 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने बालाघाट के पास हुई सड़क दुर्घटना में मृत पुलिस कर्मियों को श्रद्धांजलि देते हुए शोकमग्न परिजनों को सांत्वना दी है। उल्लेखनीय है कि गत दिवस बालाघाट के पास विधानसभा उपाध्यक्ष सुश्री हिना कांवरे की कार के आगे चल रहे पुलिस वाहन की सामने से आ रहे ट्रक से हुई भीषण टक्कर में ड्यूटी पर तैनात पुलिसकर्मियों की मृत्यु हो गई।


क्षिप्रा नदी के घाटों पर स्नान पर्वों के लिये सर्वोत्तम व्यवस्थाओं के निर्देश
13 January 2019
मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती ने आज उज्जैन में क्षिप्रा नदी के तट, त्रिवेणी घाट और रामघाट पहुँचकर मकर संक्रांति पर्व के अवसर पर श्रद्धालुओं के लिये की गई व्यवस्थाओं का निरीक्षण किया। श्री मोहंती ने प्रशासन को निर्देश दिये कि विभिन्न घाटों पर आने वाले श्रद्धालुओं के लिये स्नान और दर्शन आदि की सर्वोत्तम व्यवस्थाएँ सुनिश्चित की जायें। उन्होंने कहा कि मकर संक्रांति पर्व सहित विभिन्न स्नान पर्वों के लिये भी नर्मदा नदी का पानी क्षिप्रा नदी में प्रवाहित करने की स्थाई व्यवस्था की जाये। इन कार्यों में सभी संबंधित विभाग पूर्ण समन्वय के साथ अपनी जिम्मेदारी निभाएँ। इन कार्यों में किसी भी प्रकार की लापरवाही क्षम्य नहीं होगी। मुख्य सचिव ने अधिकारियों की बैठक में निर्देश दिये कि गंभीर नदी के पानी की चोरी रोकने के लिये जिला प्रशासन सख्त कार्यवाही करे। घाटों पर साफ-सफाई का विशेष ध्यान रखा जाये। बहुत ज्यादा आवश्यकता होने पर ही गंभीर नदी का पानी क्षिप्रा नदी में छोड़ा जाये। उन्होंने निर्देश दिये कि गंभीर नदी का पानी पूर्ण रूप से उज्जैन शहर की पेयजल व्यवस्था के लिये आरक्षित रखा जाये। मुख्य सचिव श्री मोहंती के निरीक्षण के दौरान और बैठक में अपर मुख्य सचिव जल संसाधन श्री आर.एस. जुलानिया, अपर मुख्य सचिव नर्मदा घाटी विकास श्री रजनीश वैश्य, प्रमुख सचिव द्वय श्री प्रमोद अग्रवाल और श्री विवेक अग्रवाल तथा संभाग के अन्य वरिष्ठ अधिकारी मौजूद रहे।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने दी संक्रांति, पोंगल और लोहड़ी की बधाई
13 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने प्रदेशवासियों को संक्रांति, पोंगल और लोहड़ी पर्व की बधाई और शुभकामनाएँ दी हैं। मुख्यमंत्री ने शुभकामना संदेश में कहा कि उत्सवधर्मिता भारतीय समाज की विशेषता है। अनेकता में एकता इसकी शक्ति है। श्री कमल नाथ ने कहा कि इन त्यौहारों का संबंध फसल आने की खुशी से जुड़ा है, इसलिये किसान भाइयों को विशेष बधाई। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि प्रदेश अब सबके सहयोग और समर्थन से हर क्षेत्र में नई उड़ान भरने के लिए तैयार है। उन्होंने सभी नागरिकों के सुखमय और संपन्न जीवन की कामना की है।


जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा ने गुलाब प्रदर्शनी का अवलोकन किया
13 January 2019
जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज लिंक रोड नंबर 1 पर शासकीय गुलाब उद्यान में 38 वीं अखिल भारतीय गुलाब प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने कहा कि भोपाल के लोगों की गुलाबों के प्रति प्रेम और रुचि से ही इस प्रकार की प्रदर्शनी का आयोजन भोपाल में किया जाता हैं । मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि यह प्रदर्शनी भोपालवासियों के लिए गौरव की बात है। श्री शर्मा ने गुलाब उद्यान में प्रदर्शित गुलाबों की सराहना की और प्रतिभागियों को भी सराहा जो वर्ष भर गुलाबों की अपने परिवार के सदस्य की तरह देखभाल करते है।


छात्राओं के लिए सावित्री बाई फुले का व्यक्तित्व प्रेरणादायी
13 January 2019
जनसम्पर्क, मंत्री श्री पी.सी.शर्मा ने हिन्दी भवन में आयोजित सावित्री बाई फुले जयन्ती समारोह में कहा कि नारी समाज के लिए सावित्री बाई फुले का व्यक्तित्व सदैव प्रेरणादायी रहेगा। उन्होंने कहा कि ज्योतिबा फुले द्वारा अस्पृश्यता निवारण और समाजिक उत्थान के क्षेत्र में किये गये कार्य समाज के लिए आज भी उपयोगी हैं। श्री शर्मा ने संपूर्ण सामाजिक विकास के लिए ज्योतिबा फुले के आदर्श को भी प्रासंगिक बताया। मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने इस अवसर पर राजनीति, शिक्षा, समाजसेवा, खेलकूद, कला आदि क्षेत्रों में उत्कृष्ट कार्यो के लिए महिलाओं को सम्मानित किया। समारोह में गणमान्य नागरिक और बड़ी संख्या में स्थानीयजन उपस्थित थे।


अखंड भारत के निर्माण में सरदार पटेल का योगदान अतुलनीय
13 January 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज यहाँ जवाहर चौक पर लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल कि प्रतिमा का अनावरण किया। साथ ही पाटीदार समाज की बेवसाईट भी लाँच की। श्री पी.सी शर्मा ने कहा कि अखंड भारत के निर्माण में लौह पुरूष सरदार बल्लभ भाई पटेल का अतुलनीय योगदान रहा। उन्होंने देश के स्वतंत्रता आंदोलन में भी बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। श्री शर्मा ने कहा कि देश की एकता और अखंडता को अक्षुण्य बनाये रखने में लौह पुरूष के प्रयास सदैव स्मरणीय रहेंगे। जनसम्पर्क मंत्री ने इस अवसर पर ''स्टेच्यू ऑफ यूनिटी'' प्रतिमा के निर्माता श्री प्रकाश पाटीदार और गिनीज बुक ऑफ वर्ल्ड रिकॉर्ड में टेटू बनाने में नाम दर्ज कराने वाली सुश्री माही पाटीदार को सम्मानित किया। समारोह में गुजराती समाज के अध्यक्ष श्री संजय पटेल पूर्व मंण्डी अध्यक्ष श्री भागीदार पाटीदार, पाषर्दगण और समाज के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


समय के साथ नजरिये, सोच और कार्यशैली में परिवर्तन करने की आवश्यकता
12 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा है कि आज हमें समय के साथ अपने नजरिये, सोच और कार्यशैली में परिवर्तन लाने की आवश्यकता है। नई पीढ़ी के सामने जो चुनौतियाँ है, उनका नई सोच और समझ के साथ ही मुकाबला किया जा सकता है। श्री कमल नाथ आज नई दिल्ली में नए मध्यप्रदेश भवन के आधारशिला समारोह को संबोधित कर रहे थे। सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह, भूतपूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर, सांसद एवं विधायक सहित केन्द्र सरकार में पदस्थ वरिष्ठ अधिकारी एवं अन्य गण्यमान्य व्यक्ति इस मौके पर उपस्थित थे। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कहा कि नई दिल्ली में नया भवन बदलते समय की माँग है। नया भवन जरूरतों के अनुरूप बनेगा और अन्य प्रदेशों के लिए नज़ीर होगा। मुख्यमंत्री ने कहा कि नया मध्यप्रदेश भवन आधुनिकता का प्रमाण होगा। इसे आने वाले 50 सालों की जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया जायेगा। भवन में यह भी ध्यान रखा जायेगा कि इसमें किसी भी प्रकार की रियायत या सब्सिडी किसी को नहीं दी जायेगी। उन्होंने उम्मीद की कि भवन के संचालन और रखरखाव पर किसी भी प्रकार का कोई खर्चा सरकार पर बोझ नहीं होगा। भवन रेवेन्यू न्यूट्रल के सिद्धांत पर होगा। उन्होंने सबके समर्थन के साथ प्रदेश को विकास और नई दिशा देने का वायदा किया। श्री कमल नाथ ने कहा कि नई पीढ़ी में नई सोच और नई तड़प है, युवा वर्ग नई-नई जानकारियाँ और नये-नये आयामों को छूना चाहता है। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश सरकार युवाओं के लिए व्यवसाय के अवसर उपलब्ध करवाने के प्रयास कर रही है। श्री कमल नाथ ने कृषि क्षेत्र और इससे जुड़े व्यवसाय को चुनौती मानते हुए कहा कि लगभग 70 प्रतिशत से अधिक लोग कृषि और इस पर आधारित व्यवसाय से जुड़े हैं। हम इनकी आमदनी को दुगनी करने का हरसंभव प्रयास करेंगे। सामान्य प्रशासन मंत्री डॉ. गोविन्द सिंह ने इस मौके पर पुराने मध्यप्रदेश भवन से जुड़े संस्मरण और नये भवन की आवश्यकता के बारे में विस्तार से बताया। कार्यक्रम के समापन पर विशेष आयुक्त श्री अनुराग जैन ने आभार व्यक्त किया। इस अवसर पर मध्यप्रदेश संवर्ग के केन्द्र सरकार में पदस्थ वरिष्ठ अधिकारियों सहित कई सेवानिवृत्त वरिष्ठ अधिकारी भी मौजूद थे।


समाचार पत्रों का महासागर है सप्रे संग्रहालय : जनसम्‍पर्क मंत्री श्री शर्मा
12 January 2019
जनसम्‍पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज यहाँ माधवराव सप्रे स्मृति समाचार पत्र संग्रहालय एवं शोध संस्थान द्वारा आयोजित राज्य स्तरीय पत्रकारिता पुरस्कार समारोह में सप्रे संग्रहालय को मीडिया जगत के लिए अनूठी राष्ट्रीय विरासत बताया। उन्होंने कहा कि यह संग्रहालय समाचार पत्रों का महासागर है। श्री शर्मा ने कहा कि वे इस संस्थान की स्थापना के समय से आज तक जुड़े हुए हैं। संस्थान द्वारा अनूठा कार्य किया जा रहा है। समाचार पत्रों के इस खजाने के विस्तार के लिए शासन स्तर से हर संभव सहायता उपलब्ध कराई जाएगी। समारोह में हुकुमचंद नारद पुरस्कार से साहित्यकार श्री ध्रुव शुक्ला और निर्बन्‍ध पत्रकार-विश्लेषक श्री कमलेश पारे को सम्मानित किया गया। संतोष कुमार शुक्ल लोक संप्रेषण पुरस्कार से उप संचालक जनसंपर्क' श्री मनोज पाठक, माखनलाल चतुर्वेदी पुरस्कार से विशेष संवाददाता पत्रिका श्री आलोक पण्ड्या, लाल बल्देव सिंह पुरस्कार से उप संपादक हरिभूमि श्री हरि अग्रहरि, जगदीश प्रसाद चतुर्वेदी पुरस्कार से उप संपादक नवदुनिया श्री भोजराज उच्चसरे, झाबरमल्ल शर्मा पुरस्कार से विशेष संवाददाता न्यूज नेशन श्री नीरज श्रीवास्तव, रामेश्वर गुरू पुरस्कार से मीडिया शिक्षक श्री पुष्पेन्द्रपाल सिंह, के.पी. नारायणन पुरस्कार से प्रेस ट्रस्ट आफ इंडिया के श्री लेमुअल लाल को, राजेन्द्र नूतन पुरस्कार से दैनिक जागरण'' संवाददाता श्री अर्पण खरे को गंगाप्रसाद ठाकुर पुरस्कार से छत्तीसगढ़ के लेखक-पत्रकार' श्री ब्रह्रावीर सिंह को, जगत पाठक पुरस्कार से दैनिक भास्कर के कला-पत्रकार श्री प्रवीण पाण्डेय को, सुरेश खरे पुरस्कार से पीपुल्स समाचार पत्र के विशेष संवाददाता श्री सीताराम ठाकुर को, आरोग्य सुधा पुरस्कार से डिजिआना के विशेष संवाददाता श्री शरद बाघेला को और होमई व्यारावला पुरस्कार से एनडीटीवी के फोटो जर्नलिस्ट श्री रिजवान खान को सम्मानित किया गया।


सूर्य नमस्कार भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
12 January 2019
स्वामी विवेकानंद जयंती युवा दिवस पर राजधानी में आयोजित राज्य-स्तरीय सूर्य नमस्कार समारोह में जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा एवं स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. प्रभुराम चौधरी शामिल हुए। श्री शर्मा ने कहा कि सूर्य नमस्कार भारतीय संस्कृति का अभिन्न अंग है, इससे व्यक्तित्व तेजस्वी बनता है। डॉ. चौधरी ने कहा कि योग शरीर, मन और आत्मा को स्वस्थ रखता है। प्रमुख सचिव स्कूल शिक्षा श्रीमती रश्मि अरुण शमी एवं अन्य वरिष्ठ अधिकारी, जन-प्रतिनिधि तथा बड़ी संख्या मे विद्यार्थियों ने कार्यक्रम मे भाग लिया। योग दिवस पर स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ. चौधरी ने कहा कि योग भारतीय संस्कृति की पुरातन परंपरा है। इससे शरीर, मन और आत्मा की शुद्धि होती है। व्यक्ति पुरूषार्थ धर्म, अर्थ, काम और मोक्ष की प्राप्ति कर मानव जीवन को सार्थक कर सकता है। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि सूर्य-नमस्कार और योग प्राणायाम को दिनचर्या मे शामिल करने से स्वस्थ और सुखी जीवन का मार्ग प्रशस्त होता है। उन्होंने कहा कि स्वामी विवेकानंद के जीवन चरित्र से प्रेरणा लेकर आदर्श नागरिक बनें।


राज्यपाल ने मकर और पोंगल पर्व पर दी प्रदेशवासियों को बधाई
11 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने मकर संक्रांति, लोहड़ी और पोंगल पर्व पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्रीमती पटेल ने शुभकामना संदेश में कहा कि हमारे देश की विविधता में एकता की संस्कृति विश्व प्रसिद्ध और अद्वितीय है। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि हमारे देश में सभी त्यौहार एकता, शांति, सद्भाव और भाई-चारे के साथ सौहार्दपूर्ण वातावरण में मनाये जाते हैं। सभी देशवासी एक-दूसरे के त्यौहारों में शामिल होते हैं। उन्होंने कहा कि मकर, लोहड़ी और पोंगल का त्यौहार समृद्धि और उन्नति का प्रतीक है। राज्यपाल ने इस अवसर पर प्रदेशवासियों के सुख-समृद्धि की कामना की है।


पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री शास्त्री का पुण्य स्मरण
11 January 2019
देश को 'जय जवान-जय किसान' का नारा देने वाले भारत के दूसरे प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री लाल बहादुर शास्त्री को उनकी पुण्य तिथि पर आज प्रदेश के नागरिकों ने श्रद्धांजलि दी और उनके योगदान को याद किया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय श्री शास्त्री की स्मृति को नमन करते हुए उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। श्री कमल नाथ सुबह पुरानी विधान सभा मिंटो हाल के सामने शास्त्री चौक पहुंचे और शास्त्री जी की प्रतिमा पर माल्यार्पण किया। इस अवसर पर जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा, विधायक श्री आरिफ मसूद और गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने "युवा दिवस" पर युवाओं को दी बधाई
11 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने स्वामी विवेकानन्द जयन्ती 'युवा दिवस' पर विद्यार्थियों और नागरिक बंधुओं को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। उन्होंने 'युवा दिवस' पर आयोजित सामूहिक सूर्य नमस्कार की ग्यारहवीं श्रृंखला में शामिल हो रहे युवाओं, नागरिकों और जन-प्रतिनिधियों को भी बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने युवाओं को दिये संदेश में कहा कि सूर्य नमस्कार के फायदों को देखते हुए इसे अपने जीवन की दिनचर्या से जोड़ें। उन्होंने कहा कि तन और मन से स्वस्थ युवा ही देश और प्रदेश का भविष्य बना सकते हैं। उन्होंने स्वामी विवेकानन्द के सन्देश का उल्लेख करते हुए कहा कि हर नागरिक स्वस्थ रहें, स्वस्थ मानसिकता रखें और स्वस्थ भारत का निर्माण करें। सूर्य नमस्कार की विशेषताओं के संबंध में मुख्यमंत्री ने कहा कि यह एक यौगिक क्रिया है। पूर्णतः वैज्ञानिक है। उन्होंने कहा कि दुनिया के सभी धर्मो में अलग-अलग तरीकों से सूर्य उपासना का उल्लेख मिलता है। सूर्य हमें ऊर्जा और प्रकाश देता है जो जीवन के लिए जरुरी है। उन्होंने कहा कि हम भाग्यशाली हैं कि ऐसे देश में रहते हैं, जहाँ हर दिन सूर्य के दर्शन हो जाते हैं।


खूब पढ़ें और आगे बढ़ें
11 January 2019
विधि एवं विधायी, जनसम्पर्क, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने विद्यार्थियों से कहा है कि वे खूब पढ़ें और आगे बढ़ें। श्री शर्मा मॉडल हायर सेकेण्डरी स्कूल टी.टी. नगर के वार्षिक उत्सव समारोह को संबोधित कर रहे थे। श्री शर्मा ने विद्यार्थियों से कहा कि जो भी कार्य करें, पूरे समर्पण भाव से करें। अच्छे कार्य में सफलता जरूर मिलेगी। उन्होंने कहा ‍कि विद्यार्थी खेलकूद और पढ़ाई में कड़ी मेहनत करें और स्वयं के साथ ही विद्यालय, माता-पिता, प्रदेश और देश का नाम रोशन करें। उन्होंने कहा कि मॉडल हायर सेकण्डरी स्कूल हमेशा एक आदर्श विद्यालय रहा है। यहाँ के विद्यार्थी सुशिक्षित हुए हैं और नई ऊँचाईयों को छुआ है। श्री शर्मा ने छात्राओं से कहा कि वे परेशानियों का डटकर मुकाबला करें। मंत्री श्री शर्मा ने कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में सरकार सभी वर्गों के सर्वांगीण विकास के लिए प्रतिबद्ध है। उन्होंने कहा कि छिंदवाड़ा मॉडल के समान पूरे प्रदेश का विकास किया जाएगा। प्रदेश में कोई भी बेरोजगार नहीं रहेगा। सभी को रोजगार मिलेगा। पढ़ाई के बाद जब तक रोजगार नहीं मिलता है, तब तक उन्हें भत्ते के रूप में चार हजार रूपए प्रति माह दिये जाएंगे।


होमगार्ड, एसडीईआरएफ कर्मियों की वेतन समस्या दूर करने 100 करोड़ का प्रावधान
11 January 2019
गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने बताया है कि होमगार्ड और एसडीईआरएफ को पिछले 2 माह से वेतन नहीं मिलने की समस्या को दूर करने के लिये द्वितीय अनुपूरक बजट में 100 करोड़ रुपये का बजट प्रावधान किया गया है। उन्होंने कहा कि आने वाले समय में मुख्य बजट में आवश्यकताओं को देखते हुए अधिक बजट का प्रावधान किया जायेगा। श्री बच्चन आज यहाँ होमगार्ड और एसडीईआरएफ के सैनिक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे। श्री बच्चन ने कहा कि होमगार्ड और एसडीईआरएफ ने प्रदेश और दूसरे राज्यों में बेहतरीन सेवाएँ दी हैं। अपनी जान पर खेल कर दूसरों की जान बचाई है। श्री बच्चन ने बेहतर सेवाएँ देने के लिये होमगार्ड और एसडीईआरएफ के जवानों की भूरि-भूरि प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि हमेशा परिणामोन्मुखी कार्य करें। राज्य सरकार उनके हित के लिये विशेष प्रयास करेगी। प्रमुख सचिव, गृह श्री मलय श्रीवास्तव ने कहा कि जब भी प्रदेश को होमगार्ड और एसडीईआरएफ की सहायता की जरूरत पड़ी, ये जवान कठिन परिस्थितियों में भी हमेशा डटे रहे। जवानों का काम प्रशंसनीय है। पुलिस महानिदेशक, होमगार्ड श्री महान भारत सागर ने कहा कि नियमित प्रशिक्षण हमेशा उपयोगी साबित होता है। मंत्री श्री बच्चन ने आपदा के समय अच्छा काम करने वाले जवानों को प्रशंसा-पत्र प्रदान किये। मंत्री श्री बच्चन ने कार्यक्रम स्थल पर लगी प्रदर्शनी में उपकरणों के बारे में जानकारी प्राप्त की। शुरूआत में श्री बच्चन ने कैम्प कार्यालय पहुँचकर प्रजन्टेशन के जरिये विभागीय गतिविधियों की समीक्षा की। इस दौरान एडीजी श्री मनीष शंकर शर्मा और श्री राजेश चावला भी मौजूद थे।


कृषि मंत्री ने लाँच किया "ई-कृषि सेवा मोबाइल एप
11 January 2019
किसान कल्याण एवं कृषि विकास मंत्री श्री सचिन यादव ने कृषि अभियांत्रिकी संचालनालय पहुँचकर 'ई-कृषि सेवा'' मोबाइल एप लांच किया। पूर्व में किसानों को कृषि यंत्रों का वितरण ऑनलाइन पोर्टल के माध्यम से किया जा रहा था। इसमें किसान को आवेदन करने के लिए कियोस्क सेंटर का सहारा लेना पड़ता था। जिसके चलते कई बार अनावश्यक परेशानी का सामना करना पड़ता था, अब मोबाइल एप के माध्यम से किसान घर बैठे अपना आवेदन कर योजना का लाभ ले सकेंगे। किसानों को यंत्र चयन तथा किसी भी कंपनी का किसी भी डीलर से यंत्र प्राप्त करने की स्वतन्त्रता रहेगी। श्री यादव ने कहा कि वर्तमान परिदृश्य मे कृषि यंत्रीकरण अत्यधिक महत्वपूर्ण हैं। इससे श्रम एवं लागत की बचत होती है उत्पादकता में वृद्धि होती है। कृषि को नये आयाम देने के लिए राज्य सरकार कृषि यंत्रीकरण के क्षेत्र को सर्वोच्च प्राथमिकता देगी तथा आवश्यकतानुसार नये कार्यक्रम भी प्रारंभ किये जाएंगे। पूर्व में मंत्री श्री यादव ने किसान भवन में ई-मण्डी, ई-अनुज्ञा तथा टेली-मेडीसिन सेवा की स्थापना से संबंधित प्रजेन्‍टेशन देखा और आवश्यक निर्देश दिये। उन्होंने मण्डी बोर्ड द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्यो की जानकारी प्राप्त कर कार्यों को गुणवत्ता के साथ समय-सीमा में पूर्ण करने की हिदायत दी।


