Untitled Document


register
REGISTER HERE FOR EXCLUSIVE OFFERS & INVITATIONS TO OUR READERS

REGISTER YOURSELF
Register to participate in monthly draw of lucky Readers & Win exciting prizes.

EXCLUSIVE SUBSCRIPTION OFFER
Free 12 Print MAGAZINES with ONLINE+PRINT SUBSCRIPTION Rs. 300/- PerYear FREE EXCLUSIVE DESK ORGANISER for the first 1000 SUBSCRIBERS.

   >> सम्पादकीय
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> आपकी शिकायत
   >> पर्यटन गाइडेंस सेल
   >> स्टुडेन्ट गाइडेंस सेल
   >> सोशल मीडिया न्यूज़
   >> नॉलेज फॉर यू
   >> आज खास
   >> राजधानी
   >> कवर स्टोरी
   >> विश्व डाइजेस्ट
   >> बेटी बचाओ
   >> आपके पत्र
   >> अन्ना का पन्ना
   >> इन्वेस्टीगेशन
   >> मप्र.डाइजेस्ट
   >> निगम मण्डल मिरर
   >> मध्यप्रदेश पर्यटन
   >> भारत डाइजेस्ट
   >> सूचना का अधिकार
   >> सिटी गाइड
   >> लॉं एण्ड ऑर्डर
   >> सिटी स्केन
   >> जिलो से
   >> हमारे मेहमान
   >> साक्षात्कार
   >> केम्पस मिरर
   >> हास्य - व्यंग
   >> फिल्म व टीवी
   >> खाना - पीना
   >> शापिंग गाइड
   >> वास्तुकला
   >> बुक-क्लब
   >> महिला मिरर
   >> भविष्यवाणी
   >> क्लब संस्थायें
   >> स्वास्थ्य दर्पण
   >> संस्कृति कला
   >> सैनिक समाचार
   >> आर्ट-पावर
   >> मीडिया
   >> समीक्षा
   >> कैलेन्डर
   >> आपके सवाल
   >> आपकी राय
   >> पब्लिक नोटिस
   >> न्यूज मेकर
   >> टेक्नोलॉजी
   >> टेंडर्स निविदा
   >> बच्चों की दुनिया
   >> स्कूल मिरर
   >> सामाजिक चेतना
   >> नियोक्ता के लिए
   >> पर्यावरण
   >> कृषक दर्पण
   >> यात्रा
   >> विधानसभा
   >> लीगल डाइजेस्ट
   >> कोलार
   >> भेल
   >> बैरागढ़
   >> आपकी शिकायत
   >> जनसंपर्क
   >> ऑटोमोबाइल मिरर
   >> प्रॉपर्टी मिरर
   >> सेलेब्रिटी सर्कल
   >> अचीवर्स
   >> पाठक संपर्क पहल
   >> जीवन दर्शन
   >> कन्जूमर फोरम
   >> पब्लिक ओपिनियन
   >> ग्रामीण भारत
   >> पंचांग
   >> येलो पेजेस
   >> रेल डाइजेस्ट
 
SOCIAL MEDIA NEWS
aa aa aa aa

aa Metro Mirror – Brainpower Media Group to soon enter into Digital TV
Bhopal:MMNN: 5 January 2019

Metro Mirror – Brainpower Media Group to soon enter into Digital TV, Said Mr. Shiv Harsh Suhalka , Editor-in-chief , metromirror.com . Brainpower Media Group is a small 25 years old company with Headquarter at Bhopal. Brainpower Media Group is engaged in various Media, Communication and Public Relations activities backed by competent senior professionals .



aa जानिए रक्षामंत्री निर्मला सीतारमण के सोशल मीडिया पर वायरल हुई फोटो का सच
Bhopal:MMNN: 5 January 2019