निराश्रित गौ-वंश को गौ-शालाओं में विस्थापित किया जायेगा
11 January 2019
निराश्रित गौ-वंश को गौ-शालाओं में रखा जायेगा। गाय, बैल, आवारा तरीके से सड़कों पर विचरण करते नजर नहीं आयेंगे। शुरूआती दौर में भोपाल नगर में आवारा तरीके से घूमते निराश्रित गाय-बैल को पकड़कर गौ-शाला में रखा जायेगा। इस अभियान की शुरूआत 16 जनवरी से की जायेगी। भोपाल नगर में पाँच हजार से अधिक निराश्रित गाय-बैल को गौ-शाला में विस्थापित किया जायेगा। यह निर्णय पशुपालन, मछुआ कल्याण और मत्स्य-विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव की अध्यक्षता में आज मंत्रालय में हुई अन्तर्विभागीय बैठक में लिया गया। बैठक में अपर मुख्य सचिव पशुपालन श्री मनोज श्रीवास्तव, संभागायुक्त श्री कवीन्द्र कियावत, आयुक्त मनरेगा सुश्री जी.व्ही. रश्मि, कलेक्टर डॉ. सुदाम खांडे, सचिव जेल श्री राजीव दुबे, डीआईजी श्री धर्मेंद्र चौधरी, आयुक्त नगर निगम श्री बी. विजय दत्ता, संचालक पशुपालन डा. आर. के. रोकड़े, एमडी एमपीएलडीसी डा. एच.बी.एस. भदौरिया और अन्य अधिकारी मौजूद थे। मंत्री श्री यादव ने कहा कि प्रदेश में निराश्रित गौ-वंश का यूआईडी टैग से पंजीयन किया जा रहा है। सबसे पहले हाई-वे के आसपास के क्षेत्र के ग्रामों में गौ-शाला खोलेंगे। शुरूआत पॉयलट प्रोजेक्ट के तौर पर भोपाल से की जा रही है। उन्होंने संभागायुक्त, कलेक्टर और आयुक्त नगर निगम से कहा कि अभियान को युद्ध स्तर पर शुरू करें। अभियान शुरूआत के एक सप्ताह बाद 22 से 25 जनवरी के बीच वे नगर के उस हिस्से का जायजा लेंगे, जहाँ से निराश्रित गौ-वंश को हटाया गया है। उन्होंने कहा कि निरीक्षण के दौरान अगर निराश्रित गाय-बैल मिलते हैं, तो क्षेत्र के संबंधित जिम्मेदार अधिकारी-कर्मचारी के विरुद्ध सख्त कार्यवाही की जायेगी। अपर मुख्य सचिव ने दिये निर्देश एसीएस श्री श्रीवस्तव ने कलेक्टर भोपाल से कहा कि अगले तीन दिन में वह नगर के सभी 7 कांजी हाऊस की कुल क्षमता का आकलन कर लें ताकि निराश्रित गौ-वंश को वहाँ रखा जा सके। जिले में संचालित सभी 27 गौ-शालाओं के प्रबंधकों से चर्चा कर उनकी गौ-शाला की क्षमता का आंकलन कर गौ-वंश रखने की व्यवस्था सुनिश्चित करें। इसके अतिरिक्त गौ-शाला की अन्य व्यवस्था भी सुनिश्चित करें। श्री श्रीवास्तव ने कहा कि ऐसे पशुपालक, जो सड़कों पर गायों को निराश्रित ‍िस्थति में छोड़ देते हैं, उन्हें ताकीद किया जाये कि 15 जनवरी के बाद उनकी गाय सड़कों पर या खुले स्थान पर मिलती है, तब गाय को कांजी हाऊस/ गौ-शाला में भेज दिया जायेगा और पशुपालक के विरुद्ध हैवी पैनल्टी अधिरोपित की जायेगी। बताया गया कि 4 लाख 37 हजार 910 निराश्रित पशुओं की संख्या है। प्रदेश में कुल पंजीकृत 1285 गौ-शाला में 614 क्रियाशील हैं, जिनमें 1 लाख 53 हजार 834 गौ-वंश है। गौ-वंश की संख्या वर्ष 2012 की पशु संगणना के आधार पर है। वर्ष 2018 में विभाग द्वारा अनुमानित लगभग 6 लाख निराश्रित गौ-वंश है। निराश्रित गौ-वंश के लिये गौ-शालाओं को खोलने के लिये स्थान चिन्हित करने और गौ-शाला संचालन के लिये वित्तीय प्रबंधन आदि पर भी चर्चा की गई।


मंत्री श्री मरकाम नये आवास में
11 January 2019
जनजातीय कार्य मंत्री श्री ओमकार सिंह मरकाम ने आवंटित शासकीय आवास बी-8 सिविल लाइन्स श्यामला हिल्स भोपाल में आज गृह प्रवेश किया। निवास कार्यालय में उन्होंने स्थानीय विधायकों एवं अतिथियों से मुलाकात की।





रेरा आवासीय क्षेत्र की सफलता की चाबी - श्री डिसा
11 January 2019
रेरा प्राधिकरण के अध्यक्ष श्री अन्टोनी डिसा ने कहा है कि रेरा एक्ट जिन पक्षकारों को ध्यान में रखकर बनाया गया हैं। उन्हें इसके प्रति जागरूक किये बगैर एक्ट की मंशा पूरी नहीं हो सकती। यह एक ऐसा सामाजिक दायित्व है, जो जरूरतमदों के सपनों को पूरा करता हैं। इस कार्य में विधि-विशेषज्ञों की महत्वपूर्ण भूमिका है और उनकी सहभागिता भी आवश्यक हैं। श्री डिसा आज 'रेरा और उसके क्रियान्व्यन तथा प्रभाव' पर रिनान्सा विधि विश्वविघालय इन्दौर में दो दिवसीय कार्यशाला का उद्घाटन कर रहे थे। श्री अन्टोनी डिसा ने कहा कि रेरा-एक्ट नागरिक केद्रित है परन्तु बिल्डरों के विरूद्ध नहीं है। उन्होंने कहा कि इससे जो बदलाव आएगा, उससे बिल्डरों को ज्यादा खरीदार मिलने के साथ ही बाजार में मांग बढ़ेगी। साथ ही खरीदार अपनी गाढ़ी कमाई से समय पर पंसदीदा आवास प्राप्त कर सकेंगे। श्री डिसा ने कहा कि रियल एस्टेट, भारतीय अर्थ-व्यवस्था में योगदान देने वाला दूसरा महत्वपूर्ण घटक है। रेरा अध्यक्ष श्री डिसा ने कहा कि रियल एस्टेट सेक्टर की सफलता के लिये इससे जुड़े सभी घटकों द्वारा रेरा के नियमों का पालन जरूरी हैं। श्री डिसा ने कहा कि रेरा एक्ट का लाभ आम लोगों को मिले, इसके लिये सभी प्रोजेक्ट का पंजीयन होना आवश्यक है। अभी तक रेरा प्राधिकरण में 2105 प्रोजेक्ट पंजीकृत हो चुके हैं। शेष बची अपूर्ण परियोजनाओं के पंजीयन के लिए प्राधिकरण दृढ़-संकल्पित हैं। उल्लेखनीय है कि प्राधिकरण द्वारा अपंजीकृत प्रोजेक्ट/कालोनी की जानकारी देने वाले सूचनाकर्ताओं को पुरस्कृत करने के लिए पुरस्कार योजना भी लागू की गई हैं। योजना के अनुसार किसी भी सूचनाकर्ता द्वारा अपंजीकृत अपूर्ण परियोजना की जानकारी का वॉट्स अप संदेश,मोबाईल नंबर 8989880123 पर अथवा RERA.REWARD@gmail.com पर मेल के माध्यम से भेजा जा सकता हैं। कार्यशाला को, रेरा के न्यायिक सदस्य श्री दिनेश कुमार नायक तथा तकनीकी सदस्य श्री अनिरूद्ध कपाले ने भी संबोधित किया। विश्वविद्यालय के कुलपति श्री स्वप्निल कोठारी ने अपने विचार रखें। कार्यशाला में रियल इस्टेट से जुडे़ सीए, इंजीनियर्स, आर्किटेक्ट सहित बड़ी सख्या में विधि विशेषज्ञों ने भाग लिया।


श्री एम. गोपाल रेड्डी अपर मुख्य सचिव जनसम्पर्क पदस्थ
10 January 2019
राज्य शासन ने श्री एम. गोपाल रेड्डी प्रशासकीय सदस्य राजस्व मण्डल ग्वालियर को अपर मुख्य सचिव जनसम्पर्क विभाग तथा प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश माध्यम पदस्थ किया है। श्री पी. नरहरि सचिव जनसम्पर्क एवं विमानन विभाग तथा आयुक्त जनसम्पर्क अब प्रबंध संचालक मध्यप्रदेश माध्यम के प्रभार से मुक्त होंगे। एक अन्य आदेश में राज्य शासन ने श्री नागेन्द्र प्रसाद मिश्रा सचिव धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग को सचिव अध्यात्म विभाग पदस्थ किया है। श्री आशीष कुमार उप सचिव संस्कृति विभाग एवं धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व विभाग तथा संचालक धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व तथा मुख्य कार्यपालन अधिकारी मध्यप्रदेश तीर्थ स्थान एवं मेला प्राधिकरण (अतिरिक्त प्रभार) को उप सचिव संस्कृति एवं अध्यात्म विभाग तथा संचालक धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व एवं मुख्य कार्यपालन अधिकारी तीर्थ एवं मेला प्राधिकरण (अतिरिक्त प्रभार) पदस्थ किया है। श्री नागर सीईओ शाजापुर पदस्थ राज्य शासन ने राज्य शिष्टाचार अधिकारी श्री कमल चंद्र नागर को मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत शाजापुर पदस्थ किया है। इसी क्रम में मुख्य कार्यपालन अधिकारी जिला पंचायत शाजापुर श्रीमती वंदना शर्मा को अपर कलेक्टर जिला भोपाल पदस्थ किया है।


मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ को पर्यटन मंत्री ने भेंट किया प्रथम प्रीविलेज मेंबर कार्ड
10 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ से पर्यटन मंत्री श्री सुरेंद्र सिंह बघेल ने आज मंत्रालय में भेंट की। उन्होंने मुख्यमंत्री को मध्यप्रदेश पर्यटन विकास निगम का प्रथम प्रीविलेज मेंबर कार्ड भेंट किया। पर्यटन मंत्री ने बताया कि निगम के होटलों में रात्रि विश्राम को बढ़ावा देने और मध्यप्रदेश पर्यटन ब्राँड को स्थापित करने के लिए प्रिविलेज मेंबर कार्ड की पहल की गई है। पर्यटन मंत्री श्री बघेल ने बताया कि यह कार्ड मध्यप्रदेश टूरिज्म के उन सभी अतिथियों को दिए जाएँगे, जो निगम की संपत्तियों में पांच अथवा उससे अधिक बार विश्राम करेंगे। पर्यटन निगम द्वारा प्रीविलेज मेंबर कार्ड धारक को शुल्क में विशेष छूट दी जाएगी।


अटूट है सरकार और पत्रकार का संबंध : जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
10 January 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज स्टेट प्रेस क्लब के कार्यक्रम में कहा कि महिला पत्रकारों को कार्य क्षेत्र में आने वाली कठिनाईयों को चिन्हित कर उन्हें दूर करने का प्रयत्न किया जायेगा। श्री शर्मा ने कहा कि सरकार और पत्रकार का संबंध अटूट है। पत्रकारों को कार्यक्षेत्र में आने वाली कठिनाईयों को दूर करने के सभी संभव प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि राज्य सरकार वचन पत्र में पत्रकारों के कल्याण के लिये कही गई सभी बातों को पूरा करेगी। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि वे कोई घोषणा नहीं करेंगे। जो वचन दिये हैं, उन्हें पूरा करेंगे। श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने अपने कार्य का प्रारंभ इंडिगो प्लेन सर्विस के उदघाटन के साथ किया। इससे मध्यप्रदेश को देश के अन्य भागों से जोड़ने में सफलता मिली है। सरकार द्वारा जनकल्याण के लिये वचनबद्धतापूर्वक मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के नेतृत्व में कार्य किया जा रहा है। जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने पत्रकारों को नव-वर्ष की शुभकामनाएँ दी। इस अवसर पर स्टेट प्रेस क्लब मध्यप्रदेश के अध्यक्ष श्री प्रवीण खारीवाल एवं अन्य पदाधिकारी और बड़ी संख्या में अन्य पत्रकार उपस्थित थे।


खनिज अधिकारियों की कार्यशैली में बदलाव दिखना चाहिये
10 January 2019
खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने खनिज अधिकारियों की कार्यशाला के समापन अवसर में कहा कि सभी अधिकारी ऐसा कार्य करे, जिससे जनता को बदलाव का अहसास हो। उन्होंने कहा कि अवैध उत्खनन करने वाले छोटे-बड़े सभी ठेकेदारों पर सख्ती से कार्रवाई करें। मंत्री श्री जायसवाल ने कहा कि नई रेत नीति और खनिज नीति के संबंध में सुझाव शीघ्र दें। युवाओं को रोजगार के अवसर मुहैया कराएँ। खनिज साधन विभाग सरकार की सकारात्मक छवि बनाए और राजस्व बढ़ाने में मदद करे। उन्होंने नर्मदा नदी में होने वाले खनन को सख्ती से रोकने के निर्देश दिये। श्री प्रदीप जायसवाल ने कहा कि समाचार-पत्रों में प्रकाशित खबरों की तथ्यात्मक जानकारी एकत्रित कर समुचित कार्रवाई करें। की गई कार्रवाई से जनता को अवगत कराएँ। बैठक राजस्थान माडल पर भी चर्चा की गई। इस अवसर पर प्रमुख सचिव श्री नीरज मंडलोई, सचिव श्री नरेन्द्र सिंह परमार और संचालक श्री विनीत कुमार आस्टिन भी उपस्थित थे।


उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये स्वयं का मापदंड निर्धारित करें-उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी
10 January 2019
उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये स्वयं का मापदंड निर्धारित करना आवश्यक है। शिक्षा समाज का अभिन्न अंग है। उच्च शिक्षा के समुचित विकास के बिना प्रदेश और देश का विकास असंभव है। मंत्री श्री पटवारी दो दिवसीय एसोसिएशन ऑफ इंडियन यूनिवर्सिटीज सेन्ट्रल जोन वाइस चांसलर्स मीट-2018-19 का रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय में शुभारंभ कर रहे थे। उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी ने कहा कि उच्च शिक्षा के सतत विकास के लिये नये पैमाने तय करना होंगे, जिसमें प्रशिक्षण, अनुसंधान और विस्तारण प्रमुख है। देश और शिक्षा के भविष्य को आगे बढ़ाने के लिये परम्परागत शिक्षा प्रणाली के साथ आधुनिक व्यवस्थाओं को भी जोड़ना महत्वपूर्ण है। इस अवसर पर श्री पटवारी ने 'यूनिवर्सिटी न्यूज' पत्रिका का विमोचन किया। दो दिवसीय आयोजन में ग्लोबल एण्ड नेशनल रैकिंग इन हायर एजुकेशन, सिनारियो ऑफ रिसर्च इन इंडियन यूनिवर्सिटी तथा क्वालिटी एश्योरेंस फॉर एक्सीलेंस एण्ड रेटिंग ऑफ हायर एजुकेशन पर विस्तृत चर्चा होगी। इस अवसर पर रवीन्द्रनाथ टैगोर विश्वविद्यालय के कुलाधिपति श्री संतोष चौबे, ए.आई.यू. के अध्यक्ष प्रो. संदीप संचेती, कुलपति आर.एन.टी.यू. प्रो. ए. के. ग्वाल उपस्थित थे।


पर्यटन मंत्री श्री बघेल द्वारा विभागीय समीक्षा
10 January 2019
पर्यटन एवं नर्मदा घाटी विकास मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल ने मध्यप्रदेश पर्यटन द्वारा व्यापक प्रचार-प्रसार के लिए डिजिटल मार्केटिंग और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग किये जाने के काम की समीक्षा की। श्री बघेल ने पर्यटन क्षेत्र में प्रतिस्पर्धा, नये नजरिये और प्रॉंफिटेबल बिजनेस को ध्यान में रखकर कार्य करने की अपेक्षा की। प्रेजेन्टेशन के जरिये बताया गया कि मध्यप्रदेश पर्यटन का प्रचार वैश्विक स्तर पर भी किया जा रहा है। इसके लिए फेसबुक, व्हाटस-एप, टिवटर, इंस्टाग्राम और वीडियो आदि का भरपूर उपयोग किया जा रहा है। इसके अच्छे नतीजे भी सामने आ रहे हैं। फेसबुक पर मध्यप्रदेश पर्यटन के लगभग 11 लाख 49 हजार से अधिक और इंस्टाग्राम पर 51 हजार 686 से अधिक फॉलोवर हैं। मध्यप्रदेश पर्यटन के ‘’एम.पी.इन माई बकेट लिस्ट कांटेस्ट‘’ को भी बहुत अच्छा रिस्पान्स मिला है। मध्यप्रदेश पर्यटन के टी.व्ही.सी. बहुत लोकप्रिय हुए हैं। इन्हें अवार्ड भी मिले हैं। बैठक में प्रमुख सचिव पर्यटन श्री हरिरंजन राव, पर्यटन निगम के प्रबंध संचालक श्री टी. इलैया राजा एवं टूरिज्म बोर्ड की अपर प्रबंध संचालक श्रीमती भावना वालिम्बे सहित अन्य अधिकारी मौजूद थे । बैठक में डिजिटल मार्केटिंग पर क्रेयान्स (Crayons) संस्था द्वारा प्रेजेन्टेशन दिया गया। नर्मदा जयंती पर महेश्वर में कार्यक्रम करने पर भी विचार-विमर्श हुआ ।


शिक्षक विद्यार्थियों के आदर्श होते हैं: राज्यपाल श्रीमती पटेलz
9 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने टी.टी.नगर स्थित शासकीय कमला नेहरू उच्चतर माध्यमिक विद्यालय के पुस्तक वितरण कार्यक्रम में शिक्षिकाओं और छात्राओं से कहा कि मैं शिक्षिका रही हूँ इसलिये शिक्षा का, शिक्षकों का और पुस्तकों का महत्व समझती हूँ इसलिये बार-बार मेरा सभी से आग्रह रहता है कि लड़कियों का पढ़ाना जरूरी है। अगर लड़कियाँ पढ़ेंगी तो आत्मनिर्भर बनेंगी, अच्छी माताएँ बनेंगी और देश के विकास में अपना योगदान भी देंगी। राज्यपाल ने छात्राओं से कहा कि 9 साल की उम्र तक बच्चों का 80 प्रतिशत मानसिक विकास होता है। शेष 20 प्रतिशत विकास आगे की उम्र में। प्रायमरी टीचर हमेशा बच्चों की स्मृतियों में रहता है। वही उसका आदर्श भी होता है। प्रायमरी टीचर को इस बारे में सजग रहकर अपना शिक्षण कार्य करना चाहिये। उन्होंने कहा कि बच्चों की शारिरिक- मानसिक और आर्थिक स्थिति के साथ-साथ उसके परिवेश के बारे में शिक्षक को जानकारी होना जरूरी है। तभी उस बच्चे की कठिनाईयों को समझकर उसके सर्वांगीण विकास की ओर ध्यान दे सकेंगे। उसकी समस्या का हल कर पायेंगे। श्रीमती पटेल ने शिक्षिकाओं से कहा कि पढ़ाने के लिये पढ़ना जरूरी है। वे अपने विषय में विशेषज्ञता के साथ-साथ अन्य रूचिकर और जनरल नॉलेज की पुस्तकें भी पढ़ें, जिससे वे बच्चों को बेहतर ढंग से पढ़ा सकें। उन्होंने स्कूल की प्राचार्य से कहा कि छात्राओं का हीमोग्लोबीन टेस्ट अवश्य करवायें और एनीमिक बच्चियों की पहचान कर उनका समुचित इलाज करवायें। राज्यपाल ने कक्षा एक से चौथी तक की छात्राओं को पेंटिंग की किताबें और कलर प्रदान किये। उन्होंने कक्षा 9-10 की छात्राओं को मनोरंजन की किताबें देते हुए कहा कि जो छात्रा साल भर में सबसे ज्यादा किताबें पढ़ेगी, उसे अगले साल मैं पुरूस्कार दूंगी। इस अवसर पर उन्होने स्कूल के संगीत कक्ष, पेंटिंग कक्ष एवं साइंस की प्रयोगशालाओं का अवलोकन किया। उन्होंने स्कूल की दो छात्राओं को उनके आज जन्मदिन पर आर्शीवाद स्वरूप उपहार दिये। इस अवसर पर उन्होंने भोपाल में 9 अक्टूबर को आयोजित पढ़ें भोपाल कार्यक्रम का जिक्र करते हुए कहा कि सभी शिक्षिकाओं और छात्राओं को सप्ताह में दो दिन रूचिकर पुस्तकें अवश्य पढ़ना है, जिससे मस्तिष्क का सही विकास हो। समारोह में स्कूल की छात्राओं ने सरस्वती वंदना एवं स्वागत गीत प्रस्तुत किये। छात्राओं ने स्कूल में पढ़ाई शुरू होने से पहले होने वाले नियमित कार्यक्रमों के तहत आज का पंचाग, आज का सुविचार और आज के प्रमुख समाचारों का वाचन किया।


पत्रकारों के विरूद्ध दर्ज मुकदमों की जाँच करायेंगे- जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
9 January 2019
जनसम्पर्क, विधि-विधायी कार्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने सत्यनारायण तिवारी सम्मान समारोह में कहा कि पत्रकारों के विरूद्ध दर्ज मुकदमों की जाँच कराई जायेगी और दोषियों के विरूद्ध कार्यवाही की जायेगी। जनसम्पर्क मंत्री ने कहा कि पत्रकार प्रोटेक्शन एक्ट लागू होने के बाद पत्रकार निर्भय होकर अपना कार्य कर सकेंगे। उन्होंने कहा कि पत्रकार भी ट्रेड यूनियन जैसे ही हर वर्ग के लिए संघर्ष करते हैं। उन्होंने ट्रेड यूनियन मूवमेंट के दौरान गैर हाजिर रहने वाले कर्मचारियों की मदद किये जाने का भी आश्वासन दिया। श्री शर्मा ने कहा कि कर्मचारी आंदोलन के दौरान गैर हाजिर रहने वालों की समस्याओं को यदि उनके संज्ञान में लाया जाता है, तो उसका भी निराकरण किया जायेगा। सत्यनारायण तिवारी सम्मान 2019 लाइफ टाइम एचीवमेंट अवार्ड डॉ. राकेश पाठक एडिटर इन चीफ और चैनल हेड डी.एन.एन, डिजियाना मीडिया ग्रुप, सत्यनारायण तिवारी संपादक सम्मान श्री अजय त्रिपाठी वरिष्ठ पत्रकार, सत्यनारायण तिवारी सम्मान (अंतर्राज्यीय) श्री धमेन्द्र सिंह भदौरिया, विशेष संवाददाता, सत्यनारायण तिवारी सम्मान (मध्यप्रदेश) से सुश्री वंदना श्रोती, श्री वैभव श्रीधर दैनिक नव-दुनिया, श्री प्रवीण सावरकर और श्री अर्पण खरे को सम्मानित किया गया।


मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने कार्यभार ग्रहण किया
9 January 2019
संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा और आयुष मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने मंत्रालय में कार्यभार ग्रहण किया। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री राधेश्याम जुलानिया, अपर मुख्य सचिव आयुष श्रीमती शिखा दुबे, प्रमुख सचिव चिकित्सा शिक्षा श्री शिवशेखर शुक्ला और संस्कृति सचिव श्रीमती रेणु तिवारी भी उपस्थित थे। डॉ. साधौ ने कहा कि मध्यप्रदेश में कोई एक संस्कृति न होकर विभिन्न संस्कृतियों का पुंज है। संस्कृति मंत्री ने कहा कि उनकी प्राथमिकता सभी संस्कृतियों का उनके प्राकृतिक स्वरूप के साथ संरक्षण और संवर्धन करते हुए बेहतरी के प्रयास करना है। डॉ. साधौ ने कहा कि मध्यप्रदेश में 40 किलोमीटर के बाद भाषा और संस्कृति बदल जाती है। केवल एक संस्कृति नहीं बुंदेलखण्ड, बघेलखण्ड, निमाड़ी, महाकौशल, मालवा आदि सभी संस्कृतियों का समायोजन किया जायेगा। विभागीय समीक्षा भी की डॉ. साधौ ने कार्यभार ग्रहण करने के तुरंत बाद परिचयात्मक बैठक में तीनों विभागों की गतिविधियों की समीक्षा भी की। डॉ. साधौ ने विभाग प्रमुखों से कहा कि वचन-पत्र में दिये गये वचनों को जल्द ही पूरा करने का प्रयास करें।


खेल भावना से आप निरन्तर बढ़ते जायेंगे
9 January 2019
खेल भावना वह महत्वपूर्ण आयाम है, जिससे इंसान निरन्तर प्रगति पथ पर आगे बढ़ता है। यह बात जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी कार्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज 64वीं राष्ट्रीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोगिता के समापन समारोह में कही। उन्होंने कहा कि खेलों में दो ही बातें, जीतना और सीखना महत्वपूर्ण होती है। श्री शर्मा ने सरोजनी नायडू शा.क.उ.मा.वि. की बालिकाओं द्वारा प्रस्तुत किये गये नृत्य की प्रशंसा करते हुए करते हुए कहा कि वन्दे मातरम् का उद्घोष स्वतंत्रता संग्राम की याद दिलाता है। स्वतंत्रता संग्राम के दौरान माटी के बहुतेरे सपूतों ने वन्दे मातरम् का उद्घोष करते हुए अपने प्राण न्यौछावर कर दिये थे। श्री शर्मा ने सभी विजेताओं को बधाई दी और खिलाड़ियों को 65वीं राष्ट्रीय शालेय क्रीड़ा प्रतियोतगिता के लिये अग्रिम शुभकामनाएँ दी। प्रतियोगिता में मध्यप्रदेश ने हूपक्वांडो के बालिका आयु वर्ग 14 वर्ष एवं 17 वर्ष और बालक आयु वर्ग 17 वर्ष में प्रथम स्थान प्राप्त किया। हूपक्वांडो बालक आयु वर्ग 14 वर्ष में मध्यप्रदेश को द्वितीय स्थान मिला जबकि प्रथम स्थान दिल्ली को प्राप्त हुआ। बाक्सिंग प्रतियोगिता के बालिका आयु वर्ग 19 वर्ष में प्रथम हरियाणा और द्वितीय महाराष्ट्र रहा। बालक वर्ग में मध्यप्रदेश को दूसरा और हरियाणा को पहला स्थान मिला। प्रतियोगिता में 28 राज्यों और केन्द्र शासित प्रदेशों के 778 खिलाड़ियों ने बाक्सिंग और हूपक्वांडो में हिस्सा लिया था। समापन समारोह में भोपाल नगर निगम अध्यक्ष श्री सुरजीत सिंह चौहान, श्री ईश्वर सिंह चौहान, संचालक लोक शिक्षण श्री गौतम सिंह, कुलपति सी. व्ही. रमन विश्वविद्यालय श्री अमिताभ सक्सेना, उपाध्यक्ष स्कूल गेम फेडरेशन ऑफ इंडिया श्री आलोक खरे और अन्य अधिकारीगण, खिलाड़ी और प्रशिक्षक उपस्थित थे।


साहित्य सदैव उन्नति का मार्ग प्रशस्त करता है- जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा
9 January 2019
जनसम्पर्क, विधि एवं विधायी कार्य, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी, विमानन, धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने कहा है कि साहित्य हमेशा व्यक्ति को उन्नति की ओर ले जाने में सही मार्गदर्शन करता हैं। पठन-पाठन में लोगों की अरूचि पर चिन्ता व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि साहित्य पढ़ा जाना चाहिए। उन्होंने अच्छी साहित्यिक पुस्तकों की बाजार में कम होती उपलब्धता पर चिंता जताई। श्री शर्मा आज हिन्दी भवन में पाँच दिवसीय पुस्तक उत्सव के शुभारंभ समारोह को संबोधित कर रहे थे। श्री पी.सी. शर्मा ने कादम्बनी शिक्षा एवं समाज कल्याण सेवा समिति और न्यू लक्ष्य संस्था द्वारा विगत 10 वर्षो से विद्यार्थियों एवं साहित्यकारों के लिए किये जा रहे कार्यो की सराहना की। इस मौके पर उन्होंने पिथौरा पेंटिंग और उर्दू प्रतियोगिता के विजेताओं को प्रशस्ति-पत्र एवं स्मृति चिन्ह प्रदान कर सम्मानित किया।


श्रमिक औद्योगिक संस्थान की पूँजी - श्रम मंत्री श्री सिसोदिया
9 January 2019
श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने कहाकि औद्योगिक सुरक्षा तकनीकी और प्रबंधन में लगातार सुधार की आवश्यकता होती है। संस्थानों को समय-समय पर मॉनीटरिंग करते रहना चाहिये। श्री सिसोदिया नेशनल सेफ्टी कौंसिल के एम.पी. चेप्टर के वर्ष 2017-18 के नेशनल अवार्ड वितरण समारोह को संबोधित कर रहे थे। मंत्री श्री सिसोदिया ने कहा कि श्रमिक किसी भी औद्योगिक संस्थान की पूँजी हैं। उसकी सुरक्षा का दायित्व संस्थान के प्रबंधन का है। उन्होंने श्रमिक सुरक्षा के लिये लगातार प्रयास करने की आवश्यकता बतलाई। नेशनल सेफ्टी कौंसिल के उपाध्यक्ष श्री एस.एन. डागा ने कहा कि औद्योगिक सुरक्षा प्रबंधन का धर्म है। कार्यक्रम में 3 पुरस्कार वितरित किये गये। इसमें नेशनल फर्टिलाइजर (गेल) को प्लेटिनम, सिपला कम्पनी प्रायवेट लिमिटेड को गोल्ड और भारत पेट्रोलियम को सिल्वर अवार्ड प्रदान किया गया। कार्यक्रम में पूर्व मुख्यमंत्री श्री बाबूलाल गौर और विशेष रूप से उपस्थित थे।


खनिज अधिकारी काम करें और परिणाम दें
9 January 2019
खनिज साधन मंत्री श्री प्रदीप जायसवाल ने आज विभागीय समीक्षा बैठक में खनिज अधिकारियों को निर्देश दिये कि वे बेहतर काम करें और परिणाम दें तथा राज्य शासन के खजाने को भरने में सहभागी बने। राज्य सरकार के वचन-पत्र के बिन्दुओं पर प्राथमिकता से कार्रवाई करें। जन-प्रतिनिधियों की बात सुने और अवैध उत्खनन, परिवहन तथा भण्डारण को सख्ती से रोकें। श्री जायसवाल ने कहा कि हमारे प्रदेश में खनिज के अपार भण्डार हैं। खनिज अधिकारी बंद खदानों की जानकारी एकत्रित करें। राजस्व में बढ़ोत्तरी करने के लिये सभी अधिकारियों को लगन और मेहनत से कार्य करना होगा। देखने वाला समय खत्म हो चुका है, अब करके दिखाना होगा। मुख्य खनिज और गौण खनिज की अकार्यशील खदानों के संबंध में नोटिस जारी करें। खनिज विभाग द्वारा खनिज नीति, रेत नीति के संबंध में सुझाव दें। उन्होंने कहा कि बड़े ठेकेदारों को खनिज आधारित उद्योग लगाने के लिये प्रेरित करें, ताकि स्थानीय व्यक्तियों को रोजगार प्राप्त हो सके। बैठक में प्रमुख सचिव श्री नीरज मण्डलोई ने बताया कि खनिज अधिकारी माह जनवरी से मार्च के बीच एक तिहाई वसूली कर राजस्व बढ़ायें। नई खदानों की नीलामी की कार्रवाई करें। राजस्व और वन विभाग से संबंधित प्रकरणों को शीघ्र निपटाया जाये। बैठक में सचिव श्री नरेन्द्र सिंह परमार और संचालक श्री विनीत कुमार आस्टिन भी उपस्थित थे।


शिल्पियों को पलायन के लिए विवश नहीं होना पड़ेगा
9 January 2019
नवीन,नवकरणीय ऊर्जा,ग्रामोद्योग और कुटीर उद्योग मंत्री श्री हर्ष यादव ने आज पूर्वान्ह वल्लभ भवन 2 के कक्ष 216-B में पदभार ग्रहण किया। श्री यादव ने विभागीय अधिकारियों से चर्चा कर संचालित गतिविधियों की जानकारी भी प्राप्त की। मंत्री श्री यादव ने आज ही विधान सभा भवन स्थित कक्ष में भी विधि-विधान से कार्यभार ग्रहण किया। मंत्री श्री यादव ने कहा कि उनका प्रयास होगा कि शिल्पकारों को प्रत्यक्ष सहायता मिले। राज्य सरकार की ओर से कुटीर उद्योगों को सहायता देंगे, उनके लघु उद्योगों, कुटीर उद्योगों के लिए विभिन्न योजनाओं में सहायता के साथ ही उनको शिल्प विकास के अधिक अवसर देकर आर्थिक रूप से सक्षम बनाएंगे ताकि पर्याप्त आमदनी और रोजगार की तलाश में उनको अपने ग्राम से पलायन न करना पड़े। मंत्री श्री यादव ने कहा कि ग्रामों में नवकरणीय ऊर्जा को बढ़ावा देने के प्रयास करेंगे और सस्ती, सुलभ बिजली उपलब्ध करवाने की दिशा में गंभीर प्रयत्न होंगे। इस अवसर पर प्रमुख सचिव नवीन और नवकरणीय ऊर्जा श्री मनु श्रीवास्तव और आयुक्त हस्तशिल्प श्री नीरज दुबे उपस्थित थे।


फीडबैक मेकेनिज्म तैयार करें
9 January 2019
महिला-बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा है कि महिला-बाल विकास की योजनाओं को और अधिक परिणाममूलक बनाना है तो यथोचित फीडबैक मेकेनिज्म तैयार करने की आवश्यकता है। श्रीमती इमरती देवी मंत्रालय में विभागीय गतिविधियों की समीक्षा कर रही थीं। मंत्री श्रीमती इमरती देवी ने कहा कि समान उद्देश्य की योजनाओं को एकसाथ मिलाकर लक्ष्य प्राप्त करना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि आँगनवाड़ी कार्यकर्ता अगर किसी कारणवश अपने पद से इस्तीफा देकर कुछ समय बाद पुन: वापस अपने कार्य पर लौटती है, तो वह कार्यकर्ता छ: महीने तक दोबारा आवेदन नहीं कर सकती, ऐसे प्रावधान बनाये जायें। महिला-बाल विकास मंत्री ने वन स्टॉप सेंटर के नियमित ऑडिट कराने के निर्देश देते हुए कहा कि सभी केन्द्रों से प्रतिक्रिया संकलित करें कि कितने शिकायती प्रकरण दर्ज कराये गये हैं। दर्ज प्रकरणों में कितनी वास्तविकता है, इसकी भी निगरानी समय-समय पर हो, यह भी सुनिश्चित किया जाये। उन्होंने शौर्या दल योजना की समीक्षा कर पुनर्गठन करने के निर्देश दिये, जिससे इस योजना को और अधिक प्रभावी ढंग से क्रियान्वित किया जा सके। प्रमुख सचिव महिला-बाल विकास श्री जे.एन. कंसोटिया, आयुक्त श्री अशोक भार्गव, संचालक महिला सशक्तिकरण श्री अभय वर्मा तथा विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।


कुम्हारपुरा का शासकीय स्कूल बना स्मार्ट
8 January 2019
शिक्षा जीवन को दृष्टि देती है, विस्तार देती है और उज्जवल भविष्य का निर्माण भी करती है। बच्चों को बचपन में जितनी अच्छी शिक्षा और संस्कार के साथ-साथ आधुनिक शैक्षणिक वातावरण दिया जायेगा, उतने अच्छे नागरिक और अंग्रेजी में कहें तो स्मार्ट बनेंगे। इसी उद्देश्य के साथ आज राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने यहाँ कुम्हारपुरा स्थित शासकीय माध्यमिक शाला में अनेक शैक्षणिक नवाचारों का शुभारंभ किया। श्रीमती पटेल ने इस स्कूल को गोद लिया है। भोपाल के बैंक आफ बड़ोदा, सेन्ट्रल बैंक आफ इंडिया, बी.एस.एन.एल. और ग्वालियर की मुस्कान फाउन्डेशन के सहयोग से स्कूल को स्मार्ट बनाने की शुरूआत की है। आज प्रात: श्रीमती पटेल ने स्कूल में लगाये गये शिलालेख का अनावरण किया। मुस्कान फाउन्डेशन द्वारा स्कूल की कक्षा 6वीं, 7वीं और 8वीं में लगाये गये एल.ई.डी. पर शैक्षणिक प्रदर्शन देखा और बच्चों से पूछा उन्हें कैसा लग रहा है? बच्चे इन सुविधाओं के मिलने से बहुत खुश थे। राज्यपाल ने बच्चों द्वारा किये जा रहे योगा और बच्चों द्वारा प्रस्तुत नाटक 'बेटी बचाओ-बेटी पढ़ाओ' भी देखा। बैंक आफ बड़ोदा ने इस स्कूल को दस कम्प्यूटर और टेबल तथा इनडोर गेम्स का सामान प्रदान किया है। बी.एस.एन.एल ने नि:शुल्क वाई-फाई कनेक्शन, पेंटिंग का सामान और वाद्य यंत्र दिये हैं। सेन्ट्रल बैंक ऑफ इंडिया ने स्कूल के पुस्तकालय के लिये 3 अल्मारियाँ और 12 कुर्सियॉं प्रदान की हैं। अल्मारियों में राज्यपाल द्वारा दी गई ज्ञानवर्धक एवं रूचिकर पुस्तकें रखी गई हैं। शैक्षणिक नवाचार कार्यक्रम के अंत में राज्यपाल महोदया एवं सहयोगी संस्थाओं के पदाधिकारियों ने बच्चों को फल वितरित किये।


श्रीमती रेनू तिवारी को बौद्ध विश्वविद्यालय के कुलपति का प्रभार
7 January 2019
कुलाधिपति एवं राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने संस्कृति सचिव, म.प्र.शासन श्रीमती रेनू तिवारी को सांची बौद्ध-भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय, में कुलपति के पद का प्रभार तत्काल प्रभाव से आगामी आदेश तक के लिए सौंपा है। उल्लेखनीय है कि संस्कृति विभाग के अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव को सांची बौद्ध-भारतीय ज्ञान अध्ययन विश्वविद्यालय, के कुलपति पद का कार्य संपादित करने के लिए नियुक्त किया गया था। श्री श्रीवास्तव का स्थानांतरण अन्य विभाग में हो जाने के कारण संस्कृति सचिव श्रीमती रेनू तिवारी को कुलपति का पद भार सौंपा गया है।


संस्कृत विद्यालय खुलेंगे; धार्मिक अनुष्ठानों को मिलेगा अनुदान- जनसम्पर्क और धर्मस्व मंत्री श्री पी.सी. शर्मा
7 January 2019
प्रदेश में आवश्यकतानुसार संस्कृत विद्यालय खोले जायेंगे। धार्मिक अनुष्ठानों के लिये अनुदान का प्रावधान भी किया जायेगा। धार्मिक न्यास एवं धर्मस्व और जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने मानस भवन में आयोजित ब्राह्मण विधायक सम्मान समारोह में यह बात कही। सम्मान समारोह में पूर्व विधानसभा अध्यक्ष डॉ. सीतासरन शर्मा, पूर्व जनसम्पर्क मंत्री डॉ. नरोत्तम मिश्रा, तेंदूखेड़ा विधायक श्री संजय शर्मा और मैहर विधायक श्री नारायण त्रिपाठी ने भी विचार व्यक्त किये। इस मौके पर सामाजिक एकता एवं सद्भाव के लिये ब्राह्मण समाज के योगदान को रेखांकित किया। समारोह में महापौर श्री आलोक शर्मा भी उपस्थित थे।
जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा ने कार्यभार संभाला
7 January 2019
जनसम्पर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज विधानसभा भवन में अपने कक्ष में विधि-विधान के साथ कार्यभार संभाला। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव श्री मनोज श्रीवास्तव ने जनसम्पर्क मंत्री श्री शर्मा को अध्यात्म विभाग की जानकारी दी। श्री शर्मा ने अध्यात्म विभाग को सुदृढ़ बनाने के बारे में विस्तृत चर्चा की। इससे पूर्व श्री पी.सी. शर्मा ने विधानसभा में प्रोटेम स्पीकर श्री दीपक सक्सेना और प्रमुख सचिव विधानसभा श्री अवधेश प्रताप सिंह से सौजन्य भेंट की।



मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में गठित होगी राज्य स्तरीय सशक्त समिति
7 January 2019
राज्य शासन ने किसानों के फसल ऋण माफ करने के वादे को पूरा करने के प्रयास प्रारंभ कर दिये हैं। योजना के प्रभावी क्रियान्वयन के लिये मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय सशक्त समिति का गठन किया जा रहा है। यह समिति योजना की नियमित समीक्षा और मॉनीटरिंग करेगी। राज्य स्तरीय क्रियान्वयन समिति योजना के अंतर्गत नीतिगत निर्णय लेने तथा मॉनीटरिंग करने के लिये सक्षम होगी। मुख्य सचिव, श्री एस.आर. मोहंती समिति के अध्यक्ष होंगे। कृषि उत्पादन आयुक्त, ग्रामीण विकास आयुक्त, अपर मुख्य सचिव/प्रमुख सचिव, वित्त, प्रमुख सचिव, सहकारिता, प्रमुख सचिव, राजस्व, मुख्य महाप्रबंधक, नाबार्ड और राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के समन्वयक इस समिति में सदस्य मनोनीत किये गये हैं। प्रमुख सचिव, किसान कल्याण तथा कृषि विकास को समिति का संयोजक बनाया गया है। आयुक्त संस्थागत वित्त समिति के सह-संयोजक होंगे। प्रमुख सचिव किसान कल्याण तथा कृषि विकास की अध्यक्षता में राज्य स्तरीय क्रियान्वयन उप समिति गठित की गई है। यह समिति दिन-प्रतिदिन योजना की मॉनीटरिंग करेगी। समिति में प्रमुख सचिव, सहकारिता, आयुक्त, संस्थागत वित्त और राज्य स्तरीय बैंकर्स समिति के समन्वयक सदस्य बनाये गये हैं। जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति को जिले में मुख्यमंत्री फसल ऋण माफी योजना के प्रभावी क्रियान्वयन एवं पर्यवेक्षण के लिये अधिकृत किया गया है। जिले के प्रभारी मंत्री इस समिति के अध्यक्ष होंगे। जिला कलेक्टर समिति के उपाध्यक्ष, उप संचालक किसान कल्याण तथा कृषि विकास संयोजक और जिले के लीड बैंक अधिकारी सह-संयोजक मनोनीत किये गये हैं। समिति में जिले के प्रभारी मंत्री द्वारा नामांकित 4 जन-प्रतिनिधि, अतिरिक्त कलेक्टर, राजस्व, मुख्य कार्यपालन अधिकारी, जिला पंचायत, उप संचालक, उद्यानिकी, उप पंजीयक, सहकारी संस्थाएँ, अधीक्षक, भू-अभिलेख, जिला सूचना अधिकारी (एनआईसी), नाबार्ड के जिला विकास प्रबंधक, जिला सहकारी केन्द्रीय बैंक के मुख्य कार्यपालन अधिकारी और सहायक आयुक्त आदिवासी विकास को समिति में सदस्य बनाया गया है।
संस्कृति मंत्री डॉ. साधौ द्वारा कैलेण्डर का विमोचन
7 January 2019
संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा और आयुष मंत्री डॉ. विजयलक्ष्मी साधौ ने आज बच्चों के अधिकारों के लिये काम करने वाली संस्था चाइल्ड राइट्स आब्जर्वेटरी मध्यप्रदेश का कैलेण्डर जारी किया। इस अवसर पर पूर्व मुख्य सचिव, श्रीमती निर्मला बुच और प्रमुख सचिव, संस्कृति श्रीमती रेणु तिवारी भी मौजूद थीं। डॉ. साधौ ने आशा की कि संस्था बच्चों के अधिकारों के लिये और बेहतर काम करेगी। संस्था बच्चों के अधिकारों से जुड़े मुद्दों पर प्रदेश के 25 जिलों में एडवोकेसी और रिसर्च का काम करती है। कैलेण्डर में बच्चों या उनके शिक्षक-शिक्षिकाओं द्वारा बनाये गये चित्रों का उपयोग किया गया है। वर्ष 2019 के कैलेण्डर में प्रदेश के मुख्य कलाकारों की पेंटिंग को भी जगह मिली है।
जनहितैषी कार्यो से कुटीर और ग्रामोद्योग विभाग को दें नई पहचान
7 January 2019
कुटीर और ग्रामोद्योग एवं नवीन नवकरणीय ऊर्जा मंत्री श्री हर्ष यादव ने आज मंत्रालय में अधिकारियों से परिचय प्राप्त कर योजनाओं और गतिविधियों की जानकारी प्राप्त की। अपर मुख्य सचिव श्रीमती सलीना सिंह ने प्रजन्टेशन के माध्यम से योजनाओं की जानकारी दी। मंत्री श्री यादव ने वचन-पत्र 2018 में कुटीर और ग्रामोद्योग विभाग से संबंधित बिन्दुओं पर शीघ्र कार्यवाही करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि विभागीय संस्थाओं का लाभ निर्धन तबके को प्राथमिकता से मिलना चाहिए। शिल्पकारों, बुनकरों और हस्त शिल्पियों के विकास के लिए कार्यक्रमों के बेहतर क्रियान्वयन पर ध्यान दिया जाये। जनहितेषी कार्यो से कुटीर और ग्रामोद्योग विभाग को नई पहचान देने के प्रयास किये जायें। मंत्री श्री हर्ष यादव ने बैठक में विभागीय संस्थाओं मध्यप्रदेश खादी तथा ग्रामोद्योग बोर्ड, मध्यप्रदेश माटी कला बोर्ड, रेशम संचालनालय मध्यप्रदेश सिल्क फेडरेशन आदि के कार्यो की जानकारी प्राप्त की। इस अवसर पर आयुक्त हस्तशिल्प श्री नीरज दुबे, प्रबंध संचालक खादी ग्रामोद्योग श्रीमती मधु खरे, मुख्य कार्यपालन अधिकारी माटी कला बोर्ड उपस्थित थे।
सामाजिक सरोकार भी निभायें विश्वविद्यालय -- राज्यपाल श्रीमती पटेल
6 January 2019
विश्वविद्यालय सामाजिक सरोकारों को निभाने का दायित्व लें। बालिकाओं के स्वास्थ्य और कुपोषण से मुक्ति में समाज आगे आये। विश्वविद्यालय और प्राथमिक विद्यालयों के बीच अंतर्संबंध होने चाहिये। राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने आज इंदौर के देवी अहिल्या विश्वविद्यालय के दीक्षांत समारोह में यह बात कही। उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ स्थापित किये जाने पर बल दिया। समारोह में विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के चेयरमेन डॉ.डी.पी. सिंह, कुलपति डॉ. नरेन्द्र धाकड़, पूर्व कुलपति, कार्य-परिषद के सदस्य, गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। समय पर पढ़ाई, परीक्षा और परिणाम जरूरी राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि विश्वविद्यालयों में निर्धारित समय पर पढ़ाई, परीक्षा और परिणामों का आना जरूरी है। राज्यपाल ने कहा कि विश्वविद्यालयों और प्राथमिक विद्यालयों के बीच अंतर्संबंध होना चाहिये। प्रायमरी और मिडिल के बच्चों को विश्वविद्यालय का भ्रमण कराना चाहिये, जिससे उच्च शिक्षा के प्रति उनमें ललक पैदा हो सके। राज्यपाल ने दीक्षांत समारोह में पीएचडी उपाधि प्राप्त विद्यार्थियों से आव्हान किया कि वे अपने शोध को समाज के सामने भी प्रस्तुत करें। उन्होंने विश्वविद्यालय की ऑनलाइन परीक्षा परिणाम प्रणाली का लोकार्पण भी किया। इंदौर में स्थापित हो अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ- उच्च शिक्षा मंत्री श्री पटवारी उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने कहा कि विश्वविद्यालय में अंतर्राष्ट्रीय स्तर की पीठ स्थापित होना चाहिये। इसके लिये उच्च शिक्षा विभाग पहल करेगा। श्री पटवारी ने अपने विद्यार्थी जीवन का स्मरण करते हुए कहा कि इसी परिसर में उन्होंने विद्यार्थी हित में अनेक आंदोलन किये हैं। यहीं उन्हें शिक्षकों की डाँट-फटकार भी मिली और लाड़-प्यार भी। श्री पटवारी ने कहा कि आज ऐसी शिक्षा की जरूरत है, जो दुर्भावनारहित सद-व्यवहार सिखाये। शिक्षा न सिर्फ व्यक्तित्व बल्कि परिवार और समाज को निखारने में अहम भूमिका निभाता है। उन्होंने कहा कि विश्वविद्यालय में दुनिया के विभिन्न देश के विद्यार्थी पढ़ने आयें, इसके लिये हम सब मिलकर प्रयास करेंगे। समारोह के विशिष्ट अतिथि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग के अध्यक्ष डॉ.डी.पी. सिंह ने कहा कि विश्वविद्यालय नव-विचारों और नव-उन्मेषों के पल्लवन का केन्द्र बनें। यहाँ बौद्धिक स्पंदन होते रहना चाहिये। उन्होंने विश्वविद्यालय को उच्च शिक्षा के वैश्विक फलक पर ले जाने के संकल्प को सराहा। समारोह में कुलपति डॉ. नरेन्द्र धाकड़ ने विद्यार्थियों को दीक्षांत उपदेश दिया और प्रतिज्ञा दिलायी। प्रो. ज्ञानप्रकाश के संपादन में प्रकाशित 'रिसर्च जनरल'' का विमोचन अतिथियों द्वारा किया गया।
विज्ञान के क्षेत्र में अध्ययन, अध्यापन और शोध की जरूरत: राज्यपाल श्रीमती पटेल
6 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने कहा है कि भारत में प्रतिभा की कोई कमी नहीं है। प्राचीन भारत विज्ञान और प्रौद्योगिकी दुनिया में सबसे आगे था। मगर हमने पेटेंट नहीं कराया क्योंकि उस समय पेटेंट नहीं होता था। जीरो से लेकर नौ तक की गिनती की खोज भारत में हुई, जिसका कोई पेटेंट नहीं है। भारतीय उप महाद्वीप में प्राचीन काल में पुष्पक विमान हुआ करते थे, जिसका परिष्कृत रूप आधुनिक युग का हेलीकॉप्टर है। महाभारत के संजय की दिव्य-दृष्टि भी दुनिया में अद्वितीय थी। भारत का इतिहास पाँच हजार साल पुराना है। इसकी सभ्यता, संस्कृति और विज्ञान खोज भी पाँच हजार साल से चली आ रही है। श्रीमती पटेल ने यह बातें राज्य स्तरीय विद्यार्थी विज्ञान मंथन शिविर के शुभारंभ के अवसर पर इंदौर के मॉडर्न इंटरनेशनल स्कूल में कही। बच्चों को गर्भ से ही अच्छे संस्कार जरूरी राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि महाभारत में अभिमन्यु की कथा यह बताती है कि बच्चा गर्भ से ही सीखाना शुरू कर देता है। आधुनिक युग में गर्भवती माताओं को ऐसे काम करना चाहिये, जिससे गर्भ में पल रहे बच्चे को अच्छे संस्कार मिले। गर्भ में पल रहे बच्चे को पौष्टिक आहार, योगा, ध्यान, गीत-संगीत और विज्ञान की शिक्षा परोक्ष रूप से मिलती रहे। गर्भवती माता को अपने गर्भ में पल रहे बच्चे को अच्छा संस्कार देने के लिये स्वाध्याय करना जरूरी है। श्रीमती पटेल ने कहा कि भारत के वैज्ञानिकों ने खोज की है कि पेड़-पौधों में भी जीव होते हैं। मनुष्य के शरीर के रक्त-संचार की भाँति पौधों में भी नियमित रस-संचार होता रहता है। शांति, सुकून और गीत- संगीत का उन पर भी सकारात्मक असर होता है। विद्यार्थियों को मेडिकल शिक्षा जरूरी राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा कि विद्याथियों को खेल-खेल में शिक्षा देना जरूरी है। उन पर दबाव और तनाव नहीं होना चाहिये। उन्होंने कहा कि हमारे देश मे चिकित्सकों की बहुत कमी है, जिस कमी को पूरा करने के लिये विद्याथियों को मेडिकल शिक्षा दी जाये। अच्छे डॉक्टर और वैज्ञानिक बनने के लिये विद्यार्थियों को विज्ञान की शिक्षा देना जरूरी है। विज्ञान विषय में धन अधिक खर्च होता है और मेहनत भी अधिक होती है। विज्ञान हमें अच्छे-बुरे, उचित-अनुचित और सही-गलत की शिक्षा देता है। हम अध्यात्म, संस्कृति और परम्परा को विज्ञान की कसौटी पर कस सकते हैं। डॉ. एस.पी. सिंह ने कहा कि विज्ञान भारती संस्थान के देश में एक लाख 40 हजार सदस्य हैं। इसकी स्थापना 1981 में बैंगलुरु में की गई। संस्थान का उदे्दश्य विज्ञान को बढ़ावा देना है। भारत में ज्ञान-विज्ञान की प्राचीन परम्परा डॉ. अनिल कोठारी ने विद्याथियों को सम्बोधित करते हुए कहा कि भारत में ज्ञान-विज्ञान और खोज की प्राचीनतम परम्परा रही है। विश्व स्तर के मेघनाथ साहा, विक्रम साराभाई, एस. चंद्रशेखर, सी.वी. रमन आदि वैज्ञानिक भारत में हुए हैं। सम्मेलन का उदे्दश्य विज्ञान के विद्यार्थियों को प्रोत्साहित करना है। डॉ. प्रदीप शर्मा ने कहा कि भारत दुनिया के प्राचीन देशों में से एक है। प्राचीन काल से यह विज्ञान, कला, संगीत और संस्कृति के क्षेत्र में समृद्ध रहा है। कार्यक्रम में डॉ. राजीव दीक्षित, श्री अनिल कारिया, श्री अनिल रावत, श्री संतोष पटेल, श्री अनिल खरे, श्री सुनील जोशी सहित गणमान्य नागरिक और बड़ी संख्या में विद्यार्थी मौजूद थे। संचालन श्रीमती अनुपमा मोदी ने किया।
जल्द लाया जायेगा एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट- विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री शर्मा
6 January 2019
एडवोकेट प्रोटेक्शन एक्ट जल्द लाया जायेगा। विधि-विधायी, जनसंपर्क और विज्ञान एवं प्राद्यौगिकी मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने यह बात एडवोकेट एसोसिएशन फॉर जूनियर नव वर्ष मिलन समारोह में कही। उन्होंने कहा कि सरकार 55 लाख किसानों का कर्ज माफ कर रही है। मुख्यमंत्री कन्या विवाह-निकाह योजना में अब 51 हजार रुपये दिये जायेंगे। श्री शर्मा ने कहा कि भोपाल से वायु सेवाएँ बढ़ायी जा रही हैं। उन्होंने कहा कि आवश्यकतानुसार नये कोर्ट खोले जायेंगे। पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री श्री कमलेश्वर पटेल ने कहा कि अधिवक्ता समाज में अच्छा वातावरण बनाने और गरीबों को न्याय दिलवाने में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि अधिवक्ता संकट मोचक होते हैं। श्री पटेल ने कहा कि आपके मार्गदर्शन का हमेशा स्वागत रहेगा। जनजातीय कार्य एवं जनजातीय कल्याण मंत्री श्री ओंकार सिंह मरकाम ने कहा कि अधिवक्ताओं के सुझावों को हमेशा प्राथमिकता दी जायेगी। लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी मंत्री श्री सुखदेव पांसे ने भी संबोधित किया। इस दौरान अधिवक्ताओं ने मंत्रि-मण्डल के सदस्यों का फूल-माला से स्वागत किया।
राजस्व आय में बढ़ोत्तरी सर्वोच्च प्राथमिकता
6 January 2019
वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्रसिंह राठौर ने आज मंत्रालय में कार्यभार ग्रहण किया। उन्होंने सभी अधिकारियों को नववर्ष की शुभकामनाएँ दी। इस अवसर पर विधायक सर्वश्री विक्रमसिंह नाती राजा, श्री आलोक चतुर्वेदी, श्री राजेश शुक्ला और श्री शिवदयाल बागरी विशेष रूप से उपस्थित थे1 अधिकारियों को बताई प्राथमिकता वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्रसिंह राठौर ने कहा कि शासन की राजस्व आय में बढ़ोत्तरी करना सर्वोच्च प्राथमिकता है। विभिन्न विभाग में जो शेष राशि है, उसे शीघ्र मंगाए। श्री राठौर ने वचन-पत्र में किए गए वायदों पर शीघ्र कार्रवाई के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र के कृषक उपभोक्ताओं को रजिस्ट्री कराने में कठिनाई न हो, इसका ध्यान रखा जाये। विद्युत आपूर्ति व्यवस्था सुनिश्चित न होने से रजिस्ट्री में सुगमता नहीं होती है। इसके लिए जनरेटर की व्यवस्था करे। विभाग का राजस्व कैसे बढ़े, इस पर पूरा ध्यान दिया जाय। बैठक में प्रमुख सचिव श्री मनु श्रीवास्तव, महानिदेशक पंजीयन एवं मुद्रांक श्रीमती कल्पना श्रीवास्तव और अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
बुल-मदर फार्म की सार्थकता तभी जब गायों की उन्नत नस्ल बढ़े
6 January 2019
पशुपालन, मछुआ कल्याण और मत्स्य-विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने कहा कि बुल-मदर फार्म में बेहतर व्यवस्थाएँ हैं। उन्नत नस्ल के गाय और नंदी हैं। ऑटोमेशन डेयरी प्लांट है, लेकिन इनकी सार्थकता तभी है, जब प्रदेश में उन्नत नस्ल की गायों की संख्या बढ़े। उन्होंने कहा कि प्रदेश में अधिकांश गौ-वंशीय दुधारु पशुओं की दुग्ध उत्पादन क्षमता कम है, इसमें वृद्धि की पर्याप्त गुंजाइश है। बुल-मदर फार्म में 20 लीटर रोजाना दूध देने वाली गिर, एच.एफ. आदि उन्नत नस्ल की गाय हैं। किसान ऐसे ही उन्नत नस्ल के पशु-पालन को अपनाये, जिससे उनकी आमदनी में वृद्धि हो और उनके लिये पशु-पालन लाभकारी हो। इसमें फार्म महत्वपूर्ण भूमिका निभा सकता है। मंत्री श्री यादव आज राज्य पशुधन एवं कुक्कुट विकास निगम के भदभदा स्थित बुल-मदर फार्म का निरीक्षण कर रहे थे। मंत्री श्री यादव ने फार्म में संचालित विभिन्न गतिविधियों, जिनमें बॉयो गैस संयंत्र, अत्याधुनिक स्व-संचालित मॉडल डेयरी एवं पार्लर तथा भ्रूण प्रत्यारोपण तकनीक प्रयोगशाला का निरीक्षण कर कहा कि यह सराहनीय है, लेकिन केवल डिमान्स्ट्रेशन के लिये नहीं। इसे ग्राम पंचायत स्तर तक ले जाना चाहिये। पहाड़ी से लगे क्षेत्र में 16 फीट ऊँची फेंसिंग कराये निरीक्षण के दौरान प्रबंध संचालक डॉ. एच.बी.एस. भदौरिया ने बताया कि रातापानी अभयारण्य से जुड़े हिस्से में टाइगर मूवमेंट देखा गया है। इस पर मंत्री श्री यादव ने फार्म के रातापानी अभयारण्य से लगे हिस्से में 16 फीट ऊँचाई की फेंसिंग करवाने के निर्देश दिये। इसके लिये वन विभाग से समन्वय कर तुरंत कार्यवाही की जाये। मंत्री श्री यादव ने गायों को हरा चारा और गुड़ खिलाया तथा पौध-रोपण भी किया।
ऊर्जा मंत्री श्री सिंह ने विद्युत सब-स्टेशन गोविंदपुरा का किया आकस्मिक निरीक्षण
6 January 2019
ऊर्जा मंत्री श्री प्रियव्रत सिंह ने रविवार को भोपाल में 220 के.वी. विद्युत सब-स्टेशन गोविंदपुरा, कॉल सेंटर और स्काडा का निरीक्षण किया। श्री सिंह ने कहा कि शहरों के साथ ही गाँवों में भी ट्रिपिंग नहीं होना चाहिए। श्री सिंह ने स्काडा से विद्युत आपूर्ति की मानिटरिंग की प्रणाली के बारे में जानकारी ली। इसके माध्यम से कब-कहाँ बिजली बन्द हुई, की जानकारी रिकॉर्ड की जाती है। एप से मिलेगी जानकारी ऊर्जा मंत्री ने कहा कि ऐसा एप बनायें कि सभी अधिकारियों के साथ ही उपभोक्ताओं को भी आपूर्ति और बिजली बंद होने की जानकारी मिले। उन्होंने कहा कि कॉल सेंटर में मात्र 9 हजार काल रिसीव हुए हैं, यह बहुत कम है। उपभोक्ताओं तक कॉल सेंटर नम्बर 1912 को पहुँचाया जाये। श्री सिंह ने ए.टी.पी. मशीन भी देखी। उन्होंने कहा कि स्वेप मशीन युक्त ए.टी.पी. मशीन लगायी जायें। पहले चरण में जिला स्तर पर लगाया जाय। इस दौरान प्रबंध संचालक मध्यक्षेत्र विद्युत वितरण कंपनी श्री संजय गोयल सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।
सोशल-डिजिटल मीडिया सहित सभी प्रचार माध्यमों का जनसंपर्क प्रभावी उपयोग करे
4 January 2019
जनसंपर्क, विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने मंत्रालय में जनसंपर्क विभाग की प्रथम बैठक में विभागीय संरचना, कार्य-प्रणाली एवं गतिविधियों की जानकारी ली। उन्होंने कहा कि विभाग संचार के आधुनिक माध्यमों को अपनायें और प्रदेश सरकार द्वारा जारी वचन-पत्र पर प्रभावी रूप से अमल हों। जनसंपर्क मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने आज जनसंपर्क विभाग का कार्यभार ग्रहण कर मंत्रालय में विभागीय अधिकारियों की बैठक ली। जनसंपर्क मंत्री ने कहा कि शासन की मंशानुरूप विभाग कार्य करें और सरकार की गतिविधियों का सोशल-डिजिटल मीडिया सहित जनसंचार के सभी माध्यमों पर प्रभावी प्रचार-प्रसार किया जाये। श्री शर्मा ने जी.टी.बी. काम्प्लेक्स (न्यू मार्केट) स्थित सूचना केन्द्र (लायब्रेरी) की समय अवधि बढ़ाने के लिए कहा। बैठक में आयुक्त एवं सचिव जनसंपर्क श्री पी. नरहरि ने प्रेजेन्टेशन के माध्यम से विभागीय गतिविधियों एवं संरचना को विस्तार से बताया। उन्होंने कहा कि वचन-पत्र में जनसंपर्क विभाग से संबंधित सभी बिन्दुओं पर कार्यवाही प्रारंभ कर दी गई है, जिसके प्रस्ताव तुरंत प्रस्तुत किये जाएंगे। इसके पहले आज सुबह जनसंपर्क मंत्री श्री शर्मा के मंत्रालय स्थित अपने कक्ष पहुँचने पर सचिव एवं आयुक्त जनसंपर्क श्री पी. नरहरि और विभागीय अधिकारियों ने जनसंपर्क मंत्री का पुष्प-गुच्छ भेंट कर स्वागत किया एवं शुभकामनाएँ दी। मंत्री श्री शर्मा ने अधिकरियों से परिचय भी प्राप्त किया।
समाज के कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशीलता" कार्यशाला का शुभारंभ
4 January 2019
समाज के कमजोर वर्गों के प्रति संवेदनशीलता विषयक दो-दिवसीय राज्य-स्तरीय कार्यशाला का शुभारंभ आज उप लोकायुक्त जस्टिस श्री सुशील पालो ने किया। पीटीआरआई में आयोजित कार्यशाला में निरीक्षक से लेकर पुलिस अधीक्षक स्तर के लगभग 100 प्रतिभागी शामिल हुए। जस्टिस श्री सुशील पालो ने प्रतिभागियों को अपराध कायमी से लेकर विवेचना, अभियोग-पत्र दाखिल करने एवं न्यायालयीन कार्यवाही में होने वाली त्रुटियों के कारण अभियुक्तों को मिलने वाले लाभ के बारे में जानकारी दी। उन्होंने कहा कि प्रकरण की विवेचना निरीक्षक से नीचे स्तर के अधिकारियों को बिल्कुल नहीं करना चाहिये। जाति प्रमाण-पत्र सक्षम अधिकारी (एसडीएम) द्वारा ही जारी किया जाकर अभियोग-पत्र में लगाना चाहिये। जप्ती साक्षी विश्वस्त हो तथा उनका न्यायालय में समय पर साक्ष्य होना आवश्यक है। फरियादियों के अधिकारों का भी हनन न हो तथा उसका ट्रायल के दौरान संरक्षण होना चाहिये। उन्हें विधिक सहायता एवं नियमानुसार आर्थिक सहायता प्रदाय करनी चाहिये। पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला ने कहा कि पुलिस अधिकारियों को एस.सी.एस.टी. वर्ग के प्रति संवेदनशील होकर अपने दायित्वों का निर्वहन करना चाहिये। शुरूआत में अतिरिक्त पुलिस महानिदेशक, अजाक श्रीमती प्रज्ञा ऋचा श्रीवास्तव ने कार्यशाला की आवश्यकता और रूपरेखा बतायी। पीटीआरआई के एडीजी श्री विजय कटारिया सहित कई वरिष्ठ पुलिस अधिकारी मौजूद थे। अंत में उप महानिरीक्षक, अजाक श्री आई.पी. अरजरिया ने आभार माना। नुक्कड़ नाटक वरिष्ठ रंगकर्मी श्री फरीद बजमी के निर्देशन में कार्यशाला में उपस्थित प्रतिभागियों में जागरूकता लाने के लिये सामाजिक कुरीतियों, प्रथाओं को दूर करने के लिये नुक्कड़ नाटक प्रदर्शित किया गया। द्वितीय सत्र द्वितीय सत्र में अजाक शाखा में पदस्थ विधि अधिकारी श्री विजय बंसल ने एससीएसटी एक्ट के आपराधिक प्रकरणों की विवेचना के संबंध में माननीय सर्वोच्च न्यायालय एवं उच्च न्यायालय द्वारा पारित विभिन्न महत्वपूर्ण न्याय दृष्टांतों की जानकारी प्रतिभागियों को दी। श्री अमृत मीना, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, जबलपुर द्वारा एससीएसटी एक्ट के प्रकरणों में साक्षी पक्ष विरोधी क्यों हो जाते हैं? पर सारगर्भित विश्लेषण प्रस्तुत किया गया।
अनुभूति कार्यक्रम में अब शहर के स्कूली बच्चे भी करेंगे जंगल की मुफ्त सैर
4 January 2019
वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने ईको पर्यटन बोर्ड को अनुभूति कार्यक्रम में शहरी बच्चों को भी प्रदेश के टाईगर रिजर्व, राष्ट्रीय उद्यान और अभयारण्य का नि:शुल्क भ्रमण करवाने के निर्देश दिये हैं। श्री सिंघार ने कहा कि प्रारंभ में इंदौर एवं भोपाल का एक-एक स्कूल चुनें। इस अनुभव के आधार पर आगे की रणनीति तैयार करें। श्री सिंघार ने यह बात ग्रामीण बच्चों के लिये इन दिनों जारी अनुभूति कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान कही। अपर मुख्य सचिव वन श्री के.के. सिंह भी मौजूद थे। बोर्ड के मुख्य कार्यपालन अधिकारी श्री एस.एस. राजपूत ने बताया कि प्रदेश में 15 दिसम्बर 2018 से 15 जनवरी 2019 तक अनुभूति कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। इसमें राष्ट्रीय उद्यान, टाईगर रिजर्व और अभयारण्यों के आस-पास रहने वाले शासकीय स्कूलों के बच्चों को वन, वन्य-प्राणी और पर्यावरण के प्रति संवेदनशील बनाने की विभिन्न गतिविधियाँ संचालित की जा रही हैं। सुबह शुरू होने वाले कैम्प में बच्चों के खाने-पीने की व्यवस्था के साथ पक्षी-वन्य-प्राणी दर्शन, प्रकृति पथ भ्रमण, परिचर्चा, सांस्कृतिक और अन्य प्रतियोगिताएँ की जाती हैं। इस वर्ष करीब 56 हजार बच्चे कार्यक्रम में भाग ले रहे हैं, जिसमें दिव्यांग बच्‍चे भी शामिल हैं। वन मंत्री श्री सिंघार ने एडवेंचर स्पोर्टस, वानिकी गतिविधियों,ईको पर्यटन में स्थानीय लोगों को रोजगार, पर्यटकों के लिये मूलभूत सुविधाओं में वृद्धि और प्रदेश के विभिन्न ईकों पर्यटन-स्थलों पर जारी गतिविधियों की समीक्षा की। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन्य-प्राणी) श्री यू प्रकाशम, अपर प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री आलोक कुमार, श्री दिलीप कुमार और श्री पुष्कर सिंह बैठक में उपस्थित थे।
मंत्री डॉ गोविंद सिंह ने दो सहकारी संस्थाओं के अध्यक्ष का पदभार संभाला
4 January 2019
सहकारिता,सामान्य प्रशासन और संसदीय कार्य मंत्री डॉ गोविंद सिंह जी ने आज सहकारिता विभाग के अंतर्गत मप्र राज्य सहकारी आवास संघ मर्यादित एवं मप्र राज्य सहकारी बीज उत्पादक एवं विपणन संघ मर्यादित के अध्यक्ष का भी प्रभार सम्हाला। डॉ सिंह ने पदभार ग्रहण करने के पश्चात दोनों संस्थाओं के अधिकारियों से परिचयात्मक भेंट और चर्चा की।
श्रम मंत्री श्री सिसोदिया ने पदभार ग्रहण किया
4 January 2019
श्रम मंत्री श्री महेंद्र सिंह सिसोदिया ने आज मंत्रालय में अपना पदभार ग्रहण किया। इस अवसर पर उन्होंने कहा कि गुड गवर्नेंस और वचन पत्र में श्रमिकों के कल्याण के लिए दिए गए वचनों पर कार्य करना, उनकी पहली प्राथमिकता हैl इस अवसर पर श्रम विभाग के प्रमुख सचिव श्री संजय दुबे, पूर्व सांसद नई दिल्ली श्री संदीप दीक्षित और श्री ए.एस. सिंह देव सहित अन्य गणमान्य नागरिक और विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
श्रम मंत्री श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया ने श्रमिक कल्याण के लिये संचालित योजनाओं की समीक्षा बैठक में वचन-पत्र के अनुसार असंगठित क्षेत्र के श्रमिकों को विभिन्न योजनाओं में दी जाने वाली राशि में वृद्धि के निर्देश दिये हैं। इसमें श्रमिक परिवारों को प्रसूति सहायता योजना की राशि 16 हजार से बढ़ाकर 21 हजार, अंत्येष्टि एवं अनुग्रह सहायता राशि 5 हजार से बढ़ाकर 6 हजार तथा श्रमिक परिवारों की कन्याओं के विवाह की राशि 25 हजार से बढ़ाकर 51 हजार रुपये की जायेगी। श्रम मंत्री श्री सिसोदिया ने कहा कि राज्य सरकार श्रमिक वर्ग के कल्याण के लिये कृत-संकल्पित है। इसके लिये वचन-पत्र में जो भी वादे किये गये हैं, उन पर तेजी से अमल किया जायेगा। उन्होंने अधिकारियों से भी अपेक्षा की कि सभी लोग इसी भावना से कार्य करेंगे। श्री सिसोदिया ने कहा कि असंगठित क्षेत्र में कार्यरत श्रमिकों पर विशेष ध्यान दिये जाने की जरूरत है। उन्होंने कहा कि जिन जिलों से श्रमिक रोजगार की तलाश में बाहर जाते हैं, उनका पंजीकरण जिला-स्तर पर किया जाये। इसके लिये जिला कलेक्टर एक्शन प्लान बनायें। उन्होंने विभाग के मैदानी अधिकारियों से ऐसी सभी संस्थाओं का निरीक्षण करने के निर्देश दिये, जिनमें 20 या उससे अधिक श्रमिक कार्यरत हैं। श्री सिसोदिया ने श्रम कानूनों के प्रभावी क्रियान्वयन और श्रम कल्याण गतिविधियों के व्यापक प्रचार के निर्देश भी दिये। बैठक में प्रमुख सचिव श्री संजय दुबे, श्रमायुक्त श्री राजेश बहुगुणा सहित अन्य विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा द्वारा कार्यभार ग्रहण
4 January 2019
लोक निर्माण एवं पर्यावरण मंत्री श्री सज्जन सिंह वर्मा ने आज मंत्रालय में अपने विभागों का कार्यभार ग्रहण किया। श्री वर्मा ने कहा कि ग्रामीण क्षेत्र की सड़कों को और बेहतर किया जायेगा। यातायात सुविधा की दृष्टि से शहरों में फ्लाई ओवर बनाने के कार्य को प्राथमिकता दी जायेगी। शहरी सड़कों का उन्नयन किया जायेगा। श्री वर्मा ने कहा कि सड़कों के निर्माण में वित्तीय संस्थाओं की मदद भी लेंगे। मार्गों को टोल-मुक्त बनाने की केन्द्र सरकार की योजना की जानकारी ली जायेगी। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की सड़कें ऐसी बनना चाहिये, जो देश में मॉडल के रूप में जानी जायें। शहरों में पार्किंग की व्यवस्था को सुव्यवस्थित किया जायेगा। ऐसे प्रयास होंगे कि निर्माण कार्य निर्धारित समयावधि में पूरे हों। श्री वर्मा ने कहा कि भोपाल के कोलार रोड को चौड़ा करने के कार्य की समीक्षा होगी। इस अवसर पर प्रमुख सचिव लोक निर्माण श्री मोहम्मद सुलेमान, प्रमुख सचिव पर्यावरण श्री अनुपम राजन सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे। कार्यों की गुणवत्ता पर नजर रखें अधिकारी लोक निर्माण मंत्री श्री वर्मा ने लोक निर्माण अधिकारियों की बैठक में विभागीय योजनाओं की समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मध्यप्रदेश की सड़कों को राष्ट्रीय स्तर पर आदर्श सड़कों के रूप में पहचान दिलाने के प्रयास किये जायेंगे। उन्होंने कहा कि विभाग के निर्माण कार्यों को निश्चित समय-सीमा में पूरा किया जाये। कार्यों की गुणवत्ता पर विशेष नजर रखी जाये। बताया गया कि पी.आई.यू. द्वारा इस वर्ष 3100 करोड़ लागत के 980 भवन निर्माण का कार्यक्रम बनाया गया है। इसके साथ ही विभाग द्वारा हमीदिया अस्पताल परिसर में 2000 बिस्तरीय अस्पताल निर्माण का कार्य किया जा रहा है। बैठक में बताया गया कि केन्द्र सरकार द्वारा भारत माला योजना में पहले चरण में राज्य शासन द्वारा सुझाये गये करीब 6000 किलोमीटर लम्बाई के राष्ट्रीय राजमार्ग के निर्माण की सैद्धांतिक स्वीकृति प्रदान की गई है। इसी योजना में भोपाल-इंदौर 6 लेन एक्सप्रेस-वे एवं भोपाल बायपास बनाये जाने की भी सैद्धांतिक स्वीकृति केन्द्र सरकार ने दे दी है। केन्द्र की 4000 करोड़ रुपये लागत की एक्सप्रेस-वे रोड बनने से इंदौर-भोपाल की दूरी करीब 2 घंटे की रह जायेगी। जानकारी दी गई कि राष्ट्रीय राजमार्ग, राज्य, मुख्य जिला मार्ग और ग्रामीण क्षेत्र की सड़कें मिलाकर लम्बाई 70 हजार किलोमीटर से अधिक है। भोपाल में शासकीय कर्मचारियों की आवास सुविधा के लिये 16 मंजिला सुविधायुक्त भवन बनवाया जाना भी प्रस्तावित है।
पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य-विकास मंत्री श्री यादव द्वारा कार्यभार ग्रहण
4 January 2019
पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य-विकास मंत्री श्री लाखन सिंह यादव ने आज मंत्रालय में कार्यभार ग्रहण किया। मंत्री श्री यादव ने परिचयात्मक चर्चा में अधिकारियों से कहा कि वचन-पत्र में शामिल विभाग के बिन्दुओं पर कार्य-योजना बनाकर अमल करने की कार्यवाही शुरू करें। इस अवसर पर अपर मुख्य सचिव पशुपालन श्री मनोज श्रीवास्तव, प्रमुख सचिव मछुआ कल्याण तथा मत्स्य-विकास श्री अश्विनी राय और दोनों विभाग के वरिष्ठ अधिकारी मौजूद थे।
नये स्वरूप में होगा अब वन्दे-मातरम् गायन
3 January 2019
भोपाल. मुख्यमंत्री कमलनाथ ने वंदेमातरम का गायन पुलिस बैंड की धुन पर कराने का फैसला किया है। अब हर महीने के पहले कार्य दिवस पर सुबह 10:45 बजे पुलिस बैंड की धुन पर शौर्य स्मारक से वल्लभ भवन तक मार्च निकाला जाएगा। पुलिस बैंड के वल्लभ भवन पहुंचने पर राष्ट्र गान ‘जन गण मन’ और राष्ट्रीय गीत ‘वंदे मातरम्’ का गायन होगा। इसके साथ ही, कार्यक्रम को और आकर्षक बनाने के लिए इसमें आम लोगों की सहभागिता भी की जाएगी। राज्य में कांग्रेस की सरकार बनने के बाद एक जनवरी को वंदेमातरम का गायन नहीं हुआ था। इसके बाद घमासान मच गया था और विवाद की लपटें दिल्ली तक पहुंच गईं। रोक के 24 घंटे बाद ही भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने इसे कांग्रेस का शर्मनाक कदम बताते हुए कहा कि कांग्रेस मध्यप्रदेश को तुष्टिकरण का केंद्र बना रही है। उन्होंने इस मामले में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल को भी घेरते हुए उसने पूछा था कि - वंदेमातरम पर रोक का फैसला क्या आपका है? कमलनाथ ने कहा था- बड़े पैमाने पर होगा वंदेमातरम दिल्ली तक पहुंचे घमासान के बाद मुख्यमंत्री कमलनाथ ने बुधवार को कहा था कि वंदेमातरम अब बड़े पैमाने पर होगा। वहीं, शाह के बयान पर पलटवार करते हुए उन्होंने वंदेमातरम का अर्थ समझाते हुए कहा था- ‘आजादी की लड़ाई के दौरान वंदेमातरम गीत का अर्थ था, भारत मां को ब्रिटिश हुकूमत की गुलामी से मुक्त कराना। उन्होंने कहा था कि आजादी के बाद भारत मां की वंदना का अर्थ है, किसानों की खुशियां, जो मैं कर्जमाफी और फसलों के दाम सुनिश्चित करके कर रहा हूं। सही अर्थों में मप्र की वंदना में लगा हूं। अर्थात वंदेमातरम कर रहा हूं।' भाजपा विधायकों ने गाया वंदेमातरम इससे पहले भोपाल में बुधवार को भाजपा जिलाध्यक्ष सुरेंद्रनाथ सिंह के नेतृत्व में विधायक विश्वास सारंग, रामेश्वर शर्मा समेत अन्य नेताओं ने मंत्रालय पहुंचकर वंदेमातरम का गायन किया। पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भी कहा था कि विधानसभा सत्र के पहले दिन 7 जनवरी को सभी विधायक सुबह 10 बजे पहले मंत्रालय के सामने मैदान में वंदेमातरम का गायन करेंगे।
खेल मंत्री श्री जीतू पटवारी ने टी.टी. नगर स्टेडियम का किया औचक निरीक्षण
3 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण मंत्री श्री जीतू पटवारी ने आज सुबह टी.टी. नगर स्टेडियम का औचक निरीक्षण किया। बिना किसी पूर्व सूचना के स्टेडियम पहुँचे। श्री पटवारी ने वहाँ स्थित छात्रावासों तथा विभिन्न अकादमी में पहुँचकर खिलाड़ियों से उन्हें मिलने वाली सुविधाओं की जानकारी प्राप्त की। मंत्री श्री पटवारी ने बालक छात्रावास की साफ-सफाई की व्यवस्था पर नाराजगी व्यक्त करते हुये सफाई सुपरवाईजर को 15 दिन के अंदर व्यवस्थाओं को दुरस्त करने के निर्देश दिये। सफाई व्यवस्था के लिये उन्होंने पुन: निविदा आमंत्रित करने भी निर्देश दिये। खेल मंत्री ने छात्रावास में बालिका खिलाड़ियों से भी मुलाकात कर उनके डाईट प्लान, रहने की सुविधाओं और प्रशिक्षण के संबंध में जानकारी प्राप्त की। मंत्री श्री पटवारी ने छात्रावास में वार्डन के पद स्वीकृति के लिये प्रस्ताव बनाकर प्रस्तुत करने के निर्देश दिये। छात्रावास में रह रहे लगभग 400 बच्चों के कपड़े, छात्रावास में चादर, तकिये की धुलाई के लिये इस्तमाल में लाई जा रही मशीनों को अर्पयाप्त बताते हुए खेल मंत्री ने वाशिंग मशीन उपलब्ध कराने तथा कर्मचारियों की संख्या बढा़ने के निर्देश दिये। इस अवसर पर संचालक खेल एवं युवा कल्याण डॉ. एस.एल. थाउसन मौजूद थे।
स्मार्ट रोड सहित स्मार्ट-सिटी प्रोजेक्ट के सभी कार्य शीघ्र पूरे करें
3 January 2019
विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने स्मार्ट-सिटी प्रोजेक्ट की समीक्षा करते हुए हिन्दी भवन से डिपो चौराहा तक स्मार्ट रोड का कार्य फरवरी माह तक पूर्णं करने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि स्मार्ट-सिटी प्रोजेक्ट के सभी कार्य में तेजी लायी जाये। मंत्री श्री पी.सी. शर्मा ने शहर की प्रमुख अधोसंरचना के अनुसार पर्याप्त जलपूर्ति, सक्षम शहरी गतिशीलता, गरीबों के लिए किफायती आवास, आई.टी. कनेक्टिविटी, ई-गवर्नेंस, पर्यावरण और स्वास्थ्य शिक्षा पर विशेष ध्यान देने के निर्देश दिये। उन्होंने कहा कि फायर बिग्रेड वाहन में ऐसे सेंसर लगाये जायें जिससे आग लगने वाली लोकेशन की जानकारी मिले और वाहन तत्काल आगजनी- स्थल पर पहुँच कर अग्निशमन कर सके। श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट में शहर की सभी स्लम बस्तियों में भी बिजली देने का प्रावधान किया जाये। उन्होंने भोपाल शहर की सभी व्यस्ततम सड़कों पर यातायात नियंत्रण में मदद के उद्देश्य से कैमरों की व्यवस्था करने को कहा। उन्होंने इसकी प्लानिंग भी स्मार्ट प्रोजेक्ट में किये जाने के निर्देश दिये। श्री पी.सी. शर्मा ने कहा कि वे शीघ्र ही स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के कार्यों का निरीक्षण करेंगें। बैठक में भोपाल कलेक्टर श्री सुदाम खाड़े, नगर निगम आयुक्त श्री बी. विजय दत्ता, स्मार्ट सिटी प्रोजेक्ट के अधिकारी एवं पार्षद सर्वश्री गुड्डू चौहान, मोनू सक्सेना, श्रीमती संतोष कंसाना और श्री अमित शर्मा विशेष रूप से उपस्थित थे।
अपराधियों में खौफ के साथ जनता के प्रति संवेदनशीलता जरूरी
3 January 2019
गृह एवं जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने पुलिस व्यवस्थाओं में कसावट लाने के निर्देश दिये हैं। उन्होंने कहा कि पुलिस का अपराधियों में खौफ और जनता के प्रति संवेदनशील होना चाहिये। गृह मंत्री श्री बच्चन आज पुलिस मुख्यालय में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की बैठक ले रहे थे। गृह मंत्री श्री बच्चन ने कहा कि संसाधनों की कमियों को दूर किया जायेगा। प्रयास ऐसे हों कि अपराधों में कमी आये। गंभीर अपराधों में तत्काल एफआईआर हो। श्री बच्चन ने कहा कि पुलिसिंग में आधुनिक तकनीक का प्रयोग किया जाये। उन्होंने कहा कि पुलिस बल का काम ऐसा हो कि कानून के नजरिये से मध्यप्रदेश आदर्श राज्य बन सके। मंत्री श्री बच्चन ने सड़क दुर्घटना के बढ़ते हुए आंकड़ों पर चिंता व्यक्त करते हुए कहा कि क्षेत्रवार आंकडे़ प्रस्तुत किये जाये। सड़क दुर्घटनाओं का कारण अशिक्षा और जागरूकता में कमी हो सकती है। इस पर काम करना होगा। उन्होंने कहा कि आज की आवश्यकता थाना क्षेत्रों को परिणामोन्मुखी बनाना है। पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ल ने बैठक में पुलिस बल की गतिविधियों की जानकारी दी। पहले सभी वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों ने परिचय दिया। बैठक में आतंरिक सुरक्षा, साम्प्रदायिक हिंसा, किसान आंदोलन, मॉब-लिचिंग, पदोन्नति, महिला अपराध, साइबर क्राइम, डॉयल-100, सेफ सिटी और बजट पर चर्चा हुई।
जनता के काम न करने वाले अधिकारियों के खिलाफ होगी सख्त कार्रवाई
3 January 2019
वाणिज्यिक कर मंत्री श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर ने कहा है कि गरीब तथा आमजनों के काम में लापरवाही बरतने वाले अधिकारियों के खिलाफ सख्त कार्रवाई की जायेगी। उन्होंने जिला अधिकारियों से तत्परता से जिले में ही लोगों की समस्याओं का निराकरण करने के निर्देश दिये। श्री राठौर आज ओरछा में 10 करोड़ की लागत के विकास कार्यों के शिलान्यास कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे। श्री राठौर ने कहा कि ओरछा में रामराजा सरकार के दर्शनों के लिये आने वाले श्रद्धालुओं के लिये एक करोड़ रुपये से सर्व-सुविधायुक्त यात्री भवन का निर्माण किया जायेगा। श्री राठौर ने कहा कि ओरछा में साकेत रामायण संग्रहालय के भव्य निर्माण के साथ पर्यटन नगरी में होने वाले ओरछा महोत्सव और महाकवि केशव जयंती समारोह को और अधिक भव्यता दी जायेगी। उन्होंने कहा कि ओरछा, पृथ्वीपुर और निवाड़ी क्षेत्रों का समान रूप से विकास किया जायेगा।
विभागीय कार्यों की हर सप्ताह रिपोर्ट प्रस्तुत करेंगे वन अधिकारी
3 January 2019
वन मंत्री श्री उमंग सिंघार ने आज विभागीय समीक्षा के दौरान नर्मदा किनारे के 24 जिलों में किये गये पौध-रोपण, तेंदूपत्ता संग्राहकों को दिये गये जूते, चप्पल, साड़ी, वन विकास निगम द्वारा पिछले 5 साल में रोपे गये पौधों और तेंदूपत्ता संग्राहकों को दिये गये बोनस की जिलावार जानकारी देने के निर्देश दिये। श्री सिंघार ने कहा कि जिलों में केवल उत्तम परफार्मेंस के आधार पर ही अधिकारियों की मैदानी पोस्टिंग करें। अधिकारी किये गये कार्यों की हर सप्ताह रिपोर्ट प्रस्तुत करें। इस मौके पर अपर मुख्य सचिव श्री के.के. सिंह भी मौजूद थे। तेंदूपत्ता संग्राहकों को करें नगद भुगतान श्री सिंघार ने कहा कि तेंदूपत्ता संग्राहकों को भविष्य में नगद भुगतान करें। खातों में पैसा जाने से उनको अनावश्यक विलम्ब और परेशानी होती है। उन्होंने कहा कि पौधों की मॉनीटरिंग तकनीकी रूप से उपलब्ध हाईटेक साधनों से करें। सभी शाखाओं की गहन समीक्षा वन मंत्री ने वनों के वैज्ञानिक प्रबंधन, वन विदोहन, निस्तार, प्रदाय, अनुसंधान एवं विस्तार, वन आवरण, वन क्षेत्र, वृक्षारोपण, वन संरक्षण, वन्य-प्राणी प्रबंधन, सूचना प्रौद्योगिकी के प्रयोग, वानिकी, फॉरेस्ट गवर्नेंस, संयुक्त वन प्रबंधन, वनाधिकार नियम, ग्रीन इण्डिया मिशन, विभाग के मण्डल, बोर्ड, संस्थान, लघु वनोपज संघ, ईको पर्यटन विकास बोर्ड, जैव-विविधता बोर्ड, बाँस मिशन आदि की गतिविधियों की गहन समीक्षा की। शाखा प्रभारियों से वन-टू-वन मिलेंगे वन मंत्री वन मंत्री ने कहा कि वे प्रत्येक शाखा के प्रभारी से वन-टू-वन चर्चा करेंगे। उन्होंने कहा कि प्रत्येक शाखा प्रभारी हर तरह की जानकारी के संकलन के बाद ही उनसे मिले। वन मंत्री ने अधिकारियों से उनकी आवश्यकताओं और समस्याओं के बारे में भी चर्चा की। प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री बी.एस.एस. राठौर, प्रधान मुख्य वन संरक्षक श्री यू. प्रकाशम, प्रबंध संचालक राज्य लघु वनोपज संघ श्री राजेश श्रीवास्तव और विभाग के सभी विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।
गेमन प्रोजेक्ट की रिपोर्ट दें
3 January 2019
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने गेमन इण्डिया प्रोजेक्ट की रिपोर्ट देने और नगर पंचायत स्तर पर आवासीय योजना बनाने को कहा है। उन्होंने मास्टर प्लान के तहत बनने वाली सड़कों को टी.डी.आर. (विकास हस्तांतरण अधिकार) नीति के तहत बनाने के निर्देश दिये हैं। श्री सिंह ने कहा कि आम लोगों का घर का सपना पूरा करने का अहम दायित्व मण्डल पर है। इसलिये निर्माण की गुणवत्ता पर विशेष ध्यान दें, इसमें कोई कोताही न करें। श्री सिंह आज मंत्रालय में मध्यप्रदेश गृह निर्माण एवं अधोसंरचना विकास मण्डल एवं राजधानी परियोजना प्रशासन के कार्यों की समीक्षा कर रहे थे। मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने कहा कि गेमन प्रोजेक्ट में हो रहे विलंब के संबंध में उन्हें पूरी वस्तु-स्थिति से अवगत करवायें। उन्होंने कहा कि इस संबंध में पूरा प्रेजेंटेशन देखेंगे। श्री सिंह ने शहरों के साथ ही कस्बाई क्षेत्रों में भी आवासीय योजनाएँ बनाने को कहा, ताकि मण्डल की आय बढ़ सके। आवास मंत्री ने कहा कि हाउसिंग बोर्ड प्रधानमंत्री आवास योजना के क्षेत्र में भी आगे बढ़े। इस संबंध में प्रस्ताव तैयार करें, जिस पर मुख्यमंत्री से चर्चा कर मण्डल को इससे जोड़ने का प्रयास करेंगे। श्री सिंह ने मण्डल से अधोसंरचना के क्षेत्र में और अधिक कार्य करने की आवश्यकता पर जोर दिया। श्री सिंह ने राजधानी परियोजना प्रशासन के कार्यों की भी समीक्षा की। उन्होंने कहा कि मास्टर प्लान में जिन क्षेत्रों में सड़क निर्माण किया जाता है, उसे गति देने के लिये विकास हस्तांतरण अधिकार नीति बनाकर कार्य करें, ताकि यह काम जल्द पूरा हो सके और शहरों की आवागमन व्यवस्था सुलभ हो सके। आवास मंत्री ने शहरी क्षेत्रों में सड़क निर्माण में निर्मित एजेंसियों के बीच समन्वय बनाने को भी कहा। बैठक में हाउसिंग बोर्ड की पुरानी कॉलोनियों को पुनर्निर्मित करने की जानकारी दी गई। नगरीय विकास एवं आवास विभाग के प्रमुख सचिव श्री प्रमोद अग्रवाल हाउसिंग बोर्ड के आयुक्त श्री रवीन्द्र सिंह और राजधानी परियोजना प्रशासन के श्री जवाहर सिंह बैठक में उपस्थित थे।
उपलब्ध संसाधनों में गुणवत्तापूर्ण सुविधाएं प्रदान करें अधिकारी- डॉ चौधरी
3 January 2019
स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने जिला कार्यालय रायसेन के सभाकक्ष में आयोजित बैठक में सभी विभागों में संचालित योजनाओं तथा गतिविधियों की समीक्षा की। उन्होंने समीक्षा के दौरान कहा कि शासकीय योजनाओं का लाभ जनसामान्य तक पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों से यह भी कहा कि उपलब्ध संसाधनों में बेहतर सुविधाएं प्रदान करने का प्रयास किया जाए तथा उपलब्ध बजट का समुचित उपयोग करने के निर्देश दिए। बैठक में कलेक्टर श्रीमती एस प्रिया मिश्रा तथा सीईओ जिला पंचायत द्वारा जिले में चल रहे निर्माण कार्यो तथा विभागीय योजनाओं के संबंध में विस्तृत जानकारी दी गई। स्कूल शिक्षा मंत्री डॉ प्रभुराम चौधरी ने समीक्षा के दौरान कहा कि उत्कृष्ट कार्य करने वाले शासकीय सेवकों को प्रोत्साहित किया जाएगा। उन्होंने लोगों को आधारभूत सुविधाएं सुगमता से उपलब्ध कराने के निर्देश दिए। उन्होंने निर्माण कार्यो तथा प्रदाय की जाने वाली सेवाएं गुणवत्ता पूर्ण हो इस बात का विशेष ध्यान रखने के भी निर्देश दिए। उन्होंने स्कूल शिक्षा, कृषि, उद्यानिकी, स्वास्थ्य, पंचायत एवं ग्रामीण विकास, महिला बाल विकास, लोक निर्माण विभाग, आरईएस, आदिम जाति कल्याण विभाग, मत्स्य, सामाजिक न्याय विभाग सहित सभी विभागों की समीक्षा की। बैठक में एसपी श्री जगत सिंह राजपूत, एसडीएम रायसेन श्री संजय उपाध्याय सहित सभी विभागों के जिला अधिकारी उपस्थित थे। स्कूल शिक्षा स्कूल शिक्षा विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जिले में कुल 1863 शासकीय प्राथमिक शालाएं, 658 शासकीय माध्यमिक शालाएं, 101 शासकीय हाईस्कूल, 71 शासकीय हायर सेकेण्ड्ररी स्कूल, 34 मान्यता प्राप्त मदरसे, 22 अनुदान प्राप्त मदरसे, तीन मान्यता प्राप्त संस्कृत विद्यालय, 481 अशासकीय मान्यता प्राप्त माध्यमिक विद्यालय, 65 अशासकीय मान्यता प्राप्त हाईस्कूल तथा 72 अशासकीय मान्यता प्राप्त हायर सेकेण्ड्री स्कूल संचालित हैं। बैठक में जानकारी दी गई कि निःशुल्क साईकिल वितरण योजना के तहत कक्षा 9वीं के लिए 8255 विद्यार्थियों को स्वीकृति दी गई है। इसी प्रकार समेकित छात्रवृत्ति योजना के तहत 159889 विद्यार्थियों को 104441900 रूपए की छात्रवृत्ति वितरित की जाना है। मेघावी विद्यार्थी योजना के तहत वर्ष 2018-19 में 931 पात्र छात्र-छात्राओं में से 920 छात्र-छात्राओं को लाभान्वित किया जा चुका है। मदरसा शिक्षा आधुनिकीकरण सुधार योजना के तहत जिले में अनुदान प्राप्त 22 मदरसे संचालित हैं। वर्ष 2018-19 में अनुदान प्राप्त मदरसों के रिपेयर, मेंटीनेंस एण्ड इन्फास्ट्रक्चर के लिए 550000 राशि में से 525000 राशि व्यय की गई है। मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जिले में 2530 प्राथमिक एवं माध्यमिक शालाओं तथा मदरसों में मध्यान्ह भोजन कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। कृषि विभाग कृषि विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जिले में रबी फसलों का अनुमानित रकबा 434850 हैक्टेयर है तथा खरीफ फसलों का अनुमानित रकबा 321707 हैक्टेयर है। जिले में प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अंतर्गत खरीफ 2017 में 67288 पात्र बीमित किसानों को 139.58 करोड़ रूपए की बीमा दावा राशि का वितरण किया गया। कृषक समृद्धि योजना के अतंर्गत जिले में 43229 किसानों को 11.99 करोड़ रूपए की राशि वितरित की गई है। लोक निर्माण विभाग लोक निर्माण विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जिले में 104154.62 लाख रूपए की लागत के 160 ग्रामीण मार्ग तथा मुख्य जिला मार्ग निर्माण कार्य स्वीकृत किए गए हैं। इनमें 863.91 किलोमीटर लम्बाई के बीटी मार्ग, 242.47 किलोमीटर लम्बाई के सीसी मार्ग तथा 1559 पुल-पुलियां शामिल हैं। बैठक में बताया गया कि कुल 45 निर्माण कार्य पूर्ण हो गए हैं जिनमें 97.55 किलोमीटर बीटी मार्ग, 129.6 किलोमीटर लम्बे सीसी मार्ग तथा 744 पुलियों का निर्माण शामिल है। जल संसाधन विभाग जल संसाधन विभाग की समीक्षा के दौरान जानकारी दी गई कि जिले का कुल निरबोया क्षेत्र 434830 हैक्टेयर तथा कुल सिंचित क्षेत्र 256555 हैक्टेयर है। इसमें 119388 हैक्टेयर विभाग द्वारा निर्मित संसाधनों से तथा 137167 हैक्टेयर क्षेत्र निजी संसाधनों से निर्मित है। जिले में कुल एक मध्यम परियोजना, 58 लघु तालाब, 5 उप सिंचाई योजना, 82 बैराज कुल 146 परियोजना निर्मित हैं। सामाजिक पेंशन योजनाएं बैठक में जानकारी दी गई कि इंदिरा गांधी वृद्धावस्था पेंशन योजना के अंतर्गत जिले में 39547 हितग्राहियों को पेंशन प्रदाय की जा रही है। इंदिरा गांधी विधवा पेंशन योजना के अतंर्गत जिले में 19174 हितग्राहियों को, इंदिरा गांधी निःशक्त पेंशन योजना के तहत जिले में 3002 हितग्राहियों को, मुख्यमंत्री कल्याणी पेंशन योजना के अंतर्गत जिले में 7068 हितग्राहियों को, सामाजिक सुरक्षा पेंशन योजना के अंतर्गत 10125 हितग्राहियों को, मुख्यमंत्री कन्या अभिभावक पेंशन योजना के तहत 564 हितग्राहियों को लाभान्वित किया जा रहा है। राष्ट्रीय परिवार सहायता योजना के तहत 293 प्रकरणों में 58 लाख 60 हजार रूपए की राशि स्वीकृत की गई है। प्रधानमंत्री आवास योजना प्रधानमंत्री आवास योजना ग्रामीण के संबंध में जानकारी दी गई कि जिले में वर्ष 2018-19 में 16428 आवास का लक्ष्य निर्धारित किया गया है जिसमें 14355 हितग्राहियों को तीनों किश्तों का भुगतान कर दिया गया है तथा 12404 आवास का निर्माण कार्य पूर्ण हो गया है।
स्त्री परिवार की धुरी है, इसलिये उसका स्वस्थ रहना ज्यादा जरूरी
2 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने सरोजनी नायडू शासकीय कन्या महाविद्यालय में स्वस्थ नारी : स्वस्थ प्रदेश कार्यक्रम का शुभारंभ करते हुए कहा कि स्त्री अपने परिवार की धुरी होती है। इसलिये उसका स्वस्थ रहना ज्यादा जरूरी है। उन्होंने बताया कि मध्यप्रदेश में आने के बाद मैंने डॉक्टर्स से इस बारे में विचार-विमर्श किया। आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, जबलपुर से प्रदेश के सभी कॉलेजों की छात्राओं का हीमोग्लोबिन टेस्ट करने को कहा। उन्होंने कहा कि मुझे यह जानकर प्रसन्नता है कि इस विश्वविद्यालय से जुड़े 313 महाविद्यालय इस काम को अंजाम दे रहे हैं। मध्यप्रदेश आयुर्विज्ञान विश्वविद्यालय, जबलपुर के कुलपति श्री आर.सी. शर्मा ने कहा कि यह अभियान 15 अगस्त 2018 को शुरू किया। अभी तक लगभग 93 हजार छात्राओं का हीमोग्लोबिन टेस्ट हो चुका है। एक वर्ष में लगभग ढाई लाख छात्राओं का हीमोग्लोबिन टेस्ट कराने का लक्ष्य है। कुलपति ने छात्राओं को जानकारी दी कि एकमात्र हीमोग्लोबिन का टेस्ट करने से ही पता चल जाता है कि शरीर में किस तत्व की कमी है। उन्होंने बताया कि प्रदेश में अभी तक 26 जिलों के महाविद्यालयों की छात्राओं के हीमोग्लोबिन टेस्ट हो चुके हैं। सिवनी जिले में सर्वाधिक एनीमिक छात्राओं का पता चला है। उन्होंने कहा कि प्रदेश के सभी जिलों में इस तरह के कैम्प लगाये जायेंगे। राज्यपाल ने महाविद्यालय परिसर में छात्राओं के लिये बनाई गई व्यायाम शाला का उदघाटन किया। हीमोग्लोबीन परीक्षण शिविर में राज्यपाल की प्रेरणा से बड़ी संख्या में छात्राएँ हीमोग्लोबिन टेस्ट के लिए उत्सुकता के साथ अपनी बारी की प्रतीक्षा करती दिखीं।
राज्यपाल ने विधायक श्री सक्सेना को प्रोटेम स्पीकर की शपथ दिलाई
2 January 2019
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने विधायक श्री दीपक सक्सेना को सामयिक अध्यक्ष (प्रोटेम स्पीकर) के पद की शपथ दिलाई। इस अवसर मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ उपस्थित थे। समारोह का संचालन विधान सभा के प्रमुख सचिव ने किया। समारोह में भोपाल गैस राहत मंत्री श्री आरिफ अकील, नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह, महिला बाल विकास मंत्री श्रीमती इमरती देवी, विधि-विधायी कार्य मंत्री श्री पी.सी.शर्मा, नर्मदा घाटी विकास एवं पर्यटन मंत्री श्री सुरेन्द्र सिंह बघेल और वन मंत्री श्री उमंग सिंघार तथा पुलिस और प्रशासन के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने शासकीय कैलेंडर 2019 का विमोचन किया
2 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज यहां मंत्रालय में वर्ष 2019 के शासकीय कैलेंडर का विमोचन किया। इस वर्ष कैलेंडर की विषय वस्तु हस्तशिल्प और हुनर रखी गई है। इस अवसर पर राजस्व मंत्री श्री गोविंद सिंह राजपूत, मुख्य सचिव श्री एस.आर. मोहंती, एवं वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।




गृह तथा जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने कार्यभार ग्रहण किया
2 January 2019
गृह तथा जेल मंत्री श्री बाला बच्चन ने दो जनवरी 2019 को मंत्रालय वल्लभ भवन क्रमाँक दो के तृतीय तल पर कक्ष क्रमाँक बी-304 में पूजा अर्चना कर कार्यभार ग्रहण किया। श्री बच्चन ने मीडिया से चर्चा उपरांत विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक की। बैठक में अपर मुख्य सचिव जेल श्री विनोद सेमवाल, प्रमुख सचिव गृह श्री मलय श्रीवास्तव, पुलिस महानिदेशक श्री ऋषि कुमार शुक्ला सहित विभाग के वरिष्ठ अधिकारी उपस्थित थे।
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह द्वारा शोक व्यक्त
2 January 2019
नगरीय विकास एवं आवास मंत्री श्री जयवर्धन सिंह ने पूर्व विधायक सुश्री कल्पना पारूलेकर के निधन पर गहरा दु:ख व्यक्त किया है। मंत्री श्री सिंह ने कहा कि सुश्री पारूलेकर एक जुझारू और जनप्रिय नेता थीं। उन्होंने आम जनता के मुद्दों को मुखरता से उठाया। उनके निधन से जो अपूर्णीय क्षति हुई है, उसकी पूर्ति संभव नहीं है। श्री सिंह ने दिवंगत आत्मा की शांति और शोक संतप्त परिवार को यह गहन दु:ख सहन करने की शक्ति देने की प्रार्थना की।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने कार्यकर्ताओं को दी नव-वर्ष की बधाई
1 January 2019
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज छिन्दवाड़ा स्थित निवास पर कार्यकर्ताओं को नव-वर्ष की बधाई और शुभकामनायें दी। मुख्यमंत्री ने कार्यकर्ताओं की समस्याओं को भी सुना और निराकरण के संबंध में समुचित कार्यवाही करने के लिये आश्वस्त किया।