सोशल मीडिया पर आजकल खबरें बहुत जल्दी वायरल हो जाती है और अगर ये सही खबर हो तब तो ठीक है पर झूठी खबर हो तों लोगो को काफी कुछ झेलना पड़ता है आजकल झूठी खबरें फैलाने वालों का बोलबाला है हालही मे ऐसा ही एक मामला सामने आया है जिसमे रक्षा मंत्री निर्मल सीतारमण के साथ सेना की वर्दी में एक महिला अफसर नज़र आ रही है और यही फोटो फेसबुक और ट्विटर पर बहुत तेज़ी से वायरल हो रही थी असल मे इस फोटो को देख कर उसमे दिख रही महिला को रक्षामंत्री की बेटी बताया जा रहा है और कुछ लोग तो उसकी काफी तारीफ भी कर रहे हैं की इस तरह सभी मंत्रियो के बच्चो को फौज मे शामिल होना चाहिए और भारत का नाम रोशन करना चाहिए। लेकिन इस तस्वीर की सचाई हम आपको बताते हैं यह तस्वीर 30 दिसंबर को फेसबुक के किसी ग्रुप में शेयर की गयी थी जिसके बाद से अलग अलग सोशल प्लेटफॉर्म्स पर वायरल हो गयी जिसके चलते फिर सोशल मीडिया की विश्वसनीयता पर सवाल उठ खड़े हुए हैं लेकिन अब भारतीय सेना के दावे के साथ ही इस खबर की ‘सच्चाई’ से पर्दा उठ गया है। सेना की ओर से कहा गया है कि निर्मला सीतारमण के साथ खड़ीं महिला अफ़सर उनकी बेटी नहीं है। रक्षा मंत्रालय के प्रवक्ता की ओर से जानकारी दी गयी है की ये निर्मला सीतारमण की बेटी नहीं, बल्कि भारतीय सेना की अफसर हैं, जिन्हें रक्षा मंत्री की नवंबर में अरुणाचल प्रदेश के हुलियांग की आधिकारिक यात्रा पर संपर्क अधिकारी के तौर पर नियुक्त किया गया था। जानकारी के मुताबिक इस महिला अधिकारी का नाम निकिता वेरैय्या है। निकिता की फ़ेसबुक प्रोफ़ाइल के अनुसार वो कर्नाटक के मैंगलोर शहर की रहने वाली है और भारतीय फ़ौज में कार्यरत हैं। निकिता ने केंद्रीय विद्यालय मैंगलोर से पढ़ाई की है। सेना में शामिल होने से पहले निकिता इंग्लिश टीचर हुआ करती थी। आप इस ट्विटर क्लिंक पर जाकर भी इस बात जा सच जान सकते हैं.. https://twitter.com/SpokespersonMoD/status/1080365473961820160



aa अब फेसबुक, गूगल और अमेजॉन जैसी कंपनियों पर लगेगा ये नया टैक्स
Bhopal:MMNN: 30 october 2018

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार, यूके सरकार ने यूके में रेवेन्यू जुटा रहीं ऐसी टेक्नोलॉजी कंपनियों जैसे फेसबुक, गूगल और अमेजॉन पर ‘डिजिटल सर्विस टैक्स’ लगाने का निर्णय लिया है। सोमवार को जारी शीतकालीन बजट में ‘Exchequer’ के चांसलर फिलिप हैमंड (Philip Hammond) ने दो प्रतिशत टैक्स लगाने की घोषणा की है। इस मामले में सलाह-मशविरा की समय अवधि पूरी होने के बाद अप्रैल 2020 में यह प्रभाव में आ जाएगा। यह टैक्स सिर्फ सर्च इंजन, सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म्स और ऑनलाइन मार्केटप्लेस से जुटाए गए रेवेन्यू पर लगाया जाएगा। रिपोर्ट्स के अनुसार, यह टैक्स यूके के छोटे स्टार्ट-अप पर नहीं लगाया जाएगा, बल्कि ऐसी डिजिटल सर्विस कंपनियों पर लगाया जाएगा, जो साल भर में कम से कम 500 मिलियन पौंड का ग्लोबल रेवेन्यू बनती हैं। यह निर्णय इस बहस के बीच लिया गया है कि यूएस की टेक्नोलॉजी कंपनियां कई बिलियन पौंड कमाई करने के बावजूद यूके में बहुत कम टैक्स का भुगतान कर रही हैं । इस समय कंपनियां यूके में हुए प्रॉफिट पर ही टैक्स का भुगतान करती हैं। आरोप है कि कम टैक्स देने के लिए टेक्नोलॉजी कंपनियां कम प्रॉफिट दिखाती हैं। इसके चलते ये फैसला सोश्ल मीडिया और e-commerce कंपनियों के लिए एक झटका साबित हो सकता है ।



aa जब बंद पड़ा हुआ 'यू-ट्यूब', सभी यूजेर्स परेशान बना टॉप ट्रेंड
Bhopal:MMNN: 17 october 2018

विडियो शेयरिंग वेबसाइट यू-ट्यूब बुधवार सुबह अपने यूजर्स के लिए परेशानी का बड़ा कारण साबित हुआ। बात कुछ ऐसी हुई की यू-ट्यूब ने भारत समेत पूरी दुनिया में करीब दो घंटे के लिए काम करना बंद कर दिया, जिसके चलते कई यूजर्स को परेशानियों का सामना करना पड़ा। यू-ट्यूब डाउन होने से यूजर्स न तो विडियो देख पा रहे थे और न ही किसी से शेयर कर पा रहे थे। भारत में यह समस्या बुधवार सुबह करीब 6:30 बजे शुरू हुई, जिसका निवारण टीम यूट्यूब ने करीब 8:15 बजे किया। फिलहाल अब  यू-ट्यूब पहले की तरह काम कर रहा है। यूट्यूब ने ट्वीट के जरिए जानकारी दी। इस दौरान यूजर्स यूट्यूब, यूट्यूब टीवी और यूट्यूब म्यूजिक को ऐक्सेस नहीं कर पा रहे थे। दुनिया का सबसे लोकप्रिय विडियो प्लैटफॉर्म यूट्यूब डाउन होने की खबर आते ही सोशल मीडिया पर #YouTubeDown टॉप ट्रेंड बन गया.। आपको बता दें, की यूट्यूब डाउन होन पर जब लोग यूट्यूब ओपन कर रहे थे तो उन्हें विडियोज की जगह बंदर दिख रहा था।



aa गूगल ने लिया ये बड़ा फैसला, आमजन के लिए बंद की ये सर्विस  
Bhopal:MMNN: 09 october 2018

गूगल ने एक बड़ा फैसला लिया है। दरअसल उसने अपने सोशल नेटवर्क गूगल+ (गूगल प्लस) को बंद करने की सोमवार को घोषणा कर दी है। गूगल ने 5 लाख यूजर्स के डेटा हैक होने के बाद यह कदम उठाया है। गूगल के मुताबिक, 5 लाख गूगल प्लस अकाउंट में संभावित बग पाया गया था जो उनका डेटा पब्लिक कर सकता है। गूगल ने कहा कि हालांकि इस सोशल नेटवर्किंग साइट को बंद करने से पहले उसने उस बग को ठीक कर लिया था, जिसकी वजह से करीब 5 लाख के अकाउंट में निजी डेटा में सेंध लगाई गई थी।   'दी वॉल स्ट्रीट जर्नल' की एक रिपोर्ट के मुताबिक गूगल ने सिक्योरिटी कारणों का हवाला देते हुए यह नहीं बताया है कि दरअसल ये बग कैसा है और क्या हुआ है? रिपोर्ट के मुताबिक, एक सॉफ्टवेयर गड़बड़ी के कारण 2015 से 2018 के बीच बाहरी डेवलपर्स ने गूगल प्लस प्रोफाइल के डेटा में सेंध लगाई थी।   गूगल के मुताबिक, प्रभावित डेटा में ऑप्शन गूगल प्लस प्रोफाइल में दिए गए नाम, ईमेल, व्यवसाय, जेंडर और ऐज जैसे पर्सनल डेटा शामिल हैं। गूगल ने कहा है,'हमें ऐसा कोई भी प्रमाण नहीं मिला है कि डेवेलपर इस बग यानी खामी की जानकारी रखता है या फिर उन्होंने इसका गलत इस्तेमाल किया है।   गूगल के मुताबिक, गूगल प्लस को सिर्फ आम यूजर्स के लिए बंद किया जा रहा है, लेकिन एंटरप्राइज यूजर्स के लिए यह चालू रहेगा, क्योंकि कंपनियों के लिए इसे ज्यादा यूज किया जाता है। अमेरिका की दिग्गज इंटरनेट कंपनी ने कहा कि उपभोक्ताओं के लिए गूगल+ का सूर्यास्त हो गया है। यह सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक को चुनौती देने में विफल रही थी। गूगल के एक प्रवक्ता ने गूगल+ बंद करने की मुख्य वजह बताते हुए कहा कि गूगल+ को बनाने से लेकर प्रबंधन में काफी चुनौतियां थीं जिसे ग्राहकों के आशा के अनुरूप तैयार किया गया था लेकिन इसका कम इस्तेमाल किया जाता था।