खेल एवं युवक कल्याण मंत्री श्री पटवारी ने रवाना की स्वस्थ भारत सायकल यात्रा
2 January 2019
खेल एवं युवा कल्याण तथा उच्च शिक्षा मंत्री श्री जीतू पटवारी ने इंदौर में स्वस्थ भारत सायकल यात्रा के कार्यक्रम में कहा कि स्वस्थ जीवन और स्वस्थ मन के लिये जरूरी है कम खाओ, सही खाओ। हर व्यक्ति फिट रहने के लिये रोज एक घंटे का समय अवश्य निकाले। श्री जीतू पटवारी ने यात्रा में आज सुबह स्थानीय नेहरू स्टेडियम से अरविंदो अस्पताल तक सायकिल भी चलाई। स्वस्थ भारत यात्रा विगत 16 अक्टूबर को तिरुअनंतपुरम् से प्रारंभ हुई थी और आगामी 27 जनवरी, 2019 को नई दिल्ली में समाप्त होगी। राष्ट्रपिता महात्मा गाँधी की 150वीं जयंती के उपलक्ष्य में भारतीय खा़द्य सुरक्षा एवं मानक प्राधिकरण, नई दिल्ली द्वारा स्वस्थ भारत यात्रा का आयोजन किया जा रहा है। आज यह यात्रा इंदौर होते हुए उज्जैन के लिए रवाना हुई। यात्रा के अंतर्गत प्रदेश सहित देश में जगह-जगह राष्ट्रगान, वैष्णवजन भजन, ईट राइट शपथ और ईट राइट के संबंध में भाषण और प्रतियोगिता आदि का आयोजन किया जा रहा है। प्रदेश में यह यात्रा मानपुर से महू, इंदौर होते हुए सांवेर के लिए रवाना हुई। यात्रा में नेहरू स्टेडियम में एरोबिक्स, जुम्बा एक्सरसाइज, स्वास्थ्य शिविर, स्टेज कार्यक्रम और प्रदर्शिनी का आयोजन किया गया। अरिहंत कॉलेज में ईट राइट कॉम्पिटिशन का आयोजन किया गया। इसमें जनता से तेल कम से कम खाने की अपील की गई।
मुख्य सचिव श्री मोहन्ती ने कार्यभार ग्रहण किया
2 January 2019
नव-नियुक्त मुख्य सचिव श्री सुधि रंजन मोहन्ती ने एक जनवरी 2019 को प्रात: 10:30 बजे मंत्रालय में कार्यभार ग्रहण किया। कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत श्री मोहन्ती ने नवीन एनएक्ससी भवन क्रमांक-दो का अवलोकन किया। उन्होंने कार्यभार ग्रहण करने के उपरांत मीडिया से चर्चा भी की । अपर मुख्य सचिव सामान्य प्रशासन विभाग श्री प्रभाँशु कमल, अपर मुख्य सचिव पंचायत एवं ग्रामीण विकास श्री इकबाल सिंह बैंस, अपर मुख्य सचिव जेल श्री विनोद सेमवाल, अपर मुख्य सचिव कुटीर एवं ग्रामोद्योग श्रीमती सलीना सिंह, अपर मुख्य सचिव पशुपालन श्री मनोज श्रीवास्तव सहित अन्य अधिकारियों-कर्मचारियों ने श्री मोहन्ती को बधाई तथा शुभकामनाएँ दीं।
स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव करवाना हमारा लक्ष्य
2 January 2019
श्री बसंत प्रताप सिंह ने राज्य निर्वाचन आयुक्त का पदभार ग्रहण कर लिया है। श्री सिंह 31 दिसम्बर 2018 को मुख्य सचिव पद से सेवानिवृत्त हुए हैं। श्री सिंह ने आयोग में अधिकारियों से चर्चा करते हुए कहा कि स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव करवाना उनका लक्ष्य है। उन्होंने बताया कि ट्रेनिंग पर विशेष जोर दिया जायेगा। श्री सिंह ने आयोग के अधिकारियों और कर्मचारियों से परिचय प्राप्त किया। राज्य निर्वाचन आयोग की सचिव श्रीमती सुनीता त्रिपाठी ने राज्य निर्वाचन आयुक्त को आयोग की कार्यप्रणाली की जानकारी दी। फिल्म और पावर पाइंट प्रेजेंटेशन के माध्यम से भी आयोग के कार्यों की जानकारी दी गयी। इस दौरान आयोग के अन्य अधिकारी-कर्मचारी उपस्थित थे।
सभी विभागों का मेन्युअल बनेगा : श्री परशुराम
2 January 2019
श्री आर. परशुराम ने आज अटल बिहारी वाजपेयी सुशासन एवं नीति विशलेषण संस्थान में महानिदेशक का पदभार ग्रहण किया। श्री परशुराम ने संस्थान में पदस्थ प्रमुख सलाहकारों एवं अधिकारियों से परिचय प्राप्त किया। उन्होंने कहा कि सभी विभागों का मॉडल मेन्युअल होना चाहिए। संस्थान इस दिशा में प्रभावी कदम उठायेगा। उन्होंने संस्थान की कार्यप्रणाली की जानकारी ली और आगामी कार्य योजना के विषय में चर्चा की। इस दौरान प्रमुख सलाहकार श्री एम.एम.उपाध्याय और श्री मंगेश त्यागी भी उपस्थित थे।
मुख्यमंत्री श्री नाथ ने नन्ही खुशियाँ की बस को हरी झण्डी दिखाई
29 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज यहाँ निवास पर "नन्ही खुशियाँ" कार्यक्रम में शामिल हो रहे बच्चों को शुभकामनाएँ दीं तथा बच्चों के दल को हरी झण्डी दिखाई। समाचार पत्र "नवदुनिया" द्वारा यह कार्यक्रम अनाथ बच्चों को एक दिन की खुशियाँ देने के लिये जा रहा है। मुख्यमंत्री श्री नाथ ने सामाजिक सरोकार की इस पहल की सराहना की। बच्चों ने मुख्यमंत्री श्री नाथ को बधाई दी। कार्यक्रम में करीब 55 बच्चे शॉपिंग मॉल में घूमेंगे तथा लंच करेंगे। इस अवसर पर नवदुनिया के प्रतिनिधि उपस्थित थे।
पात्र किसानों को कर्ज माफी का लाभ आसानी से मिले : मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ
29 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने अधिकारियों को निर्देश दिये हैं कि किसानों की कर्ज माफी योजना का मसौदा इस तरह से तैयार किया जाये कि प्रदेश का कोई भी पात्र और जरूरतमंद किसान इससे वंचित न रहे। किसानों की कर्ज माफी पर आज मंत्रालय में मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में हुई मंत्रि-परिषद की बैठक में प्रमुख सचिव कृषि विकास एवं किसान कल्याण डॉ. राजेश राजौरा द्वारा प्रेजेन्टेशन दिया गया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा अधिकारियों को दिये गये निर्देश के बाद 5 जनवरी को होने वाली मंत्रि-परिषद की बैठक में किसानों की कर्ज माफी योजना को मंजूरी दी जायेगी। 61 लाख 20 हजार से ज्यादा किसानों को मिलेगा लाभ बैठक में बताया गया कि 31 मार्च, 2018 की स्थिति में किसानों को कृषि कर्ज माफी का लाभ दिया जायेगा। इसमें 2 लाख रुपये तक के कालातीत कृषि ऋण को माफ किया जायेगा। इससे प्रदेश के 61 लाख 20 हजार किसान लाभान्वित होंगे और उनके करीब 62 हजार 294 करोड़ रुपये राशि के कर्ज में से दो लाख रूपये तक कृषि ऋण माफ किये जायेंगे। इनमें राष्ट्रीयकृत, सहकारी और आरआरबी से लिये गये कृषि ऋण शामिल हैं। किसानों को सुविधा दिये जाने के लिये ग्राम पंचायत स्तर पर आवेदन करने की सुविधा होगी। अन्य राज्यों से बेहतर होगी योजना मध्यप्रदेश में किसानों की कर्ज माफी के लिये जो योजना तैयार की गई है, वह उत्तर प्रदेश और महाराष्ट्र राज्य में लागू की गई योजना से बेहतर होगी। प्रदेश में किसानों को कर्ज माफी अल्पकालीन फसल ऋण पर ही प्रदान की जायेगी। कृषि ऋण माफी की कट ऑफ डेट 31 मार्च की जगह 30 नवम्बर करने पर विचार मंत्रि-परिषद की बैठक में कृषि ऋण बकाया के लिये 31 मार्च, 2018 के स्थान पर कट ऑफ डेट 30 नवम्बर, 2018 किये जाने पर भी विचार किया गया। जानकारी दी गई कि कालातीत बकायादारों की कर्ज माफी पर लाभान्वित किसान को ऋण मुक्ति प्रमाण-पत्र भी दिया जायेगा। ऐसे किसान जिन्होंने 31 मार्च, 2018 के चालू बकाया को 30 नवम्बर तक चुका दिया है, उनको प्रति हेक्टेयर सम्मान-निधि प्रदान करने पर भी विचार किया गया। मंत्रिपरिषद की बैठक में बताया गया कि कर्ज माफी अल्पकालीन फसल ऋण पर ही प्रदान की जाना है। कर्ज माफी के लिये राज्य शासन द्वारा देय राशि डायरेक्ट बेनेफिट ट्रांसफर (डीबीटी) से किसान के ऋण खाते में जमा की जायेगी। योजना का लाभ प्राप्त करने के लिये आधार कार्ड की ऋण खाते में सीडिंग अनिवार्य होगा। पहले चरण में लघु सीमांत किसान तथा सहकारी बैंकों के करंट आउट स्टेंडिंग लोन के भुगतान पर विचार किया जायेगा। योजना में कालातीत ऋण, जो योजना मापदण्डों में पात्र पाए गए हैं, उस राशि को बैंकों से वन टाइम सेटलमेंट करने के बाद कार्यवाही की जायेगी। बैठक में जानकारी दी गई कि एक अप्रैल, 2007 या उसके बाद लिये गये ऋण जो 31 मार्च, 2018 को कालातीत घोषित किये गये हों, उनको योजना में शामिल किया जायेगा। प्रदेश में 26 जनवरी, 2019 की ग्रामसभा में योजना की पात्रता सूचियाँ प्रस्तुत की जायेंगी। प्रेजेन्टेशन में बताया गया कि कृषि ऋण माफी योजना के लिये मुख्यमंत्री की अध्यक्षता में सक्षम साधिकार समिति का गठन किया जायेगा। मुख्य सचिव की अध्यक्षता में क्रियान्वयन समिति गठित की जा चुकी है। जिला स्तर पर प्रभारी मंत्री की अध्यक्षता में जिला स्तरीय क्रियान्वयन समिति का गठन किया जायेगा। किसानों को ऋण मुक्ति प्रमाण-पत्र और सम्मान-पत्र सार्वजनिक कार्यक्रमों में वितरित किये जायेंगे।
एट्रोसिटी एक्ट ने पहुंचाया नुकसान, चुनाव हारने के बाद शाह से BJP सांसद
29 December 2018
भोपाल। 2019 के लोकसभा चुनाव की तैयारियों के लिए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह के साथ मप्र के भाजपा सांसदों की बैठक में भी विधानसभा चुनाव में हार का मुद्दा उठा। नई दिल्ली में शुक्रवार शाम को केंद्रीय मंत्री थावरचंद गहलोत के घर पर यह बैठक हुई थी। पहले यह बैठक संसद भवन में प्रधानमंत्री लेने वाले थे, लेकिन बाद में कार्यक्रम बदल गया। सूत्रों के मुताबिक सांसदों ने कहा कि एट्रोसिटी एक्ट की वजह से विधानसभा चुनाव में पार्टी को काफी नुकसान हुआ। बैठक में कुछ सांसदों ने कहा कि नक्सली इलाके में नक्सलियों ने कांग्रेस की बहुत मदद की है। हालांकि अमित शाह ने सांसदों से कहा कि विधानसभा चुनाव की जीत- हार से बाहर आकर लोकसभा चुनाव की तैयारी में सभी सांसद लग जाएं। उन्होंने कहा कि मप्र में एक बार फिर 26 विधानसभा सीट पर जीत हासिल करना है। अमित शाह ने भाजपा सांसदों से कहा कि कांग्रेस में बहुत झगड़े हैं। उनकी सरकार मंत्रियों के विभाग तय नहीं कर पा रही है, इसका फायदा हमें मिलेगा। उन्होंने सांसदों से कहा कि सभी सांसद अपने क्षेत्र में सक्रिय हो जाएं और निचले स्तर तक के कार्यकर्ता से संपर्क कर तालमेल बैठा लें। सांसदों ने दिए सुझाव बैठक में सरकार की योजनाओं को लेकर सांसदों ने कुछ सुझाव भी दिए। एक सांसद ने कहा कि उज्जवला योजना के सिलेंडर छोटे किए जाएं, तो शाह ने कहा कि इस पर फैसला हो चुका है। वहीं कुछ सांसदों ने कहा कि जीएसटी रिटर्न भरने की समय अवधि बढ़ाई जाए। बैठक में भाजपा के संगठन महामंत्री रामलाल, केंद्रीय मंत्री धर्मेंद्र प्रधान, नरेंद्र सिंह तोमर, विजय गोयल के साथ-साथ हाल ही में लोकसभा चुनाव के लिए मप्र के सह प्रभारी बनाए गए सतीश उपाध्याय सहित मप्र व छत्तीसगढ़ के लगभग सभी लोकसभा और राज्यसभा सांसद भी मौजूद थे।
मंत्रीगण को विभाग आवंटित
28 December 2018
राज्य शासन ने मंत्रिपरिषद के सदस्यगण को विभाग आवंटन संबंधी आदेश जारी किये है। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के पास औद्योगिक नीति एवं निवेश प्रोत्साहन विभाग, जनसम्पर्क विभाग, विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग, विमानन विभाग, लोक सेवा प्रबंधन विभाग, अप्रवासी भारतीय विभाग, तकनीकी शिक्षा, कौशल विकास एवं रोजगार विभाग तथा अन्य विभाग जो किसी को आवंटित ना हों, रहेंगे। डॉ. विजय लक्ष्मी साधो को संस्कृति, चिकित्सा शिक्षा तथा आयुष विभाग का दायित्व सौंपा गया है। श्री सज्जन सिंह वर्मा को लोक निर्माण तथा पर्यावरण विभाग आवंटित किये गये है। श्री हुकुम सिंह कराड़ा जल संसाधन विभाग का दायित्व सम्भालेंगे। डॉ. गोविन्द सिंह को साहकारिता विभाग तथा संसदीय कार्य विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है। श्री बाला बच्चन को गृह तथा जेल विभाग सौंपा गया है वे मुख्यमंत्री से भी संबद्ध रहेंगे।
श्री आरिफ अकील को भोपाल गैस त्रासदी राहत एवं पुनर्वास विभाग, पिछड़ा वर्ग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग, सूक्ष्म लघु और मध्यम उद्यम विभाग आवंटित किये गये है। श्री बृजेन्द्र सिंह राठौर को वाणिज्य कर विभाग सौंपा गया है। श्री प्रदीप जायसवाल को खनिज साधन विभाग आवंटित किया गया है। श्री लाखन सिंह यादव पशुपालन, मछुआ कल्याण तथा मत्स्य विकास विभाग का दायित्व सम्भालेंगे। श्री तुलसी सिलावट लोक स्वास्थ्य एवं परिवार कल्याण मंत्री बनाये गये है। श्री गोविन्द सिंह राजपूत राजस्व तथा परिवहन विभाग का दायित्व सम्भालेंगे। श्रीमती इमरती देवी को महिला एवं बाल विकास विभाग आवंटित किया गया है। श्री ओमकार सिंह मरकाम जनजातीय कार्य विभाग, विमुक्त घुमक्कड़ एवं अर्द्धघुमक्कड़ जनजाति कल्याण विभाग मंत्री होंगे।
श्री प्रभुराम चौधरी स्कूल शिक्षा मंत्री बनाये गये है। श्री प्रियव्रत सिंह को ऊर्जा विभाग आवंटित किया गया है। श्री सुखदेव पांसे लोक स्वास्थ्य यांत्रिकी विभाग के मंत्री होंगे। श्री उमंग सिंघार वन मंत्री बनाये गये है। श्री हर्ष यादव को कुटीर एवं ग्रामोद्योग विभाग तथा नवीन एवं नवकरणीय ऊर्जा विभाग आवंटित किया गया है। श्री जयवर्धन सिंह नगरीय विकास एवं आवास मंत्री होंगे। श्री जीतू पटवारी को खेल एवं युवा कल्याण तथा उच्च शिक्षा विभाग को दायित्व सौंपा गया है। श्री कमलेश्वर पटेल पंचायत एवं ग्रामीण विकास मंत्री बनाये गये है। श्री लखन घनघोरिया सामाजिक न्याय एवं नि:शक्तजन कल्याण विभाग तथा अनुसूचित जाति कल्याण का दायित्व सम्भालेंगे।
श्री महेन्द्र सिंह सिसोदिया श्रम मंत्री होंगे। श्री पी.सी. शर्मा विधि एवं विधायी कार्य विभाग के मंत्री बनाये गये है वे मुख्यमंत्री से भी संबद्ध रहेंगे। श्री प्रद्यूमन सिंह तोमर खाद्य नागरिक आपूर्ति एवं उपभोक्ता संरक्षण विभाग के मंत्री होंगे। श्री सचिन सुभाष यादव को किसान कल्याण तथा कृषि विकास विभाग और उद्यानिकी एवं खाद्य प्रसंस्करण विभाग का दायित्व सौंपा गया है। श्री सुरेन्द्र सिंह हनी बघेल को नर्मदा घाटी विकास विभाग तथा पर्यटन विभाग आवंटित किये गये है। श्री तरूण भनोट को वित्त विभाग तथा योजना आर्थिक एवं सांख्यिकी विभाग सौंपा गया है।