aa SC की फटकार के बाद वॉट्सऐप ने नियुक्त किया ये अधिकारी...
Bhopal:MMNN: 24 September 2018

सोशल मैसेजिंग ऐप वॉट्सऐप ने फर्जी खबरों और अफवाहों पर शिकंजा कसने को लेकर एक बड़ा कदम उठाया है। दरअसल इसे लेकर वॉट्सऐप ने भारत में एक शिकायत निपटान अधिकारी (Grievance Officer) की नियुक्ति की है, जिनका नाम है- कोमल लाहिड़ी। वॉट्सऐप में कोमल लाहिड़ी को ग्लोबल कस्टमर ऑपरेशंस की सीनियर डायरेक्टर हैं। उन पर अधिकारी पर उपयोगकर्ताओं की फर्जी खबरों समेत अन्य शिकायतें और चिंताएं दूर करने की जिम्मेदारी होगी। बता दें कि वॉट्सऐप ने यह फैसला तब लिया, जब सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर फैल रहीं फर्जी खबरों और अफवाहों पर रोक लगाने को लेकर सरकार इन कंपनियों पर लगातार दबाब बना रही है और इन कंपनियों से कोई ठोस कदम उठाने को कहा गया है। वहीं पिछले महीने ही उसे सुप्रीम कोर्ट की कड़ी फटकार का भी सामना करना पड़ा था। 27 अगस्त को कोर्ट ने मैसेजिंग कंपनी के खिलाफ दायर याचिका को मंजूर कर लिया था, जिसमें आरोप लगाया गया था कि कंपनी भारतीय कानून का पालन नहीं करती है।उसने अब तक शिकायत निपटान अधिकारी की नियुक्ति नहीं की है। इस पर सुप्रीम कोर्ट ने केंद्र सरकार व वॉट्सऐप से चार हफ्ते में जवाब मांगा था। इसके बाद दबाव में आई मैसेजिंग कंपनी ने अगस्त के अंत में भारत के लिए शिकायत निवारण अफसर के रूप में कोमल लाहिड़ी की नियुक्ति कर दी। कोमल लाहिड़ी अमेरिका से ही भारत में वॉट्सऐप पर आने वाले मैसेजेस पर नजर रखेंगी। कंपनी ने यह जानकारी दी है कि वॉट्सऐप यूजर्स ऐप के सेटिंग्स विकल्प (Setting > Help > Contact Us) के माध्यम में सीधे कंपनी की सपोर्ट टीम से संपर्क कर सकते हैं। अगर वो शिकायत को आगे बढ़ाना चाहते हैं तो सीधे शिकायत निपटान अधिकारी यानी कोमल लाहिड़ी से भी संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा ई-मेल के जरिए भी उनसे कॉन्टेक्ट किया जा सकता है। लाहिड़ी की लिंक्डइन प्रोफाइल के मुताबिक, वे मार्च 2018 से वॉट्सऐप में ग्लोबल कस्टमर ऑपरेशंस एंड लोकलाइजेशन में सीनियर डायरेक्टर के पद पर काम कर रही हैं। इससे पहले वे फेसबुक और इंस्टाग्राम में भी कम्युनिटी सपोर्ट में सीनियर डायरेक्टर के तौर पर 3 साल 8 महीने तक काम कर चुकी हैं। इसके अलावा उन्होंने PayPal में भी बतौर फाइनेंशियल रिस्क प्लेटफॉर्म में सीनियर डायरेक्टर के तौर पर 6 साल से ज्यादा काम किया है। कोमल लाहिड़ी ने पुणे यूनिवर्सिटी से बी.कॉम और इंस्टीट्यूट ऑफ मैनेजमेंट डेवलपमेंट एंड रिसर्च से मैनेजमेंट और फाइनेंस में पीजीडीएम करने के बाद कैलिफोर्निया की सैंटा क्लारा यूनिवर्सिटी से एमबीए किया है।