मुख्यमंत्री श्री नाथ की उर्वरक मंत्री से चर्चा का असर
28 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ के केन्द्रीय उर्वरक मंत्री से चर्चा का प्रभावी परिणाम सामने आया है। केन्द्र सरकार ने प्रदेश में रबी सीजन के दौरान किसानों को उनकी जरूरत के अनुसार यूरिया उपलब्ध करवाने के लिये जनवरी माह का कोटा बढ़ाकर 2.52 लाख मी. टन कर दिया है। साथ ही यूरिया ट्रांजिट के लिये रैक की उपलब्धता भी बढ़ी है। उल्लेखनीय है कि मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने इस संबंध में सीधे केन्द्रीय उर्वरक मंत्री और केन्द्रीय रेल मंत्री से चर्चा की थी। कलेक्टर्स के साथ 29 दिसम्बर को वीडियो कॉन्फ्रेंस मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के निर्देश पर दिनांक 29 दिसम्बर, 2018 को सुबह 11 बजे मंत्रालय में कृषि विकास और किसान-कल्याण तथा सहकारिता विभाग के वरिष्ठ अधिकारियों द्वारा जिला कलेक्टर्स के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग की जायेगी। वीडियो कॉन्फ्रेंस में किसानों को उर्वरक की सुलभता, उपलब्ध यूरिया सहित अन्य उर्वरकों का किसानों को वितरण आदि पर प्रमुखता से चर्चा कर आवश्यक निर्देश दिये जायेंगे। मध्यप्रदेश को जनवरी माह में पूर्व में यूरिया का कोटा एक लाख 75 हजार मीट्रिक टन आवंटित किया गया था। कोटा बढ़ाये जाने के संबंध में मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने पिछले दिनों केन्द्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्री श्री सदानंद गौड़ा से फोन पर चर्चा की थी। जनवरी माह में 2 लाख 14 हजार मीट्रिक टन यूरिया देश में निर्मित प्लांट से आयेगा, जबकि 38 हजार मीट्रिक टन देश के बंदरगाहों से आयेगा। किसानों को लगातार यूरिया मिलता रहे, इसके लिये किसान-कल्याण एवं कृषि विकास विभाग ने केन्द्र से प्लांट से यूरिया की आपूर्ति किये जाने का अनुरोध किया था। राज्य सरकार के इस अनुरोध पर ही केन्द्र सरकार ने प्लांट से यूरिया की आपूर्ति के कोटे को बढ़ाया है। प्रदेश को दिसम्बर माह में 3 लाख 70 हजार मीट्रिक टन यूरिया आवंटित किया गया है। इसमें से करीब 3.05 लाख मीट्रिक टन यूरिया आ चुका है। शेष 0.45 लाख मी. टन यूरिया ट्रांजिट में है। प्रदेश में पिछले कुछ दिनों से प्रतिदिन यूरिया की 10 रेक्स आ रही हैं। प्रमुख सचिव कृषि विकास एवं किसान-कल्याण डॉ. राजेश राजौरा ने बताया कि प्रदेश को मिल रहे यूरिया को व्यवस्थित तरीके से वितरण और इस पर लगातार नजर रखने के निर्देश जिला कलेक्टर्स को दिये गये हैं।
मैं क्रेडिट लूंगा तो गुनाह करूंगा, जो भी काम किया टीम ने किया : बीपी सिंह
28 December 2018
भोपाल। बेबाक तरीके से अपनी बात रखने के अंदाज के लिए चर्चित मुख्य सचिव बसंत प्रताप सिंह 31 दिसंबर को सेवानिवृत्त हो जाएंगे। वे मानते हैं कि जितना भी वक्त मिला, उसमें पूरी क्षमता के साथ काम करने का प्रयास किया। राजस्व के क्षेत्र में बहुत काम हुआ है पर मैं क्रेडिट लूंगा तो गुनाह करूंगा। जो भी काम किया या हुआ वो टीम ने किया है। अकेले आदमी के बस की बात भी नहीं है। भावांतर भुगतान योजना का पक्ष लेते हुए बोले, लगातार दो साल उपज के दाम गिरे हैं। जब उपज के मूल्य नहीं मिलेंगे तो सरकार के लिए शांति से बैठना मुश्किल होता है। मुख्य सचिव ने विभिन्न् मुद्दों पर विस्तृत चर्चा की। प्रस्तुत हैं प्रमुख अंश... मुख्य सचिव ने कहा कि राजस्व प्रशासन में निश्चित रूप से सुधार हुआ है पर इसमें गुंजाइश अभी भी बाकी है। यह लोगों से सीधे जुड़ाव वाला विषय है। उनकी समस्याओं को समझकर सुलझाने का प्रयास किया है। इसमें पूरी टीम का योगदान है। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि ट्रांसफर या पोस्टिंग में कभी दिक्कत नहीं आई। मेरी बात मानी जाती है या नहीं, यह मुख्यमंत्री का अधिकार क्षेत्र होता है पर मुझे अपनी बात रखने से कभी नहीं रोका गया। कई बार ऐसा हुआ जब हम सभी सही होते हैं तो बात मानी गई। इसमें महत्वपूर्ण यह होता है कि सामने वाले को भरोसा होना चाहिए कि आपका कोई एजेंडा नहीं है। सेवावृद्धि से जुड़े मुद्दे पर उन्होंने कहा कि यह जरूरत पर आधारित होता है। यदि सही नहीं होता तो होता ही क्यों। केंद्र सरकार ने तय किया हुआ है कि गृह औेर रक्षा सचिव दो साल रहेंगे। मुख्य सचिव के लिए भी दो साल रखे गए थे पर कुछ राज्य तैयार नहीं हुए। वरिष्ठता को दरकिनार कर मुख्य सचिव बनाए जाने के सवाल पर उन्होंने कहा कि सरकारों को यह भी देखना पड़ता है कि जिसे मुख्य सचिव बना रहे हैं उसमें उस पद की योग्यता है या नहीं। हो सकता है कि जो थोड़ा-सा जूनियर हो, उसमें अधिक योग्यता हो। सेवानिवृत्ति के बाद पद लेने पर उन्होंने कहा कि कुछ पद ऐसे होते हैं, जहां सेवानिवृत्ति के बाद ही पदस्थापना हो सकती है। बाकी फैसला सरकार उपयोगिता के आधार पर करती है। आर्थिक संसाधन जुटाने के लिए टैक्स लगाने की संभावना पर उन्होंने कहा कि यह कदम आसान नहीं होता है। विभिन्न् रास्तों पर हम काम कर रहे हैं। उन्होंने उम्मीद जताई कि मेरे बाद जो भी आएंगे, मेरी तुलना में बहुत बेहतर अधिकारी होंगे। जरूरत पड़ी तो उनकी राय अवश्य लूंगा। गलत धारणा है कि मैंने जनसुनवाई बंद की मंत्रालय में पूर्व मुख्य सचिव अंटोनी डिसा के समय से चली आ रही जनसुनवाई व्यवस्था बंद होने को लेकर उन्होंने कहा कि यह गलत धारणा है कि मैंने जनसुनवाई बंद की। जब से नौकरी में आया हूं मिलने का समय तय नहीं किया। दो साल दो माह यहां हो गए पर किसी से मिलने से इनकार नहीं किया। व्यवस्था को बेहतर बनाने की कोशिश की है। कैबिनेट ने दी औपचारिक विदाई उधर, कैबिनेट ने गुरुवार को मुख्य सचिव को औपचारिक रूप से विदाई दी। इस मौके पर मुख्यमंत्री कमलनाथ ने उन्हें कृतज्ञता प्रस्ताव सौंपा। इसमें उनकी सेवाओं के लिए प्रशंसा की गई और राजस्व प्रशासन के क्षेत्र में किए कामों को सराहा गया।
पूर्व PM मनमोहन सिंह पर बनीं ये फिल्म MP में नहीं होगी रिलीज, कमलनाथ सरकार ने लगाई रोक
28 December 2018
भोपाल। पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के प्रधानमंत्री काल पर बनीं फिल्म 'द एक्सीडेंटल प्राइम मिनिस्टर" मध्यप्रदेश में रिलीज नहीं होगी। राज्य सरकार ने इसके प्रदेश में प्रदर्शन पर रोक लगा दी है। सरकार ने फिल्म के कंटेंट पर आपत्ति जताते हुए ये फैसला किया है। फिल्म 11 जनवरी को रिलीज होना है। गौरतलब है कि गुरूवार को ही इस नई फिल्म का ट्रेलर जारी हुआ। ट्रेलर पर कांग्रेस ने आपत्ति जताई थी। इस पर कार्रवाई करते हुए कमलनाथ सरकार ने प्रदेश में फिल्म के रिलीज पर रोक लगा दी है। फिल्म में अनुपम खेर ने पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह का किरदार निभाया है। फिल्म पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह के कार्यकाल पर आधारित बताई जा रही है। ट्रेलर के मुताबिक फिल्म में सोनिया गांधी, राहुल गांधी, प्रियंका गांधी सहित कई राजनेताओं के किरदार भी दिखाए गए हैं।
Kamal nath Cabinet : वित्त, नगरीय निकाय, गृह और परिवहन में उलझा विभाग वितरण
28 December 2018
भोपाल। कांग्रेस की गुटबाजी संगठन में ही नहीं सरकार में भी दिखाई देने लगी है। सरकार बनने के बाद मंत्रियों के नाम तय करने और अब विभागों के बंटवारे में यह स्थिति बनी है। मुख्यमंत्री कमलनाथ से लेकर सरकार के बाहर बैठे पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह और सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया गुटीय संतुलन बनाने के लिए दो दिन से कवायद कर रहे हैं, लेकिन ये तीनों दिग्गज ही अपने-अपने समर्थकों को बड़े और भारी-भरकम विभाग दिलाने की कोशिश में जुटे रहे। इस कारण शपथ ग्रहण के 60 घंटे बाद भी मंत्रियों को विभाग नहीं मिले हैं, जिससे वे बिना विभाग के मंत्री के तौर पर अपने-अपने क्षेत्र के लिए रवाना होना शुरू हो गए। आधा दर्जन विभागों पर है सबकी निगाहें कमलनाथ सरकार के मंत्रियों के विभाग बंटवारे में मुख्यमंत्री कमलनाथ, सिंधिया और दिग्विजय सिंह के बीच कई दौर की चर्चा हो चुकी हैं। सूत्रों के मुताबिक जिन विभागों को दिग्गज अपने समर्थक मंत्रियों को दिलाना चाह रहे हैं वे मुख्य रूप से वित्त, गृह, परिवहन, आबकारी, जनसंपर्क, सहकारिता, पीडब्ल्यूडी और महिला बाल विकास हैं। सभी दिग्गज इन विभागों को अपने समर्थकों के पास रखना चाहते हैं, जिससे सरकार में ताकत का केंद्र वे ही रहें। सूत्र बताते हैं कि विभाग वितरण का मामला सज्जन सिंह वर्मा, तुलसीराम सिलावट, जयवर्द्धन सिंह, गोविंद सिंह राजपूत, जीतू पटवारी, सचिन यादव जैसे मंत्रियों के विभागों पर नेताओं के अड़ने से अटका है। स्थिति यह तक बन गई है कि नेता इसे दिल्ली लेकर पहुंच गए हैं और वहां से भी हस्तक्षेप करा रहे हैं। दिग्विजय सिंह के निवास पर पहुंचे मंत्री सूत्रों ने बताया कि दिग्विजय सिंह के निवास पर मंत्रियों के शपथ ग्रहण के दूसरे दिन भी मंत्रियों की अलग-अलग किस्तों में बैठकें हुईं। उनके निवास पर वरिष्ठ मंत्री डॉ. गोविंद सिंह, हुकुमसिंह कराड़ा, जीतू पटवारी, हर्ष यादव, जयवर्द्धन सिंह, सचिन यादव पहुंचे थे। वहीं, सिंधिया अपने समर्थकों से लगातार मोबाइल पर संपर्क में रहे। कमलनाथ से भी कैबिनेट बैठक के बाद कई मंत्रियों ने अलग से मुलाकात की। हर खेमा चाहता है गृह-परिवहन, नगरीय प्रशासन विभाग सूत्रों के अनुसार दिग्विजय अपने पुत्र जयवर्द्धन सिंह को स्थापित करने के लिए अच्छा विभाग दिलाने के प्रयास में हैं तो जीतू पटवारी जनसंपर्क मंत्री बनना चाहते हैं। डॉ. गोविंद सिंह कृषि और सहकारिता विभाग के लिए कोशिश कर रहे हैं। वहीं, गोविंद सिंह राजपूत या तुलसी सिलावट को सिंधिया खेमा गृह व परिवहन दिलाना चाह रहा है। इमरती देवी भी महिला बाल विकास या फिर पर्यटन विभाग मिलने की चाह रखे हैं। प्रद्युम्न सिंह तोमर को नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग दिलाने का जोर लगाया जा रहा है। जबकि एक खेमा नगरीय प्रशासन एवं आवास विभाग सज्जन सिंह वर्मा को देने के लिए लगा है। वहीं दिग्विजय सिंह इस विभाग को अपने समर्थक को दिलाने के लिए प्रयासरत हैं। निर्दलीय विधायक प्रदीप जायसवाल लोक निर्माण विभाग लेने के लिए कमलनाथ से बात कर चुके हैं। बिना विभाग के क्षेत्र में रवाना मंत्री पद की शपथ लेने के 48 घंटे बाद भी विभाग नहीं मिलने पर कुछ मंत्री बिना विभाग के ही अपने क्षेत्र के लिए रवाना हो गए। पृथ्वीपुर के बृजेंद्र सिंह राठौड़ शाम को रेल से झांसी के लिए रवाना हो गए और वे वहां से अपने विधानसभा क्षेत्र जाएंगे। इसी तरह लहार के विधानसभा क्षेत्र के विधायक डॉ. गोविंद सिंह भी गुरुवार की शाम को क्षेत्र के लिए रवाना हो गए।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने मुख्य सचिव श्री सिंह को भेंट किया कृतज्ञता प्रस्ताव
27 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने आज मंत्रि-परिषद की ओर से मुख्य सचिव श्री बसंत प्रताप सिंह को कृतज्ञता प्रस्ताव भेंट किया। प्रस्ताव में श्री सिंह के गौरवपूर्ण कार्यकाल के उल्लेख के साथ-साथ सतत् एवं समावेशी विकास, राजस्व विभाग में सुधार, प्रशासन, कानून-व्यवस्था, आपदा प्रबंधन और जलवायु सरंक्षण जैसे विषयों में सक्रियता के लिये उनकी विशेष रूप से सराहना की गई। मंत्रि-परिषद ने श्री सिंह के दीर्घ और सुखद जीवन की कामना भी की । मंत्रि-परिषद की बैठक के पूर्व श्री सिंह को कृतज्ञता प्रस्ताव भेंट किया गया। इस अवसर पर मंत्रि-परिषद के सदस्यों सहित अपर मुख्य सचिव, प्रमुख सचिव तथा सचिव स्तरीय अधिकारी उपस्थित थे। उल्लेखनीय है कि श्री बसंत प्रताप सिंह की मुख्य सचिव के रूप में यह मंत्रि-परिषद की अंतिम बैठक थी। श्री सिंह ने 1 नवम्बर 2016 को मुख्य सचिव का कार्यभार ग्रहण किया। वे 31 दिसम्बर 2018 को सेवानिवृत्त हो रहे हैं।
मध्य प्रदेश / सिंधिया ने कमलनाथ को पत्र लिखा, कहा- ग्वालियर व्यापार मेले में वाहनों पर रोड टैक्स में 50 फीसदी छूट दी जाए
27 December 2018
ग्वालियर. एक जनवरी से शुरू होने जा रहे व्यापार मेले में गुरुवार तक तैयारी आधी-अधूरी ही है। अब तक दो-चार सेक्टर ही तैयार हो पाए हैं। जबकि मेला प्राधिकरण ने दुकानदारों से हर हाल में 25 दिसंबर तक दुकानें तैयार करने के लिए कहा था। वहीं, व्यापार मेले में ऑटो मोबाइल सेक्टर में वाहनों पर 50 फीसदी रोड टैक्स में छूट की मांग कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया ने किया है। उन्होंने मुख्यमंत्री कमलनाथ को पत्र लिखा है। उन्होंने कहा है कि 100 साल पुराने इस मेले का गौरव और आकर्षण लौटाने के लिए जरूरी कदम उठाने पड़ेंगे। सिंधिया ने पत्र में लिखा है कि व्यापार मेले की व्यापक रूप और भव्यता को देखते हुए मेला प्राधिकरण का गठन किया गया था और कांग्रेस की सरकार में वाणिज्यिक कर में 50 फीसदी की छूट दी जाती थी, लेकिन 2003 में सत्ता परिवर्तन के बाद इसे बंद कर दिया गया। इससे मेले का टर्नओवर 500 करोड़ से घटकर 100 करोड़ रह गया। इसलिए मेले का आकर्षण और व्यापारिक टर्नओवर को फिर से बढ़ाने की जरूरत है। उन्होंने ऑटोमोबाइल सेक्टर में बिकने वाले वाहनों पर रोड टैक्स में 50 फीसदी की छूट लागू करने की मांग की है। केंद्रीय मंत्री तोमर ने किया दौरा : इधर, गुरुवार को व्यापार मेले की तैयारियों का जायजा लेने के लिए केंद्रीय मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर पहुंचे। उन्होंने अधिकारियों को तैयारियां तय समय में पूरे करने के निर्देश दिए हैं। वहीं, प्राधिकरण ने अब दुकानों के बढ़ाए गए 20 फीसदी किराए में आधा कम करने का निर्णय लिया है। इससे दुकानदारों को राहत मिलेगी। क्योंकि, कई साल से सैलानी और कारोबार के मामले में पिछड़ रहे मेले में इस बार किराया बढ़ने से दुकानदार काफी परेशान थे। इसे लेकर दुकानदारों एवं मेला प्राधिकरण के बीच लगातार चर्चा हो रही थी और सोमवार को हुई बैठक में किराया कम किए जाने पर सहमति बनी।
Kamalnath cabinet: कांग्रेस MLA केपी सिंह के समर्थक ने पिस्टल दिखाकर सिंधिया को धमकी दी
27 December 2018
शिवपुरी। कमलनाथ मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने के कारण कांग्रेस में जबर्दस्त असंतोष देखा जा रहा है। हालात इतने गंभीर हो गए हैं कि कांग्रेस सांसद ज्योतिरादित्य सिंधिया को अपने ही ग्वालियर चंबल रीजन में जबर्दस्त नाराजगी झेलना पड़ रही है। ताजा मामले में सिंधिया को धमकी मिली है। शिवपुरी के पिछोर से कांग्रेस विधायक केपी सिंह के एक समर्थक ने फेसबुक पर सिंधिया को धमकी दी है। अरनव प्रताप सिंह चौहान नामक इस समर्थक ने सिंधिया को पिछोर क्षेत्र में बैन करने की धमकी दे डाली। अपनी पोस्ट में उसने लिखा कि पिछोर विधानसभा क्षेत्र में सिंधिया पर बैन, भूल से भी पिछोर विधानसभा से गुजरने की गलती ना करें महाराज हो कौन हो, कक्काजू जिंदाबाद। इस पोस्ट में अरनव एक पिस्टल हाथ में लिए हुए नजर आ रहा है। इस धमकी भरे मैसेज के बाद राजनीतिक गलियारों में हडकंप मच गया है। सिंधिया समर्थकों ने उनकी सुरक्षा बढ़ाए जाने की मांग की है। इसके बाद पुलिस ने ग्वालियर से लगी भिंड, मुरैना, शिवपुरी जिलों की सीमा पर विशेष निगरानी रखी और भारी पुलिस बल तैनात किया गया ताकि विरोधी ग्वालियर में घुस ना पाए। इतना ही नहीं सिंधिया के निवास स्थान महल के आसपास भी सुरक्षा के कड़े इंतजाम किए गए। विधानसभा चुनावों से पहले भाजपा विधायक उमादेवी खटीक के बेटे ने भी सिंधिया को मारने की धमकी दी थी लेकिन इस बार ये धमकी सिंधिया को अपनी ही पार्टी विधायक के समर्थक ने दी है। जाहिर है इससे असंतोष का दायरा समझा जा सकता है। कांग्रेस की 15 सालों बाद सत्ता में वापसी हुई तो ये साइड इफेक्ट नजर आ रहे हैं। मंत्रिमंडल में जगह नहीं मिलने पर कई नेता खुले तौर पर नाराजगी जताते हुए राहुल गांधी, मुख्यमंत्री कमलनाथ, सिंधिया, दीपक बावरिया सहित अन्य बड़े नेताओं पर वादाखिलाफी का आरोप लगा रहे हैं। विरोध का आलम ये है कि ग्वालियर-चंबल क्षेत्र में अलर्ट घोषित करना पड़ा है। कांग्रेस विधायक एंदल सिंह कंसाना, केपी सिंह, जयस प्रमुख डॉ. हीरालाल अलावा के अलावा बसपा और सपा के नेता भी सार्वजनिक तौर पर असंतोष और नाराजगी जता चुके हैं। गौरतलब है कि विधानसभा चुनाव के पहले सिंधिया को दमोह जिले के हटा विधानसभा क्षेत्र से भाजपा की पूर्व विधायक उमा देवी खटीक के बेटे प्रिंसदीप लालचंद खटीक ने भी सोशल मीडिया पर एक पोस्ट के जरिए सिंधिया को गोली मारने की धमकी दी थी। विधायक के बेटे को इस मामले में गिरफ्तार भी किया गया था।
सीएम कमलनाथ की खुली चेतावनी, ये पुरानी सरकार नहीं जो किसानों पर गोलियां दागे
25 December 2018
मंत्रिमंडल गठन की सरगर्मी के बीच मुख्यमंत्री कमलनाथ ने ट्वीट किया है. इसमें उन्होंने अफसरों को चेतावनी दी है.शिवराज सरकार पर तंज कसा है और अपनी सरकार के इरादे जताए हैं. ट्वीट में सीएम कमलनाथ ने लिखा है कि ये पुरानी सरकार नहीं, जहां किसानों के सीने पर गोलियां तक दाग़ी गयीं. उन्होंने आगे लिखा है कि मेरी सभी ज़िम्मेदारों को खुली चेतावनी है कि वो कानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने ना दें. किसानों का दमन बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. सीएम कमलनाथ ने एक के बाद एक लगातार दो ट्वीट किए. दूसरे ट्वीट में उन्होंने लिखा-प्रदेश में यूरिया संकट जल्द ही हल हो जाएगा.किसान भाई परेशान ना हों. सतत प्रयासों से पर्याप्त मात्रा में यूरिया की उपलब्धता सुनिश्चित की जाए. यूरिया लेने आ रहे किसानों पर लाठियां बर्दाश्त नहीं की जाएंगी.ये कमलनाथ की सरकार है , किसान हितैषी सरकार है.अधिकारी अपनी पुरानी मानसिकता बदलें. यह पुरानी सरकार नहीं, जहाँ किसानो के सीने पर गोलियाँ तक दाग़ी गयी।क़ानून व्यवस्था की स्थिति बिगड़ने ना दे लेकिन किसानो का दमन बर्दाश्त नहीं।मेरी सभी ज़िम्मेदारों को खुली चेतावनी।
मध्यप्रदेश / मंत्रिमंडल का गठन आज; 25 मंत्री लेंगे शपथ, इनमें 1 निर्दलीय, 3 महिलाएं
25 December 2018
भोपाल. मध्यप्रदेश में मंगलवार को दोपहर 3 बजे कमलनाथ सरकार का गठन होगा। इनमें 13 कैबिनेट और 12 राज्यमंत्रियों के शपथ लेने की संभावना है। इन 13 कैबिनेट में से पांच को स्वतंत्र प्रभार दिया जाएगा। टीम कमलनाथ में एक निर्दलीय के अलावा तीन महिलाएं, एक मुस्लिम को भी मंत्री बनाया जाएगा। 15 विधायक ऐसे हैं, जो पहली बार मंत्री बनेंगे, जबकि कांग्रेस से पहली बार विधायक बने 55 नए चेहरों में से किसी को भी मंत्रिमंडल में जगह नहीं दी गई। इससे पहले मंत्रिमंडल को लेकर चार दिन तक दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मुख्यमंत्री कमलनाथ समेत प्रदेश के दिग्गज नेताओं के साथ बैठक की। ऐसा बताया गया किअल्पमत की कांग्रेस को समर्थन देकर बहुमत दिलाने वाली बसपा और सपा भी मंत्रिमंडल में जगह पाने के लिए दिनभर दबाव बनाती रहीं। बसपा का एक विधायक मंत्रिमंडल में शामिल हो सकता है।
25 मंत्री लेंगे शपथ
13 कैबिनेट मंत्री, इनमें 9 मंत्री 15 साल बाद फिर मंत्रिमंडल में: केपी सिंह, गोविंद सिंह, ब्रजेंद्र सिंह, बाला बच्चन, दीपक सक्सेना, सज्जन सिंह वर्मा, हुकुम सिंह कराड़ा, बिसाहूलाल सिंह और आरिफ अकील। इनके अलावा, जीतू पटवारी, तुलसी सिलावट, इमरती देवी और गोविंद सिंह राजपूत पहली बार कैबिनेट मंत्री बनेंगे।
12 राज्यमंत्री : एंदल सिंह कंसाना, प्रदीप जायसवाल, लखन घनघोरिया, तरुण भानौत, कमलेश्वर पटेल, सचिन यादव, उमंग सिंघार, सुरेंद्र सिंह बघेल, लाखन सिंह यादव और जयवर्द्धन सिंह। ये भी दौड़ में : पीसी शर्मा, प्रद्युमन सिंह तोमर, हर्ष यादव और योगेंद्र सिंह (बाबा), सुरेंद्र सिंह ठाकुर, हिना कांवरे।
15 पहली बार : इमरती देवी, गोविंद राजपूत, तुलसी सिलावट, प्रदीप जायसवाल, तरुण भानौत, कमलेश्वर पटेल, जीतू पटवारी, सचिन यादव, लखन घनघोरिया, उमंग सिंघार, लाखन सिंह यादव, राजवर्द्धन सिंह और जयवर्द्धन सिंह।
विधानसभा अध्यक्ष: डॉ. गोविंद सिंह या विजयलक्ष्मी साधौ।
जातीय समीकरण: सवर्ण 9, ओबीसी 8, एससी 4, आदिवासी 3 और मुस्लिम 1।

MP Cabinet: बसपा-सपा विधायकों को नहीं बुलाया शपथ ग्रहण कार्यक्रम में
25 December 2018
भोपाल। बहुजन समाज पार्टी और समाजवादी पार्टी के सहयोग से मप्र में सरकार बनाने वाली कांग्रेस शपथ ग्रहण में उनके विधायकों को ही भूल गई। बसपा के दो विधायकों और सपा के एक विधायक को न्योता ही नहीं मिला। इस पर बिजावर से सपा विधायक राजेश कुमार ने निराशा व्यक्त की है। प्रशासन की तरफ से यह कार्ड दिए जाते हैं, लेकिन किसी को आमंत्रण का कार्ड नहीं दिया गया है। कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं की ओर से अभी इसे लेकर कोई टिप्पणी सामने नहीं आई है। कांग्रेस ने भिंड से बसपा विधायक संजीव सिंह, पथिरिया से बसपा विधायक रामबाई गोविंद सिंह और बिजावर से सपा विधायक राजेश कुमार सहित चार निर्दलीय विधायकों के सहयोग से सरकार बनाई है।
मुख्यमंत्री श्री कमलनाथ ने दी क्रिसमस पर्व की बधाई
25 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ ने मसीह समुदाय सहित सभी समुदायों को क्रिसमस पर्व की बधाई और शुभकामनायें दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रभु ईसा मसीह का जन्म विश्व की अलौकिक घटना थी। उन्होंने समूर्ण मानवता को समृद्ध किया और समाज में शांति,आपसी प्रेम, दया, सद्भाव और भाईचारे की शिक्षा दी। उन्होंने कहा कि प्रभु यीशु के दिव्य संदेश पूरी मानवता के लिए है और जब तक मानवता है हमेशा प्रासंगिक रहेंगे।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के प्रयासों से 25 हजार मी. टन यूरिया तत्काल मिलेगा
25 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ के प्रयासों से केन्द्रीय उर्वरक एवं रसायन मंत्रालय ने आज 25 हजार मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति तत्काल किये जाने की सहमति दी है। प्रदेश में किसानों को उनकी माँग के अनुरूप यूरिया उपलब्ध हो, इसके लिये राज्य शासन ने केन्द्र सरकार से मध्यप्रदेश को अगले 7 दिन में 10 यूरिया रेक प्राथमिकता के साथ उपलब्ध करवाये जाने का अनुरोध किया है। प्रदेश में अब तक करीब 2 लाख 15 हजार मीट्रिक टन यूरिया की आपूर्ति हुई है। करीब 50 हजार मीट्रिक टन यूरिया प्रदेश में पहुँचने वाला है। केन्द्र सरकार ने रबी सीजन के दौरान प्रदेश को कुल 4 लाख 10 हजार मीट्रिक टन यूरिया आपूर्ति किये जाने की सहमति दी है। केन्द्रीय रसायन मंत्रालय और रेलवे मंत्रालय ने ईस्ट और वेस्ट कोस्ट को यूरिया आपूर्ति में 31 दिसम्बर तक मध्यप्रदेश के साथ राजस्थान, हरियाणा, बिहार और वेस्ट बंगाल को प्राथमिकता दिये जाने के निर्देश आज जारी कर दिये हैं। इस आदेश के बाद देश के ईस्ट और वेस्ट कोस्ट से मध्यप्रदेश में यूरिया की आपूर्ति में और तेजी आयेगी। इसके साथ ही केन्द्रीय मंत्रालय से प्रदेश में नेशनल फर्टिलाइजर लिमिटेड विजयपुर, गुना प्लांट से समस्त यूरिया प्रदेश को ही आवंटित किये जाने का लगातार अनुरोध किया जा रहा है। प्रदेश को पहले प्रतिदिन 6 से 7 रेक मिल रही थीं। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की केन्द्रीय रेल मंत्री श्री पीयूष गोयल और केन्द्रीय रसायन मंत्री श्री सदानंद गोड़ा से चर्चा के बाद प्रदेश को अब प्रतिदिन 10 से 12 रेक यूरिया मिल रहा है। प्रदेश में डीएपी की रेक भी मण्डीदीप में 1226 मीट्रिक टन और रतलाम रेक पाइंट में 4048 मीट्रिक टन पहुँच रही है। यूरिया और डीएपी किसानों को उनकी माँग के अनुरूप वितरित किये जाने के संबंध में जिला कलेक्टर्स को आवश्यक निर्देश दिये गये हैं।
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ की घोषणा का क्रियान्वयन शुरू
24 December 2018
मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा कन्या विवाह और निकाह योजना की राशि 28 हजार से बढ़ाकर 51 हजार रुपये किये जाने की घोषणा का क्रियान्वयन प्रारंभ हो गया है। योजना में हुए संशोधन का पहला प्रकरण आज धार जिले में सामने आया, जब कलेक्टर श्री दीपक सिंह ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना की बढ़ी हुई राशि 51 हजार रुपये का चेक मूक-बधिर नव-दम्पत्ति को प्रदान किया। नव-दम्पत्ति को मुख्यमंत्री नि:शक्त विवाह योजना से एक लाख रुपये की राशि भी दी गई। प्रकरण में कन्या अनुसूचित जनजाति की तथा वर राजपूत समाज (सामान्य वर्ग) से है। श्री कमल नाथ ने मुख्यमंत्री का पदभार सम्हालते ही योजना की राशि 28 हजार से बढ़ाकर 51 हजार किये जाने का निर्णय लिया था। जिला कलेक्टर ने आर्य समाज मंदिर में योजना के अंतर्गत हुए समारोह में तिरला जनपद पंचायत की एकल दिव्यांग नव-दम्पत्ति श्री सुरेश सिसोदिया तथा सुश्री लक्ष्मी सिंगार को 51 हजार तथा मुख्यमंत्री निःशक्त विवाह योजना से एक लाख रूपये की राशि का चेक दिया। मुख्यमंत्री कन्यादान योजना की राशि में से कन्या को 43 हजार एवं 5 हजार रूपये की सामग्री दी गई तथा 3 हजार रूपये आयोजन के लिए दिए गए। नव-दम्पत्ति को धार-झाबुआ ग्रामीण क्षेत्रीय बैंक द्वारा बर्तन का सेट भी दिया गया। मुख्यमंत्री श्री कमल नाथ द्वारा मुख्यमंत्री कन्या विवाह एवं मुख्यमंत्री निकाह योजना की राशि 51 हजार किये जाने के बाद इस राशि में से सामूहिक विवाह कार्यक्रम के आयोजन के लिए अधिकृत निकायों को 3 हजार रूपये प्रति कन्या के मान से, सामग्री के लिये 5 हजार रूपये तथा शेष राशि 43 हजार रूपये कन्या के बचत बैंक खाते में जमा करवाने का प्रावधान किया गया है। आदिवासी अंचलों की जनजातियों में प्रचलित विवाह-प्रथा में होने वाले सामूहिक अथवा एकल विवाह में कन्या विवाह सहायता की राशि दिये जाने का प्रावधान किया गया है। मुख्यमंत्री की पहल पर सामूहिक विवाह कार्यक्रम में कन्या विवाह/निकाह सहायता की राशि का लाभ लेने के लिए आय सीमा का बंधन भी समाप्त कर दिया गया है।
राज्यपाल ने गुरूनानक जयंती पर दी शुभकामनाएँ
22 November 2018
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल ने गुरूनानक जयंती पर प्रदेशवासियों को बधाई और शुभकामनाएं दी हैं। श्रीमती पटेल ने अपने संदेश में कहा है कि गुरूनानक देव ने विश्व में शांति,एकता और सदभाव का संदेश दिया। राज्यपाल श्रीमती पटेल ने कहा है कि उनकी शिक्षा, संदेश और आदर्श आज भी प्रासंगिक हैं। राज्यपाल ने गुरूनानक जयंती पर प्रदेश के विकास और प्रदेशवासियों की सुख-समृद्धि की कामना की है।
राज्यपाल को पुस्तकें भेंट करने का सिलसिला जारी
22 November 2018
राज्यपाल श्रीमती आनंदीबेन पटेल को पुस्तकें भेंट करने का सिलसिला जारी है। राज्यपाल को उनके जन्म दिवस पर राजभवन बधाई देने आने वाले अगंतुकों के द्वारा लगभग 800 पुस्तकें भेंट की गईं। ये पुस्तकें स्कूलों में बच्चों के पढ़ने के लिए दी जायेंगी। इनमें देश के महापुरूषों, विद्वानों के व्यक्तित्व पर आधारित तथा बच्चों की रूचि से संबंधित शिक्षाप्रद पुस्तकें शामिल हैं। उल्लेखनीय है कि राज्यपाल ने उनसे मिलने आने वाले अगंतुकों से पुस्तकें भेंट करने की अपील की थी
रेरा-प्राधिकरण में पंजीकृत प्रोजेक्ट को ही फाईनेंस करें बैंक
<