aa LGBT समुदाय के लिए लॉन्च हुआ म्यूजिक विडियो ‘बंद कमरा’
Bhopal:MMNN: 12 September 2018

6 सितम्बर 2018 की सुबह तक भारत में समलैंगिकता को भारतीय दंड संहिता (IPC) की धारा 377 के तहत अपराध माना जाता था, लेकिन सुप्रीम कोर्ट की पांच-सदस्यीय संविधान पीठ ने अपने ऐतिहासिक फैसले में इसे अपराध के दायरे से बाहर कर दिया, जिसके बाद से अब दो वयस्क पुरुषों अथवा दो वयस्क महिलाओं द्वारा आपसी सहमति से आपस में यौन संबंध स्थापित करना इस धारा के तहत अपराध नहीं कहा जा सकेगा। फैसले के बाद पूरे हिन्दुस्तान में LGBTसमुदाय के लोग जश्न से सराबोर हो गए और इसी बीच राय साहब मोशन पिक्चर्स (Rai Sahab Motion Pictures) ने रिलीज किया एक म्यूजिक विडियो ‘बंद कमरा’, जो दर्शाता है कि सुप्रीम कोर्ट के इस ऐतिहासिक फैसले से पहले हिन्दुस्तान में इस समुदाय के लोगो पर क्या तंज कसे जाते थे? इन्हें बहुत सी सामाजिक मुसीबतों का सामना करना पड़ता था?   इस विडियो में रैप किया है जाने माने रैपर अभिषेक सोनपालिया (ABHI उर्फ़ रैपर वुल्फ) ने।जो रैपिंग की दुनिया में अपनी अलग पहचान बना रहे हैं।संगीत दिया है एक्सप्रोनिक सुमित ने।कला का प्रदर्शन किया है आकांक्षा तिवारी,वार्षिक सूद और अदिति सिंह ने।  इसके निर्माता हैं अभिषेक सोनपालिया, अनन्त राय और सौरभ शर्मा। बंद कमरा म्यूजिक विडियो के निर्देशक अनन्त राय का कहना है ‘यह गाना हमने तीन महीने पहले ही बना लिया था और बस इस ऐतिहासिक फैसले का इंतज़ार कर रहे थे क्योंकि हिन्दुस्तान एक लोकतांत्रिक देश है जहां हर समुदाय को आजादी के साथ रहने की आजादी है, तो फिर LGBTसमुदाय को क्यों नहीं।  मैं सुप्रीम कोर्ट के इस फैसला का सम्मान करता हूं।’ वहीं, बंद कमरा म्यूजिक विडियो के रैपर और निर्माता अभिषेक सोनपालिया का कहना है ‘म्यूजिक एक ऐसी भाषा है जो आजादी के सही मायने बताती है और यही कारण था कि मैंने ये गाना लिखा और एक्सप्रोनिक सुमित की मदद से गाने को संगीत से सजाया सवारा।मैं धन्यवाद करना चाहूंगा Rai Sahab Motion Pictures की पूरी टीम का इस अथक प्रयास में हमारा साथ देने के लिए।’



 
Copyright © 2014, BrainPower Media India Pvt. Ltd.
All Rights Reserved
DISCLAIMER | TERMS OF USE